1743+ Painful Shayari In Hindi | Dard Shayari In Hindi

Painful Shayari In Hindi , Dard Shayari In Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: September 15, 2023 Post Updated at: April 25, 2024

Painful Shayari In Hindi : प्यार मैं कहना जरुरी नहीं होता, प्यार मैं तो समझा जाता है💔 लबो पर जब किसी के दर्द का अफ़साना आता है, हमें रह-रह कर अपना दिल-ए-दीवाना आता है💔

जहाँ मैं कहता हूँ ये उधर नहीं जाता जाने क्यों ये दिल सुधर नहीं जाता आँखों में आंसूं अच्छे नहीं लगता तुमसे लड़कर मैं अपने भी घर नहीं जाता

“ जिंदगी में दो लोग बहुत दर्द देते है,एक वो जिससे प्रेम ना हो औरउनके साथ रहना पड़े और दूसरा वोजिससे हद से ज्यादा प्रेम हो औरउनसे दूर रहना पड़े…!!!

कभी आंसू कभी ख़ुशी बेची हम गरीबों ने बेकसी बेची..💔 चंद सांसे खरीदने के लिए रोज थोड़ी सी जिन्दगी बेची। 💔

बंद कर दिए हमने सारे दरवाजे इश्क के,पर तेरी याद है कि दरारों से भी आ जाती है

दर्द में भी मुस्कुरा देता हूं,अपनों से ही दर्द छुपा लेता हूं।

हम खो गयेतो क्या हुआ,बस,तुम मिल गयेकाफी हैमुझे!

किस दर्द को लिखते हो इतना डूब कर,एक नया दर्द दे दिया है उसने ये पूछकर

मुझसे बेवफाई करके जो मिलेगा तुम्हें लोग उसे बद्दुआ कहते हैं

वफ़ा और बेवफ़ा, दोनों की क़ीमत है अलग, बस फ़र्क है एक नज़र की दूसरे को दिल की। 😔💔

मिल जाएंगे तुमको और भी चाहने वाले दुनिया में, मगर कर न पाएगा कोई मुकाबला मोहब्बत का मेरी.!!

हंसते हुए जो रोया होगा,यकीं मनोबहुत कुछ उसने खोया होगा।

मनुष्य की मानवता उसी समय नष्ट हो जाती हैजब उसे दूसरों के दुःख में हँसी आने लगती है.

इसको क्या होसला नही कहते तुझे दिल से भुला दिया मैंने💔

आँसू आ जाते है रोने से पहले ख्वाब टूट जाते है सोने से पहले लोग कहते है मोहब्बत गुनाह है काश कोई रोक लेते गुनाह होने से पहले

वो नजऱ अंदाज कुछ यू करता है ,नजऱ पलटता तो है, नज़र भर देखकर……!!!

मोहब्बत के रास्ते मेंसिर्फ दर्द ही दर्द है,सोच रहा हूँ उसी रस्ते मेंदवा की दुकान खोल लूँ.

मेरा प्यार औरों सा नहींतन्हा रहेंगे पर तेरे ही रहेंगे

क्यों मिलाया उससे जिसका हो नहीं सकताजिसका हूँ उसका मुझे होना नहीं थाऐ खुदा तूने ये कैसा मेल मिलायाजो है मेरा, मेरा होना नहीं था

क्यों तुम्हें अब मुझसे मोहब्बत नहीं हैक्या तुम्हें अब मेरी ज़रुरत नहीं हैधोखे ही थे शायद वादे तेरेमुझे भी अब तेरी चाहत नहीं है

हर ख़ुशी के पहलू हाथों से छूट गए, अब तो खुद के साये भी हमसे रूठ गए, हालात हैं अब ऐसे ज़िंदगी में हमारी, प्यार की राहों में हम खुद ही टूट गए।

जो इलज़ाम रह गया होवो मेरे कफ़न पर लिख देना

दिल एक है, रहने वाले दो,एक दर्द और एक वो.

