920+ Sunset Shayari In Hindi | Sunset Quotes In Hindi

Sunset Shayari In Hindi , Sunset Quotes In Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: September 15, 2023 Post Updated at: June 28, 2024

Sunset Shayari In Hindi : ढलते-ढलते जब सूरज बादलों में छिप जाता है, फिर धीरे-धीरे तेरे यादों का सूरज उग आता है. Sunset Love Shayari हर दिन उगता है सूरज, हर दिन डूबता है सूरज, फिर भी ना जाने क्यों तन्हा रहता है सूरज।

मुझे पता ना चला,पर वो चलता रहा,मैं देखता रहा,और वो ढलता रहा।

मुझे पता ना चला,पर वो चलता रहा,मैं देखता रहा,और वो ढलता रहा।

जब भी तुम मुझे देखना चाहते हो,तो हमेशा सूर्यास्त देखना मैं वहाँ रहूँगा,हर कमी पूरी हो जाती है किसी न किसी तरह,लेकिन साँझ अब भी तुझ बिन अधूरी लगती है।

🤲 खुदा नवाजे तुझे 🤟 मुझसे बेहतर, 🔥मगर तू 🤪 फिर भी मेरे 🤩 लिए तरसे 😍😍😜 … ।।

शाम को सूरज ढल रहा है,बादलों के पीछे कहीं छुप रहा है.Sunset Shayari

“सूर्यास्त का रंग अभी भी मेरा पसंदीदा रंग हैऔर बाद में इंद्रधनुष का।”– मैटी स्टेपैनेक

“जब सूरज अपने अंतिम उग्रवाय, तो आप देखें कि वह आपको एक नई शुरुआत के नजदीक ले जाता है।”

पलट कर वापस आने लगे saam को परिन्देहमारा सुबह का भुला अभी तक नहीं आया

सूर्यास्त प्रत्येक दिवस तुझ्या आठवणीत मावळतो, कधी शृगांरात सजून तर कधी आसवांनी भिजून

जिसने आशा खो दी वहसूर्योदय के बारे में भूल जाता है !

आँख उठाकर 👀 भी न देखूँ, जिससे मेरा ❤️ दिल न मिले, 🤝 जबरन सबसे हाथ 🤨 मिलाना, मेरे बस की बात 🤪 नहीं … ।।

डूबते हुए सूरज की तरह थी वो,नादानी मेरी, उगता हुआ सूरज समझ लिया.

आकाश सूर्योदय और सूर्यास्त के दौराननारंगी के रंगों को ग्रहण करता है जोरंग आपको उम्मीद देता है किसूरज फिर से उगने के लिए तैयार होगा !

আমি মধ্যবিত্ত, নিজৰ সপোনটো ভাঙি, আনৰ সপোনবোৰ সজোৱাৰ চেষ্টাৰেই পাৰ হয় আমাৰ জীৱন।

आज जवानी पर इतरानेवाले कल पछतायेंगेचढ़ता सूरज धीरे-धीरे ढलता हैं ढल जायेगा

शेवटही सुंदर असू शकतो याचा पुरावा म्हणजे सूर्यास्त – बीओ टॅपलीन

शाम का ये रंगीन शमा है,ठंडी हवा चलने लगी है ,सूरज भी अब ढलने लगा है,पर तू न जाने कहा सोया है..!!

आखिर मुझे उसकी कमी क्यों खले,जब हर बार मिलने की उम्मीद दिए वो ढले.

मुझे पता ना चला,पर वो चलता रहा,मैं देखता रहाऔर वो ढलता रहा.

कितना अजीब है ये मौत का डरहम सूर्यास्त से कभी नहीं डरते।

सूरज डूबा और आँखों में नमी-सी है,आज फिर एक बार आपकी कमी-सी है.

आसमान को धरती परउतारा जा सकता है..जब हौसला औरइरादों का मिलाप होता है..

दिन गुजर जाता है आपको सोच-सोच कर,आती है शाम दिन गुजर जाने के बाद,काटी तो नहीं शाम की तन्हाईयाँ जाती,तेरी याद तेरे आने के बाद। ..गुड इवनिंग

दुआ करता हूं आपके दिल से!!हमको आज कुछ हुआ है फिर से!!याद आती है आपकी शाम ढलते हीलगता है आपसे प्यार हुआ आज फिर से!

