661+ Shayari Before Dance Performance In Hindi | Dance shayari

Shayari Before Dance Performance In Hindi , Dance shayari
Author: Quotes And Status Post Published at: August 4, 2023 Post Updated at: January 11, 2024

Shayari Before Dance Performance In Hindi : जो शब्द ना अब तक कह पाएमेरे घुंघरुओं ने दास्ताँ बताई हैकौन कहता है यह कोई डांस हैमेरा मन जागा है उसी की यह अंगड़ाई है डांस तुम मेरे यार होबचपन वाला मेरा प्यार होदर्द देती है एडियां लेकिनदिल कहता है हर बार हो

जिनको हम चुनते हैवो ही हमे घंटे है,चाहे बीवी हो या नेतादोनों कहां सुनते है..!!

ये नन्हे फूल तब महकते हैजब खुदा की नीली छत्रिया तनती हैइस नन्हे मुन्हे फरिश्तो के लिएजोरदार तालियाँ तो बनती है।

न नृत्य# जानूँ न जानूँ गायन न ही आये चित्रकारी इस #लॉक डाउन में एक ही सहारा मेरी ये #लिखने की बीमारी

तुम आ गए हो ख़ुदा का सुबूत है ये भी क़सम ख़ुदा की अभी मैं ने तुम को सोचा था

जिन कक्षा के छात्रों में है नाचने का हुनर वे आ रहे हैं सुनो गौर से दुनिया वालों गाने पर अपना परफॉर्मेंस दिखाने तो आइए उनका ताली बजाकर स्वागत करें।

सारे दुःख मिटा दो चेहरे की हंसी सेगमों की आग बुझा दो चेहरे की हँसी सेहर कोई खुश रह नहीं सकता चाह कर भीखुशी का राज बता दो चेहरे की हँसी से

“ मयूर सा मन नाचता है,जो कोई मन मीत मिल जाता है….!!

एक मत है #आत्मा तीसरे नेत्र के स्थान पर होती है कुछ कहते हैं #हृदय की गहराई में स्थित है मैने महसूस किया है मेरी #आत्मा मेरे पैरो में है |

मसेंजर पर बात कर के उनसे हमारी नीद उडी.सामने मिली तो वजन था 75 और नाम था पंखुड़ी.

वैल्कम डांस करने के लिए आ रही हैं  इनका तालियों के साथ स्वागत कीजिये,प्यारी परी के सुंदर डांस के बाद, अब घर की देसी गर्ल्स की हैं बारी,

जो लड़कियां शादी के पहले भाव खाती है.शादी के बाद वो किसी तकले के साथ बड़ा पाँव खाती है.

जब नाचने न आयें,तो आंगन ही टेढ़ा हो जायें

हमारी महफ़िल में लोग बिन बुलायें आते हैं, क्योकि यहाँ स्वागत में फूल नहीं पलकें बिछाये जाते हैं.

दिल को सुकून मिलता हैं मुस्कुराने से,महफ़िल में रौनक आती है दोस्तों के आने से।

मिलते तो बहुत लोग है ज़िन्दगी की राहों में,मगर हर किसी में आप जैसी बात नहीं होती।।

चाहे न चाहे जिदंगी हमसे उम्रभर नृत्य करवाती है, नृत्य करतेकरते इंसान की पूरी उम्र निकल जाती है

मसर्रत के तराने गा रहे हैंदिल वाले घोड़े मुबारक हो दिल,फिर से डांस करने लगे है वो थोड़े

अब तक था स्टेज पर छोटो का कब्ज़ा लेकिन अब आ रहे घर के बड़े दिखाने अपना जलवा जोर दार करे तालियों से स्वागत इनका

मिलते तो बहुत लोग है ज़िन्दगी की राहों में,मगर हर किसी में आप जैसी बात नहीं होती।।

आपको सबसे बेहतर नृत्यसीखने की आवश्यकता नहीं हैआपको ज़रुरत है रोज़खुद से बेहतर नृत्य सीखने की

सुना है आज कल नाजो नखरेकिसी और के उठाने लगे हो.क्या बे आज कल कितने तरीकोसे मुझे जलाने लगे हो.

दर्दे दिल बयाँ करने हैं आये,आखिर बार दुल्हे को समझाने हैं आये,शादी नहीं हैं वो लड्डू जिसे खाकर बस मजा आये,ये तो वो फंदा हैं जिस गले पड़े वो पछताये…

देखो आ गई जिसका था इंतजार,लाई है साथ में खुशियों की बहार,देखने आया है उसे मेरा पूरा परिवार,उसे हमारा भी आशीर्वाद और प्यार।

अर्ज किया हैं वो डीपी दिखाकर गुमराह करेगी,मगर तुम आधार कार्ड पर अड़े रहना..

