1297+ Narazgi Shayari In Hindi | नाराजगी शायरी हिंदी में

Narazgi Shayari In Hindi , नाराजगी शायरी हिंदी में
Author: Quotes And Status Post Published at: September 19, 2023 Post Updated at: November 6, 2023

Narazgi Shayari In Hindi : गलती तो सबसे होती है, हाँ मुझसे भी हो गयीअब माफ़ भी कर दे मुझे, क्यों दूर इतना हो गईएक गलती के लिए क्यों ऐसे साथ छोड़ गयी आज कुछ लिख नही पा रहा,शायद कलम कोमुझसे नाराजगी हैं कोई।

रूठे रिश्ते और नाराज लोग सबूत हैंइस बात के कि ज़ज्बात अब भीजुड़े रहने की ख्वाहिश रखते हैं

ज़िन्दगी सवर जायेगी आप बाते करो तो सही हमसे फिर मोहब्बत हो जाएगी एक बार मिलो तो सही हर गलत फेहमी दूर हो जायेगी एक बार अपनी बात रखो तो सही

कैसे 😜ना हो इश्क,❌ उनकी सादगी🤔 पर ए-खुदा,😌ख़फा😔 हैं हमसे, मगर 😜करीब बैठे हैं…😌😌

खफा भी रहते हैंया वफ़ा भी करते हैंइस तरह अपने प्यार को बयान भी करते हैंजाने कैसी नारजगी है मेरी उनसेखोना भी चाहते हैंऔर पाने की दुआ भी करते हैं

उसकी हर गलती भूल जाता हूँजब वो मासूमियत से पूछती हैनाराज है क्या ?

कभी भी कुछ नया पाने के लिए,वो मत खो देना,जो पहले से ही तुम्हारा हैं..Kabhi bhi kuch naya paane ke liye,Wo mat kho dena,Jo pehle se hi tumhara hain…

मैं जहां भी जाऊं, चाहे कुछ भी करूं या चाहे कितना ही बूढ़ा हो जाऊं, मैं हमेशा अपना दिल तोड़ने के लिए तुमसे नफरत करूंगा।

नाराज़गी भी उसी से होती है जिससे मोहोब्बत होती है, वरना अनजान से तो बात भी नहीं होती।

क्यों ना खफा हो ज़माना मुझसे, मैं तो खुद ही खुद से अब बात नहीं करता।

तुझ से नहीं तेरे वक्त से नाराज हूँ जो कभी तुझे मेरे लिए नहीं मिला!!!

मुद्दतों से था जो नाराज़ मुझसे, आज वही मुझसे मेरी नाराजगी की वजह पूछता है।

प्रेम इंसान को कभी मुरझाने नहीं देता है, और नफरत कभी किसी को खिलने नहीं देता है

मेरी हर 👍खता पर😔 नाराज ना होना,❌अपनी प्यारी ❤️सी मुस्कान 😇कभी ना खोना,❌सुकून 😇मिलता है देख 😅कर आपकी मुस्कुराहट को,😌😌मुझे मौत 😓भी आए तो भी😌 मत रोना…🤪🤪

जब वो नाराज होती है, तब मुझेदुनिया की सबसे महँगी चीजउसकी “मुस्कान “लगती है।।

कभी धुप से चेहरा छुपाता था मेरा, आज वही आँचल नाराज़ है मुझसे.

रूठे😔 इस दिल को❤️ पूछ कितनी बार😜तुझसे ये❤️ दिल लगाने की 👍कोशिश करता है🤝माना 😔नाराज़ है ये 😇मगर फिर भी🙄तुम को ये 🤝अपना बनाने की 🤗कोशिश करता है💯💯

तेरी नाराजगी वाजिब हैं दोस्त मैं भी खुद से खुश नहीं आजकल!!!

क्यों नाराज़ होते हो मेरी इन नादान हरकतों से,कुछ दिन की ज़िन्दगी है,फिर चले जाएंगे तुम्हारे इस जहाँ से.

हमारे बीच अब कहाँ वैसी बात होती है, कभी मैं नाराज़ रहता हूँ, कभो वो नाराज़ होती है.

नाराज नहीं हूँ तेरे फरेब से गम ये हैं की तेरा यकीन अब कैसे करू!!!

ठुकरा दिया तूने अच्छा कियामुझे मोहब्बत चाहिए अहसान नहीं

तू एक नज़र हम को देख लेबस इस आस में कब से बेकरार बैठे है !