💥 “हम दुश्मनों को भी बड़ी 😡 शानदार सज़ा देते हैं, हाथ 🤨 नहीं उठाते बस 👀 नज़रों से गिरा देते हैं।” 💥💥

वक्त की एक आदत बहुत अच्छी हैं,ये जैसा भी हो गुजर ही जाता हैं।

हम भी 🤩 नवाब है लोगों🤔 की अकड़ धूएँ की तरह उड़ाकर,😇औकात सिगरेट 🚬की तरह छोटी 😜 कर देते है ।।🤩🤩

#सांझ का वक्त हो और साथ हो तुम्हारा सर्दी वाले शाम हो और ये खूबसूरत नजारा

हो आज प्यार का जादू,ओर एक यादगार पल बन जाये ,तुम बस आजाओ ख्वाबो में हमारे,ताकि आज की शाम सब से प्यारी बन जाये..!!

डूबते हुए सूरज की तरह थी वो,नादानी मेरी, उगता हुआ सूरज समझ लिया.

🤩 मंजिले मुझे छोड़ गई 😁 रास्तो ने संभाल 🤗 लिया,ज़िन्दगी तेरी ❤️ जरुरत नहीं मुझे #हादसों ने पाल लिया !! 😍😍

चढ़ते सूरज के पुजारी तो लाखों है,डूबते वक्त हमने सूरज को भी तन्हा देखा।

दिन कटता गया तेरी यादों के झरोखे मेंदिल की शाम दिदार को सराबोर हो गई !

“सूर्यास्त के समय हम अपने आप को प्रकृति के साथ संवाद करते हैं, जो हमें यह बताता है कि सब कुछ कहानीबाजी के रूप में व्यक्तित्व को परिभाषित करता है।”

लबो पर तेरे मुस्कान खिलेसागर किनारे हम हर शाम मिलेमेरे इस मैसेज को संभल कर पढ़नावरना कहीं शाम पड़े सागर किनारेतेरे पापा खड़े ना मिले…

मावळत्या संध्येला सूर्यास्त होतो… सुर्य बघता बघता क्षितिजाला स्पर्शतो, पाखरांचा कल मायेकडे ओढावतो, चहूकडे फक्त आनंदाची उधळण करतो

तरसती नज़रो ने हर पल आपको ऐसे मांगाजैसे हर अमावस में चांद मांगारूठ गया वो खुदा भी हमसेजब हमने अपनी हर दुआ में आपको मांगा ।

ढग माझ्या आयुष्यात तरंगत आहेत, वादळ अथवा पावसासाठी नाही तर, माझ्या आकाशात सूर्यास्ताचे रंग भरण्यासाठी – रविंद्रनाथ टागोर

जब सूरज ढल रहा हो तो आप जो भी कर रहे हैंउसे छोड़ दें और उसे देखें !

चढ़ते सूरज के पुजारी तो लाखों है यहाँ!!डूबते वक्त हमने सूरज को भी तन्हा देखा है!!

असफलता को इजाज़त दें की वो,आपको बड़ा कुछ सिखाये, क्योकि,प्रत्येक सूर्यास्त के बाद,एक बहुत बड़ा सूर्योदय होता है।

কিমান যে নিশা পাৰ কৰিলোঁ তোমাক কাষত পোৱাৰ আশাত, তোমাক তো নাপালোঁ কিন্তু মইহে হেৰাই গলো তোমাৰ অপেক্ষাত।

हर सूर्यास्त खुद को रीसेटकरने का एक अवसर है !

🏜️ रेगिस्तान भी हरे 🌲 हो जाते है, 🤩जब अपने 🤝 साथ अपने 🤟भाई खड़े हो जाते है😎 … ।।

“सूर्यास्त हमें याद दिलाता है कि हमें अपने आप को ऊंचाईयों तक उठाने के लिए उचित समय प्रदान करना चाहिए।”

दिल से दिल की बस यही दुआ हैआज फिर से हमको कुछ हुआ हैशाम ढलते ही आती है याद आपकीलगता है प्यार आपसे ही हुआ है

साझ का वक्त हो और साथ हो तुम्हारा,सर्दी वाले शाम हो और ये ख़ूबसूरत नजारा.

