1778+ Zimmedari Shayari In Hindi | जिम्मेदारी पर शायरी

Zimmedari Shayari In Hindi , जिम्मेदारी पर शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 25, 2023 Post Updated at: May 6, 2024

Zimmedari Shayari In Hindi : जिम्मेदारियाँ सिर पर ना हो तोजीवन का आनन्द लेना। अपनीहर चाहत पूरे करना क्योंकिजिम्मेदारी का मतलब ही हैदूसरों के लिए जीना… जिम्मेदारियाँ जैसे ही जिंदगीमें आती है, वैसे ही आपकोलोग मैच्योर समझने लगते हैधीरे-धीरे हमारी मासूमियतदम तोड़ देती है।

“प्रत्येक समस्या अपने साथ आपके लिए एक उपहार लेकर आती है। 🙏🌻शुभ प्रभात 🌻🙏” ୨💌୧

“अपनों से इतनी भी दूरियां मत बनाओ कि खुला दरवाजा भी खटखटाना पड़े।” ୨💌୧

उन्ही लोगो के घर मेंरोटी कुड़े में जाती हैजिन्हे ये एहसास नहीं होताकोई भूखा भी सो रहा है।

खुशनसीब वो नही जिसका नसीब अच्छा है !  बल्कि खुशनसीब वो है जो अपने नसीब से खुश है !!

सब कहते हैं मेरे शब्द व्यर्थ हैं, बस तू कहता है इसमे अर्थ है। – Suprabhat ୨💌୧

जिम्मेदारियाँ सिर पर ना हो तोजीवन का आनन्द लेना। अपनीहर चाहत पूरे करना क्योंकिजिम्मेदारी का मतलब ही हैदूसरों के लिए जीना…

जो तूने दिया उसे हम याद करेंगे हर पल तेरे मिलने की फ़रियाद करेंगे, चले आना जब कभी ख्याल आये मेरा हम रोज़ खुदा से पहले तुझे याद करेंगे..!!

हमे कार्य तब तक सरल नही लगता हम जब तक उसे करने की कोशिश नही करते है – सुप्रभातम् ୨💌୧

जो मन से हार जाता है वो जिंदगी भर नही जीत पाता है – सुप्रभातम् ୨💌୧

ज़िम्मेदारियों से भाग कर नहीं बल्कि ज़िम्मेदारियों का सामना कर ही ज़िम्मेदारियों से निपटा जा सकता है।

“दुनिया वो किताब है, जो कभी नही पढ़ी जा सकती, लेकिन जमाना वो अध्यापक है, जो सबकुछ सिखा देता है।” ୨💌୧

तुझसे भी अच्छी है यादें तेरी अब तक मेरा साथ निभा रही हैं

सफलता छोटे-छोटे प्रयत्नों का जोड़ है जो दिन रात दोहराए जाते हैं – सुप्रभातम् ୨💌୧

“ज़िन्दगी आपकी है इसे इतनी सस्ती मत बना लेना कि दो कोड़ी के लोग भी खेल कर चले जाएँ… सुप्रभात” ୨💌୧

उसका बचपना तुरंत फरार हो जाता है, जब घर का खर्चा उठाते-उठाते वो इकलौता लड़का घर का ज़िम्मेदार हो जाता है।

घर की जिम्मेदारी है मुझपर, कैसे समझाऊं कितनी उधारी है मुझपर, कभी-कभी तरस आता है मुझे खुदपर, फिर दोगुनी मेहनत करता हूं अपना कर्तव्य समझकर।

जिम्मेदार# जब होता हूँ तो कोई देखता नहीं करता हूँ जिद्द ख्वाहिश की तो लोग #लापरवाह कहते हैं मुझे |

वक्त बदलने में ज्यादावक़्त नहीं लगता जो बाप कभीमुफ्त की रोटी देता था आज बेटे नेकह दिया तू मुफ्त की रोटी खाता है।

“अगर लक्ष्य मुश्किल दिखने लगे तो लक्ष्य नहीं, अपने प्रयास बदलो।” ୨💌୧

हर व्यक्ति अपने कर्मों का खुद ज़िम्मेदार होता है और उसके फल का ज़िम्मेदार भी वही होता है।

किसी को किसी से मिलाती हैं यादें दूरियों की दूरी मिटाती हैं यादें किसी को होश में लाती हैं और किसी को पागल बनाती हैं यादें

महफ़िल में भी तन्हाकरके छोड़ देती है,जिम्मेदारियां इंसान औरसपनो को तोड़ देती है.

