678+ Negative Shayari In Hindi | Hindi Shayari on Negativity

Negative Shayari In Hindi , Hindi Shayari on Negativity
Author: Quotes And Status Post Published at: October 4, 2023 Post Updated at: June 2, 2024

Negative Shayari In Hindi : फिर नेगेटिव टटोल रही हो,यादें तो कब की ख़त्म हो गई हैं,अब क्या करोगी तुम उस सुरुर का,शायद ख़ुश-फ़हम में समझाया था।लेकिन तहलील कर गई थी मुझे। सोच नेगेटिव या पॉजिटिव नहीं बल्कि प्रेक्टिकल होनी चाहिये, जो आपको सच्चाई दिखाए !!

अगर आप उन बातों और परिस्थितियोंकी वजह से चिंतित हो जाते हैं,जो आपके नियंत्रण में नहीं;तो इसका परिणाम समय कीबर्बादी और भविष्य का पछतावा हैं…

वो इतने सस्ते हो गए थे व्यवहार में,जैसे कच्चे तेल की कीमतहो गयी है बाजार में।।

आज के बादये रात और तेरी बात नहीं होगी.

सच्चे रिश्ते हर किसी के पास नहीं होते,और रिश्ते निभाने वाले हर कोई नहीं होते.

खून में उबाल आज भी खानदानी है ….दुनिया हमारे शौक की नहीं ATTITUDE की दीवानी है.|

क़ानून तो सिर्फ बुरेलोगों के लिए होता हैअच्छे लोग तो अपनेआप शर्म से ही मर जाते हैं।

हर रिश्ते में नूर बरसेगा बस शर्त इतनी सी है,की रिश्तों में शरारत करो साजिशें नहीं.

कोई प्यार करे ना करे तुमसे,तुम प्यार करो अपने आप से,चाहे कोई कितना भी दुःख पहुचाये,तुम बस खुश रहो अपने आप से।

ज़िन्दगी पल-पल ढलती है,जैसे रेत मुठ्ठी से फिसलती है..शिकवे कितने भी हो हर पल,फिर भी हँसते रहना क्योंकि येज़िंन्दगी जैसी भी है बस एक ही बार मिलती है।

“बुरी बातें बोलने से आप रोजी कमा सकते हैं, लेकिन खुशी नहीं।”

आँखें थक गई है आसमान को देखते देखतेपर वो तारा नहीं टूटता,जिसे देखकर तुम्हें मांग लूँ..

सबक सिख गया आज में उससे भी जिस पर मैंने खुद से भी ज्यादा भरोसा करा था।

गधे हुक्म का इंतज़ार करते हैं,शेर SITUATION(सिचुएशन)के हिसाब से काम करता है.|

कोई रंग नहीं होताबारिश के पानी मेंफिर भी फिजा कोरंगीन बना देता हैं.

रहो हमेशा मौत से बेखबर, हसते हुए चलो ये है ज़िन्दगी का सफर।

रिश्तों की कीमत कुछ नहीं होती,जब तक हम उन्हें समझनेऔर संभालने के लिए तैयार नहीं होते.

सही को सही और गलत को गलतकहने की हिम्मत रखता हूँ,इसीलिए मैं रिश्ते कम रखता हूँ।

प्यार और भरोसा कभी मत खोना क्यूंकि,प्यार हर किसी से नहीं होता औरभरोसा हर किसी पर नहीं होता.

जो लड़किया मुझे BAD BOY कहती हैउन्हे बता दूशाहजादे कभी सुधरे हुवे नहीं होते |

ज़माने में अब लोग वफादार कम,अदाकार ज्यादा हो गए हैं।

कितना अकेला है आज का इंसान की आपने घर में ही आपनो को ढूंढ़ता है।

कहते है की एक गलतफहमीअच्छे से अच्छे रिश्ते को तोड़ देती है,लेकिन वह रिश्ता अच्छा कैसे हुआजो एक गलतफहमी से टूट जाए.

