678+ Negative Shayari In Hindi | Hindi Shayari on Negativity

Negative Shayari In Hindi , Hindi Shayari on Negativity
Author: Quotes And Status Post Published at: October 4, 2023 Post Updated at: June 24, 2024

Negative Shayari In Hindi : फिर नेगेटिव टटोल रही हो,यादें तो कब की ख़त्म हो गई हैं,अब क्या करोगी तुम उस सुरुर का,शायद ख़ुश-फ़हम में समझाया था।लेकिन तहलील कर गई थी मुझे। सोच नेगेटिव या पॉजिटिव नहीं बल्कि प्रेक्टिकल होनी चाहिये, जो आपको सच्चाई दिखाए !!

लोग कहते है प्यार एक धोखा होता है,पर सच्चाई ये है एक सच्ची लड़की को गलत लड़का,और एक सच्चे लड़के को एक गलत लड़की मिल जाती है.

दिल तोड़ने बाले का कुछ नही जाता है,लेकिन जिसका दिल टूटता हैउसका सब कुछ चला जाता है.

यूं ही नही होती हात कि लकिरों केआगे ऊँगलियां,रब ने भी किस्मत से पहले मेहनत लिखी है।

जिस भाई की कलाई पर बहन रक्षा सूत्र बंध जाता हैकर्मों से होकर फिर महान, वह भाई वीर बन जाता है

“अच्छे लोग तो सभी को पसंद आते हैं, दूसरों का बुरा करने वालों की कटहली में खुद भी शामिल हो जाते हैं।”

बहुत अंदर तक तबाह कर देते हैं !वो अश्क़ जो आँखों से गिर नहीं पाते.

बहुत खुश रहता हूँ आज कल मै,क्युँकि अब उम्मीद खुद से रखता हूँ,औरों से नहीं।

घमंडी लड़किया Means – Attitud Girl मुझसे दूर ही रहे क्यूंकि,मनाना मुझे आता नहीं #OR भाव मे किसी के बाप को देता नहीं

जरूरी नहीं कि इंसान प्यार की मूरत हो,सुंदर और बेहद खूबसूरत हो,अच्छा तो वही इंसान होता है,जो तब आपके साथ हो,जब आपको उसकी जरुरत हो.

स्वार्थी निकला वो भी जिसे मेने अपना भाई जैसा मन था।

शेर के पाँव में अगर काँटा लग जाए,तो इसका मतलब ये नहीं कि अब कुत्ते राज करेंगे।

होठों की हँसी को ना समझ हक़ीक़त-ए-जिंदगी,दिल में उतर के देख हम कितने उदास है.

आज कल के रिश्तो के पास वक्त ही नहीं है,अब सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही याद करते है.

ज़िन्दगी हो या व्हाट्सप्प,देखने वाले तो सिर्फऔर सिर्फ स्टेटस देखते है।

यूँ तो सिखाने को जिंदगी बहुत कुछ सिखाती है, मगर,झूठी हंसी हसने का हुनर तो मोहब्बत ही सिखाती है.

टूट कर बिखर जाते हैं वो लोग मिटटी की दीवारों की तरह,जो खुद से भी ज्यादा किसी और से प्यार करते हैं.

बिना झुके खाली होना लगभग नामुमकिन है;अगर अंदर से अहंकार खाली करना है,तो झुकना ही एकमात्र उपाय है..

ज़िन्दगी तो तभी बदल गयी थी, जब वो लोग बदल गए, जिन्हे हम अपनी ज़िन्दगी मानते थे।

उसके लिए क्यों रोता है यार,जो जाने ही न क्या होता है प्यार.

जीवन में जख्म बड़े नहीं होते,उनको भरने वाले बड़े होते है,रिश्ते बड़े नहीं होते है,लेकिन रिश्तो को निभाने वाले बड़े होते हैं.

