1297+ Narazgi Shayari In Hindi | नाराजगी शायरी हिंदी में

Narazgi Shayari In Hindi , नाराजगी शायरी हिंदी में
Author: Quotes And Status Post Published at: September 19, 2023 Post Updated at: November 6, 2023

Narazgi Shayari In Hindi : गलती तो सबसे होती है, हाँ मुझसे भी हो गयीअब माफ़ भी कर दे मुझे, क्यों दूर इतना हो गईएक गलती के लिए क्यों ऐसे साथ छोड़ गयी आज कुछ लिख नही पा रहा,शायद कलम कोमुझसे नाराजगी हैं कोई।

अच्छा लगता हैं मुझे उन लोगों से बात करनाजो मेरे कुछ भी नहीं लगते पर फिर भी मेरे बहुत कुछ हैं

किसी को मनाने से पहले ये जान लेना कि वो तुमसे नाराज है या परेशान।

हम बेबस हैं बेपरवाह नहीं हम उदास हैं खफ़ा नहीं,कदर करते हैं दोस्तों की दिल से,हम जिंदगी में मजबूर तो हो सकते हैं लेकिन बेवफ़ा नहीं..!!

तू एक नज़र हम को देख ले,बस इस आस में कब से बेकरार बैठे है..!!

तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी ना रहेगीतुम्हारे बिना चिरागो में रौशनी न रहेगीक्या कहे क्या गुज़रेगी इस दिल पर,ज़िंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी ना रहेगी

नाराज़गी भय क्या करें हक़ में तुम्हारे हमें तो दिल भी दुखाने की आदर नही

तेरी नाराज़गी मेरी दीवानगी,चल देखें किसकी उम्र ज्यादा है..!!

नाराज़गी😔 हो तो ज👍ता लेना,लेकिन🙄 नफ़रत न 💔करना,🙏चाहत किसी ❤️और हो 👍जाएं तो बता 🤪 देना,बस💔 बेवफाई न करना🤝😔

“कुछ लोग पिघल कर मोम की तरह रिश्ते निभाते है और कुछ लोग आग बनकर उन्हें जलाते ही जाते है।”

बांध कर रखा है इस रिश्ते ने हमें, रूहें तो हमारी एक वक़्त से जुदा हैं.

जहाँ नाराज़गी की क़दर ना हो वहाँ नाराज़ होना छोड़ देना चाहिए

कुछ🤔 इस तरह वो🤔रिश्तों🤗 की नुमाइश😇 करती हैखुदको 👍अच्छी दिखाने 😌k लिएवो 🤫अक्सर मेरी😌 बुराई करती है💯💯💯

मुझे 👍 अपने किरदार 😇पे इतना😁तो यकीन 🙏है की🙄कोई मुझे छोड़😅सकता👍 है लेकिन 😌भूल नही सकता 😔

मत बढ़ाओ हमारी ओर कदम इतनेकी फिर दुनिया तुम्हें अपने वजूद से जुदा कर दे

तुम🤔 भी चली👍 आया करो कभी😅 मनाने मुझको, यूं😜 बेफज़ूल की 😓नाराज़गी तुमसे, मेरी भी 👍जान लेती है 😦😦

तू एक नज़र हम को देख लेबस इस आस में कब से बेकरार बैठे है !

“जो रिश्ता हमको रूला दें, उससे गहरा रिश्ता कोई नहीं, जो रिश्ता रोते हुए छोड़ दें, उससे कमजोर रिश्ता कोई नहीं।”

मैं तुमसे उतनी ही नफरत करती हूँ जितनी मैं कभी तुमसे प्यार किया करती थी

बहुत खूबसूरत हैं मेरे ख्यालो की दुनिया,तुमसे ही शुरू और तुमपर ही खत्म…Bahut khubsurat hain mere khayalo ki duniya,Tumse hi shuru aur tumpar hi khatm..

होके नाराज़ कहाँ जाओगे, लौट का एक दिन मेरे पास ही तो आओगे.

“जो नाराज होते हैं उनसे प्यार करना भूल जाते हैं।”

दो बातें प्यार की तू भी बोले हमे मनाते हुए,इस चक्कर में कब से नाराज़ बैठे है..!!

