629+ Old Song Shayari In Hindi | Old Romantic Songs In Hindi

Old Song Shayari In Hindi , Old Romantic Songs In Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: August 26, 2023 Post Updated at: June 13, 2024

Old Song Shayari In Hindi : अपने शब्दों से में तुम्हे सजाना चाहती हूँआओ तुम्हे में गुनगुना चाहती हूँ अपने लबों से में तुम्हे छूना चाहती हूँआओ तुम्हे में कुछ यूँ लिखना चाहती हूँ

तू शायर है, मैं तेरी शायरीतू आशिक़ है, मैं तेरी आशिकी

यार मेरे तू बता दे मुझे ओ, यार मेरे, तू बता दे मुझे ओ, मेरी ज़िंदगी से जाने का..

कौन कहता है हम झूठ नहीं बोलते एक बार खैरियत पूछ कर तो देखोKon kehta hai Hum jhut nhi bolte Ek bar kheriyat Puch kar to dekho

जिनके पास सिर्फ सिक्के थे!!वो मजे से भीगते रहे बारिश में!!जिनके जेब में नोट थे!!वो छत तलाशते रह गए!!

देश के लिए मर मिटना कुबूल है हमेंअखंड भारत के सपने का जूनून है हमें

ज़िन्दगी का हर पल कुछ ऐसा रहे की मर कर भी अमर रहे।

ज़रा ये धुप ढल जाए ,तो हाल पूछेंगे ,यहाँ कुछ साये , खुद को खुदा बताते हैं।

ये मौसम कितना प्यारा है!!खूबसूरत कितना नजारा है!!इश्क करने का गुनाह हमारा है!!मेरे सीन में धड़कता दिल तुम्हारा है!!

धूप भी खुल के कुछ नहीं कहती!!रात ढलती नहीं थम जाती है!!सर्द मौसम की एक दिक्कत है!!याद तक जम के बैठ जाती है!!

खुशियों से बिते हर दिन,हर सुहानी रात हो…जिस तरफ पड़े आपके कदम –वहाँ पर फूलों कि बरसात हो…Wish you a very very Happy B’day…🎂

बारिशों की भी अपनी कहानी है!!जैसे अश्कों के साथ बहता पानी है!!

खाने की चीज़ें माँ ने जो भेजी हैं गाँव सेबासी भी हो गई हैं तो लज़्ज़त वही रही

कुछ नहीं होगा तो आँचल में छुपा लेगी मुझेमाँ कभी सर पे खुली छत नहीं रहने देगी

नाम गुम जाएगाचेहरा ये बदल जायेगामेरी आवाज़ ही पहचान है…

रोटियाँ माँ की घर में ठंडी होने लगीबच्चे लौटे पार्टियों से देर तक

रहें ना रहें हम, महका करेंगेबन के कली, बन के सबा, बाग़े वफ़ा में…

डॉव से नहाकर क्या करना है 2016 में तो सभी को मारना है 1 साल ख़ुशी से जी लो यारो अगले जन्म में फिर जॉनसन बेबी से शुरू करना है

ओ मेरी ज़िंदगी से जाने का क्या लोगे तुम मेरी ज़िंदगी से जाने का क्या लोगे तुम

शायरी ना कर के तोड़  दिया दिल मेरा अब मोबाइल दफना देना कफ़न ना मिले तो अपना रुमाल उड़ा देना कोई पूछे  रोग क्या था तो नजरें झुका के अपनी कंजूसी बता देना

ज़िंदगी अपनी मस्ती  में जिया कर इश्क बहुत बुरी चीज है ना किया कर तू अपना पूरा ध्यान करियर पे मोड़ दे इश्क और अपनी गर्लफ्रेंड  मेरे लिए छोड़ दे

सावन के मस्त मौसम की!!रंगीन फुहार बरसती है!!तुम हो दूर मेरे परदेशी!!तुम्हे पाने को हसरत तरसती है!!

