25+ Rakh Hausla Wo Manzar Bhi Aayega Shayari In Hindi | हौसलों की उड़ान शायरी

Rakh Hausla Wo Manzar Bhi Aayega Shayari In Hindi , हौसलों की उड़ान शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: July 22, 2023 Post Updated at: March 26, 2024

Rakh Hausla Wo Manzar Bhi Aayega Shayari In Hindi : ये ज़िन्दगी हसीं है इस से प्यार करो,अभी है रात तो सुबह का इंतज़ार करो,वो पल भी आएगा जिसकी ख्वाहिश है आपको,रब पर रखो भरोसा वक़्त पर एतबार करो। काम करो ऐसा कि एक पहचान बन जाये,हर कदम ऐसा चलो कि निशान बन जाये,यहाँ ज़िन्दगी तो हर कोई काट लेता है,ज़िन्दगी जियो इस कदर कि मिसाल बन जाये।

ये ज़िन्दगी हसीं है इस से प्यार करो,अभी है रात तो सुबह का इंतज़ार करो,वो पल भी आएगा जिसकी ख्वाहिश है आपको,रब पर रखो भरोसा वक़्त पर एतबार करो।

दीया बुझाने की फितरत बदल भी सकती है,कोई चिराग हवा पे दवाब तो डाले।Deeya Bujhaane Ki Fitrat Badal Bhi Sakti Hai,Koi Chirag Hawa Pe Dawaab To Daale.

नहीं चल पायेगा वो एक पग भी,भले बैसाखियाँ सोने की दे दो,सहारे की जिसे आदत पड़ी हो,उसे हिम्मत खड़े होने की दे दो।

मेरे »जुनूँ का नतीजा »ज़रूर निकलेगा,इसी सियाह» समुंदर से नूर »निकलेगा।Mere Junoon Ka Nateeja Zaroor Niklega,Isi Siyaah Samundar Se Noor Niklega.

होके मायूस न यूं शाम से ढलते रहिये,ज़िन्दगी भोर है सूरज सा निकलते रहिये,एक ही पाँव पे ठहरोगे तो थक जाओगे,धीरे-धीरे ही सही राह पे चलते रहिये।

दुआ करो कि सलामत रहे मेरी हिम्मत,यह एक चिराग कई आँधियों पे भारी है।Dua Karo Ke Salamat Rahe Meri Himmat,Yeh Ek Chirag Kayi Aandhiyon Pe Bhari Hai.

सबब तलाश करो अपने हार जाने का,किसी की जीत पर रोने से कुछ नहीं होगा।Sabab Talash Karo Apne Haar Jaane Ka,Kisi Ki Jeet Pe Rone Se Kuchh Nahi Hoga.

मुस्कुराने के बहाने जल्दी खोजो वरना,ज़िंदगी रुलाने के मौके तलाश लेगी।Muskurane Ke Bahaane Jaldi Khojo Varna,Zindagi Rulane Ke Mauke Talash Legi,

दुनिया »में रहो ग़म-ज़दा» या शाद रहो,ऐसा कुछ »करो कि बहुत »याद रहो।Duniya Mein Raho Gam-Zada, Ya Shaad Raho,Aisa Kuchh Karo Ki Bahut Yaad Raho.

दुआ»करो कि सलामत रहे »मेरी हिम्मत,यह एक »चिराग कई आँधियों» पे भारी है।Dua Karo Ke Salamat Rahe Meri Himmat,Yeh Ek Chirag Kayi Aandhiyon Pe Bhari Hai.

मुस्कुराने »के बहाने जल्दी »खोजो वरना,ज़िंदगी »रुलाने के मौके »तलाश लेगी।Muskurane Ke Bahaane Jaldi Khojo Varna,Zindgi Rulaane Ke Mauke Talaash Legi,

रख हौसला वो मंजर भी आयेगा,प्यासे के पास चल के समन्दर भी आयेगा,थक कर न बैठ ऐ मंज़िल के मुसाफिर,मंज़िल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आयेगा।

जो फ़कीरी मिजाज़ रखते हैंवो ठोकरों में ताज रखते हैं,जिनको कल की फ़िक्र नहींवो मुठ्ठी में आज रखते हैं।

हर मील के पत्थर पर लिख दो यह इबारत,मंज़िल नहीं मिलती नाकाम इरादों से।Har Meel Ke Patthar Par Likh Do Ye Ibaarat,Manzil Nahi Milti Nakaam Iraadon Se.

भँवर से »लड़ो तुंद लहरों से »उलझो,कहाँ तक »चलोगे किनारे» किनारे।Bhanvar Se Lado Tund Laharon Se Uljho,Kahan Tak Chaloge Kinare Kinare.

डर मुझे भी लगा फासला देख कर,पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर,खुद ब खुद मेरे नज़दीक आती गई,मेरी मंज़िल मेरा हौंसला देख कर।

तकदीरें बदल जाती हैं,जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो,वर्ना ज़िन्दगी कट ही जाती हैतकदीर को इल्ज़ाम देते देते।

ज़िन्दगी बस एक हसीन ख़्वाब है,दिल में जीने की चाहत होनी चाहिये,ग़म खुद ही ख़ुशी में बदल जायेंगे,सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिये।

राह संघर्ष की जो चलता है,वो ही संसार को बदलता है,जिसने रातों से जंग जीती है,सूर्य बनकर वही निकलता है।

रख हौसला वो मंजर भी आयेगा; प्यासे के पास चल के समुन्दर भी आयेगा! थक कर न बैठ ऐ मंजिल के मुसाफिर; मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मज़ा भी आयेगा!

काम करो ऐसा कि एक पहचान बन जाये,हर कदम ऐसा चलो कि निशान बन जाये,यहाँ ज़िन्दगी तो हर कोई काट लेता है,ज़िन्दगी जियो इस कदर कि मिसाल बन जाये।

चाहिए ख़ुद »पे यक़ीन-ए-»कामिल,हौसला» किस »का बढ़ाता है कोई।Chahiye Khud Pe Yaqeen-E-Kaamil,Hausala Kis Ka Badhata Hai Koi.

सदा» एक ही रुख़ नहीं »नाव चलती,चलो तुम» उधर को हवा हो» जिधर की।Sada Ek Hi Rukh Nahin Naav Chalti,Chalo Tum Udhar Ko Hava Ho Jidhar Ki.

संघर्ष में आदमी अकेला होता है,सफलता में दुनिया उसके साथ होती है,जब-जब जग किसी पर हँसा है,तब-तब उसी ने इतिहास रचा है।

कहती है ये दुनिया बस अब हार मान जा,उम्मीद पुकारती है बस एक बार और सही।Kehti Hai Duniya Bas Ab Haar Maan Ja,Ummid Pukarti Hai Bas Ek Baar Aur Sahi.

Recent Posts