जब तड़पेगी तू प्यास सेतूझे वो बादल याद आएगाजब छोड़ जाएगा तूझे वोतब तूझे ये पागल याद आएगा !

हर🙄 बात खामोशी 🤫से मान लेना..👍यह भी 🤔अंदाज़ होता😇 है नाराज़गी का😌

रूठे इस दिल को पूछ कितनी बार तुझसे ये दिल लगाने की कोशिश करता है माना नाराज़ है ये मगर फिर भी तुम को ये अपना बनाने की कोशिश करता है

दिल में भरा दर्द अब किसको दिखायें नाराजगी को उनकी अब कैसे मिटायें दिल में मोहोब्बत फिर कैसे जगायें कुछ तो कहो फिर उन्हें कैसे मनायें।

बात यही बस दिल पर लग जाती है, तुम आजकल गले भी नहीं लगते।

वो रूठ के बोले तुम्हे सब शिकायत मुझसे ही हैं मैंने सर झुका कर कह दिया मुझे सब उम्मीद भी तो तुमसे ही थी!!!

अजीब शख्स है भेद ही ना खुलते उसके, जब भी देखूं तो दुनिया से खफा ही देखूं।

वो शख्स कुछ नाराज़ सा था मुझ से,शायद नाराजगी के साथ अकेले घर जा रहा था,चेहरा भी कुछ खामोश सा था उसका,लेकिन शोर उसकी आंखो में नजर आ रहा था..!!

दिल से अपना दिल की बात सुनलो दिल से मांगते हैं माफ़ी माफ़ करते हैं फेर न करबे कोई गलती बस आलाप भुलाके घुसे को प्यार कर लो!!!

नाराज़ हो क्या…? मान जाओ ना, मुझे फिर से, पहचान जाओ ना, खैर छोड़ो चिप्स खाओगी…? एक दो मेरे लिए भी ले आओगी….!

तुझसे नहीं तेरे वक्त से नाराज़ हूँ मैंजो तुझे कभी मेरे लिए मिला ही नहीं।

नाराज हूँ मै उससे उसने मनाया भी नहीवो लोगो से कहता फिरता है बेवफा हूँ मै !

आपके साथ जिंदगी बितानी हैं वक़्त नहीं..Aapke sath zindagi bitaani hain waqt nahi…

कुछ नाराज़गी सिर्फ गले लगने से ही दूर होती हैं,समझने समझाने से नहीं..!!

फोन कर के रो रहा था मै उसकोसुनो तुम्हारी याद आ रही हैउसने फोन यह कह के काट दियासुनो तुम्हारी आवाज़ खराब आ रही है !

चुप हूँ इसका मतलब ये नहीं की नासाज हूँ मैं, कुछ बात ज़रूर होगी बेवजह नहीं नाराज़ हूँ मैं।

नाराज़😔 होकर भी 😔Narajgi न दिखाना,❌मेरी 🤔ये एक 😅अदा है तुमसे😌 नाराज़ होने की,पर तुम😡 समझते ही नहीं….😦😦😦

खता हो गयी तो फिर सजा सुना दोदल में इतना दर्द क्यों है वजह बता दोदेर हो गई याद करने में ज़रूर,लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो

नाराज़गी 😔कभी वहां🤔 मतरखयेगा 😜जहाँ खुद आपको🙄बताना पड़े 🤪की आप😔 नाराज़ हो।

ख्वाहिशें सभी की पूरी कर दी मैंने बस खुद को ही नाराज़ किया हुआ है।

किस बात पर खफा हो, यह जरूर बता देना। अक्सर दिल में छुपी नाराजगी से, रिश्तों की डोर कमजोर हो जाती है।

आदत हमारी कुछ इस तरह हो गई !!उनकी बेरूखी से भी मुहब्बत हो गई !!

तुझसे नहीं तेरे वक्त से नाराज़ हुजो तुझे कभी मेरे लिए मिला ही नहीं।।

जब से तुमने रुठे को मनाना छोड़ा दिया, तब से हमने खुदा से भी नाराज होना छोड़ दिया।

मैं मार क्यूँ ना गया तेरे नाराज़गी से पहले मुझे छोड़ना था तो कोयी लक़्ब-ए-बदनाम दिया होता

काश ये दिल बेजान होताना किसी के आने से धडकताना किसी के जाने पर तडपता !!