“हम सब एक दूसरे के बिना कुछ नही हैं यही रिश्तों की खूबसूरती है..!! शुभ प्रभात!” ୨💌୧

मेरी राह को आसान बना गया, मेरे सपनों को पंख दे गया, मैं न था किसी चीज के काबिल, पर वो इतने जिम्मेदार थे कि मुझे हर चीज के काबिल बना गया।

अब नज़र के सामने एक नई सुबह आई है, संग अपने एक पैगाम लाई है। – Good Morning ୨💌୧

ये क्या मोहब्बत के पीछे मरते हो, तुम्हे तो ज़िन्दगी में कुछ कर के दिखाना है, जल रही होगी जब तुम्हारी कामयाबी देख कर, तो तुम्हे उसे थोड़ा और जलना है।

बहुत दर्दनाक होती है लाचारी करती है जीना मुश्किल मजबूरी. bahut dardnaak hoti hai lachari,karti hai jina mushkil majburi.

“थोड़ी फिकर… थोड़ी कदर.. कभी-कभी खैर खबर… इन छोटी-छोटी बातों का होता है बड़ा असर..!” ୨💌୧

पति के प्रति जो जिम्मेदारी होती है, पत्नी बखुबी निभाती है।

“दुनिया का सबसे सुंदर गिफ्ट किसी को दिल❤️ से याद करना और उसे एहसास दिलाना कि आप हमारे लिए स्पेशल हो। 🌻Good Morning🌹” ୨💌୧

“इस दुनिया में अच्छे सभी होते हैं… बस पहचान बुरे वक़्त में होती है… सुप्रभात ” ୨💌୧

“किसी का भला करके देखो, हमेशा लाभ में रहोगे किसी पर दया करके देखो, हमेशा याद में रहोगे… सुप्रभात ” ୨💌୧

डर को समाप्त करने का एकमात्र उपाय है, निडर होकर उसका सामना करना !! – सुप्रभातम् ୨💌୧

बहनो के साथ लड़ाई, भाई के साथ पढाई,माँ का प्यार, पापा का दुलार।दोस्तों की यादे मोहल्ले की राते,क्या बताऊ कितना याद आ रहा है सब,,हां घर याद आ रहा है अब।

सूर्य की किरण में जग समाया हुआ है, चलो हम भी इसमे समा के देखते हैं! – Suprabhat ୨💌୧

एक उम्र होता है जब हर कोई2-4 घंटे पढ़ाई करके थक जाता है,लेकिन जब जिम्मेदारियाँ बढ़ती हैतो वहीं व्यक्ति 12-16 घंटे कार्यकरके भी थकता नहीं है.

हर कोई हर किसी का दर्दनहीं समझ सकतासिर्फ भूखे को ही पता हैरोटी की अहमियत।

“ जिम्मेदारी मेहनत करके निभाई जाती है,निभाकर इसे एहसाननहीं जताई जाती है…..!!

मैं ज़िन्दगी को अपना मैदान और मुसीबतो को अपना कोच रखता हूँ, और ये शोक वाले जरा दूर ही रहे मुझसे, क्योकि में ब्रांडेड चीजे नहीं ब्रांडेड सोच रखता हूँ।

“ऐसी कोई मंजिल नही जहां तक पहुंचने का कोई रास्ता ना हो।। सुप्रभात!!” ୨💌୧

“वक़्त से ना हारो और न जीतो, बस कुछ नया सीखो।” ୨💌୧

ऐ भगवान भले ही मेरीलाख ख्वाइशे होगी तुझसेबस एक ख्वाइश पूरी कर देनामेरे शहर में कोई भूखा ना सोए।

“जिन्हें अपने आप पर भरोसा होता है उन्हें पता होता है, आज नहीं तो कल उनके सपने जरूर पूरे होंगे I – सुप्रभात” ୨💌୧

“ सारी जिम्मेदारियाँ पूरी ना हो जाएंतब तक चैन से सो नही सकता,लड़का हूँ ना दिल में कितना भी दर्द होपर दुनिया के सामने रो नहीं सकता….!!

जिंदगी भर निभाने में समझदारी है,प्यार भी एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी है.

