305+ Mummy Papa Ke Liye Shayari In Hindi | Maa Baap Shayari in Hindi

Mummy Papa Ke Liye Shayari In Hindi , Maa Baap Shayari in Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: July 22, 2023 Post Updated at: November 1, 2023

Mummy Papa Ke Liye Shayari In Hindi : बाप चाहे अमीर हो या गरीब अपनी, औलाद के लिए वो बादशाह ही होता है ! माता-पिता वो हस्ती है, जिसके पसीने की एक बूँद का, कर्ज भी औलाद नहीं चुका सकती !

ना उसे मजबूरियां रोक सकीं, ना ही उसे मुसीबतें रोक सकींआ गई ‘माँ’ जो बच्चों ने याद किया, माँ को तो मीलों की दूरियाँ भी ना रोक सकी

ना ज़रूरत उसे पूजा और पाठ की, जिसने सेवा करी अपनी माँ-बाप की।

बच्चों के कंधों पर भार देखकर अपने कंधों को आगे कर देते हैमाँ-बाप भगवान का वो आशीष होते है जो अपने बच्चो के दर्द को पल भर में हर लेते है

माता पिता हमारे रक्षक है, माता पिता ही हमारे भगवान् है, उनके बिना जीवन संभव नहीं, यह हमारा सबसे बड़ा सम्मान है।

अपनी जुबान की तेजी उस माँ पर मत चलाओ, जिसने तुम्हे बोलना सिखाया है !!

बहुत शांत देखा है मैंने उनको, जो अपने ख्हुशियों को भुला कर, हर खुशी मेरे उपर लुटाते है, वो मेरे हर सपने को हकीकत करना चाहते हैं !

कौन कहता है कि बचपन वापस नहीं आतादो घड़ी अपनी माँ के पास बैठ कर तो देखो, खुद को बच्चा महसूस ना करो तो फिर कहना

मां तुमने मुझे जिंदगी का मतलब सिखा दिया मुझ जैसे निकम्मे को भी तुम ने एक अच्छा इंसान बना दिया

माँ की दुआएं और पिता का प्यार याद रखो दोस्तों कभी जाता नहीं बेकार।

दो चीजों का अंदाजा आपका भी नहीं लगा सकते,मां की ममता और पिता की क्षमता।

भगवान से बड़े माता पिता होते हैं क्योंकि भगवान सुख दुख दोनों देते हैं परंतु माता-पिता सिर्फ सुख देते हैं।

जो पहले रुलाए और फिर आपको मनाए वो है पापाऔर जो आपको रुला के खुद रोने लग जाए वो है माँ

दुनिया के हर चीज में मिलावट है सिर्फ मां बाप का प्यार सच्चा होता है Duniya ke har chij me milawat hai sirf maa baap ka pyaar Sacha hota hai

अंधेरी जिंदगी में राह दिखाने वाली मशाल है,जीवन की परेशानियों से बचाने वाली ढाल है,मेरे पापा मेरे लिए एक जीता जागता मिसाल है।

जब मेरे सर पर हाथ रख दे, तो मुझे हिम्मत मिल जाती हैमाँ-बाप के पैरो में ही मुझे, जन्नत मिल जाती है

जिंदगी में खुदा से इतना माँगना, माँ-बाप के बिना कोई घर ने हो, और कोई माँ-बाप बेघर ने हो।

“नोटों से तो बस जरूरते पूरी होती हैंमजा तो माँ से मांगे एक रूपये के सिक्के में था

कमी तो बहुत है मुझ में लेकिन मां के सामने जाते ही मां मेरी कमियों को सब को खत्म कर देती है

मुझे छांव में रखा और खुद जलता रहा धूप में,मैंने देखा है एक फरिश्ता मेरे पिता के रूप में।

टुकड़ों में बिखरा हुआ किसी का जिगर दिखाएँगे, कभी आना भूखे सोए बच्चों के माँ बाप से मिलाएँगे।

हर गम सहकर वह, हर दु:ख हंसकर जल जाता है,मुसीबतें अपने साथ लेकर पिता मौत से भी खेल जाता है।