पिछली बार की बात थीजब भैया घोड़ी पर सवार थेआज देखो कैसे चूहा पार्किंग में लगाकर आये हैंअरे इतना भी ना शरमाइयेजरा भाभियों का नजराना तोकबूल फरमाइए

डांस तुम मेरे यार होबचपन वाला मेरा प्यार होदर्द देती है एडियां लेकिनदिल कहता है हर बार हो

यामिनी नृत्य कर रही जुगनुओंके प्रकाश में रातरानी मुस्कुरारही नवयौवन की आस में

पैरों का कार्य चलना होता है परन्तु पैरों की रूचि सदैव नृत्य करना होती है।

बूझी शमा भी जल सकती है, तुफानो से कश्ती भी निकल सकती है| हो के मायूस यूँ ना अपने इरादे बदल, तेरी किस्मत भी कभी बदल सकती है||

जो नृत्य सम्पूर्ण दिल एवं आत्मा के गठबंधन से किया जा रहा हो वह नृत्य कभी खराब हो ही नहीं सकता।

ज़िन्दगी एक संगीत है और इसे जीने का सबसे बेहतर तरीक़ा है इस संगीत पर Dance करना है।

अगर आपके पास Dance करने की कोई वजह नहीं है तो बस बेवजह Dance कीजिए।

लोग पूछते है की लड़की पटाने के बादतुझे चलने में दिक्कत क्यू हो रही है,अब उन्हें कैसे सुनाऊं की लड़की केबाप ने पिछवाड़ा लाल कर दिया है । 🤣

जिसका ना कोई मेलनृत्य है एक ऐसी कलाजो बच्चों का ना #खेल…यदि आप अपनी #आक्रामकता को छोड़ना चाहते हैं, तो उठो और #नृत्य करो.

अर्ज किया है,रजवाड़े में उस रहे थे हाथी,रजवाड़े में उड़ रहे थे हाथी,इतने गौर से क्या सुन रहे,कभी देखे है उड़ते हाथी।

उसने वादा किया है आने का, रंग देखो गरीब खाने का.

पूजा हो मंदिर में तो थाली भी चाहिए,गुलशन है गुल का तो माली भी चाहिए है,दिल है दिलवाला तो दिलवाली भी चाहिए,कार्यक्रम है हमारा तो आपकी ताली भी चाहिए…

जब मै कहने गया था.दिल से दिल की बाते.तो हडबड़ा कर.गिर गया था कीचड़ पर साले.वो मुझे देख कर.पहचान नहीं पाई.उसने कोई पागल समझ कर.मेरी कर दी कुटाई.

अर्ज किया है…की बाहर जाने से पहले खिंजा आ गई…और फूल खिलने से पहले बकरी खा गई।

“ नृत्य है एक ऐसी कलाजिसका ना कोई. मेल नृत्य हैएक ऐसी कला जो बच्चों का ना खेल…..!!

मिलते तो बहुत लोग है ज़िन्दगी की राहों में, मगर हर किसी में आप जैसी बात नहीं होती||

“ नृत्य एक कविता है जिसमेंप्रत्येक चाल एक शब्द है…!!

मसर्रत के तराने गा रहे हैं दिल वाले घोड़ेमुबारक हो दिल ,फिर से डांस करने लगे है वो थोड़े

अब मैं अनुरोध करूंगा कि माननीय मुख्य अतिथि जी अपने स्थान को ग्रहण करें।

हर वक्त लड़ते थे जो भाई बहन आज देखो कैसे सिसक रहे हैं भेज रहा हैं बहन को संग उसके सजनदिल का दर्द उसके नयन बयाँ कर रहे हैं

कोई भी परवाह नहीं करता है अगरआप अच्छी तरह से नृत्य नहीं कर सकते है.सिर्फ उठो और नृत्य करो. महाननर्तक अपने जूनून के कारण महान है

क़दम क़दम पे बिछे हैं गुलाब पलकों के चले भी आओ कि हम इंतिज़ार करते हैं

उसने कहा क्यों मुझे टूट कर चाहा.मैंने कहा  दिमाग से खाली थी और कोई बात नही.

