1912+ Ladki Ki Tarif Me Shayari In Hindi | लड़कियों की तारीफ के लिए शब्द, स्टेटस व शायरी

Ladki Ki Tarif Me Shayari In Hindi , लड़कियों की तारीफ के लिए शब्द, स्टेटस व शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: July 31, 2023 Post Updated at: June 8, 2024

Ladki Ki Tarif Me Shayari In Hindi : अपना चांद सा चेहरा देखने की इजाजत दे दो, इस खूबसूरत शाम को और सजाने की इजाजत दे दो। एक लाइन में क्या तेरी तारीफ़ लिखूं पानी भी जो देखे तुझे तो प्यासा हो जाये

वो बला की शोख़ी देखी है तेरी नज़रो मैं,वो हुस्न वो नजाकत वो बेकाबू जुल्फ की घटा।

इतना मत मुस्कुराओ कि फूल समझ जाएं, करे वो तुम्हारी सुंदरता की तारीफ़, तुम्हें उनकी नज़र लग जाएँ।

इजाज़त ही नहीं कुछ और हमको देखने की, अभी तो ख़्वाब आँखों में तुम्हारा चल रहा है..!!

क्या कशिश थी तुम्हारी आँखों मे,तुझको देखा और तेरा हो गया।

सुबह का मतलब मेरे लिए सूरज का निकलना नहीं,तेरी मुस्कराहट से दिन शुरू होता है मेरा

इन आँखो को जब जब उनका दीदार हो जाता है, दिन कोई भी हो लेकिन मेरे लिए त्यौहार हो जाता है ।

आज के टाइम पर लड़के बोलते है की लड़की को पटाना बहुत मुश्किल हो गया है और कोई लड़की उनको जल्दी भाव नहीं देती है, तो इसका सलूशन क्या है ?

सोचता हूँ हर कागज पे तेरी तारीफ करु, फिर ख्याल,आया कहीँ पढ़ने वाला भी तेरा दीवाना ना हो जाए।

कभी चांद को देखु, कभी देखु चेहरा तेरा.. दोनों ही बहुत खूबसूरत है, अब तारीफ़ करूँ तो किसकी।

ड्रेस का कलर और डिजाईन भी बहुत अच्छा है और आपके ऊपर बहुत सूट हो रहा है. ड्रेस आपके ऊपर बहुत खिल रहा है बस फिर क्या है वो लड़की बहुत खुश हो जाएगी.

जो सुरर है तेरी आंखें में,वो बात कहा मैखाने में,,बस तू मिल जाए फिर क्या रखा है मैखाने में।

अब हम समझे तेरे चेहरे पे तिल का मतलब, हुस्न की दौलत पे दरबान बिठा रखा है

क्या लिखूं तेरी तारीफ-ए-सूरत में यार, अलफ़ाज़ कम पड़ रहे हैं तेरी मासूमियत देखकर।

फिज़ाओ में रंग बिखेरे तुम्हारा चाँद सा चेहरा मुझे बेचैन कर जाये तुम्हारा मासूम चाँद सा चेहरा मेरी खातिर सँवरता है तुम्हारा चाँद सा चेहरा.

झुकी तेरी पलको पेआशियाना सजा लूंगातू बस हा बोलदे तोतुम्हे तुमसे ही चुरा लूंगा

शरीके-ज़िंदगी तू है मेरी, मैं हूँ साजन तेरा ख्यालों में तेरी ख़ुश्बू है चंदन सा बदन तेरा

अल्फाज खुशी दे रहे थे मुझे और, वो मेरे इश्क की तारीफ कर रही थी.

तेरा हुस्न जब से मेरी आँखों में समाया है,मेरी पलकों पे एक सुरूर सा छाया है।

जुल्फे बांधा मत करो तुम, हवाये नाराज़ रहती है।

तेरे होठों में भी क्या खूब नशा हैए सनम लगता हैतेरे झूठे पानी से ही शराब बनती है

एक खूबसूरत सी परी को हम दिल दे बैठे, मुझ बदनसीब के नसीब में कहां होगी वो, बस यही सोचकर इजहार किए बिना हार बैठे।

मुझे क्या मालूम था हुस्न क्या होता है, मेरी नज़रों ने तुझे देखा और अंदाजा हो गया.