पापा मुझको भूल न जाना,गलतियां मेरे दिल पर मत लेना,भूल हो जाती है मुझ नादान से,अपने बेटी को हमेशा गले लगाना।

खुशी का हर लम्हा हमारे पास होता है,जब पिता का साथ हमारे पास होता है।

माता पिता हमारे हर विकास में हमारी मदद करते हैं चाहे वो मानसिक हो, शारीरिक हो, सामाजिक हो या फिर हमारे करियर का विकास हो।

कोई कितना भी अच्छा क्यों ना होमाँ की कमी पूरी नहीं कर सकता

घर आके माँ-बाप बहुत रोये अकेले में, मिट्टी के खिलौने भी सस्ते ना थे मेले में।

ना मजबूरियां रोक सकीं, ना मुसीबतें ही रोक सकीं,आ गया पिता जो बच्चों ने याद किया,उसे तो मिलो की दूरी भी नहीं रोक सके।

माता-पिता वो हस्ती है, जिसके पसीने की एक बूँद का, कर्ज भी औलाद नहीं चुका सकती !

उस माँ बाप के सामने अकड़ के मत चलो जिसने तुम्हे हाथ पकड़ कर चलना सिखाया।

हम माँ बाप से कितना कुछ लेते हैं लेकिन देते बहुत कम हैं

करो दिल से सजदा तो इबादत बनेगी, माँ-बाप की सेवा अमानत बनेगी, खुलेगा जब तुम्हारे गुनाहों का ताला, तो माँ-बाप की सेवा जमानत बनेगी।

याद रखना – माँ बाप उमर से नहीं, फिकर से बूढ़े होते हैं, कड़वा हैं मगर सच हैं।

वक़्त ने मुझे अच्छी तरह से समझाया के सिवाए तेरे माँ बाप के कोई भी तेरे साथ मुख्लिस नहीं।

बाप का हाथ पकड़ कर रखे किसी का पाव पकड़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी Baap ka hath pakad kar dekh kisi ka paaw pakadne ki jaroorat nahi padegi

जिन मूर्तियों को इंसान बनाते हैं, हम उनकी तो पूजा करते हैं, पर जिन्होंने हमें बनाया है हम उन माता-पिता की पूजा क्यूँ नहीं करते।

ना ज़रूरत उसे पूजा और पाठ कीजिसने सेवा करी अपनी माँ-बाप की

चाहे लाख करो तुम पूजा और तीर्थ करो हजारअगर माँ बाप को ठुकराया तो सब ही हैं बेकार

याद रखना, माँ बाप उमर से नहींफिकर से बूढ़े होते हैं, कड़वा हैं मगर सच हैं

कुछ ना पा सके तो क्या गम है, माँ-बाप को पाया है ये क्या कम है, जो थोड़ी सी जगह मिली इनके कदमों में, वो क्या किसी जन्नत से कम हैं।

धूप में छाया है मेरे पापा मेरे परिवार की नीव है पापा Dhoop me chhaya hai mere pap mere pariwar ki niw hai papa

अपनी नींदों को भुला कर सुलाया हमको, अपने आँसू गिरा कर भी हँसाया हमकोजीवन में खुद कभी ना देना उनको, ऊपर वाले ने माँ बाप बनाया जिनको

जिनके अपने माँ बाप से, रिश्ते गहरे होते है उनके कल और आज दोनों अच्छे होते है।

इस दुनिया में मां-बाप से बढ़कर कोई और नहीं होता क्योंकि मां-बाप अपने बच्चों की खुशी के लिए अपनी जिंदगी की सारी खुशियां कुर्बान कर देते हैं

माँ की ममता और पिता की क्षमता का अंदाजा लगाना भी संभव नही है

पापा है मोहब्बत का नाम,पापा को हजारों सलाम,कर दे फिदा जिंदगी, आए जो बच्चों के काम।

बुरे हालात को हमने कभी देखा ही नहीं सब पापा से टकरा के लौट गए Bure halaat ko hamne kabhi dekha hi nahi sab papa se takra ke laut gaye

