1872+ Mom Shayari In Hindi | माँ के लिए शायरी

Mom Shayari In Hindi , माँ के लिए शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 14, 2023 Post Updated at: October 13, 2023

Mom Shayari In Hindi : सीधा साधा भोला भाला में ही सबसे अच्छा हूँ,कितना भी हो जाऊ बड़ा माँ में आज भी तेरा छोटा बच्चा हूँ। भीड़ में भी सीने से लगा के दूध पिला देती है,बच्चा अगर भूखा हो तो माँ शर्म को भुला देती है।

बिन बताये हर बात जान लेती है माँ तो माँ है मुस्कुराहटों में भी गम को पहचान लेती है

फरिश्ते आकर उनके जिस्म पर खुशबू लगाते थे वो बच्चे रेल के डिब्बों में अब झाडू लगाते हैं,

माँ ना होती तो वफ़ा कौन करेगाममता का हक़ भी कौन अदा करेगारब हर एक माँ को सलामत रखनावरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा

तुम क्या उसकी बराबरी करोंगेवो तूफानों में भी रोटिया सेक देती है ,और वो माँ है जनाब डरती नही है ,मुश्किलों को तो चूल्हें में झोंक देती है माँ !!

तेरी मुस्कान से  मेरा ख़ुशियों का किस्सा हैमैं तेरी सांस और तू मेरे रुह का हिस्सा है

हर इक रोज वो आंखे आहे भरती हैं माँ है साहब वो … बच्चों को सुने बिना कहाँ सोती है

माँ न होती तो वफ़ा कौन करेगाममता का हक़ भी कौन अदा करेगारब हर एक माँ को सलामत रखनावरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा

वो डांट-डांट कर खाना खिलाना याद आता है,मेरे वास्ते तेरा पैसा बचाना याद आता है।

दुनिया का हर कलाकारअपनी कला को कोई न कोईनाम देता है।लेकिन एक माँ ऐसीशख्सियत है,जो बच्चे को जन्म देने के बाद,उसे नाम उसके पिता का देती है।

स्कूल का वो बस्ता मुझे फिर से थमा दे माँ,जिंदगी का सफ़र मुझे बड़ा मुश्किल लगता है।

माँ की तरह कोई और ख्याल रख पाए,ये तो बस ख्याल ही हो सकता है..!!

तुम क्या सिखाओगे मुझे प्यार करने का सलीका,मैंने माँ के एक हाथ से थप्पड़ और दुसरे से रोटी खायी है।

यु ही नहीं समझ जाती वो बिन कहे, दर्द मेरा उनकी कोख ही तो थी, पहला घर मेरा ! Love you Maa 😘💚

आँखें  खोलु तो चेहरा माँ का होआँखें बंद हो तो सपना माँ का हो

मैंने रब को नहीं देखा वो जाने कैसा होगालेकिन मुझे यक़ीन है वो मेरी माँ के जैसा होगा

माँ मेरी खातिर तेरा रोटी पकाना याद आता है,अपने हाथों को चूल्हे में जलाना याद आता है।

मांग लूँ यह मन्नत कि फिर यही जहाँ मिलेफिर वही गोद फिर वही माँ मिले

जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए,कि मेरी माँ दीये से मेरे लिए काजल बनाती है।

औलाद के जन्म से लेकरउस औलाद के घरऔलाद ना आ जाएतब तक जो चैन की सांस नहीं लेती हैवो माँ ही होती है

साथ छोड़ देती है दुनिया पर वो साथ चलती है,कैसे भी हो हालात माँ कभी नहीं बदलती है।

माँ तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ, थक गया हूँ मुझे अपने आँचल में सुलाओ, उँगलियाँ फेर कर बालों में मेरे, एक बार फिर से बचपन की लोरियाँ सुनाओ

मुसीबतों ने मुझे काले बादल की तरह घेर लिया, जब कोई राह नजर नहीं आई तो मां याद आई।

वो बोली मै तुम्हे सबसे ज्यादा प्यार करती हुबगल में खड़ी मेरी माँ मुस्कुराने लगी !!