क्रोध को समेट लेता है नृत्य,मन को मोह लेता है नृत्य,जीवन का एक अंग है नृत्य,सुकून उसे मिलता है जिसके संग है नृत्य

क्लासिकल डांस भी एक सम्पूर्ण व्यायाम है जो आपको स्वस्थ रखता है और मन को सुकून देता है।

तो मैं हमारे अतिथि से अनुरोध करूंगा कि वह मंच पर आकर कुछ शब्द कहें और सभी छात्रों को प्रेरित करें।

मुस्कुराकर, दर्द भूलकर रिश्तों में बंदथी दुनिया सारी हर पग को रोशन करनेवाली वो शक्ति है एक नारी महिला दिवसकी शुभकामनाएं.

स्नेहपूर्ण प्यार से बंधी हैं रेशम सी डौर,जिसके प्यार की सीमा का नहीं है छौर,ले रहे हैं जो एक सपनों की उड़ान,उनके प्यार की खुशबू महक रही है चारों ओर

आज के दिन को सर झुकाकर करें सज़दामन की उमंगों को पँख लग जायेंगेभर लिया ख़ुद को दुआओं से इस दिनतो दूसरों के लिए भी दुआ कर पाएंगे।

पिछली बार की बात थीजब भैया घोड़ी पर सवार थेआज देखो कैसे चूहा पार्किंग में लगाकर आये हैंअरे इतना भी ना शरमाइयेजरा भाभियों का नजराना तोकबूल फरमाइए

“देखा है तेरे आगे,सरमा कर फूलों को मुरझाते,ए पूरी दुनिया को घायल करने वाले,तुम क्यों नहीं रोज नहाते!!”

काम ऐसे करों जैसे कि तुम्हें पैसे कीजरूरत ही न हो. प्रेम ऐसे करो जैसेआपको कभी चोट नहीं लगी. डांसऐसे करो जैसे कोई तुम्हे देख ही नहीं रहा है

“ न नृत्य जानूँ न जानूँ गायन नही आये चित्रकारी इस लॉकडाउन में एक ही सहारामेरी ये लिखने की बीमारी…!!

जब आप नृत्य करते है, तो आप अपने होने केविलासिता का आनंद ले सकते है

“हे ईश्वर तू ही हैं सबका रचियता तू ही जीवन का निर्माता  शीष झुकाए करते हैं तेरा वंदन  मिले तेरा आशीष हमें जनम जनम  ”

चेहरे पर हंसी और दिल में ख़ुशी होती हैसही मायनों में यहि जिंदगी होती हैऔर हसना किसी इबादत से कम नहींकिसी और को हँसा दो तो बंदगी होती है।

आइये करते हैं महफिल का आगाज़ सबसे पहले हो जाए दुल्हे की बहन का डांस

“ यामिनी नृत्य कर रही जुगनुओंके प्रकाश में, रातरानी मुस्कुरारही नवयौवन की आस में….!!

कुछ बयां कर देता हूंकुछ छूपा लेता हूंमै अपनी मुस्कान से हीखूद को मना लेता हूं

भाई बहन की इस जोड़ी के फाडू डांस के बाद अब हैं जिनकी बारी उनका कीजिये पहले तालियों से जोरदार स्वागत

तो इस लाजवाब परफॉरमेंस के लिए एक बार फिरसे से ज़ोरदार तालिया हो जानी चाहिए। इस पर ही मुझे एक शेर याद आ रहा है।

“ आज भी नृत्य करती हूं उसी कोदिखाने के लिए किन्तु वो इसेभावनाओं का नाच समझे बैठा हैजाने क्यूं वह पुरुष प्रकृति को नहीं समझता…!!

कार्यक्रम में खुशियों का महोत्सव Ho जाएगा,समंदर में लहरों का महोत्सव Ho जाएगा,शोभा आपकी और हमारी Do दूनी चार होगी,जब आपकी तालियों का महोत्सव Ho जाएगा…

जोड़ने वाले को मान मिलता है,तोड़ने वाले को अपमान मिलता है,और जो खुशियाँ बाँट सके,दुनिया मे उसे सम्मान मिलता है…

निकाल दे अपने दिल से हर डर को,नजारे मिलेंगे नए फिर तेरी नजर को,दामन भर जाएगा सितारों से तेरा,ये दुनिया देखेगी तब तेरे उभरते हुनर को…

शुक्रिया तेरा तिरे आने से रौनक़ तो बढ़ीवर्ना ये महफ़िल-ए-जज़्बात अधूरी रहती

तो अगर आप किसी ऐसे फंक्शन में है जहां पर दीप प्रज्वलित करने की भी तैयारियां की गई हैं तो आप इसके लिए नीचे दिए गए इस ग्रुप का उपयोग कर सकते हैं।

Recent Posts