1872+ Mom Shayari In Hindi | माँ के लिए शायरी

Mom Shayari In Hindi , माँ के लिए शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 14, 2023 Post Updated at: October 13, 2023

Mom Shayari In Hindi : सीधा साधा भोला भाला में ही सबसे अच्छा हूँ,कितना भी हो जाऊ बड़ा माँ में आज भी तेरा छोटा बच्चा हूँ। भीड़ में भी सीने से लगा के दूध पिला देती है,बच्चा अगर भूखा हो तो माँ शर्म को भुला देती है।

जन्नत माँ के पैरो में है स्पर्श कर सको तो कर लो, मंदिरों में भटकने से क्या फायदा पूजा या भी कर लो।

शहर के रस्ते हों चाहे गांव की पगडंडियां मां की उंगली थाम कर चलना मुझे अच्छा लगा

जब दवा काम नहीं आती है !!तब माँ की दुआ काम आती है !!

सारे जहां में नहीं मिलता बेशुमार इतना,सुकून मिलता है माँ के प्यार में जितना।

मैं कैसे ना समझा मां,तेरे दर्द को आखिर?मेरे रोने का वक़्त तूने,मर मर के गुजारा था।

माँ पहले आँसू आते थे तो तुम याद आती थी,आज तुम याद आती हो और आँसू निकल आते है।

जो सब पर कृपा करे उसे ईश्वर कहते है, जो ईश्वर को भी जन्म दें उसे मां कहते है।

जब भी कश्ती मेरी सैलाब में आ जाती है,माँ दुआ करती हुई ख्वाब में आ जाती है।

कुछ इस तरह वो मेरे गुनाहों को धो देती है,माँ बहुत गुस्से मे होती है तो रो देती है।

माँ से बड़ा कोई, नहीं मां से ज्यादा प्यार करने वाला कोई नहीं, माँ की तरह परवाह करने वाला कोई नहीं।

वैसे तो कहा जाता है,कि किसी के चले जाने सेजिंदगी रुक नहीं जाती,लेकिन अगर जिंदगी में “माँ” ना होतो जिंदगी चल भी नहीं पाती।

मांगने पर जहाँ हर मन्नत पूरी होती है,माँ के पैरो में ही तो जन्नत होती है !!

तेरे क़दमों में ये सारा जहां होगा एक दिन, माँ के होठों पे तबस्सुम को सजाने वाले.

उम्र कोई भी हो लेकिन चोट लगने परदिल से पहला शब्द… माँ ही निकलता है

माँ-बाप का दिल जीत लो कामयाब हो जाओगे, वरना सारी दुनिया जीत कर भी, सब कुछ हार जाओगे.

मैं हुँ दीप दूसरों की खातीर जलता रहुँगा माँ का हैं यही सबक मैं सदा मचलता रहुँगा..

माँ से बड़कर कोई नाम क्या होगा इस नाम का हमसे एहतराम क्या होगा जिसके पैरों के नीचे जन्नत है उसके सर का मक़ाम क्या होगा। “मदर डे” की शुभकामनाएं

खूबसूरती की इंतेहा देखी,जब मुस्कुराती हुई मां देखी।

हालात बुरे थे मगर अमीर बना कर रखती थी,हम गरीब थे यह बस हमारी मां जानती थी।

ना अपनों से खुलता है और ना ही गैरो से खुलता है, जन्नत का दरवाजा मेरी माँ के कदमो से खुलता है.

अपनी ख्वाहिशों का क़त्ल कर,वो हमेशा हमारे सपनों के लिए जीती थीं,बस कुछ इसी तरह हमारी माँ की जिन्दगी बीती थी।

एक मुद्दत से मेरी मां नहीं सोई,मैंने एक बार कहा था मुझे डर लगता है।

किसी ने भगवन को माना तो किसी ने अल्लाह लिखा मैने कलम उठाई अदब से और सबसे पहले माँ लिखा।

मां के बारे में कुछ लिखूंइतनी मेरी हैसियत नहीमां की ममता किसी जन्नत से कम नही..

