1872+ Mom Shayari In Hindi | माँ के लिए शायरी

Mom Shayari In Hindi , माँ के लिए शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 14, 2023 Post Updated at: October 13, 2023

Mom Shayari In Hindi : सीधा साधा भोला भाला में ही सबसे अच्छा हूँ,कितना भी हो जाऊ बड़ा माँ में आज भी तेरा छोटा बच्चा हूँ। भीड़ में भी सीने से लगा के दूध पिला देती है,बच्चा अगर भूखा हो तो माँ शर्म को भुला देती है।

दुनिया के हर रिश्ते कोदेखने के बादअब इतना पता तो चल गया हैकि सच्चा रिश्ताएक माँ का ही होता है

जिंदगी की पहली शिक्षक माँ, जिंदगी की पहली दोस्त माँ, जिंदगी भी माँ, क्योंकि जिंदगी देने वाली भी माँ.

मैंने कभी भगवान को नहीं देखा है, लेकिन मुझे इतना यकीन हे की, वो भी मेरी माँ की तरह होगा !

“माँ घर में दिल की धड़कन है; और उसके बिना, दिल की धड़कन नहीं लगती।

जब हालात हमारे मजबूर और जुबान पर ना होती है,उस समय हमारे साथ सिर्फ हमारी माँ होती है।

माँ की दुआ वक़्त तो क्या नसीब भी बदल देती है

“घुटनों से रेंगते रंगतेकब पैरों पर खड़ा हो गयामाँ तेरी ममता की छाँव मेंन जाने कब बड़ा हो गया”

“किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकान आई ,मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई..”

मरने से डर नहीं लगता मुझेमम्मी पापा के बिना जीने से डर लगता है !!

वो तो असर है मां की दुआओं में,वरना इतना सुकून कहां था इन हवाओं में।

मुझे तुमसे बेहद मोहब्बत है माँतू जन्नत से भी खूबसूरत है माँ👩‍👧❤👩‍👧

हालात बुरे थे मगर अमीर बना कर रखती थी !!हम गरीब थे यह बस हमारी मां जानती थी !!

माँ ना होती तो वफा कौन करेगा,ममता का हक भी कौन अदा करेगा,रब हर एक माँ को सलामत रखना,वरना हमारे लिए दुआ कौन करेगा।

ऊपर जिसका अंत नहीं उसे आसमां कहते हैं इस जहाँ में जिसका अंत नहीं उसे माँ कहते हैं

बचपन मै जिस माँ के रोकने टोकने से मुझको तकलीफ थी , आज उसी माँ कि झलक देखने को तरस चुका हूं।

भीड़ में भी सीने से लगा के दूध पिला देती है,बच्चा अगर भूखा हो तो माँ शर्म को भुला देती है।

बिना बताए ही वो हर बात जान जाती है, वो माँ ही तो अपनी दोस्त बन जाती है, अगर कोई मुसीबत आए तो ढाल बन जाती है, वो माँ ही है जो दुआ बन जाती है.

अगर तुम घर में बैठी हुई “माँ” को खुश रखोगे,तो मंदिर में बैठी हुई “माँ”अपने आप खुश हो जाएगी।

मुझे जन्नत का नहीं पता,क्योंकि हम माँ के क़दमों को ही जन्नत कहते हैं।

माँ बनना परिवर्तनकारी है। यह हमारे आस-पास सब कुछ बदल देता है, डर, दृष्टिकोण, इच्छाएं और सपने।

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकाँ आयी, मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आयी।

जनाब जिंदगी की किताब मेंसबसे हसीन पल मां का प्यार है.!!

