625+ Khayal Shayari In Hindi | ख्याल शायरी

Khayal Shayari In Hindi , ख्याल शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 27, 2023 Post Updated at: June 22, 2024

Khayal Shayari In Hindi : उसके बगैर भी तो अदम कट गई हयात,उसका खयाल उससे जियादा जमील था। ख्याल आते ही उनकाख़ुशनुमा हो जाती है,फ़िज़ा हर लम्हा उनकी उन्हीं यादों काओढे़ लिबास रहता है.

करता हु वादा तुझसे चाहूंगा ज्यादा खुद सेख्याल रखूंगा तेरा ये पक्का वादा है तुझ से।

खुद को तेरी मदद के लिए हर पल तैयार रखता हूँ मैं, अपने ख्यालों में भी तेरा ख्याल रखता हूँ मैं।

तेरे साथ गुजरा लम्हा जब भी याद आएगा,इस जनम के बाद भी तेरा ख्याल लाएगा,अगर बक्शी बार -बार ज़िन्दगी खुदा ने,तुझसे दोस्ती करना ये दिल हर बार चाहेगा.

हस्ते चेहरे को रुला देती है खुशियों में ज़हर मिला देती है यादें ना हो तो ही अच्छा है यादें बन्दे को क्या से क्या बना देती है

अपनी तो हमे खबर तक नहीं, हमे तो बस उसका ख्याल है।

इंसान की ख़ामोशी ही काफ़ी है,ये बताने के लिये की वो अंदर से टूट चूका है.

बिना उनके एक पल भी गवारा नहीं, पिता ही साथी है,पिता ही सहारा है, पिता ही खुशियों का पिटारा है।

हसाना कैसा होता है रुलाना कैसा होता है पहली मोहब्बत को भूलना कैसा होता है मिलकर बिछड़ना तो रिवाज़ ही है अब ख्वाबों को यादों से मिलाना कैसा होता है

खामोश बैठा था फिर मुस्कुराने लगा तुम्हारी याद किसी दिन मुझे पागल बना देगी

माफ़ करना मुझे तुम्हारा प्यार नही चाहिये,मुझे मेरा हँसता खेलता दिल बापस कर दो.

मुहब्बत मेरी भी बहुत असर करती है याद आएंगे बहुत जरा भूल के देखो। Mohabbat Meri Bhi Bahut Asar Karti Ha Yaad Aayenge Bahut Jara Bhool Ke Dekho.

सुकून ज़िन्दगी में इसलिए भी है क्योंकि धोखा सिर्फ मिला है दिया नहीं कभी

बेहद ख्याल रखा करो तुम अपना मेरी आम सी ज़िन्दगी में बहुत ख़ास हो तुम। Behad khyal rkha karo tum apna meri Aam si zindagi me bahut khas ho tum.

तुम्हारी याद मेरे ख्याल से ब्याही हुई है,खुदा करे ये जोड़ी हमेशा सलामत रहे.

मोहब्बत कभी झूठी नही होती है,झूठे तो कसमे, वादे और लोग होते हैं.

नींद नहीं आती कुछ यादें ऐसी हैं कुछ यादों ने हमें हमसे छीन रखा है

न जाने कौन सा आँसू मेरा राज़ खोल दे..,हम इस ख़्याल से नज़रें झुकाए बैठे हैं.

सब सही करके भी गलत हूँ मैं ये कैसी तेरी फरियादें हैं मैंने दिल का कमरा जला दिया यहाँ फिर भी तेरी यादें हैं

दुआ करो जो जिसे मोहब्बत करे वो उसे मिल जाये,क्योंकि बहुत रुलाती है ये अधूरी मोहब्बत.

एक ख्याल ही तो हूँ मैं ,याद रह जाऊँ तो याद रखना,वरना सौ बहाने मिलेंगेभूल जाना मुझे.