मै हड्डियां तोड़ने में विश्वास ज्यादा रहता हूँक्योंकि इलाज से परहेज बेहतर है

कोई भी रिश्ता दिखावे की मोहताज नहीं,रिश्ता तो हमेशा दिल से अपनाया जाता है,सच्चे रिश्ते हमेशा भावनाओं से जुड़ी होती है,स्वार्थ से नहीं.

तेरी मोहब्बत की तलब थी तो हाथ फैला दिये हमने,वरना हम तो अपनी ज़िन्दगी के लिये भी दुआ नहीं मांगते।

एक दुनिया मेरी भी है, जहा सिर्फ में और मेरी खुशिया रहती है, जहा मेरा परिवार रहता है।

वो बोली मै “Top-Class” हसीना हूं, मैं बोला मैं भी “Branded” कमीना हूं”

आजकल हर कोईअपना बनता है,लेकिन सिर्फ बातों से।

तू खुद की खोज में निकल तूकिस लिए हताश है,तू चल तेरे वजूद कीसमय को भी तलाश है।।

कुछ लोग हमारी जिंदगी में,सिर्फ भरोसा तोड़ने के लिए ही आते हैं.

अपने रिश्तों में इतना अपनापन, प्यार, इज़्ज़त रखो,कि जो इस रिश्ते को खोएगा यकीनन रोएगा.

कैसे करूँ मैं साबित.कि तुम याद बहुत आते हो.एहसास तुम समझते नही.और अदाएं हमे आती नही.

टूट कर चाहा था तुम्हे,और तोड़ कर रख दिया तुमने मुझे.

“जो बार-बार दूसरों पर उंगलियां उठाते हैं, वे खुद भी अगले हाथों का शिकार बन सकते हैं।”

तेरे साहस को सलाम बहन, तेरे जज़्बातों में जान हैतेरे आँचल में पलने वाला, तेरे तप से बना महान है

तेरी मोहब्बत की तलब थीतो हाथ फैला दिये हमने,वरना हम तो अपनी ज़िन्दगीके लिये भी दुआ नहीं मांगते।

अहसास बदल जाते हैबस और कुछ नहीं,वरना मोहब्बत और नफरतएक ही दिल से होती है.

रिश्तों का संबंध सिर्फ रक्त से ही नहीं होता,जो मुसीबत में हाथ थाम लें,उससे बड़ा कोई रिश्ता नहीं होता है.

बहुत सोचना पड़ता है मुँह खोलने से पहले क्योकि दुनिया अब दिल से नही दिमाग से रिश्ते निभाती है !

नफरत कमाना भी आसान नहीं हैं इस दुनिया में,बहुत सी खूबियाँ रखनी पड़ती हैं किसी की आँखों में खटकने के लिए।

मेरी ख़ामोशी हज़ार आवाज़े लगाती है !पर अफ़सोस वो तुम सुन नहीं सकतें.

भाई डिग्री तुझे किसी भी कॉलेज में मिलेगी पर,नॉलेज तो तुझे मेरे स्टेटस से ही मिलेगा.

कुछ लोगों के साथ खून का रिश्ता नहीं होता,लेकिन फिर भी उनसे अपनों वाली खुशबू आती है.

इंसान हमेशा दूसरों को अपने बुरेकर्मों से नुकसान पहुंचाता हैऔर खुद को अपनी नकारात्मक सोच से।।

मेने भी चेंज कर दिया है जीवन का उसूल जो याद करेगा सिर्फ वो ही याद रहेगा।

अपने हौसले को ये मत बताओ कितुम्हारी परेशानी कितनी बड़ी हैं,अपनी परेशानी को ये बताओ कितुम्हारा हौसला कितना बड़ा हैं।

सख़्त हाथों से भी फिसल जाती हैं,कभी नाजुक उंगलियां,रिश्ते ‘ज़ोर’ से नहीं‘प्यार मोहब्बत” से पकड़े जाते हैं.

वक्त हमे तजुर्वे तो बहुत बड़े बड़े देता है,लेकिन मासूमियत छीन लेता है.