जिसके लबों पर हमेशादुआओं का भंडार रहता हैवो एक माँ ही हैजहां से हम कभी खाली नहीं लौटते

माँ पर अगर कोई लिखने बैठे तो उसकी पूरी जिंदगी हो जाएगी लेकिन माँ पर लिखी हुई हर बात पूरी नहीं होगी।

आपने मुझे हंसते हुए देखा है आपने मुझे रोते देखा है और हमेशा आप मेरे साथ थीं हो सकता है कि मैंने हमेशा ऐसा नहीं कहा हो लेकिन थैंक्स एंड आई लव यू मॉम

दिन भर की मशक़्क़त से बदन चूर है लेकिन, माँ ने मुझे देखा तो थकान भूल गई है.

देकर 🤰हंसी, सारे आंसू😭 ले जाती है🤗मां😃 ही तो सारी 😇खुशियां लाती हैं💯💯💯

“अगर हम शब्द हैतो वो पूरी भाषा हैमाँ की बसयही परिभाषा है”

पूछता है जब कोई दुनिया मे मोहबत है कहा, मुस्कुरा देता हू तब याद आती है माँ।‌‌

अपनी हर औलाद में सेकमजोर औलाद पर हीमाँ का प्यार ज्यादा बरसता है

ख़ुदा ने ये सिफ़त दुनिया की हर औरत को बख्शी है, कि वो पागल भी हो जाए तो बेटे याद रहते है

तुम्हारे 🤩सीने में दिल❤️ नहींहर 😇शख्स ये🙁 मुझसे कहता है🤩अब उनको😊 कौन समझाए😜 किदिल ❤️की जगह 🤱मेरी माँ का अक्स 😇रहता है💥💥

लबों पे उसके कभी बद्दुआ नहीं होती, बस एक मां है जो मुझसे ख़फ़ा नहीं होती |

मेरी हर कोशिश को खुदा सफल कर देता हैमेरी माँ का होना मुझे मुकम्मल कर देता है।

मैंने कल शब चाहतों की सब किताबें फाड़ दी,सिर्फ एक कागज़ पर लफ्जे माँ रहने दिया।

हजारो गम है जिन्दगी में,फिर माँ मुस्कराती है,तो हर गम भूल जाता हू।

मैने बिना मतलब निकाले रिश्ते निभाने वाला इंसान देख है इस जहान में केवल माँ ही है जिसकी नज़र से मैने यह आसमान देखा है ” मेरी माँ “.

जब तक माँ की दुआएं साथ होती है,तब तक किस्मत बदल जाती है।किस्मत का असली खेल तो,माँ के गुजर जाने के बाद ही शुरू होता है

सारी दुनिया से बढ़कर है मां,सारी दुनिया से बढ़कर है उसका प्यार,जिसने बनाया है ये जहां दुनिया,वो भी तरसता है पाने को माँ का प्यार।

वो तरक्की किस काम कीजो बुढ़ापे में माँ बाप का सहाराना बन सके।

मां से रिश्ता ऐसा बनाया जाए जिसको निगाहों में बिठाया जाए रहे उसका मेरा रिश्ता कुछ ऐसा वो अगर उदास हो, तो हमसे भी ना मुस्कुराया जाए।

जन्नत का हर लम्हा….दीदार किया था गोद मे उठाकर जब माँ ने प्यार किया था

माँ से रिश्ता कुछ ऐसा बनाया जिसकी निगाहों मेंबिठाया जाए रहे उसका मेरा रिश्ता कुछ ऐसा की वोअगर उदास हो तो हमसे भी मुस्कुराया न जाये…!