वो तो अपना दर्द रो-रो कर सुनाते रहेहमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहेहमें ही मिल गया खिताब-ए-बेवफा क्योंकिहम हर दर्द मुस्कुरा कर छुपाते रहे

बेखबर हो गए कुछ लोगजो हमारी जरूरत तक महसूस नही करतेकभी बहुत बाते किया करते थे हमसेअब खैरियत तक पूछा नही करते

कुछ दर्द ऐसे होते हैं,जिसे हम सिर्फ सह सकते हैं,किसी को कह नहीं सकते.

किस दर्द को लिखते हो इतना डूब कर, एक नया दर्द दे दिया है उसने ये पूछकर।

कभी इंसान नही बदलता

पुरानी किताबों की तरह धूल से भर गयी ज़िन्दगी सुधारी नहीं जा रही भूल से भर गयी ज़िन्दगी

बहुत जुदा है औरों से मेरे दर्द की कहानी ज़ख्म का कोई निशान नहीं और दर्द की कोई इंतहा नही

मेरी बर्बादी पर तू कोई मलाल ना करना; भूल जाना मेरा ख्याल ना करना; हम तेरी ख़ुशी के लिए कफ़न ओढ़ लेंगे; पर तुम मेरी लाश ले कोई सवाल मत करना💔

तुम भी कर के देख लो मोहब्बत किसी से,जान जाओगे कि हम मुस्कुराना क्यों भूल गए।

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए, वो खुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए, कभी तो समझो मेरी खामोशी को, वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें! 📚

बोल तेरे दिल में क्या है क्या है तेरी रज़ा बता मैंने बस तुझे दिल से चाहा है ना क्या है मोहब्बत की सज़ा बता

तेरी बेवफ़ाई ने किया हमको बेख़बर, अब तुझसे मोहब्बत करने की हम में हिम्मत नहीं। 😔💔

मत पूछ कैसे गुजर रही है जिंदगी,उस समय से गुजर रहा हूं,जो गुजरता ही नहीं है अब।

दर्द भी उनको मिलता है जो रिश्ते दिल से निभाते है💔

इस तरह मेरी तरफ मेरा मसीहा देखे,दर्द दिल में ही रहे और दवा हो जाए।

दर्द लेंगे ना हम दवा लेंगे, अपने हिस्से की कुछ सजा लेंगे💔

आप साल बदलते जरूरी देखें हैं,मैंने सालों भर लोगों को बदलते देखा हैं..Aap saal badalte jarur dekhe hain,Maine saalo bhar logo ko badalte dekha hain..

“ जिंदगी जिंदादिली जियो,ये मशवरा देते हुए,जिंदगी खुद रो पड़ीमुझे हौसला देते हुए….!!

अब भी ताज़ा हैं जख्म सिने मेंबिन तेरे क्या रखा हैं जीने मेंहम तो जिन्दा हैं तेरा साथ पाने कोवर्ना देर नहीं लगती हैं जहर पिने में

दिल परेशान रहता है, उनके लिए,हम कुछ भी नहीं हैं, जिनके लिए।Dil Pareshan Rehta Hai Unke Liye,Hum Kuchh Bhi Nahi Hain Jinke Liye.

अजीब हालत हो गयी है दिल कीना तू इसकी हुईऔर ना ये मेरा रहा

मैं बुरा कैसे बन गया दर्द लिखता हूँकिसी को देता तो नहीं

समझा दो तुम अपनी यादों को जरा,दिन-रात तंग करती है मुझे,उन कर्जदार की तरह।

दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं, हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ, कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब, मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं💔💘

गीत लिखे भी तो ऐसे कि सुनाए ना गएजख्म यू लफ्जों में उतरे कि दिखाए ना गएऔर आज तक रखे है पछतावे की अलमारी मेंएक दो वादे जो दोनों से निभाए ना गए