कुछ इस तरह वो, रिश्तों की नुमाइश करती है, खुदको अच्छी दिखाने k लिए, वो अक्सर मेरी बुराई करती है.,

जब से तुमने रुठे को मनाना छोड़ा दिया,तब से हमने खुदा से भी नाराज होना छोड़ दिया..!!

नाराज़गी हो तो जता लेना,लेकिन नफ़रत न करना,चाहत किसी और हो जाएं तो बता देना,बस बेवफाई न करना..!!

तू मेरी सबसे खूबसूरत भूल हैं,तेरी हर खुशीऔर गम मुझे कबूल हैं..Tu meri sabse khubsurat bhool hain,Teri har khusi aur gam mujhe qabool hain…

“कौवा किसी का धन नही चुराता, फिर भी लोगों को वह बुरा लगता है,

फोन कर के रो रहा था मै उसकोसुनो तुम्हारी याद आ रही हैउसने फोन यह कह के काट दियासुनो तुम्हारी आवाज़ खराब आ रही है !

कहते है, रूठना एक कला है,जब बीवी रूठे तो वो एक बला है,रूठने – मनाने का एक तरीका है, पर,हम लड़के रूठे तो कहते है, वो बड़ा मनचला है ।

हिम्मत 👍बहुत की है😁 मैंने 👍तुम्हे 🤔भुलाने की😌पर😜 कम्बक्त इश😇 दिल सेअव तक 🤔नहीं निकाल🤫 पाया हूं मैहा😇 तुम्हे नहीं ❌भूल पाया हूं मै

किस बात पे खफा हो,नाराज लग रहे हो…लगते हो जैसे हरदम,ना आज लग रहे हो ।

नाराज़गी बनाए रखो पर कम से कम चुप्पी तो तोड़ो, कम से कम हाथ तो पकड़ो भले नाराज़गी मत छोड़ो।

यूँ लगे दोस्त तेरा मुझसे खफ़ा हो जाना जिस तरह फूल से खुशबू का जुदा हो जाना

सच्ची मोहब्बत वादों से नहीं,परवाह से जाहिर होता हैं..Sacchi mohabbat wado se nahi,Parwah se jahir hota hain…

हमारी हदें अपना ली रूठने की, हमने बहुत कोशिश की समझाने की।

मुझे अपने किरदार पे इतना तो यकीन हैं की कोई मुझे छोड़ सकता हैं लेकिन भूल नहीं सकता!!!

यहाँ सब खामोश है कोई आवाज़ नहीं करता…. सच बोलकर कोई किसी को नाराज़ नहीं करता…

सुनना है, सुनाना है, रूठना है, मनाना है, हसना है, रुलाना है, इस जिंदगी का हर लम्हा….बस तुम्हारे साथ ही बिताना है….।

एक बार 🙄फिर से रूठना 😔है तुमसे, बस नाराज़😓 होने का हक़ 👍इस बार मुझे देना🤝

“दुनिया का सबसे बेहतरीन रिश्ता वही होता है, जहा एक हलकी सी मुस्कुराहट और छोटी सी माफी से, जिंदगी दोबारा पहले जैसी हो जाती है।”

खट्टा मीठा बड़ा अनोखा रिश्ता है,कहलाता तो भाई बहन का रिश्ता है,लेकिन स्वर्ग से भी सुंदर ये रिश्ता है।

सारा जहाँ चुपचाप है.. आहटें ना साज़ है…….. क्यों हवा ठहरी हुई है…….. आप क्या नाराज़ है…….!!!

मेरी नाराज़गी को मेरी बेवफ़ाई मत समझना,नाराज़ भी उसी से होते है जिससे बेइंतिहा मोहब्बत हो..!!

कहाँ वो शोखियाँ पहले सी अब कुछ भी नहीं बाक़ीचले आए हो तुम क्या खोजने इन बे-जान आँखों में

मेरी नाराज़गी को मेरी, बेवफ़ाई मत समझना, नाराज़ भी उसी से होते है, जिससे बेइंतिहा मोहब्बत हो.,

हर🙄 बात खामोशी 🤫से मान लेना..👍यह भी 🤔अंदाज़ होता😇 है नाराज़गी का😌

Recent Posts