दर्द हल्का है साँस भारी है,जिए जाने की रस्म जारी है।Dard Halka Hai Saans Bhari Hai Jiye Jaane Ki Rachna Jari hai

तुम हमे क्यों इतना दर्द देते हो,जब जी में आये तब रुला देते हो,लफ़्ज़ों में तीखा पन और नजरो में बेरुखी,ये कैसा इश्क है जो तुम हमसे करते हो।

जो देश के लिए शहीद हुएउनको मेरा सलाम हैअपने खूं से जिस जमीं को सींचाउन बहादुरों को सलाम है

अधिकार मिलते नहीं लिए जाते हैंआजाद हैं मगर गुलामी किये जाते हैंवंदन करो उन सेनानियों कोजो मौत के आँचल में जिए जाते हैं

अच्छा सुनो तुम अपना जरा ध्यान रखना!!अभी मौसम बीमारी का भी हैं और इश्क का भी!!

घास पर खेलता एक बच्चा,पास माँ बैठी मुस्कुराती है,मुझको हैरत है जाने क्यूँ , दुनिया केदारनाथ जाती है

प्यार उससे करो जो दिल से अच्छा हो,उससे नहीं जो केवल दिखने में अच्छे हो…Pyaar usse karo jo dil se accha ho,Usse nahi jo keval dikhne mein acche ho…

उसने एक ही बार कहा दोस्त हूं  फिर मैंने कभी नहीं कहा व्यस्त हूं।।

एक बार फिर इश्क़ करेंगे हम,अभी सिर्फ भरोसा उठा है जनाजा नहीं।।

दिल दिया था जिसको दीवानी समझ कर खा गयी वो ब्रियानी समझ कर एक कतरा भी ना छोड़ा खून का पी गयी उसको भी निम्बू पानी समझ कर

चिंगारी का ख़ौफ़ न दिया करो हमे,हम अपने दिल में दरिया बहाय बैठे है,अरे हम तो कब का जल गये होते इस आग में,लेकिन हमतो खुद को आंसुओ में भिगोये बैठे है।

ये मौसम कितना प्यारा है!!करती ये हवाएं कुछ इशारा है!!जरा समझो इनके जज्बातों को!!ये कह रही है किसी ने दिल से पुकारा है!!

ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा, क़ाफ़िला साथ और सफ़र तन्हा।

मरी तरफ़ से भी ले के जाना ये फूल उन की जनाब देना

जो पल बीत गये वो वापस आ नही सकते,सूखे फूलो को वापस खिला नही सकते,कभी ऐसा लगता है वो हमे भूल गये होंगे,पर ये दिल कहता है वो हमे कभी भुला नही सकते।

हम भूल गए रे हर बात मगर तेरा प्यार नहीं भूले,क्या क्या हुआ दिल के साथ मगर तेरा प्यार नहीं भूले…

आंसू बहाने से कोई अपना नहीं होता ,जो अपना होता है वो रोने ही कहां देता है।।

ख्यालों में वो हमारे साथ है!!ऐसा कहने में कोई हर मौसम तो!!आज भी सुहाना है!!तन्हाई से बड़ा कोई मरज नहीं!!

इस जीवन की यही हैं कहानीआणि जानि ये दुनियाबहते दरिया का पानी….

फिर वहीं लौट के जाना होगा यार ने कैसी रिहाई दी है

तेरी मेरी दीवानी भी होली हुयीराधा कृष्णा बने थे कुछ इस तरहहाथ की लकीरें भी छुपने लगीतेरी मेरी कहानी है किस्सों भरीनादानी से शुरू, ज़िन्दगी पे ख़तम!

आसमां में एक अजीब खलबली मची हुई है,लोग पूछ रहे हैं की ये ज़मीं पे कौन घूम रहा है,एक चाँद सा खूबसूरत चेहरा लिए हुए।

कहानी बस इतनी सी थी तेरी मेरी!!मोहब्बत की मौसम की तरह तुम बदल गए!!और फसल की तरह हम बरबाद हो गए!!

जब भी मुझे गर्म बारिश या नाजुक दिन के!!उजाले का चुंबन महसूस होता है!!तो यह मुझे आपके मीठे चुंबन को!!याद करने में मदद करता है!!