फिर नेगेटिव टटोल रही हो,यादें तो कब की ख़त्म हो गई हैं,अब क्या करोगी तुम उस सुरुर का,शायद ख़ुश-फ़हम में समझाया था।लेकिन तहलील कर गई थी मुझे।

बसंत की बहार लिए तूं एक अलग किस्म की फुलकारी है बहन मेरी किस्मत है अच्छी, जो तुझसे मेरी यारी है

स्वार्थ से रिश्ते बनाने कि कितनी भीकोशिश करो रिश्ते बनेंगे नहीं,और प्यार से बने रिश्ते तोड़ने कीकितनी भी कोशिश करो रिश्ते टूटेंगे नहीं.

मैं Zindagi में #नोटों 💵 का नहीं (चेहरों) 🤔 का ~ Hissab रखता हूँ

तेरी मोहब्बत को कभी खेल नहीं समझा हमने,वरना खेल तो इतने खेले कि कभी हारे नहीं।

दिखावे के दिलासे तो यहाँ हर कोई देता है, ना जाने कब कोई हकीकत में मुझे कोई मददगार मिलेगा !

किसी पर नाराज़ होने कीफितरत नहीं हमारी,नाराज़ तो वो लोग होते हैंजिन्हे अपने आप पर गुरुर होता हैं।।

प्यार इंसान से करो उसकी आदत से नहीं,रुठो उनकी बातों से मगर उनसे नहीं,भूलो उनकी गलतियाँ पर उन्हें नहीं,क्यों की रिश्तों से बढकर कुछ भी नहीं.

सही वक़्त पर करवा देंगे हदों को अहसास,कुछ तालाब खुद को समन्दर समझ बैठे हैं।

तुम्हारी डांट का भी अलग ही सुख है, यह भी जान चुका हूँ मैंबहन तुम्हारी फ़िक्र में, मैं माँ जैसी ममता पहचान चुका हूँ मैं

पत्तों सी होती है कई रिश्तों की उम्र,आज हरे कल सूखे,क्यों न हम जड़ों से सीखे रिश्ते निभाना.

ये सांपों की बस्ती है जरा देखकर चलो, यहां का हर शक्श बड़े प्यार से डंसता हैं !

खुद के बारें में न किसी पीर से पूछो नकिसी फ़क़ीर से पूछो…बस कुछ देर आँखें बंदकर अपने ज़मीर से पूछो।

ज़िन्दगी है जीने का नामज़िन्दगी है मुस्कुराने का नाम,आज में जीते हुए ज़िन्दगीहै ये कडवी यादो को भूल जाने का नाम।

हर रोता हुआ लम्हा मुस्करायेगा सबर,रख ए-दोस्त वक़्त अपना भी आएगा।

एक बात हमेशा याद रखो,किसी के सामने गिड़गिड़ाने से न तो इज़्ज़त मिलती है,और न ही मोहब्बत.

किसी को नजरों में ना बसाओ,क्योंकि नजरों में सिर्फ “सपने” बसते हैं,बसाना ही हैं तो दिल में बसाओ,क्योंकि दिल में सिर्फ “अपने” बसते हैं.

कोई टूटे तो उसे सजाना सीखो,कोई रूठे तो उसे मनाना सीखो,रिश्ते तो मिलते हैं मुक़द्दर से,बस उन्हें ख़ूबसूरती से निभाना सीखो.

आजकल ज़माने के साथ चलना है तो,आपको चेहरे बदलने काहुनर ज़रूर आना_चाहिए।।

रंजीशे है दिल में कोईतो खुलकर गिला करो,मेरी फिसरत ऐसी हैकी मै फिर भी हंस कर मिलूँगा।।

हालात के कदमों पर समंदर नहीं झुकते,टूटे हुए तारे कभी ज़मीन पर नहीं गिरते,बड़े शौक से गिरती हैं लहरें समंदर में,पर समंदर कभी लहरों में नहीं गिरते।

कल मैंने अपने दिल से तेरा रिश्ता पूछा तोकम्बख्त बोला की उतना मैं तेरा भी नहीं हूँजितना उस पगली का हूँ.