ये आईने क्या दे सकेंगे तुम्हें तुम्हारी शख्सियत की खबर, कभी हमारी आँखो से आकर पूछो कितने लाजवाब हो तुम।

पाँव उठा कर गलें मिलती हैं मुझ सें,मोहतरमा कद में छोटी जो हैं मुझसें!!

एक इंच भी छोड़ने का मन नहीं करता……………!किसी झगड़े की ज़मीन सी लगती हो तुम………

हमें खुश करने के लिए आपकी एक मुस्कराहट ही बहुत है

हुस्न की तारीफ मुझे मालूम नही यारो ,मेरी नजर में हसीन वो है जो मेरा यार जैसा हो ।

उस हुस्न-ए-बेमिसाल को देखा न आज तक,जिस के तसुव्वरात ने जीना सिखा दिया।

कैसे ना हो इश्क, उनकी सादगी पर ए-खुदा,ख़फा हैं हमसे, मगर करीब बैठे हैं…

हर लड़की की अपनी अपनी अदा होती है लेकिन कुछ लड़कियों की अदा इतनी जबरदस्त होती है की सामने वाला लड़का पूरी तरह से उस लड़की की अदाओ पर फिदा हो जाता है.

हाय ये नज़ाकत ये शोखियाँ ये तकल्लुफ़, ये हुस्न,कहीं तू मेरी शायरी का कोई हसीन लफ्ज़ तो नहीं।

ना जाने क्या मासूमियत हैतेरे चेहरे में,तेरे सामने आने से ज़्यादातुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है..!!

तुम्हारी सुंदरता से रंगीन हो गया हर पल,तुम इतनी खूबसूरत हो कि दिल में बसते हो निहारने के लिए।

नज़र इस हुस्न पर ठहरे तो आखिर किस तरह ठहरे, कभी जो फूल बन जाये कभी रुखसार हो जाये.

जो समझे भी और समझाए भी,दुनिया में उस रिश्ते से प्यारा कोई रिश्ता नहीं।

अच्छे लगे तुम सो हमने बता दियानुक्सान हमारा हुआ तुम मगरूर हो गए

इतनी जालिम उसकी अदा है कि मेरा यहां हारना लाजमी है

तुम्हारी खूबसूरती मुझे अपनी ओर खींचती है,और मैं आँखों से देखता रहता हूँ तुम्हें हर वक्त।

खूबसूरती में उनकी कोई कमी तो होती, खुदा कसम वो फिर और ज्यादा खूबसूरत होती

पर लिख तो लिख कैसे तारीफ तेरे हुस्न की,कम्भक्त निगाहें तुझसे टोपी कागज पर खा ऐ।

फूलों से खूबसूरत कोई नहीं,सागर से गहरा कोई नहीं।अब आपकी क्या तारीफ करू,खूबसूरती में आप जैसा जैसा कोई नहीं।

बला है क़हर है आफ़त है फ़ित्ना है क़यामत हैहसीनों की जवानी को जवानी कौन कहता है।।

तुम्हारी सुंदरता दुनिया को एक नयी दिशा देती है,जो हर इंसान के दिल को छू जाती है।

आपके आने से ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है,दिल में बसाई है जो वो आपकी ही सूरत है।दूर जाना नहीं हमसे कभी भूलकर भी,हमे हर कदम पर आपकी ज़रूरत है।

तुझे पलकों पर बिठाने को जी चाहता है,तेरी बाहों से लिपटने को जी चाहता है,खूबसूरती की इंतेहा है तू…तुझे ज़िन्दगी में बसाने को जी चाहता है।

जिस दिन आप जमी पर आए,वो असमं भी खूब रोया था।अखिर उसके अंशु थमते भी कैसे,उसे हमारे लिए,,अपना सबसे प्यारा सितारा जो खोया था।

सब्र तहज़ीब है मोहब्बत की,और कुछ लोग समझने लगे बेज़ुबान है हम।

जब आप किसी दिन उसके साथ बहुत अच्‍छी शाम बिता कर आ रहें हों तो यह वाक्‍य बोलें। इस वाक्‍य को सुन कर उसे आपकी नज़र में स्‍पेशल होने का एहसास होगा।