अजब अंदाज से ये घर गिरा है,मिरा मलबा मिरे ऊपर गिरा है।

वो शाख है न फूल अगर तितलियाँ न हो,वो घर भी कोई घर है जहाँ बच्चियाँ न हो।

बोझ उठाना शौक कहाँ है मजबूरी का सौदा है , रहते रहते स्टेशन पर लोग कुली हो जाते हैं ।

दिल से निकाले जाने वाले यादों को भी अपने साथ ले जाना

तुझसे दूर जाने का कोई इरादा ना था पर रुकते भी कैसे तू ही हमारा ना था। Tujhse dur jane ka koi irada na tha par rukte bhi kese tu hi humara na tha..

उसको गिनती की समझशायद आज भी नहीं मलूमजब मैं एक रोटी मांगता हूं तोमाँ मुझे दो रोटी लाकर देती है।

तारीफ़ अक्सर झूठी की जाती है, और बेइज्जती सच बोल कर। – सुप्रभात ୨💌୧

“यह आवश्य नही कि हर लड़ाई जीती ही जाए.. आवश्य तो यह है कि हर हार से कुछ सीखा जाए। सुप्रभात!” ୨💌୧

“ अपनी जिम्मेदारी को पूरा करना जरूरी है,जिम्मेदारी किसी की मजबूरी नहीं है,अपनी जिम्मेदारियों को भूलकरबेवजह घूमना भी सही नहीं है….!!!

“ मुझे कामयाबी कीतरफ आगे बढ़ाता गया,पिता होने का फर्ज बखूबी निभाता गया….!!

नहीं समझते वो माता-पिताके प्रति अपनी जिम्मेदारी,पर उनकी दौलत में चाहिएसभी को बराबर की हिस्सेदारी.

घर के बाह्रर दुनियादारी है,घर के भीतर दुनिया सारी है।

ये न समझ के मैं भूल गया हूँ तुझे, तेरी खुशबू मेरी सांसो में आज भी है, मजबूरी ने निभाने न दी मोहब्बत, सच्चाई तो मेरी वफा में आज भी है !

ख़ुशी का असली राज़ रोज़मर्रा की ज़िंदगी की हर चीज़ में सच में दिलचस्पी लेने लेने में है।

सुबह-सुबह नहा धोकर हर किसी को नमस्कार करते हैं, यही हमारे संस्कार कहते हैं। – सुप्रभात ୨💌୧

गरीब एक रोटी को भीचार जन में बांटता हैतुम घर पर बचे खाने कोकैसे कचरे में फेक देते हो यार।

“जहां आप नहीं होते वहाँ आपके गुण और अवगुण आपका प्रतिनिधित्व करते हैं… 🌻 Have a nice day🌻” ୨💌୧

👍 अगर एक भाई अपनी जिम्मेदारी निभाये तो किसी बहन को समाज से डरना नहीं पड़ेगा

खूबसूरत सुबह आपके लिए खूबसूरत सन्देश लेकर आए। सुप्रभात। ୨💌୧

“छोटी सी जिंदगी है.. हंस के जियो भुला के सारे गम.. दिल से जियो अपने लिए ना सही.. अपनो के लिए जियो” ୨💌୧

जिन्दगी में, ज़िन्दगी ढूंढना ही जिन्दगी है..! ୨💌୧

“भरोसा अगर खुद पर है तो वो आपकी ताकत है और अगर दूसरों पर है तो वो आपकी कमजोरी। गुड मॉर्निंग।” ୨💌୧

कभी हार ना मानने की आदत ही एक दिन जीतने की आदत बन जाती है। ୨💌୧

“उस लम्हे को बुरा मत कहो जो आपको ठोकर पहुंचाता है बल्कि उस लम्हे की कदर करो क्योंकि वो; आपको जीने का अंदाज सिखाता है। Good Morning!” ୨💌୧

सुना है कि उसने खरीद लिया है करोड़ो का घर शहर में,मगर आँगन दिखाने वो आज भी बच्चों को गाँव लाता है।

मिरे ख़ुदा मुझे इतना तो मो तबर कर दे,मैं जिस मकान में रहता हूँ उस को घर कर दे।

हारता वही है जो दुनियां से नहीं अपने आप से हार जाता है I – Good Morning ୨💌୧

Recent Posts