रहो हमेशा मौत से बेखबर,हसते हुए चलो ये है ज़िन्दगी का सफर।

मेरे दिल का दर्द किसने देखा है,मुझे बस खुदा ने तड़पते देखा है,हम तन्हाई में बैठे रोते हैं,लोगों ने हमें महफिल में हंसते देखा है.

नफ़रत का रिश्ता भीनहीं रखना तुमसे,वो रिश्ता भी निभा सकोइस काबिल नहीं तुम.

अच्छे रिश्तों को वादे और शर्तों की जरूरत नहीं होती,बस दो खूबसूरत लोग चाहिए,एक निभा सके, दूसरा उसको समझ सके.

उस जगह पर हमेशा खामोश रहना,जहाँ दो कोड़ी के लोगअपनी हैसियत के गुण गाते है।

उड़ गयी है नींद रात की अपनों ने बात की औकात की।

ख्वाहिशो का मोहल्ला बहुत बड़ा होता है, बेहतर है हम ज़रुरतो की गली में मुड जाये।

खूबसूरत रिश्ता वह होता है,जो रूला के मना ले,उससे गहरा रिश्ता कोई और नहीं होता.

दो पल की ज़िन्दगी का बोझ आखिर ढोना है क्यों?बचपन के आँगन में बहना, ख़ामोश अभी होना है क्यों?

ज़मीं पर रह कर आसमां को छूने की फितरत है मेरी,पर किसी को गिरा कर, ऊपर उठने का शौक़ नहीं मुझे।

ख्वाइशो का कैदी हूँ,मुझे हकीक़ते सज़ा देती है,आसान चीजो का शौंक नहींमुझे मुश्किलें मज़ा देती है।।

शांत हूँ कमजोर समझने की भूल मत करना |

एक गहरी दोस्ती पुरे जवान को सुख से भर देती है, और एक मतलबी दोस्ती पुरे जीवन को दुखो से भर देती है।

तमन्ना तेरे जिस्म की होती तो छीन लेते दुनिया से,मोहब्बत तेरी रूह से की इसलिए मांगते हैं खुदा से।

तुझसे मोहब्बत तेरीऔकात से ज़्यादा की थी,अब बात नफरत की हैतो सोच तेरा क्या होगा।

“बुरी बातें करना हमेशा बुराई ही नहीं होती, बल्कि यह अपनी असफलताओं और निराशाओं का प्रभाव भी डालती है।”

बड़ी से बड़ी कामयाबी आपके हांथों में हैंलेकिन वो हाथ अपने इरादों केपक्के और मजबूत होने चाहिए।।

मिजाज़ में थोड़ी सख़्तीभी होनी चाहिये साहब,लोग पी जाते अगरसमन्दर खारा न होता।

ख्वाहिशे भले“पिद्दी” सी हो परउसे पूरा करने के लिए दिल“जिद्दी ” होना चाहिए।

मौसम भी करवट लेते हैं जब-जब भी तुम मुस्कुराती हो खुशी हो या ग़म, बहना तुम मुझसे कुछ नहीं छुपाती हो

अकेले ही लड़नी पड़ती है जिंदगी कीलड़ाई, लोग बस तसल्ली देते है साथ नहीं।

अरे मत पूछिए हद हमारी गुस्ताखियों की,हम आईना ज़मीं पररखकर आसमां को कुचल देते हैं।

जो लोग दर्द को समझते हैं !वो लोग कभी दर्द की वजह नहीं बनते.

इंसान दूसरों को बदलने से अच्छा हैपहले अपने आप को बदले।

मेरे भीतर पनपे विश्वास की जड़ तुम हो बहना, मेरी जीत का एकलौता श्रेय तुम हो बहना

नादान हू साहबखुबसुरत चेहरे के पीछे ,बनावटी चेहरा देखनेका हुनर ना सीख सके।

चर्चायें खास हो तो किस्से भी जरूर होते हैं,उंगलिया उन पर ही उठती हे जो मशहूर होते हैं।

ऋतुओं की चादर ओढ़कर तुमने ही मुझे जीना सिखायाबहन तुम्हारी ममता ने सादगी का अमृत पीना सिखाया

Recent Posts