1872+ Mom Shayari In Hindi | माँ के लिए शायरी

Mom Shayari In Hindi , माँ के लिए शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 14, 2023 Post Updated at: October 13, 2023

Mom Shayari In Hindi : सीधा साधा भोला भाला में ही सबसे अच्छा हूँ,कितना भी हो जाऊ बड़ा माँ में आज भी तेरा छोटा बच्चा हूँ। भीड़ में भी सीने से लगा के दूध पिला देती है,बच्चा अगर भूखा हो तो माँ शर्म को भुला देती है।

तुझपे क्या शायरी लिखूं मेरी मां.. लिखने के लिए कम पड़ेगा आसमां..

किस्मत जब लिखी गई मेरी,गम ही गम शामिल हुए तकदीर में,फिर ख्याल आया खुदा को इन गमों की दवा लिखने का,तब जाकर मां शब्द लिखा मेरे हाथ की लकीर में।

माँ से दूर होने पर आसूं छलक ही जाते है,चाहे जितना छूपा के रखो, माँ को नजर आ ही जाते है।

जब नींद नहीं आती, तब मां की लोरी याद आती है।

कुछ जिम्मेदारियां मजबूर कर देती है साहब घर छोड़ने कोवरना कौन अपनी माँ के आँचल में सिर रख कर सोनानहीं चाहत !!

मां का कर्ज ऐसा है जिसे मैं चुका नहीं सकता,सच में तो मां का कर्ज वो है,इसे मैं तो क्या भगवान भी नहीं अदा कर सकते हैं।

बस माँ का हाथ ही काफी है, खुशिया नहीं बाकी है।

“खूबसूरती की इंतहा बेपनाह देखी…जब मैंने मुस्कराती हुई माँ देखी..”

हालातों के आगे जब साथ,न जुबाँ होती है,पहचान लेती है ख़ामोशी में हर दर्द,वो सिर्फ प्यारी “माँ” होती है।

हालातों के आगे जब साथ ना जुबौं होती है,पहचान लेती है खामोशी में हर दर्द वो सिर्फ ” माँ ” होती है।

माँ से बढ़कर कोई नाम क्या होगा, इस नाम का हमसे एहतराम क्या होगा, जिसके पैरो के निचे जन्नत है, उसके सर का मकाम क्या होगा.

हालात बुरे थे मगर अमीर बना कर रखती थी, हम गरीब थे यह बस हमारी मां जानती थी।

घुटनों से रेंगते-रेंगते जब पैरों पर खड़ा हो गया माँ तेरी ममता की छाँव में जाने कब बड़ा हो गया

हमारा पेट तो उस एक छोटे से निवाले से ही भर गया था, जो माँ ने खिलाया था काफी अर्से के बाद है।

पूरी दुनिया के लिए तुम मेरी माँ हो,लेकिन मेरे लिए तुम पूरी दुनिया तो…

अब भी चलती है जब आँधी कभी गम की,माँ की ममता मुझे बाहों में छुपा लेती है.

तेरे दामन मे सितारे है तो होगे ऐ फलकमुझको मेरी माँ की मैली ओढ़नी अच्छी लगी !

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने, भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी |

मां तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ,थक गया हूं मुझे अपने आंचल में सुलाओ,उंगलियां फैर कर बालों में एक बार,फिर से बचपन की लोरियां सुनाओ।

माँ की बूढी आंखों को अब कुछ दिखाई नहीं देता,लेकिन वर्षों बाद भी आंखों में लिखा हर एक अरमान पढ़ लिया।

वो लिखा के लाई है किस्मत में जागना, माँ कैसे सो सकेगी कि बेटा सफ़र में है।

तकिए बदले हमने बेशुमार लेकिन तकिए हमें सुलाते नहीं, बेखबर थे हम कि तकिए में मां की गोद को तलाशते नहीं।

घुटनों से  रगड़ते रगड़ते जाने कब पैरों पे खड़ा हो गयामाँ तेरी ममता के छांव में जाने कब इतना बड़ा हो गया

