1568+ Speech Shayari In Hindi | Motivational Shayari in hindi

Speech Shayari In Hindi , Motivational Shayari in hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: September 25, 2023 Post Updated at: November 13, 2023

Speech Shayari In Hindi : मैंने जीवन में उस इंसान से कुछ नहीं सीखा, जो हर बात में मुझसे सहमत था। यकीन कीजिये ईश्वर के फैसले पर हमारी ख्वाहिशों से बेहतर  होते है।

निज भाषा का नहीं गर्व जिसे, क्या प्यार देश से होगा उसे, वही वीर देश का प्यारा है, हिंदी ही जिसका नारा है।

जहाँ जाति भाषा से बढ़कर देशप्रेम की धारा हैवो देश हमारा है, वो देश हमारा है

उड़ान तो भरना है , चाहे कई बार गिरना पड़े , सपनों को पूरा करना है , चाहे खुद से भी लड़ना पड़े ।

हमको मिटा सके ये जमाने में दम नहीं, हमसे जमाना खुद है जमाने से हम नहीं !

जो सब्र के साथ इंतजार करना और जुनून के साथ मेहनत करना जानते है उनके पास हर चीज किसी न किसी तरीके से पहुंच जाती है ॥

अजीब दस्तूर है जमाने का,अच्छी यादें पेन ड्राइव मेंऔर बुरी यादें दिल में रखते है.

बेटियाँ सब के मुक़द्दर में कहाँ होती हैं, घर खुदा को जो पसंद आये वहाँ होती हैं।

शुरुआत तो लाखों लोग करते हैं लेकिन लक्ष्य तक केवल 5 प्रतिशत लोग ही पहुंचते हैं ।

इंसान हमेशा अपने भाग्य को कोसता है यह जानते हुए भी कि भाग्य से बड़ा उसका कर्म है जो उसके स्वयं के हाथों में है ।

आज मिलेंगे, कल मिलेंगेविदा हो जाओगे आज तुमना जाने फिर कब मिलेंगे।

जीवन का मार्ग कठिन हैं सत्य का विचार कठिन हैं पर जो हर हाल में सत्य सिखाये वही एक सफल शिक्षक कहलाये

जरूरी ये नहीं कि कोई तुम्हारे साथ है या नहीं , जरूरी तो ये है कि तुम खुद के साथ हो या नहीं !!

होके मायूस ना आँगन से उखाड़ो ये पौधे, धूप बरसी है यहाँ तो बारिश भी यही पे होगी !

मंजिल उन्हीं को मिलती हैं,जिनके सपनों में जान होती है,पंख से कुछ नहीं होता यारोंहौसलों से उड़ान होती है।

‘ पछतावा ‘ कभी अतीत नहीं बदल सकता और ‘ चिंता ‘ भविष्य नहीं सुधार सकता इसलिए केवल वर्तमान पर ध्यान रखो संघर्ष करो यही सफलता का मार्ग है ।

आप की खा़तिर अगर हम लूट भी लें आसमाँ,क्या मिलेगा चंद चमकीले से शीशे तोड़ के !

क्या दूँ गुरु-दक्षिणा, मन ही मन मैं सोचूं। चुका न पाऊं ऋण मैं तेरा, अगर जीवन भी अपना दे दूँ।

घर से निकले हैं पढ़ने को, जीवन के पथ पर बढ़ने को, कदम है अगला आज बढ़ाया एक रोज शिखर पर चढ़ने को।

एक पिता, भगवन के द्वारा बनाई गई ATM मशीन है।

चाहिए ख़ुद पे यक़ीन-ए-कामिल,हौसला किस का बढ़ाता है कोई।

हार को जीत की एक दुआ मिल गई तपन मौसम में ठंडी हवा मिल गई। आप आये श्री मान जी यू लगा, जैसे तकलीफ को कुछ दवा मिल गई।

जो बनाए हमें इंसान,और दे सही गलत की पहचान,देश के उन निर्माताओं को,हम करते हैं शत-शत प्रणाम।

एक अलग ही पहचान बनाने की आदत है मेरी,तकलीफों में भी मुस्कुराने की आदत है मेरी.

मुद्दतों बैठे रहे हम तेरे एहसास के साथदूर के दूर रहे और पास के पास…

ज़मीन में बैठ कर क्यों आसमान देखता है,पंखों को खोल जमाना सिर्फ उड़ान देखता है।

माननीय मुख्य अतिथि जी, अध्यक्ष महोदया, सम्मानित शिक्षकगण, और मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को मेरा नमस्कार।

बोझ कितना भी भारी हो, कभी उफ नहीं करता है पिता, बच्चों की ख्वाहिशों के बोझ से कभी उसका कंधा नहीं झुकता है।

दे सलामी इस तिरंगे कोजिस से तेरी शान हैं,सर हमेशा ऊँचा रखना इसकाजब तक दिल में जान हैं..!!जय हिन्द, जय भारत

चमक सबको नज़र आती है, अँधेरा कोई नहीं देख पाता

हारता वो है जो शिकायतें हज़ार करता है और जीतता वो है जो कोशिशें बार बार करता है.!!

विदाई की घड़ी है, हर आंख नम पड़ी है हर कामना हो पूरी आपकी यही शुभकामना है तहे दिल से हमारी।

आपने सिखाया पढ़ना आपने सिखाई लिखाई गणित भी जाना आपसे आपने ही भूगोल बतायी बारंबार नमन करता हूँ…स्वीकार करें बधाई !!

समय के साथ अपने आप में बदलाव लाने की कोशिश करिये नहीं तो जिस दिन आपको समय जबर्दस्ती बदलाव करवायेगा तब तकलीफे बहुत होगी

इंसान को परखना हो तो,बस इतना कह दो की,“मैं तकलीफ में हूँ..”

