1292+ Krishna Bhakti Shayari In Hindi | श्री कृष्णा पर शायरी इन हिंदी

Krishna Bhakti Shayari In Hindi , श्री कृष्णा पर शायरी इन हिंदी
Author: Quotes And Status Post Published at: August 25, 2023 Post Updated at: November 5, 2023

Krishna Bhakti Shayari In Hindi : मन की आँखों को जब तेरा दीदार हो जाता है,मेरा तो हर दिन प्रिय मोहन त्यौहार हो जाता है। एक तरफ साँवले कृष्ण, दूसरी तरफ राधिका गोरीजैसे एक-दूसरे से मिल गए हों चाँद-चकोरी

माखन चुराकर जिसने खाया.. बंसी बजाकर जिसने नचाया.. ख़ुशी मनाओ उसके जन्म की. . जिसने दुनिया को प्रेम सिखाया !!

एक तरफ साँवले कृष्ण, दूसरी तरफ राधिका गोरी जैसे एक-दूसरे से मिल गए हों चाँद-चकोरी।

रख लूँ नजर मे चेहरा तेरा,दिन रात इसी पे मरती रहूँ..जब तक ये सांसे चलती रहे,मे तुझसे मोहब्बत करती रहूँ..!!…मेरे कान्हा मेरी दुनिया…!!

रंग बदलती दूनियाँ देखी देखा जग व्यवहार,दिल टूटा तब मन को भाया ठाकुर तेरा दरबार….

किस्मत में जो लिखा होता है🙂 वो तो सबको मिलता है💎 पर जो किस्मत में नही लिखा होता है🔥 वो ”श्रीकृष्ण के दरबार” में मिलता है🛕 जय श्री कृष्ण🙏

कहीं कोई कहे छोड़ो, ना सताओ मोरे कान्हा मन ही मन प्रीत करे, सब तुझसे सुन कान्हा

न चाँद की चाहत, न तारों की फरमाइश, हर जनम कान्हा की भक्ति मिले, बस यही मेरी ख्वाइश।

आपके बांसुरी की सुरीली धुन में मगन हूँ,हर ताल में छुपा है मेरा प्रेम और आस्था।

हे कान्हा! साँसों की तरह शामिल हो तुम मुझमें… मुझमें समाय हो मगर ठहरते नहीं..!

तेरी मोहब्बत की राह पे चलता हूँ, कृष्णा के चरणों में धरता हूँ, राधा के प्यार का रंग चढ़ा है मन में, तू ही मेरा कान्हा, तू ही मेरी जान हूँ।

रूप बड़ा प्यारा है चेहरा बड़ा निराला है बड़ी से बड़ी मुसीबत को कन्हैया जी ने पल मे हल कर डाला है…।।

गज़ब के चोर हो कान्हा,चोरी भी करते हो औरदिलो पर राज़ भी.

जब दुःख छाया छूटी न थी, अँधेरा था सब क्या।तब आया मेरे जीवन में, श्याम सांवरिया।

पीर लिखो तो मीरा जैसी,मिलन लिखो कुछ राधा सा,दोनों ही है कुछ पूरे से,दोनों में ही वो कुछ आधा सा..जय श्री कृष्णा💞

छुपाते है लोग मोहब्बत को बदनामी की तरह, वो इश्क़ ही क्या जो नाचे ना बाँध घुँघरू मीरा की तरह.

कान्हा को राधा ने प्यार का पैगाम लिखापूरे खत में सिर्फ कान्हा-कान्हा नाम लिखा

वो राधा की तरह है साथ मेरेख़यालों में वो मेरी रुक्मणी है

हर पल आंखों में पानी हैंक्योंकि चाहत में रुहानी हैंमैं हूँ तुझसे, तू हैं मुझसे,अपनी बस यही कहानी हैं।

कान्हा की मुरली से एक ही धुन बाजे है,हाल ना पूछों मोहन का सब राधे-राधे है.

अधूरा है इश्क मेरा तेरे नाम के बिना, जैसे अधूरी है राधा श्याम के बिना !!

जहर के जाम में फिर श्याम नजर आएगा, कोई बौराय तो इस दौर में मीरा की तरह.