जेबो को लूट कर खुशियां भरा करती है,व्यापारी तो नहीं है जनाब,पर बहने सौदा खरा करती है।

मुझे खुद से दूर कर किसी ओर को दिलमै बसाया ही क्यो ओर अव ये तू ही सोचहमारे बीच कोई तीसरा आया ही क्यो !

बहुत उदास है कोई ये दिल तेरे जाने से,चलो अब आ भी जाओ ना किसी बहाने से,ऐसे न जाओ छोड़ के मुझे अकेला यहाँ,मैं बिखर गया हूँ तेरे रूठ कर जाने से।

किसी को मनाने से पहले ये जान लेना,कि वो तुमसे नाराज है या परेशान..!!

हो सकता है हमने आपको कभी रुला दियाआपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दियाहम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया मेंक्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया

तुम नाराज हो जाओ रूठो या खफा हो जाओ पर बात इतनी भी ना बिगाडों की जुदा हो जाओ!!!

सच्चे प्यार की यहीं निशानी है,नाराज़गी से दूर उनकीं अलग एक कहानी है।

तौबा😅 तौबा ये 😦कोई तरीका है,🙄भारी 😇महफ़िल मे यहीं 😌रूठने का मौका है💥💥

हर पल हर लम्हा हम होते बेक़रार है,तुझसे दूर होते है तो लगता है लाचार है,बस एक बार देखो आँखों में मेरी,मेरे इस दिल में तेरे लिए कितना प्यार है..!!

एक बार कह दो किसने दिल दुखाया हैं तुम्हारा कसम आपके प्यार की वो कभी सामने नहीं आएगा दुबारा

दिल ❤️में बसे हो👍 जरा खयाल😇 रखनावक्त मिल⏳ जाए तो याद😇 करना हमें👍तो🙄 आदत है😌 आपको याद🤝 करने कीआप को 🙄बुरा लगे 😅तो माफ करना..🙏🙏

ये कैसी मोहब्बत का आगाज़ कर रहे हो, शुरू हुई नहीं और, पहले ही हमे नाराज़ कर रहे हो.

“हमने अपना जीवन खफा दिया रिश्तों का मतलब जानने में लोग मशगूल है मतलब के रिश्ते बनाने में।”

लोगों के शोर में नींद नहीं आती,मुझ तेरी खामोशी ही सोने नहीं देती…Logo ke shor mein nind nahi aati,Mujhe teri khamoshi hi soone nahi deti..

जानता हु हमने आपको रुला दिया आपने तो एक छोटी सी गलती पर हमे भुला दिया अकेले थे इस जुल्मी दुनिया मेंआप मिले थे और फिर अकेले होने का एहसास दिला दिया

किसी 🙄को मनाने से 🙏पहले ये जान👍 लेनाकि🤪 वो तुमसे😔 नाराज है या परेशान😜

बस 👍एक यही बात 🤔उसकी मुझे अच्छी😁 लगती है,🤟उदास😌 कर के भी कहती है, तुम🙄 नाराज़ तो नहीं हो ना….😁😁

हमारे पास कोई भी वजह नही है नाराजगी की, पर उसने एक बार भी कोशिश नही की हमें मनाने की।

मेरा तेरा रिश्ता बड़ा चुलबुला है,कभी खट्टा तो कभी मिट्ठा है,बस यही खास बात है जो,भाई-बहन को जिन्दगी भर साथ रखती है।

नाराज़गी है न जाने फिर भी ये दिल क्या चाहता है,ख्याल तुम्हारा अक्सर रूठने के बाद भी आता है..!!

नाराज़गी हो तो जता लेना,लेकिन नफ़रत न करना,चाहत किसी और हो जाएं तो बता देना,बस बेवफाई न करना।

कब तक रह पाओगे आखिर यूँ दूर हमसेमिलना पड़ेगा कभी न कभी ज़रूर हमसेनज़रे चुराने वाले ये बेरुखी है कैसीकह दो अगर हुआ है कोई कसूर हम से!