एक ही झलक में दिल में घर कर जाए ऐसी सूरत है उनकी, जिससे भी मिले पल में अपना बना ले ऐसी सीरत है उनकी।

खूबसूरती के मायने क्या होते हैं, हमने कभी मापा नहीं, जब से तुम आए हो जिंदगी में, हमारे लिए तुमसा हसीन कोई नहीं।

उसे सजने की सवारने की जरूरत ही नहीं,उसपे सजती है हया भी किस गहने की तरह।

तारीफ करूँ तो कैसे छुपा सकूँ,तेरे हुस्न की बात ही कुछ और है।(Tarif karun to kaise chhupa sakun,Tere husn ki baat hi kuchh aur hai.)

ऐ सनम जिस ने तुझे चाँद सी सूरत दी है,उसी अल्लाह ने मुझ को भी मोहब्बत दी है।हैदर अली आतिश

काश वो खिड़की फिर एक बार हवा से खुल जाये, काश उनकी आँखों मेरी आँखों से एक बार फिर मिल जाये।

कहाँ से लाऊँ वो लफ्ज़ जो सिर्फ तुझे सुनाई दे , दुनियाँ देखे अपने चाँद को मुझे बस तूही दिखाई दे ।

हुस्न के समझने को उम्र चाहिए जानाँ,दो घड़ी की चाहत में लड़कियाँ नहीं खुलतीं।परवीन शाकिर

कुछ नशा तो आपकी बात का हैकुछ नशा तो आधी रात का हैहमे आप यूँ ही शराबी ना कहियेइस दिल पर असर तो आप से मुलाकात का है

हम हार चुके सब कुछ एक दिल को हार के, मेरी याद को रखना मेरे साथी संभाल के.

आसमा मे खलबली है सब यही पूछ रहे हैंकौन फिरता है ज़मी पे चाँद सा चेहरा लिए !

जीना चाहा तो जिनद्गी से दूर थे हम…!! मरना चाहा तो जीने को मजबूर थे हम..!!

उनके बिना रह पाना अब नामुमकिन सा लगता है, वो बन गए हैं मोहब्बत हमारी ऐसा लगता है।

सरकार गुस्ताखी होती है तो हो जाने दो… एक सुबह-रात मुझे साथ बिताने दो…

और बात जाहिर है दोस्तों अगर कोई खूबसूरत है और उसकी तारीफ ना करें तो मजा नहीं आता क्योंकि खूबसूरती की तारीफ हमेशा करता ही रहना चाहिए।

तेरी आँखों के खूबसूरती में डूब जाऊ मै.धीरे धीरे तेरी तारीफ करता चला जाऊ मै.

कुछ फिजायें रंगीन हैं, कुछ आप हसीन हैं, तारीफ करूँ या चुप रहूँ जुर्म दोनो संगीन हैं।

अपनी नजरों के असर से वो अंजान हैं, जो मरने वाले को भी जीने की चाह सिखा देती है।

उसके हाँथो की हिना से मेरे इश्क़ की खुशबू आये,मैं उसे चाहूंगा इतना कि मेरे बाद भी उसको हिचकी आये

तारीफ मुझे करना नहीं आता, बस जब भी देखू तुझको तेरे ऊपर फ़िदा मै हो जाता.

इस प्यार का अंदाज़ कुछ ऐसा है क्या बताए ये राज़ कैसा है लोग कहते है आप चांद जैसे हो मगर सच तो यह है की चांद आपके जैसा है।

मेरे दर्द का जितना अफ़सोस है दुनिया को मौला उतना दुआए कर देते तो शायद तकदीर बदल जाती।

क्युकी में तुम्हे वैसे ही पसंद किया है जैसे तुम होकल तुम्हारा तारीफ करना अच्छा लगता था तोहआज दूर रहना,रुक जाना यह भी सही है।

अपनी ज़िन्दगी की answer sheet को खुद जांचिए,लोग अपने हिसाब से जाचेंगे तो fail ही करेंगे।।

Recent Posts