दुनिया में एक जैसे तोहजारों लोग मिल जाएंगे,लेकिन माँ जैसाकभी कोई नहीं मिलेगा।

दूर रहती हैं सदा उन से बलाएँ साहिल,अपने माँ बाप की जो रोज़ दुआ लेते हैं।

ये ऐसा क़र्ज़ है जो मैं अदा कर ही नहीं सकतामैं जब तक घर न लौटूं मेरी माँ सजदे में रहती हैमुनव्वर राना

माँ ने तो उम्र भर संभाला ही था हमें तो जिंदगी ने रुलाया है, कहाँ से पड़ती काँटों की आदत हमें माँ ने हमेशा अपनी गोद में सुलाया है।

जन्नत😇 है माँ के🤰 पैरो में क्यों छोड़😢 कही और जाऊँ मै 😧मेरे😇 सर पर साया🤩 बना रहे हर पल🤗 बस यही मनाऊं मै💯💯💯

क्यूँ चले जाते हैं, माँ-बाप क्यों नहीं समझते आज की पीढ़ी को। माँ और पिता स्वर्ग का स्वर्ग है।

सब ने कहा अच्छे से जाना लेकिन मेरी माँने कहा बेटा जल्दी घर बापस आना।

माँ और माँ का प्यारकिस्मत् वालों कोही मिलता है

जमाने ने इतने सितम दिए की रूह पर भी जख्म लग गया,मां ने सर पर हाथ रख दिया तो मरहम लग गया।

माँ तेरे दूध का हक मुझसे अदा क्या होगा,तू नाराज है तो खुश मुझसे खुदा क्या होगा

माँ अपनी पसंद को नापसंद करकेहमारी पसंद को अपना लेती है

एक हस्ती है जो जान है मेरी,जो जान से भी बढ़ कर शान हे मेरी,रब हुक्म दे तो कर दू सजदा उसे,क्यूँ की वो कोई और नही माँ है मेरी

सबने बताया कि, आज मां का दिन है, कौन बताएगा कि वो कौन सा दिन है, जो मां के बिन है। Happy Mother’s Day

उसके चहरे पे न कभी थकावट देखी है,न ममता में कभी मिलावट देखी है।

उसकी डांट में भी प्यार नजर आता है, माँ की याद में दुआ नजर आती है।

बचपन में बच्चों का प्यार कुछ ऐसा होता है,कि वो कहते हैं मां मेरी है मां मेरी है।और वही जब बड़े हो जाते हैं,तो कहते हैं मां तेरी है, मां तेरी है।

जो अपने घर से दूर रहते हैं!!माँ से बिछड़ कर रहते हैं!!वही जानते हैं कि, माँ क्या होती है!!और माँ से बिछड़ना क्या होता है!!

हजारों गम हो फिर भी, मैं खुशी से फूल जाता हूं,जब हस्ती है मेरी मां,मैं हर गम भूल जाता हूं.

लोग चले है जन्नत को पाने के खातिरइनको कोई बताओ यारकी माँ घर पर ही है..!

जिसके होने से मैं खुद को मुक्कम्मल मानता हूँ, मैं खुदा से पहले मेरी माँ को जानता हूँ।

बिना हुनर के भी वो चार ओलाद पाल लेती है, कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।

इस जीवन में सबसेबड़ा मां का ही प्यार हैवही मंदिर वही पूजाऔर वही सारा संसार है..!

माँ तो जन्नत का फूल है प्यार करना उसका उसूल है, दुनिया की मोहब्बत फिजूल है माँ की हर दुआ कबूल है.