इन दिनों वक्त भी मुझसे नाराज़ चल रहा हैमेरे कर्मो को अपने साथ लिए हैं,मांगी थी थोड़ी सी मोहलत अपनी कामयाबी के लिएये तो मेरे गुनाहों का फैसला कर रहा है।

अगर आप हमसे बात न करंगे तो ये ज़िन्दगी किस काम कीअगर आप हमे प्यार से गुड नाईट न कहेंगे तो ये ज़िन्दगी किस काम की

माना की तुझे फुर्सत नहीं मुझसे बात करने कीपर मुझे कौन रोक सकता है तुझे याद करने से

“अगर नाराजगी की वजह आप हैं तो स्वयं को समझाएं कि गलती आपकी थी।”

उसकी ये मासूम अदा मुझे खूब बहती हैं नाराज मुझसे होती हैं गुस्सा सबको दिखाती हैं!!!

मेरे नाराज़ होने पर नज़रअंदाज़ कर रहे हो मुझे, मैं नाराज़ हुआ तु

नाराज हो भी जाए तो किससे,ये दर्द मेरा ही है,और दर्द देनेवाला भी..!

तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी ना रहेगीतुम्हारे बिना चिरागो में रौशनी न रहेगीक्या कहे क्या गुज़रेगी इस दिल पर,ज़िंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी ना रहेगी

कभी कभी मेरा मन भी नाराज होने का करता हैं,पर ये सोच के खुश हो जाते हैं मनाएगा कौन।

अजीब 😜 अदा है लोगों 🤔कीनजरें 👀भी हम पर 🤝नाराजगी भी 😔हमसे

“फासले का गम नही यदि दूरियाँ दिल में ना हो नजदीकीया फ़िजूल है अगर जगह दिल में ना हो।”

मुझको छोड़ने की वजह तो बता देते, मुझसे नाराज़ थे या फिर मुझ जैसे हज़ारों थे.

यही 🤔सोचकर कोई😜 सफाई🤝नही दी❌ हमने कि👍 इल्जाम झूठे😅भले है 👍पर लगाये तो 🤝तुमने है 🤝🤝

काश ये दिल बेजान होताना किसी के आने से धडकताना किसी के जाने पर तडपता !!

वो कभी सुनाती है, तो कभी पुचकारती है,मेरी प्यारी बहन एक पल झगड़ती है,तो दुसरे पल गले लग जाती है,यही प्यार भरा रिश्ता है हमारा।

मुझे इससे नफरत है जब मैं लोगों को अपना लेता हूं और वे केवल मुझे एक विकल्प के रूप में मानते हैं।

नाराज़गी अब भी होती है,बस ज़ाहिर करना छोड़ दिया है

वक़्त चाहे कितना भी बदल जाए,पर मेरी मोहब्बत तेरी लिए कभी नही बदलेगी..Waqt chahe kitna bhi badal jaye,Par meri mohabbat tere liye kabhi nahi badlegi…

उसकी हर गलती भूल जाता हूँ,जब वो मासूमियत से पूछती है नाराज है क्या..!!

वो इस कदर हम पर हक जताते है, वो जानते है कि झगड़ा होने के बाद मान जाते है।

सच्चा प्यार भी उन्ही से होता हैं,जिनको पाने का कोई chance नहीं होता हैं..Saccha pyar bhi unhi se hota hain,Jinko paane ka koi chance nahi hota hain..

जब तड़पेगी तू प्यास से,तूझे वो बादल याद आएगा,जब छोड़ जाएगा तूझे वो,तब तूझे ये पागल याद आएगा..!!

तुझ से नही तेरे वक़्त से नाराज़ हूँ जो कभी भी तुझे मेरे लिए नही मिलता

शिकायतें करनी छोड़ दी हैं मैंने उससे,जिसे फर्क मेरे आँसुओं से नहीं पड़ता,मेरे नाराजगी से क्या होगा।

माफ़ करदो फिर कभी दूर न जायेंगे आपसेअगर नहीं किया तो शायद कभी न मिल पायेगे आपसे

यूँ बात बात पर हमे खफा ना किया कर सनम, अगर ये ही करना है तो नफरत कर ले तू वफ़ा ना किया कर सनम।

गलती तो सबसे होती है, हाँ मुझसे भी हो गयीअब माफ़ भी कर दे मुझे, क्यों दूर इतना हो गईएक गलती के लिए क्यों ऐसे साथ छोड़ गयी.

चुभने लगा हूं मै इतना छूरा तोनहीं हूं जानी तुम जितना बतातेहो मेरे बारेमे उतना बुरा तो नही हूं!

Recent Posts