सब कुछ मिला सुकून की दौलत नहीं मिली,एक तुझको भूल जाने की मौहलत नहीं मिली,करने को बहुत काम थे अपने लिए मगर,हमको तेरे ख्याल से कभी फुर्सत नहीं मिली।

कान खोल कर सुन लो जान लड़ेंगे झगड़ेंगे लेकिन सोयेंगे साथ में ही जान। Kan khol kar sun lo jaan ladenge jhagdenge lekin soyenge sath me hi jaan.

उसके सिवा कुछ नहीं इस दिल में अब उसको भी भुला दूँ तो याद क्या रखूं

इश्क करना तो हर किसी को आता है लेकिन ख्याल सिर्फ सच्चा आशिक रखता है Ishq Karna To Har Kisi Ko Aata Hai Lekin Khayal Sirf Saccha Aashiq Rakhta Hai

के दुवा में तुझे मांगा हैख्वाबों में तुझे अपना बनाया हैतुम अपना ख्याल रखनाके हकीकत में तुझे पाना है।

इश्क़ की बारिश में भीग रहे हैं वो इक हम हैं जो यादों में जल रहे हैं

न जाने बेटी की खुशी के लिए कितने सामानों को जोड़ते हैं पिता,बेटी को सुखी करने के लिए न जाने कितने चक्रव्यूहों को तोड़ने हैं पिता।

सच्चा मेहबूब नसीबों से मिलता है या फिर नसीब में सिर्फ यादें ही रह जाती है

जिस मंजिल और खुशी का सपना हम देखते हैं, उसे पूरा सिर्फ पाप ही करते हैं।

कब तक रखे हम किसी को अपने ख्यालों में,अब किसी के ख़यालो में आने को जी चाहता है.

धीरे से लबों पेपिघला है यह सवाल.तू ज़्यादा ख़ूबसूरत.. हैया तेरा ख़्याल.

बोझ कितना भी भारी हो, कभी उफ नहीं करता है पिता, बच्चों की ख्वाहिशों के बोझ से कभी उसका कंधा नहीं झुकता है।

जिसने हर दुआ में मेरी कामयाबी मांगी, वह है मेरे पिताजी।

मेरी जिंदगी का पहला और आखिरी सच्चा दोस्त हैं मेरे पापा।

आता कोई नहीं अब दिल-औ-दिमाग में मेरे, तेरी यादों और तेरे ख्यालों के सिवा।

हंसते हैं, हंसाते हैं, जब रूठ जाता हूं, तो मुझे मनाते हैं पापा।

सुबह ख़ूबसूरत है या तुम्हारा ख़याल,जो भी है ख़ुदा क़सम बस है लाजवाब.

ज़िम्मेदारी का काम है यादें संभालना ये बोझ हर कोई उठा नहीं सकता

वो दूसरों का बहुत ख्याल रखते है जिनका कोई ख्याल रखने वाला नहीं होता।

किसी की याद दिल में आज भी है,वो भूल गए मगर हमें प्यार आज भी है;हम खुश रहने की कोशिश तो करते हैं मगर,अकेले में आंसू बहते आज भी हैं.

कभी अपनों को भूलाना ना आया;किसी के दिल को दुखाना ना आया;दुसरो की याद में तड़फन्ना तो सिख लिया;अपनी यादो में किसी को तड़फ़ाना ना आया.

बेटी जैसे-जैसे बड़ी होती है,पिता खुद को बेटी के और करीब पाता है।इसीलिए तो बेटी के जाने के बाद,सबसे ज्यादा गम पिता को होता है।

लिख दूं वो अल्फ़ाज़ हो तुमसोच लूं वो ख्याल हो तुम,

मेरे अजीज हो आप, मेरे सबसे अच्छे दोस्त हो आप,हर इच्छा पूरी करने वाले, खुदा से बढ़कर हो पापा आप।

ससुराल में सबने पूछा बहु दहेज में क्या-क्या लाई है,पर क्या किसी ने कभी पूछा, तू अपने पीछे बाबा का प्यार छोड़ आई है।

हमारी खुशियों के लिए जो हर दम अपनी खुशियां कुर्बान करता है, वह पिता ही तो है।

क्या कहूँ, मेरा जो हाल है,रात दिन, तुम्हारा ही खयाल है.