थोड़ा सा रफू करके देखिए नाफिर से नई सी लगेगीजिंदगी ही तो हैThoda sa rafu Karke dekhiye naphir se nahin si Lagegi Jindagi Hi To Hai

रात को चाँदनी तो ओढ़ा दो, दिन की चादर अभी उतारी है।

दुआ करना दम भी उसी तरह निकले,जिस तरह तेरे दिल से हम निकले।

दीदार हुआ है तुम्हारा तो!!दिल यादों में तेरी जाने लगा!!जब से मिला हूं मैं तुझसे!!ये मौसम सुहाना लगने लगा!!

मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँमाँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊँ

वो हुस्न वालो सुनो हमको!!भी प्यार सिखा दो ना!!आज गजब की ठंड है!!थोड़ी सी चाय पिला दो ना!!

पुरानी सोच को नई सोच से मिला दो, भटके हुए युवाओ को सही रास्ता दिखा दो।

हमारे रिश्तों के सब सपने टूट गए,उनकी यादों में खुद को हम खो गए।

बाहर के मौसम से!!यूँ भी बेखबर होया न कर!!किसी की यादों में!!यूँ भी दिन-रात खोया न कर!!

हो.. दिल में तेरा प्यार बसायादिल को जैसे रोग लगायासारी उमर का..सारी उमर का दर्द लिया,परदेस जा के परदेसिया….

ये दोस्ती का गणित है साहब यहां दो में से एक गया तो कुछ नहीं बचता..

खुदा बुरी नज़र से बचाए आप को,चाँद सितारों से सजाए आप को,गम क्या होता है ये आप भूल ही जाओ,खुदा ज़िन्दगी मे इतना हँसाए आप को…🙏 ~ Happy Birthday🎂🎀🎁

हर घड़ी इस जिंदगी को आज़माया है हमने,इस जिंदगी में सिर्फ गम पाया है हमने,जिस ने हमारी कभी कदर ही न जानी,उस वेबफा को इस दिल में बसाया है हमने।

ओ, इश्क़ भी कोई चीज़ है ख़ुदा एह गवाह है ओ जा जानी तुझे मेरी ये बददुआ है

तुम्हारा साथ तसल्ली से चाहिए मुझे ,जन्मों की थकान लम्हों में कहाँ उतरती है।।

हादसों की गर्द से ख़ुद को बचाने के लिएमाँ ! हम अपने साथ बस तेरी दुआ ले जायेंगे

तुम आए जिंदगी में तो बरसात को तरह!!ओर चल भी दिए तो सुहानी रात की तरह!!बातें रही अधूरी ओर बिछड़ना पड़ा हमे!!था यह भी एक इत्तेफाक मुलाक़ात की तरह!!

दौलत नहीं, शोहरत नहीं, न वाह वाह चाहिए, कैसे हो..? बस दो लफ्ज़ों की परवाह चाहिए !

जब तक दर्द न हो किसी के आंसू आया नही करते,बिना वजह किसी का दिल दुखाया नही करते,ये बात सुन लो कान खोल कर,किसी के सपने तोड़ कर अपने सपने सजाया नही करते।

प्यार हर किसी को जीना सिखा देता है,वफ़ा के नाम पर मरना सिखा देता है,प्यार नही किया तो करके देखो,ये हर दर्द सहना सिखा देता है।

कुछ देर बस पास बैठ जाऊँमाँ अब ओर कुछ नही चाहती हैं

हो, मुझको यूँ जल्दी भुला लोगे तुम हो, जब ग़ैरों से नज़रें मिला लोगे तुम

जवानी के दिन चमकीले हो गए और हुस्न के तेवर नुकीले हो गए हम इजहार करने में थोड़े ढीले हो गए है और उनके हाथ पीले हो गए

तिरंगा है आन मेरीतिरंगा ही है शान मेरीतिरंगा रहे सदा ऊँचा हमारातिरंगे से है धरती महान मेरी

लावारिस है प्यार तेरा घर-बार कोई नहीं तू दुश्मन है अब मेरा यार-वार कोई नहीं

और क्या कर दें तुझको हम नया यार भी ढूँढ के दे देंगे

अपने हिस्से के निवाले भी लुटा देती है कितना दुश्वार है औरत के लिए माँ होना

Recent Posts