सिर्फ एक बहाने की तलाश में होता हैं,निभाने वाला भी और जाने वाला भी.

भूल जीवन का एक पेज हैऔर सम्बन्ध पूरी किताब,जरुरत पड़े तो भूल का एक पेज फाड़ देना,लेकिन एक छोटे से पेज के लिए पूरी किताब नहीं.

एक समय में एक काम करो..और ऐसाकरते समय अपनी पूरी आत्मा उसमेंड़ाल दो और बाकि सबकुछ भूल जाओ…

कोई वर्ष के टूटे रिश्ते भी जुड़जाते है, अगर सामने वाले बैठे व्यक्ति को आपकी जरुरत है तो।

बहुत खुश रहता हूँ आज कल मै, क्युँकि अब उम्मीद खुद से रखता हूँ, औरों से नहीं।

घमंडी नही हु पर आपका व्यवहार बताएगाआपसे कितनी बात करनी है|

अजीब तमाशा है मिट्टी के बने लोगों का यारो,बेवफ़ाई करो तो रोते है और वफ़ा करो तो रुलाते है.

आज-कल फ़ालतू के Egoवाले Attitude में तो सब रहते हैं,ज़रा लोगो के दिलो में रहनेकी भी तकलीफ उठालो।

वक्त सब दिखा देता है, लोगो का साथ भी और लोगो की औकाद भी।

बड़े सुकून से वो रहती है,आज कल मेरे बिना.जैसे किसी उलझन से छुटकारामिल गया हो उसे.

आप अगर ऐसा सोचते हो,की सब कुछ अच्छा होगा,तो जरूर वही होगा।

मैं अकेला रह जाता मायूसी भर के, जो तू मेरे घर का चिराग ना बनतीमैं फिर कभी ऐसा हसमुख ना होता, जो तू बहना मेरा मान ना बनती

शिकायतें तो सभी को हैजिंदगी से,पर जो जीना जानते हैवो शिकायत नहीं करते।

“किसी व्यक्ति को बुरा कहकर आप उसके बारे में कुछ नहीं कह सकते, बल्कि आप अपने बारे में ज्यादा कुछ कह जाते हैं।”

रिश्ते अंकुरित होते हैं प्रेम से,जिंदा रहते हैं संवाद से,महसूस होते हैं संवेदनाओं से,जिये जाते हैं दिल से.

हमे देखकर.अनदेखा कर दिया उसने,बंद आंखों से पहचानने का,कभी दावा किया था जिसने.

रिश्तों की बातें बसदिल तक ही रखना,दिमाग चालाक हैजो हिसाब लगायेगा।।

अभी मैं कुछ नहीं हूँ मैंने माना,कल को मशहूर हो जाऊंतो कोई रिश्ता मत निकाल लेना।।

आग भी क्या अनमोल चीज़ है, बातों से ही लग जाती है।

जब कोई अपनाअगला कदम पहचानने लगता है,तो बड़े परिवर्तन का आरंभ हो जाता है।

खुद ही रोये और रो कर चुप हो गए,ये सोचकर कि आज कोई अपना होता तो रोने ना देता.

तुम ज़िन्दगी में आ तो गये हो मगर याद रखना,हम जान दें देते हैं मगर जाने नहीं देते।

कोई सिखादे मुझे भी अपने वादों से मुक़र जाना !बहुत थक चुका हूँ निभाते-निभाते.

लोग अच्छे भी हैं यहाँ पर, गले लगाने की ज़रूरत है।प्यार भी है और तकरार भी, सिर्फ़ मुस्कराने की ज़रूरत है।

थोड़ी थोड़ी “गुफ्तगू” करते रहियेसभी दोस्तों से“जाले” लग जाते हैंअक्सर बंद मकानों में।

बड़ी इज्जत देता हूँ उन गद्दारों को कि बहुत कुछ जाना है धोखे खा खाकर !

Recent Posts