एक हल्की सी तेरी मुस्कान मेरे हर दर्द को सुकून दे जाती है। EK Halki si teri muskan mere har dard ko sukun de jati hai.

बेशक वो खूबसूरत तो वो आज भी है,लेकिन वो मुस्कान नही है,जो हम तेरे चहरे पर लाया करते थे.

ख्याल रखा करो अपनामेरी जान तुझ में बसती हैतुझे देखने को मेरी जानये आंखें हर वक्त तरसती है।

दिल के हर कोने में है आपके होने का आभास,गालों पर आपके हाथों की वह थपकी,दूर रहकर भी कराती है आपके पास होने का एहसास।

सब खरीद सकते हो मतलब की इस दुनिया में, मगर कहां से खरीदोगे पिता का निःस्वार्थ प्यार।

वाह मिलिंद जी आपकी आवाज़ तो शायरिसुकून का सुकून है बहोत ख़ूब..

जिसे याद कर लेने सेहोंठों को हँसी छू जाये,एक ऐसा ही खूबसूरतमेरे दिल का खयाल हो तुम.

मिलकर बिछड़ना तो रिवाज़ है अब फैसला तुम्हारा हो तो हमें अच्छा लगेगा बुरे वक़्त में काम आऊं या ना आऊं मुझे याद कर लेना तुम्हें अच्छा लगेगा

कभी गुस्सा, तो कभी प्यार, यही है पापा के प्यार की पहचान।

रूठने मनाने के सिलसिलों में रखना ख्याल,कहीं मोहब्बत दम न तोड दे.

तेरे ख्याल जब से आने शुरू हुए हैं, हमने किसी से मिलने जाना ही बंद कर दिया है।

यादों के भरोसे बैठा ये कोई बात थोड़ी है कल भी सवेरा होगा दोस्त सिर्फ ये रात थोड़ी है

एक पिता, भगवन के द्वारा बनाई गई ATM मशीन है।

वो रात तो मेरी थी मगर उसमे ख्याल सिर्फ उसका था।

बेहद ख्याल रखा करो तुम अपना मेरी आम सी ज़िन्दगी में बहुत ख़ास हो तुम। Behad khyal rkha karo tum apna meri Aam si zindagi me bahut khas ho tum.

पिता से बड़ा दोस्त दुनिया में कोई नहीं होता है।

यूँ तो आता-जाता कुछ भी नहीं मुझे, मगर हाँ तेरा ख्याल आता है।

मत कर तु मुझसे मोहब्बतहक़ है तुझको,फिर भी उम्र भर तेराखयाल दिल से ना जाने दूंगा.

सौ बात की एक बात मुझे चाहिए बस तेरा साथ। So bat ki ek bat mujhe chahiye bas tera sath.

हिफाजत करू तेरीये मेरा जिम्मा हैतु अपना ख्याल रखातु मेरी अमानत है।

पिताजी की शिक्षा और सबक ही जिंदगी की असली नींव होती है।

जब किसी की बाते आप के साथ छोटी हो जायें,तो समझ जाओ की वो कहीँ और लम्बी हो रही हैं.

रात कई बुरे ख्याल लेकर आती हैदिल में दबे कुछ सवाल लेकर आती हैअक्सर नींद नहीं आती मुझे इन उलछनो मेंमैरी नाकामयाबी मैं मिले ताने हजार लेकर आती हैं

ख्याल-ए-इश्क़ बसआपका ही आता है,ना जाने आपसे हमारा,कौन से जन्म का नाता है?

अभी तो दिल कर रहा हैकि बस सो जाऊं,तेरे ख्यालों के घने जंगल मेंखो जाऊँ.

Recent Posts