जो मांगू वो दे दिया कर ऐ ज़िन्दगी तू बस मेरी माँ की तरह बन जा

सोच समझ कर बर्बाद करना मुझेबहुत प्यार से पाला है मेरी माँ ने मुझे

वो दुआ खाली नहीं जाती,जो मां करती है।कैसे बनी इस काबिल में,मेरी मां मेरी हर आह पर मरती है।

खाली पड़ा था मकान मेरा, जब माँ घर आयी तो घर बना।

माँ ना होती तो वफ़ा कौन करेगा, ममता का हक़ भी कौन अदा करेगा, रब हर एक माँ को सलामत रखना, वरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा.

चलती फिरती आंखों से अजां देखी है,मैंने जन्नत तो नहीं देखी लेकिन मां देखी है।

जिंदगी की पहली Teacher माँ, जिंदगी कीपहली Friend माँ, Jindagi भी माँ क्योकि, Zindagiदेने वाली भी माँ…!

सख्त राहों में भी आसान सफर लगता है !!यह मेरी मां की दुआओं का असर लगता है !!

माँ के आँचल सा साया और कहा मिलता हैमाँ की एक मुश्कुराहट देखमेरा रोम-रोम खिलता है !!

👩‍👧‍👦 किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलताशायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता | 🤱

इंसान अगर खुद को बेच भी दे,फिर भी “माँ” का कर्जवो कभी नहीं चुका सकता।

मैंने चलती फिरती आँखों से देवी देखी हैं मैंने जन्नत तो नहीं देखी मगर मेरी मां देखी है। हैप्पी मदर्स डे

खूबसूरती की इंतहा बेपनाह देखी…जब मैंने मुस्कराती हुई माँ देखी

सबकुछ मिल जाता है दुनिया में मगर याद रखना कि बस माँ-बाप नहीं मिलते मुरझा कर जो गिर गए एक बार डाली से ये ऐसे फूल हैं जो फिर नहीं खिलते

खूबसूरती की इंतहा बेपनाह देखी, जब मैंने मुस्कराती हुई माँ देखी |

जब भी तौला माँ की मोहब्बत को, मैं भारी पाया माँ की मोहब्बत को. Jab bhi taula maa ki mohabbat ko, main bhaari paya maa ki mohabbt ko.

मुझे माफ़ कर मेरे या Khudaa,झुक कर करू तेरा सजदा,तुझसे भी पहले Maa मेरे लिए,ना कर कभी मुझे maa से जुदा!

माँ को मुस्कुराता हुए ध्यान से देखना भगवान मुस्कुराते हुए नजर आएंगे

मेरी ख्वाहिश है की मैं फिर से फरिश्ता हो जाऊँ, माँ से इस तरह लिपटूँ की बच्चा हो जाऊँ।

ये जिंदगी है जनाब मांनही जो हर वक़्त प्यार दे..

बड़ी ही मुश्किल आ गई बंटवारे के किस्से में,जब माँ ने पूछ लिया हम हैं किसके हिस्से में।

वो वक़्त हसीन था,जब तेरे हाथ की रोटी के थी।मैं जागती तुझे देख कर,तुझे देख कर ही सोती थी।

खुद मौत के मुंह में जाकर बच्चे को जीवनदान दे, ऐसी है वो शक्तिशाली माँ, जो इतना महान काम कर दें.

सवरने🤗 की कहाँ 🤔उसे फुर्सत होती है,😞माँ🤱 फिर भी बहुत 😊खूबसूरत होती है😇😇😇

खुदा लिखे जमीन पर,मेरा अस्तित्व फिर कभी।मेरी मां को बनाना जरूर,बिन उसके मुझे बनाना नहीं।

गिनं लेती है दिन बगैर मेरे गुजारे हैं कितने, भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी.