रूह के रिश्तों की ये गहराइयाँ तो देखिये,चोट लगती है हमें और तड़पती है माँ,हम खुशियों में माँ को भले ही भूल जायें,जब मुसीबत आती है तो याद आती है माँ।

माँ से बड़कर कोई नाम क्या होगाइस नाम का हमसे एहतराम क्या होगाजिसके पैरों के नीचे जन्नत हैउसके सर का मक़ाम क्या होगा

माँग लूँ यह दुआ कि फिर यही जहाँ मिले,फिर वही गोद मिले फिर वही माँ मिले।

देखा करो कभी अपनी माँ की आँखों में, ये वो आईना है जिसमें बच्चे कभी बूढ़े नहीं होते !

मैंने माँ🤰 से पुचा कंप्यूटर 🖥️इतने स्मार्ट क्यूँ 😊 होते है 💥💥💥माँ🙏 ने जवाब दिया 😇कि कंप्यूटर अपने😌 मदरबोर्ड की🤩 सुनते है🔥🔥🔥

रुखसत घर से करती है वो लाख दुआएं देकरमान के दिल में मोहब्बत अपने जैसी रखती है

रूह के रिश्तो की यह गहराइयां तो देखिए, चोट लगती है हमें और दर्द मां को होता है।

सीधा साधा भोला भाला मैं तो सबसे सच्चा हूंचाहे कितना भी हो जाऊँ बड़ा पर माँ के लिए अभी भी तो बच्चा हूं

खूबसूरती की इंतहा बेपनाह देखीजब मैंने मुस्कराती हुई माँ देखी।

उनको कभी देखा नहीं हमनेऔर इसकी जरूरत भी क्या होगी,ये माँ तेरी सूरत से अलगउस भगवान की मूरत ही क्या होगी….!!

मेरे चेहरे पे ममता की फ़रावानी चमकती है, मैं बूढ़ा हो रहा हूँ फिर भी पेशानी चमकती है।

मुश्किल घड़ी में ना पैसा काम आया,ना रिश्तेदार काम आये,आँख बंद की तो सिर्फ मां याद आयी..!!

माँ के लिए ये दुनिया छोड़ देनाउसके दिल में कभी भी दुःख न देनाजो रोज़ दरवाजे पर खड़ी रहती हैबेटा घर जल्दी आ जाना

दवा असर ना करे तो नजर उतारती है माँ है जनाब वो कहाँ हार मानती है

एक हस्ती है जो जान है मेरी, जो जान से भी बढ़कर शान है मेरी, रब हुक्म दे तो कर दूं सजदा उसे, क्योंकि वो कोई और नहीं माँ है मेरी.

उसके ना होने से हम उदास जरूर होते हैं लेकिन उसके ख्वाब हमें सुकून पहुंचाते हैं. Maa Shayari यही बात आपको इस शायरी की मदत से समझने में आसानी होगी,

बंद मुकामो की कोई चाबी नहीं होती है.टूटे उम्मीदों की कोई डाली नहीं होती है.झुक जाओ अगर माँ के चरणों में तो.उसकी किस्मत कभी खाली नहीं होती है​।

लबों पे उसके कभी बद्दुआ नहीं होतीबस एक मां है जो मुझसे ख़फ़ा नहीं होती

तन्हाई क्या होती उस माँ से पूछो,जिसका बेटा घर लोट कर नही आया।

माँ मुझको लोरी सुना दोअपनी गोद में मुझे सुला लोवही चंदा मामा वालीसात खिलौनों वाली लोरीफिर से सुना दो

कला की दुनिया में कुछ भी ऐसा नहीं है जैसा मां गाती थी।

मां के इतने परोपकार हमारे जीवन में,कि हम अगर पूरा जीवन भी उन पर निसार कर दे,तो भी हमारी जिंदगी कम पड़ती है,मां के परोपकारओ को पूरा करने के लिए।

मां तो वो है जो अगर खुश होकर सर पर हाथ रख दे, तो दुश्मन तो क्या काल भी घबरा जाए।

कल माँ की गोद में, आज मौत की आग़ोश में,हम को दुनिया में ये दो वक़्त बड़े सुहाने से मिले।

एक दुनियां है।जो समझाने से भी नहीं समझती।एक मां थी ।जो बिना बोले सब समझती थी ।

रब से करू दुआ बार-बार हर जन्म मिले मुझे माँ का प्यार खुदा कबूल करे मेरी मन्नत फिर से देना मुझे माँ के आंचल की जन्नत।

माँ के लिए हम लिखते है, शान से, माँ के जैसा कोई नहीं इस जहान में।

माँ को खोने का दर्दबहुत ही दर्दनाक होता है,क्योंकि माँ के सिवायकोई भी अपना नहीं होता है..!