किसी को घर मिला, किसी के हिस्से में दुकान आई, मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में मां आई |

लबों पर उसके कभी बदुआ नहीं होतीबो मां है जो कभी खफा नहीं होती

मुसीबतों ने मुझे काले बादल की तरह घेर लिया,जब कोई राह नजर नहीं आई तो मां याद आई।

मैं हमेशा ₹100 माँगू तो₹50 ही देती थी।लेकिन रोटी जब मैं एक माँगु तोवह मुझे दो या तीन ही देती थी।

बनके😀 शहज़ादा दिल💖 की हुकूमत में रहा…😊माँ 🤱तेरी गोद 🤰में जब तक रहा👼 जन्नत में रहा। 💯💯💯

माँ वो सितारा है जिसकी गोद में जाने के लिए हर कोई तरसता है, जो माँ को नहीं पूछते वो जिंदगी भर जन्नत को तरसता है.

हालातो के आगे जब साथ न जुबा होती पहचान लेती है, खामोशी में हर दर्द वो सिर्फ माँ होती है..

सीधा-साधा, भोला मै ही सबसे अच्छा हूँ कितने भी बड़ा हो जाऊ माँ के लिए तो बच्चा हूँ।

बिन कहे आँखों में सब पढ़ लेती है,बिन कहे जो गलती माफ़ कर दे वो माँ है।

जो हो सके तो इसको संभाल के रखना,ये माँ का प्यार है बाजार में नहीं मिलता।

इतना दर्द सहा है जिंदगी में ,वो बातें अब ज़ुबा से बयाँ नही होती ,कब का टूट कर बिखर चुका होता ,अगर मेरे साथ मेरी माँ नही होती !!

सख्त राहों में भी आसान सफ़र लगता है,ये मेरी माँ की दुआओं का असर लगता है।

“माँ की दुआ कभी खाली नहीं जाती,माँ की बात कभी टाली नहीं जाती,अपने सब बच्चे पाल लेती है बर्तन धोकर,और बच्चों से एक माँ पाली नहीं जाती..”

मांग लूं यह मन्नत की फिर यही जहान मिलेफिर वही गोद, फिर वही माँ मिले.

इस बात से अभी तक कई इंसान अनजान है,माँ सिर्फ मां नहीं एक वरदान है

शहर में आ कर पढ़ने वाले ये भूल गए,किस की माँ ने कितना ज़ेवर बेचा था।

दुआ मै मांग लू रब से फिर वही जगह मिले.वही गोद मिले माँ का.वही ममता मिले उस जहाँ का​।

चलती फिरती आँखों से अज़ाँ देखी है,मैंने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है

हम भी आपके लिए माँ पर कुछ शायरी लाए हैं एक बार आप जरूर पढ़ें आपको अच्छी लगेगी, क्योंकि जे Shayari Maa Par जो है।

जिसके होने से मैं खुद को मुक्कम्मल मानता हूँ ! मेरे रब के बाद मैं बस अपनी माँ को जानता हूँ !

माँ नहीं सोई…एक मुद्दत से मेरी माँ नहीं सोई ‘ताबिश’मैंने इक बार कहा था मुझे डर लगता हैअब्बास ताबिश

हर गली हर शहर हर देश-विदेश देखा !!लेकिन मां तेरे जैसा प्यार कहीं नहीं देखा !!

अगर जिंदगी मेंहाथ थामने वाला कोई मिल जाएतो उंगली पकड़ केचलना सिखाने वाले को भूल मत जाना

जो सब पर कृपा करे उसे ईश्वर कहते है,जो ईश्वर को भी जन्म दें उसे मां कहते है।

मंजिल दूर और सफर बहुत है छोटी सी जिंदगी की फ़िक़र बहुत है मार डालती ये दुनिया कब की हमें लेकिन माँ की दुआओँ में आसार बहुत है

हमें रोता देख वही एक रोती है, ऐसा कोई नहीं होता बस एक मां ही होती है.

डॉक्टर को तबीयत देखने के लिएथर्मामीटर और स्टैथोस्कोप चाहिएलेकिन माँ बच्चे की आंखेंऔर सूरत देखकर ही बता देती हैकि मेरे बच्चे को क्या तकलीफ है

Recent Posts