उसकी दुवाओं में ऐसा असर है कि सोये भाग्य जगा देती है,मिट जाते हैं दुःख दर्द सभी, माँ जीवन में चार चाँद लगा देती है।

दुआ है रब से वो शाम कभी ना आए, जब माँ दूर मुझसे हो जाए।

बेसन की रोटी पर, खट्टी चटनी सी माँ…याद आती है चौका, बासन, चिमटा, फूंकनी जैसी माँ।

मेरे होने की वजह मेरी माँ है,मेरी खुशी मेरी माँ है,सबका अपना-अपना खुदा होता है,मेरे लिए तो खुदा मेरी माँ है।

माँ से बड़कर कोई नाम क्या होगा इस नाम का हमसे एहतराम क्या होगा जिसके पैरों के नीचे जन्नत है उसके सर का मक़ाम क्या होगा

घुटनों से रेंगते – रेंगते कब पैरो पर खड़ा हो गया,माँ तेरी ममता की छाँव में न जाने कब बड़ा हो गया।

मांग लूँ यह दुआ कि फिर यही जहाँ मिले, फिर वही गोद मिले फिर वही माँ मिले।

सख्त राहों में भी आसान सफर लगता हैयह मेरी मां की दुआओं का असर लगता है👩‍👧❤👩‍👧

ए मुसीबत जरा सोच के आ मेरे करीब, कही मेरी माँ की दुआ तेरे लिए मुसीबत ना बन जाये।

जब तक मेरे सर पर मां का हाथ हैफर्क नहीं पड़ता कौन मेरे खिलाफ है..!!

किस्मत का खेल तो“माँ” के जाने के बाद ही शुरू होता है,क्योंकि जब तक “माँ” की छत्रछाया रहती है,तो उन की दुआओं से तुम्हें आंच नहीं आती।

कोई दुआ असर नहीं करती, जब तक वो हमपर नजर नहीं करती हम उसकी खबर रखे न रखे, वो कभी हमें बेखबर नहीं करती।

माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा,माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा,खुदा ने रख दी हो जिस के कदमों में जन्नत,सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा।

जिंदगी अगर मौका दे तो अपनी माँ की खूब सेवा करनी चाहिए। आज की हमारी पोस्ट से आप Maa par Shayari in Hindi को अपनी माँ को भेज कर उसका दिल खुस कर सकते है।

चलती फिरती आंखों से अजां देखी है, मैंने जन्नत तो नहीं देखी लेकिन मां देखी है.

जिसके पास माँ का प्यार होता है, उसके लिए हर मौसम बहार होता है।

जिस माँ की परवाह उसका बेटा करता होउस माँ से ज्यादा अमीर तो राजमाता भी नहीं है !!

बहुत दर्द देती हैंतेरी यादें माँसो जाऊं तो जगा देती हैजाग जाऊं तो रुला देती है

मेरी मां मेरा संसार है,जिसकी सादगी से मुझे बहुत प्यार है,हर हाल में तू मुझे सबसे सुंदर लगती है,और जब तू साथ रहती है,तो ये दुनिया जन्नत लगती है।

कहते हैं माँ शब्द अपने आप में परिपूर्ण है,दुनिया में हम चाहे कितने भी रिश्ते क्यों ना बना ले,लेकिन माँ के बिना हमारा जीवन अधूरा और अधूरा ही होता है।

👩‍👧‍👦 सर पर जो हाथ फेरे तो हिम्मत मिल जाएमाँ एक बार मुस्कुरा दे तो जन्नत मिल जाए | 🤱

“हँसकर मेरा हर गम भुलाती है माँ,मैं रोता हूँ तो सीने से लगाती है माँ,बहुत दर्द दिया है इस ज़माने ने मुझको,सबकुछ झेलकर जीना सिखाती है माँ..”

रूह के रिश्तों की ये गहराइयाँ तो देखिये,चोट लगती है हमें और चिल्लाती है माँ,हम खुशियों में माँ को भले ही भूल जायें,जब मुसीबत आ जाए तो याद आती है माँ।

Recent Posts