आखिर मुझे उसकी कमी क्यों खले,जब हर बार मिलने की उम्मीद दिए वो ढले.

सूरज डूबा और आँखों में नमी-सी है,आज फिर एक बार आपकी कमी-सी है.

एक तेरा दीदार मेरे सारे गमो को भुला देता है,मेरी जिंदगी को जिंदगी बना देता है।

वैसे ये सूरज भी, बड़े मजे से जलता है,जो देखे उसे उसके हिसाब से ढलता हैकभी समन्दर के आगोश में सिर रख करकभी लुढ़कते हुए पहाड़ो में सम्भलता हैं.

सांझ के अकेलेपन का एक खास गुण होता है,उदासी की उदासी रात से भी बड़ी है।

अभी तो आसमान से उतरे चाँद से बादल रोशन हो गए,और उसी रोशनी में आपके नाम एक खूबूरत शाम हो गए।

“जब सूर्यास्त घाेलता है, ताे हम अपने आप में वही रंग बदल जाते हैं, जैसे धरती हमारी रूह में उपस्थित रंगों से बह रही हो।”

#मुखड़े पर तेरे मुस्कान खिले!! दुआ करता हूं हम हर शाम मिले!! मेरी इस शायरी को छुपाकर पढ़ना कहीं ऐसा ना हो कि तेरे पापा खड़े तेरे पास मिले!!

आसमाँ इतनी बुलंदी पे जो इतराता है,भूल जाता है ज़मीं से ही नज़र आता है।

रात हुई जब हर शाम के बादतेरी याद आयी हर बात के बादहमने खामोश रह कर भी महसूस कियातेरी आवाज़ आयी हर सांस के बाद

“सूर्यास्त के समय जब आपको धरती की आँखों से मिलने का मौक़ा मिलता है, तो आप अपनी असीम मुक्ति की अनुभूति करते हैं।”

सूर्यास्त ने मुझे पकड़ लियाब्रश को तांबे में बदल दिया,पृथ्वी के ऊपर बादलछत पर लगी एक बड़ी लौ।

यू 😅अकड मे रहना🤨 बंद कर दें छोरी 👩वो तो ❤️प्यार करते है तुझसे 😍वरना तेरे😜 जैसी 56 घुमती😎 हैं आगे पीछे🤩🤩

एक वह सवेरा था जबआपके लिए हंस कर उठते थे हम!!और एक आज का दिन है जबबिना मुस्कुराए ही शाम हो जाती है!!

मुझे पता ना चला,पर वो चलता रहा,मैं देखता रहाऔर वो ढलता रहा.

मोहब्बत का कोई मुकाम नही होता है,वो जो रास्ता होता हैं न वही खूबसूरत तमाम होता है।

इश्क़ मुझे तुझसे ही नहींतेरे होने से भी हैं।

❤️ अच्छा हैं ये ” दिल ❤️ ” अंदर होता हैं 😯बाहर होता 🍃 तो हमेशा पट्टियों 🤕 में ही लिपटा 😱😱 रहता … ।।

मेरी 👀आँखों के जादु से 🤪अभी तुम कहा वाकिफ हो , हम उसे 🤩भी जीना सिखा देते हे जिसे🤪 मरने का शौक हो 😎😎

चाँद से चाँदनी होती है सितारों से नही,और प्यार एक से होता है हजारो से नही।

मुझे लगता है की सूर्यादय मेरे लिए बहोत दुर्लभ होगा,पर सूर्यास्त मेरा पसंदीदा समय है।

ढलते दिन सा मैं, गुजरती रात सी tum,अब थम भी जाओ,एक मुलाकात को

जब सूरज डूबने के लिए आया हो,हाथ का हर काम छोड़ दीजिये और उसे देखे।

हमारा 😎 स्टाइल और ऐटिटूड 🤩कुछ अलग सा है अगर बराबरी 😜करने लगोगे तो बिक जाओगे🤪🤪

शाम तक सुबह की नज़रों से उतर जाते हैंइतने समझौतों पे जीते हैं कि मर जाते हैं !

Recent Posts