हालातो के आगे जब साथ न जुबा होती, पहचान लेती है खामोशी में हर दर्द, वो सिर्फ माँ होती है.

जब मुझे कहना भी नही आता था,मेरी माँ तब भी समझ जाती थी,की मैं क्या कहना चाहता हूँ,उसका प्यार अटूट है

दिल की गहराइयों से एक सबक सिखा हैं,बिना मां बाप के सारा जीवन फीका हैं

माँ तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ,थक गया हूँ मुझे अपने आँचल मे सुलाओ,उंगलियाँ अपनी फेर कर बालो में मेरे,एक बार फिर से बचपन कि लोरियां सुनाओ।

“घर में धन, दौलत, हीरे, जवाहरात सब आए,लेकिन जब घर में मां आई तब खुशियां आई..”

जब जब कागज पर लिखा, मैने माँ का नाम, कलम अदब से बोल उठी, हो गये चारो धाम.

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें है कितने, भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।

बद्दुआ संतान को इक माँ कभी देती नहीं, धूप से छाले मिले जो छाँव बैठी है सहेज।

तुम🤔 क्या सिखाओगे 🤗मुझे यार करने😊 का तरीका😇मैंने 🤰माँ के एक हाथ😜 से थप्पड़ और दुसरे 🤱हाथ से🤩 रोटियां खायी है🔥🔥🔥

सह के🙁 दुःख, हम पर🤩 सुख बरसाती है😊😊मां🤰 अपने बच्चों में, 🤱अपना सुख पाती है💥💥💥

आँसू निकले परदेस में भीगा माँ का प्यार,दुख ने दुख से बात की बिन चिट्ठी बिन तार।

मां तेरे दूध का हक़ मुझसेअदा क्या होगातू है नाराज तो खुश मुझसेखुदा क्या होगा

कभी मुस्कुरा दे तो लगता है जिंदगी मिल गयी मुझको, माँ दुखी हो तो दिल मेरा भी दुखी हो जाता है।

चूल्हे की तपती आग पर भी वो रोटियां बनाती है, वो माँ है जो इस तपती आग को परे रख, अपने बच्चो की भूख मिटाती है।

फुल कभी दोबारा नहीं खिलते, जन्म कभी दोबारा नहीं मिलता, मिलते है लोग हजार लेकिन हजारो गलतिया माफ़ करने वाले माँ-बाप नहीं मिलते.

अब भी चलती है जब आँधी कभी ग़म की ‘राना’ माँ की ममता मुझे बाहों में छुपा लेती है

एक माँ का दिल एक गहरी खाई है, जिसके तल पर आपको हमेशा माफी मिलेगी !!

हर गली, हर शहर, हर देश-विदेश देखा,लेकिन मां तेरे जैसा प्यार कहीं नहीं देखा।

फर्क नहीं पड़ता वह कितनी पड़ी लिखी है, मेरी माँ है जो मेरे लिए सबसे बड़ी है !

लोगों ने अक्सर मुझ से पूछा की भाई तुमनेजन्नत देखी है क्या मेने भी मुस्कुरा कर जबाबदिया की कभी तुमने घर में अपनी माँ देखी है।

जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए, कि मेरी माँ दिए से मेरे लिए काजल बनाती है।

कैसे भी हों हालात, वो खुद को ढाल लेती है,भूखे नहीं सोने देती, माँ बच्चे पाल लेती है।

Recent Posts