बाजार के रंगो में रंगने की मुझे जरुरत नही मेरे कान्हा की याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है।

कितने सुंदर नैन तेरे ओ राधा प्यारी, इन नैनों में खो गये मेरे बांकेबिहारी। Click To Tweet

जब इंसान को गंदे और मैले कपड़ों में शर्म आती है तो, गंदे और मैले विचारों में भी आनी चाहिए..

माखन चुराकर जिसने खाया,बंसी बजाकर जिसने नचाया,ख़ुशी मनाओ उनके जन्मदिन की,जिसने दुनिया को प्रेम का अर्थ समझाया..🌹

राधा की कृपा,कृष्णा की कृपा,जिस पे हो जाए,भगवान को पाए,मौज उड़ाए…!!सब सुख पाए…!!💛

कर्तव्य पथ पर जाते-जाते केशव गये थे रूक, देख दशा राधा रानी, ब्रम्हा भी गये थे झुक।।

यदि प्रेम का मतलब सिर्फ पा लेना होता,तो हर हृदय में राधा कृष्ण का नाम नही होता..!!

यदि प्रेम का मतलब सिर्फ पा लेना होता, तो हर हृदय में राधा-कृष्ण का नाम नही होता।

मत रख अपने दिल मेंइतनी नफरते ऐ इंसान,जिस दिल में नफ़रत हो,उस दिल में मेरा श्याम नहीं रहता.

अंत काल में जो मनुष्य मेरा स्मरण करते हुए, देह त्याग करता है वह मेरी शरण में आता है। इसलिए मनुष्य को चाहिए कि अंत काल में मेरा चिंतन करें।।

भक्ति की इस काव्यगंगा को अपने लेखन से

Pyaar दो आत्माओं का मिलन होता है ठीक वैसे ही जैसे,प्यार में कृष्ण का नाम राधा और राधा का नाम कृष्ण होता है।

राधा के दिल की चाहत है कृष्ण,राधा की विरासत है कृष्णा,कितने भी रास रचा ले कृष्णा,फिर भी दुनिया कहेगी राधेकृष्णा…🧡

सखी राधा जहां जहां श्री कृष्ण वहां वहां हैंजो हृदय में बस जाएं वो बिछड़ता कहां है।।🌺🌺

जो प्रेम की पूजा करते है, राधा-कृष्ण उनके हृदय में बसते हैं.

प्रेम की भाषा बड़ी आसान होती हैं.राधा-कृष्ण की प्रेम कहानी ये पैगाम देती हैं.

राधा मुरली-तान सुनावें,छीनि लियो मुरली कान्हा से.कान्हा मंद-मंद मुस्कावें,राधा ने धुन,प्रेम की छेड़ी.कृष्ण को तान पे,नाच नचावें.जय श्री राधे कृष्णा

प्रेम को समझने के लिए मीरा सा होना पड़ेगा, कभी अश्क छुपाने पड़ेंगे तो कभी जहर पीना पड़ेगा.

राधा सच्चे प्रेम का मिलता यह ईनाम. कान्हा से पहले लिया जग ने तेरा नाम.. जय हो राधा श्याम !!

अधूरा  हैं मेरा इश्क तेरे नाम के बिना, जैसे अधूरी हैं राधा श्याम के बिना।

डूबे ना वो नैया,चाहे तूफान आए या सुनामी,जिसकी नांव का मांझी,खुद है “शीश का दानी”..जय श्री श्याम….!💜

आस के दिए जलाकर बैठी है राधामेरे श्याम कब आओगेदीदार को नैन तरस रहे हैंअब तो बताओ कब आओगे…

सच्चे प्रेम का अंतिम लक्ष्यसिर्फ विवाह के बंधन में बंधना होतातो आज राधा की जगहरुक्मणी का नाम होता!..राधे राधे… राधे राधे…

रोशन है मेरी दुनिया तेरी पनाहो मेमुझे सारी उम्र रखना अपनी निगाहो मे

रंग बदलती दुनियाँ देखी, देखा जग व्यवहार, दिल टूटा तब मन को भाया ठाकुर तेरा दरबार।

मुझे रिश्तों की लम्बी कतारों से क्या मतलब कोई दिल से हो मेरा, तो एक कृष्ण ही काफ़ी हैं।

जो पाप का रास्ता छोड़ देते हैं, मेरे कान्हा उसे खुद से जोड़ लेते हैं।

भजन का ही महत्व है और उसीका वजन विभु को भी तौलने में समर्थ है। एक पत्ता समर्पण स्वरूप तुलसी का।

प्रेम किया है तुमसे राधे बेफिक्र रहो नाराजगी हो सकती है पर नफरत नहीं। prem kiya ha tumse radhe befikar raho narajgi ho sakti hai par nafrat nahi.