कल देखा उसे तकिया खरीदते हुए,ज़ी में आया पूछ लू,मेरे हाथ में क्या दिक्कत थी।

मुझे मुर्दा समझ कर रो ले अब अगर मै ज़िंदा हूँतो तेरे लिए नहीं हूँ

खुशियों से नाराज़ है मेरी ज़िन्दगी पल दो पल की मेहमान है मेरी ज़िन्दगी मेरे ज़ख्मों का इलाज कुछ नहीं बस मुझसे ही परेशान है मेरी ज़िन्दगी

चुप हूँ तो पत्थर न समझ मुझे,दिल पे असर हुआ हैकिसी अपने की बात का

मेरी हर शायरी दिल के दर्द को करेगी बयाँ, तुम्हारी आँख ना भर आयें कहीं पढ़ते पढ़ते।

“ मुझको ढुंढ ही लेता हैरोज किसी बहाने से,दर्द वाकिफ हो गया हैमेरे हर ठिकाने से….!!!

दुनिया में तेरे इश्क का चर्चा न करेंगे मर जायेंगे लेकिन तुझे रुसवा न करेंगे

“ मैं बे-दर्द हूॅं, फरेबी हूॅंजिद्दी हूँ और, पत्थर दिल भी हूं,क्योंकि मासूमियत खो दी है मैंने,वफा करते करते दोस्त…!!!

तेरे प्यार का वादा था जिंदगी भर का, पर बेवफ़ाई ने हमें छोड़ दिया दरियादिल। 😔💔

कभी हम टूटे तोह कभी ख्वाब टूटे,जाने कितने टुकड़ों में अरमां टूटे,हर टुकड़ा एक आइना हैं ज़िन्दगी का,हर आईने के साथ लाखों जज़्बात टूटे.!

“ मेरे मिजाज को समझनेके लिए बस इतना ही काफी हैमैं उसका हरगिज़ नहींहोता जो हर एक का हो जाए..!!

गहरी थी रात,लेकिन हम खोए नहीं,दर्द बहुत था दिल में,लकिन हम रोए नहीं.!

“ गज़ब की ताकत है,मुस्कराहट में, दिल कासारा दर्द छुपा लेती है….!!

“ किस्से बहुत हैं, कहानी ख़त्म हो गई,मेरी हंसती हुई जिंदगी ज़ख्म हो गई,मै अनवरत दर्द लिखता हूँ कलम से,और लोग कहते हैं पूरी नज़्म हो गई….!!!

दिल मैं हर राज़ दबा कर रखते है,होंटो पर मुस्कराहट सजाकर रखते है,ये दुनिया सिर्फ़ खुशी मैं साथ देती है,इसलिए हम अपने आँसुओ को छुपा कर रखते है!

तेरे न होने से ज़िन्दगी में इतनी कमी रहती हैमैं चाहे लाख मुस्कुराऊं इन आँखों में नमी रहती है

“ मोहब्बत के रास्ते मेंसिर्फ दर्द ही दर्द है,सोच रहा हूँ उसी रस्ते मेंदवा की दुकान खोल लूँ….!!

वो मेरा बहम था की वो मेरे साथ हैवो चलता तो मेरे साथ था मगर किसीऔर की तलाश में।

चाहत की राह में बिखरे अरमान बहुत है;हम उसकी याद में परेशान बहुत हैं;वो हर बार दिल तोड़ता है यह कह कर;मेरी उम्मीदों के दुनियाँ में अभी मुकाम बहुत हैं।

हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम,हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम,अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला,ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम

जिंदगी को मिले कोई हुनर ऐसा भी, सबमे मौजूद भी हो और फना हो जाए

आँखें खुली तो जाग उठी हसरतें फराज़,उसको भी खो दिया जिसे पाया था ख्वाब में।

आज मैंने परछाई से पूछ ही लियाक्यों चलती हो मेरे साथउसने भी हँसके कहादूसरा कौन है तेरे साथ

टूटे हुए काँच की तरह चकनाचूर हो गए,किसी को लग ना जाये इसलिए सबसे दूर हो गए।

मुझे यह बात समझने में बहुत वक्त लगा किमेरा सबके लिए अच्छा होनामेरे लिए अच्छा नहीं है..!!

Recent Posts