मेरा साहस मेरा सम्मान है पिता,मेरी ताकत मेरी पहचान है पिता,शायद रब ने भेजा फल अच्छे कर्मों का,उसकी रहमत उसका है वरदान पिता।

किसी ने माँ के कंधें पर सर रख के पूछा की माँ कब तक अपने कंधे पर सोने दोगीमाँ बोली जब तक लोग मुझे अपने कंधे पर न उठा ले

अपनी जुबान की ताकत अपने माँ बाप को कभी मत दिखाओ जिन्होंने तुम्हें बोलना सिखाया

गुलामी तो हम सिर्फ अपने माँ बाप की करते हैदुनिया के लिये तो कल भी बादशाह थे और आज भी

नींद अपनी भुलाकर सुलाया हमको,अपने आप को गिराकर हंसाया हमको,दर्द कभी ना देना उस खुदा की तस्वीर को,जमाना मां-बाप कहता है जिसको।

जीवन में दो बार ही माँ बाप रोते हैं, जब बेटी घर छोड़े, तथा बेटा मुह मोड़े।

खूबसूरती की इन्तहा बे-पनाह देखी जब मुस्कुराते हुए मैंने अपनी माँ देखी

नखरे तो सिर्फ मम्मी-पापा उठाते हैं,दुनिया वाले तो सिर्फ उंगली उठाते हैं।

रिश्ते निभा कर ये जान लिया हमने, माॅं बाप के सिवा कोई अपना नहीं होता!

ना गिन के दिया, ना तोल के दिया, मेरी माता पिता ने जो भी दिया दिल खोल के दिया।

पापा है मोहब्बत का नाम,पापा को हजारों सलाम,कर दे फिदा अपनी जिंदगी,आए जो अपने बच्चों के काम।

कुछ पल बैठा करो, माँ-बाप के पास, हर चीज नहीं मिलती, मोबाइल के पास।

माता-पिता हमारे लिए जीते हैं। जब हम खुश होते हैं तो वे खुश होते हैं।

रब से बस एक गुजारिश है,छोटी सी लगानी एक सिफारिश है,रहे हमेशा खुश मेरे पापा,बस इतनी सी मेरी आपसे ख्वाहिश है।

मन की बात जान ले जो, आंखों से पढ़ ले जो,दर्द हो चाहे खुशी, आंसू की पहचान कर ले जो,वह हस्ती जो बेपनाह प्यार करें,पापा ही तो है वह जो बच्चों के लिए जिए।

सूखते ही पत्ते पेड़ को छोड़ देते हैं, माँ-बाप के बूढ़े होते ही बच्चे रिश्ते तोड़ देते है !

प्रगति के पथ पर अग्रसर रहना मुझे सिखाया,पापा के रूप में मैंने सच्चा दोस्त है पाया।

माँ की दुआएं और पिता का प्यार, याद रखो दोस्तों कभी जाता नहीं बेकार !!

मां बाप की जिंदगी औलाद के संघर्ष में ही टूट जाती है

बिना बताए हर बात जान जाते हैं,मेरे पापा मेरी हर बात मान जाता है।

मेरी माँ मेरे लिए मेरी जन्नत हैऔर मेरे पिता मेरे लिए मेरी रेहमत

जब आप साथ में थे,तो जिंदगी को मैं खुलकर जिया करता था,लेकिन जब से आपका साथ छूटा है,जिंदगी का हर दिन बस मुझे काटना पड़ता है।

घर में सब अपना प्यार दिखाते हैं, पर कोई बिना दिखाए भी, इतना प्यार क्यों किये जा रहे हैं, वो हैं मेरे माँ पापा !

टुकड़ों में बिखरा हुआ किसी का जिगर दिखाएँगेकभी आना भूखे सोए बच्चों के माँ बाप से मिलाएँगे

माँ बाप का दिल जीत लो कामयाब हो जाओगे, वरना सारी दुनिया जीत कर भी हार जाओगे !

मां के बिना पूरा घर बिखर जाता है,और पापा के बिना तो पूरी दुनिया ही बिखर जाती है।

Recent Posts