जब तकलीफ़ हो जीने में, तोश्री कृष्ण”को बसा लो सीने में.

प्यार मे कितनी बाधा देखी, फिर भी कृष्ण के साथ राधा देखी.|

इंसान का नसीब उतनी बार बदलता है, जितनी बार वो भगवन को याद करता है| जय श्री राधे कृष्णा।

प्रेम की भाषा बड़ी आसान होती हैं, राधा-कृष्ण की प्रेम कहानी ये पैगाम देती हैं।।

कृष्ण की प्रेम बाँसुरिया सुन भई वो प्रेम दिवानी,जब-जब कान्हा मुरली बजाएँ दौड़ी आये राधा रानी.जय श्री राधे कृष्ण (Jai Shree Radhe Krishna)

श्री कृष्ण के कदम आपके घर आये आप खुशियो के दीप जलाये परेशानी आपसे आँखे चुराए कृष्ण जन्मोत्सव की आपको शुभकामनायें…।।

किसी के पास ego हैं, किसी के पास attitude हैं, मेरे पास तो मेरा साँवरा हैं, वो भी बड़ा cute हैं।

मधुवन में भले ही कान्हा किसी गोपी से मिले,मन में तो राधा के ही प्रेम के है फूल खिले.प्रेम से बोलो राधे-राधे | Prem Se Bolo Radhe-Radhe

नंदलाल तेरी बांसुरी कमाल कर गईजिस जिस ने उसकी धन सुनीउसे बेहाल कर गई…

नसीब में कुछ रिश्ते अधूरे ही लिखे होते हैं लेकिन उनकी यादें बहुत खूबसूरत होती है।

बहुत खूबसूरत हैं मेरे ख्यालों की दुनिया, बस कृष्ण से शुरू और कृष्ण पर ही खत्म। Click To Tweet

बाजार के रंगो में रंगने की मुझे जरुरत नही, मेरे कान्हा की याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है।।

मेरे प्यारे सांवरिया,तेरी फूल सी फितरत, मेरा काटेंदार वजूद.तो क्यों ना मिलकर हम गुलाब हो जाएं..राधे राधे

दिन में भी तुम याद आते हो, रात में भी तुम याद आते हो, कभी-२ इतना याद आते हो की, आइना हम देखते हैं और आप ही आप नज़र आते हो…!

कोई प्यार करे तो राधा-कृष्ण की तरह करेजो एक बार मिले, तो फिर कभी बिछड़े हीं नहीं

छोड़ा सबका दामन हठयोग में तुम्हारे मेरी साँसे उखड़ रही वियोग में तुम्हारे लौट आओ मोहने किस बात पे अड़े हो मूर्त बनकर बस मंदिर में क्यों खड़े हो…।।

भाव बिना बाज़ार मै वस्तु मिले न मोल,तो भाव बिना “हरी ” कैसे मिले,जो है अनमोल.

सुध-बुध खो रही राधा रानी इंतजार अब सहा न जाएजल्दी कह दो सावरे से वो तुरंत राधा के पास आएँ

इन आंखो को जब तेरा दीदार हो जाता है,मेरा तो हर दिन सांवरे त्योहार हो जाता है।

रख लूँ नजर मे चेहरा तेरा,दिन रात इसी पे मरती रहूँ.जब तक ये सांसे चलती रहे,मे तुझसे मोहब्बत करती रहूँ.मेरे कान्हा मेरी दुनिया

बाजार के रंगो में रंगने की मुझे जरुरत नही,मेरे कान्हा की याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है.

तेरे प्यार की मिठास भरी है ये जिंदगी, कृष्णा के आगे सब कुछ है विनम्र, राधा के प्रेम का रंग लिया है ये मन, तेरे प्यार के साथ चल रही हैं ये संसार।

Recent Posts