यहां हर चीज किस्मत से नहीं मिलतीकुछ चीजों को छीननी पड़ती है

यूँ सामने आकर आप बेठा न कीजिये, ये सबर हर बार नहीं होता जनाब!😻

जिन टीचरों का जग में होता है सम्मान,वो टीचर होते है ज्ञानवान।

” परिंदों को भी मंज़िल मिलेगी यकीन से ये उड़ते हुए उनके पर बोलते हैं। अक्सर वो लोग ही खामोश रहते हैंज़माने में जिनके हुनर बोलते है।। “

कोई आपको बुरा कहे तो कहने दो क्योंकि आदमी अच्छा था यह सुनने के लिए मरना पड़ता है

हार कर भी उस क्षण तू जीत जाएगा इतिहास तेरी मेहनत की गाथा जब गाएगा ।

मेहनत  इतनी खामोशी  से करो की, तुम्हारी सफलता शोर मचा दे।

बोलो भारत माता की जय! वंदे मातरम्! वंदे मातरम्! जय हिंद जय भारत!

ऊंचाई पर वही पहुंचते है जो बदला, नही बदलाव लाने की सोच रखते है !

खुदा गवाह है दोनों हैं दुश्मने-परवाज,ग़म-ए-कफस हो या राहत हो आशियाने की।

बेहतर से बेहतर कि तलाश करो, मिल जाये नदी तो समंदर कि तलाश करो, टूट जाता है शीशा पत्थर कि चोट से, टूट जाये पत्थर ऐसा शीशा तलाश करो !

"दिल लगाना है तो किताबों से लगाओ अगर बेवफा भी निकलेगी तो मुकद्दर बना कर जाएगी।”

पंखों को खोल कि ज़माना सिर्फ उड़ान देखता है,यूँ जमीन पर बैठकर आसमान क्या देखता है।

दुःख दर्द सब भूल जाते हैं चल फिर से स्कूल जाते हैं

चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले,शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद कर ले,जिसमे बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पेदेशभक्तो के खून की वो धारा याद कर ले।

छोड़ने मैं नहीं जाता उसे दरवाज़े तकलौट आता हूँ कि अब कौन उसे जाता देखेशहज़ाद अहमद

मंज़िल पाना तो बहुत दूर की बात हैं,गुरूर में रहोगे तो रास्ते भी न देख पाओगे।

जिससे कोई उम्मीद नहीं होतीअक्सर वही लोग कमाल करते हैं

लाख दल दल हो, पांव जमाए रखिए,हाथ खाली ही सही,ऊपर उठाएं रखिए,कौन कहता है छलनी में, पानी रूक नहीं सकता,बर्फ बनने तक ,हौसला बनाए रखना।

साहिल के सुकूँ से किसे इंकार है लेकिन,तूफ़ान से लड़ने में मज़ा और ही कुछ है।

एक मीठी-सी मुस्कान होती है बेटी,पराये घर की पहचान होती है बेटी।

मैं कुछ ख़ास तो नहीं,मगर मेरे जैसे लोग कम हैं.

श्रम के बिना सफलता प्राप्त नहीं होती है।

गुमनामी के अंधेरे में था पहचान बना दिया दुनिया के गम से मुझे अनजान बना दिया उनकी ऐसी कृपा हुई गुरु ने मुझे एक अच्छा इंसान बना दिया

सही क्या है ? गलत क्या है ? ये सबक पढ़ाते हैं आप, झूठ क्या है ? सच क्या है ? ये बात समझाते हैं आप, जब सूझता नहीं कुछ भी ,राहों को सरल बनाते हैं आप।

दिल को सुकून मिलता हैं मुस्कुराने से. महफ़िल में रौनक आती है दोस्तों (आप) के आने से

भटकते दिल को राहत मिल जाए, ‌तुम जो आओ जिंदगी की हर खुशी मिल जाए।

ये मत सोचना कि तुम्हारे बिना मर जायेंगे हम,वो लोग भी जी रहे हैं जिन्हें छोड़ा था मैंने तुम्हारी खातिर..

क्यों मायके की चौखट लांघते, आपने छुड़ा ली अपनी उंगली,मैं कल भी आपकी बेटी थी, आज भी और कल भी आपकी बेटी ही रहूंगी।

सपने को पाने के लिए समझदार नहीं पागल बनना पड़ता है

ससुराल में सबने पूछा बहु दहेज में क्या-क्या लाई है,पर क्या किसी ने कभी पूछा, तू अपने पीछे बाबा का प्यार छोड़ आई है।

दिल को सुकून मिलता हैं मुस्कुराने से,महफ़िल में रौनक आती है दोस्तों के आने से।

चार अक्षरों का शब्द ” सफलता ” अक्सर चार अक्षरों के शब्द ” मेहनत ” से ही मिलती है ।

हमेशा चलते रहो भले ही आप नर्क से ही क्यों ना गुज़र रहे हो

दुल्हन वहीं जो पिया मन भाये, शिक्षा वहीं जो रोजगार दिलाये।Funny Education Shayari

मुद्दा यह नही कि दाल महंगी है साहब,दर्द यह है कि किसी की भी गल नही रही।

जब आपको कोई अपना चाहिए होता है, कोई ऐसा चाहिए जो आपकी देखभाल करे, कोई आपका मार्गदर्शन करे… तो पिता हमेशा आपके साथ होते हैं।

मत देखो हमें… तुम इस कदर,इश्क़ तुम कर बैठोगे और इलज़ाम हमपर आयेगा।

Recent Posts