जब मुसीबतों ने मुझे हर तरफ से घेर लिया, कोई राह नजर नहीं आई तो मुझे मां याद आई।

जिंदगी की पहली Teacher माँ,zindagi की पहली Friend माँ ,जिंदगी भी माँ क्योंकि,zindagi देने वाली भी माँ,

ऐ अँधेरे देख मुँह तेरा काला हो गया,माँ ने आँखें खोल दी घर में उजाला हो गया।

इस जीवन में मुझे बहुत प्यार मिला, क्योकि भगवान रूपी माँ का अवतार मिला।

माँ तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ थक गया हूँ मुझे अपने आँचल में सुलाओ उँगलियाँ फेर कर बालों में मेरे एक बार, फिर से बचपन की लोरियाँ सुनाओ.

तेरे आने से रौनक आए,तेरे जाने से खुशियाँ जाएँ,मुझे हमेशा मेरे साथ चाहिए तू,तेरे बिना रहना गवारां नहीं मां।

इस तरह मेरे गुनाहों को वो धो देती है,माँ बहुत ग़ुस्से में होती है तो रो देती है।

आपके प्यार ने मुझे हमेशा विशेष महसूस कराया है, और मैं आपके जीवन के लिए बहुत आभारी हूं। मैं आपसे प्यार करता हूं मां!

जिंदगी की पहली Teacher माँ,जिंदगी की पहली Friend माँ,ZINDAGI भी माँ, क्योकि,Zindagi देने वाली भी माँ !!!

माँ का आँचल…मैं ने माँ का लिबास जब पहना,मुझ को तितली ने अपने रंग दिए।

क्या🕍 मंदिर, क्या 🕍 मस्जिद, क्या गंगा 🤔की धार करे👎वो🏠 घर ही मंदिर😍 जैसा है जिसमे😊 औलाद माँ बाप🤱 का सत्कार करे❤️❤️❤️

“हे भगवान, तुम उन्हें स्वर्ग में हीजगह देना जिन्होंने मुझे 9 महीनेअपनी कोख में जगह दी”।

माँ की बूढी आंखों को अब कुछ दिखाई नहीं देता,लेकिन वर्षों बाद भी आंखों में लिखा हर एक अरमान पढ़ लिया।

वह औलाद बड़ी किस्मत वाली है।जिन्हें माँ के हाथ का खानानसीब होता है, वरना दुनिया मेंकितनों के पास खाना नहीं होता औरकितनों के पास माँ नहीं होती।

लबों 😊पर उसके 🤔बद्दुआ नहीं होती👎बस एक माँ🤰 है जो मुझसे 🙁खफा नहीं होती💯💯💯

माँ के प्यार के आगेदुनिया का हर प्यार फीका है।

मेरे पिता मेरे सब कुछ हैऔर मेरी माँ मेरी जन्नत है !!

वो लिखा के लायी है किस्मत में जागना,माँ कैसे सो सकेगी कि बेटा सफ़र में है।

ज़मीन से उठाकर आसमान तक पहुंचाया,मेरी माँ थी वो जिसने मुझे चलना सिखाया।

सख्त राहों में भी आसान सफ़र लगता है, ये मेरी माँ की दुआओं का असर लगता है.

में में छोटा था तो चलते -चलते गिर जाता था तो माँकहती थी चुप हो जा बेटा देख चींटी दब के मर गईअब में जब भी गीरता हूँ तो जमीरदबा नजर आता है चीटी नही!

बहुत बुरा हो फिर भी उसको बहुत भला कहती है, अपने नाकारा बेटे को भी माँ दूध का धुला कहती है.

इस लिए चल न सका कोई भी ख़ंजर मुझ पर,मेरी शह-रग पे मेरी माँ की दुआ रखी थी।नज़ीर बाक़री

ऊपर जिसका अंत नहीं उसे आसमां कहते हैं, जहाँ में जिसका अंत नहीं उसे माँ कहते हैं। Happy Mother’s Day

तेरे ही आँचल में निकला बचपन, तुझ से ही तो जुडी हर धड़कन है, कहने को तो सब माँ कहते है उसे, लेकिन मेरे लिए तो मेरी माँ ही भगवान है.

तेरे क़दमों में ये सारा जहां होगा एक दिन,माँ के होठों पे तबस्सुम को सजाने वाले

Recent Posts