2150+ Kasam Shayari In Hindi | कसम पर शायरी

Kasam Shayari In Hindi , कसम पर शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: October 2, 2023 Post Updated at: October 25, 2023

Kasam Shayari In Hindi : कसम से बहुत सताते हो तुम,अक्सर बिना आवाज, बिना दस्तक, दबे पाँव,मेरे ख्यालों में चले आते हो तुम… हम तुम्हे कभी खोना नहीं चाहते,कसम खुदा की तुम्हारे सिवा,हम किसी और के होना नहीं चाहते…

कल रात मुझे इश्क़ हुआ और आज मेरा ख़ुदा बदल गया..!! *************************************

वक्त🕐 ही तो 😜है बदल जाएगा, 👍आज तेरा 👍है कल मेरा 🤟होगा😇😇😇

जिस तरह मैंने तुझें चाहा,कोई और चाहे तो भूल जाना मुझें…Jis tarah maine tujhe chaha,Koi aur chahe toh bhool jana mujhe…

दीवानों की बातें भला कोई समझे तो कैसे दीवानों का कभी कोई दीवाना हुआ है क्या!!!

“सफल इंसान की कहानी भी वही होती है,बस लिखने का अंदाज अलग होती है।”

ख्वाइशों✊ का कैदी हूँ,😇मुझे 👍हकीक़ते सज़ा😱 देती है,आसान 😒चीजों का🤟 शौंक नहीं ❌मुझेमुश्किलें ✊मज़ा देती है😇😇😇

याद आती है तो ज़रा खो जाते हैं;आँसू आँखों मे उतार आए तो रो जाते हैं;नींद तो आती नही आँखो में;लेकिन ख्वाब में आप आओगे, सोचकर सो जाते हैं.

हमारी🤟 शराफत का 😇फायदा उठाना ✊बंद कर दो ❌, जिस दिन 😦हम बदमाश हो 😯गए… कयामत 🤩आ जाएगी🔥🔥🔥

बेहद नाम होगा जबहद पार आपका काम होगा !

👉तूने मेरी बेताबी देखी है अब मेरा सब्र देख मैं इतनी चुप 🙅 हो जाऊँगी कि तुम चीख उठोगे…

“सफलता तक पहुंचने के लिए असफलता के गलियों से होकर गुजरनी पड़ती है I”

उसके होंठों को चूमा तो अहसास ये हुआ , ~ एक पानी ही ज़रूरी नहीं प्यास बुझाने के लिए !

हमारे♥️ इश्क ने मशहूर 🤟कर दिया तुझे🤨 ऐ बेवफा💔नहीं तो 😯तू सुर्खियों में🤨 रहे, इतनी औकात 🤟नहीं❌

ये शीशे ये सपने ये धागे किसे क्या खबर है कहाँ टूट जाये मोहब्बत के दरिया में तिनके वफ़ा के ना जाने किस मोड़ पर डूब जाये!

“इतना काम करिये कि काम भी आप का काम देखकर बोले, वाह क्या काम है I”

जिसके बिना मैं अपनी जिंदगी कीकल्पना भी नहीं कर सकता,ऐसा अकल्पनीय विकल्पयानी मेरी “माँ”

जिसमे जितना सबर होगा, उसकी दुआओ में उतना असर होगा।

“दुनिया में रहने की सबसे अच्छी दो जगह, एक तो किसीके दिल में या तो किसीके दुआओं में।”

बिछड़ते वक़्त कोई बदगुमानी दिल में आ जाती उसे भी गम नहीं होता मुझे भी गम नहीं होता

मेरी खामोशियो का कोई मोल नहीं ~ उनकी जिद्द की कीमत ज्यादा है…

मेरी किस्मत में कभी भीदुख नाम का शब्द नहीं होता,अगर किस्मत लिखने वालीमेरी माँ होती तो।

तो ये तय है के अब उम्र भर नहीं मिलना ~ तो फिर ये उम्र ही क्यूँ गर तुझसे नहीं मिलना…

बात ये नहीं कि तेरे बिना जी नहीं सकते ~ ज़िद ये हैं कि तेरे बिना जीना नहीं हमें!!!

मेरी किस्मत में नहीं था तमाशा करना, बहुत कुछ जानते थे मगर ख़ामोश रहे।।

“कुछ लोगों को लगता है कि कई लोग इत्तफाक से इतने बड़े बन गए हैं, लेकिन उनको ये पता ही नहीं कि इत्तफाक के लिए मेहनत की गलियों से होकर गुजरना पड़ा है I”

किस किस का नाम लूँ अपनी बर्बादी में, कई अपनों की दुआएं भी हैं मेरे साथ

हम जले तो सब चिराग समझ बैठे,जब महके तो सब गुलाव समझ बैठे,मेरे लफ्जों का दर्द किसी ने नहीं देखा,शायरी पड़ी तो शायर समझ बैठे.

मोहब्बत की महफ़िल में आज मेरा ज़िक्र है, अभी तक याद हूँ उसको खुदा का शुक्र है।

एक जरूरत छुपी होती है, ~ जब कोई कहता है ‘मुझे एकेला छोड़ दो…

इसी कशमकश में कट जाती है हर रात, कि शायद आने वाली सुबह कुछ खुशियाँ लेकर आएगी

ला-हासिल ही सही मगर ~ मोहब्बत तुझ से ही है

बस अपना ही गम देखा है… तुने कितना कम देखा है…

अपनी 🤟 औकात में 🤟रहना सीख बेटा.👍वर्ना😥 जो हमारी🤟 आँखों में😇 खटकते है,वो😯 श्मशान में 🤨भटकते है.🔥🔥🔥

नख़रे तो सिर्फ माँ-बाप उठाते है ~ लोग तो बस उंगलियाँ उठाते है.

मोहब्बत 😂 किसे कहते है मुझे नही मालूम , 😱 शायद ये वो रिश्ता है, जो मेरा उससे 😡 उसका किसी और से है…..!!

जिंदगी देने वाली भी माँ है,पहली शिक्षक भी माँ है,पहली दोस्त भी माँ है,माँ से बड़ा कुछ नहीं है।

बंद कमरे में रखे गमले नमी को तरस गए ~ बाहर सड़क पे ढेर से बादल बरस गए!!!

आँखे हँसती हैं, मग़र दिल ये रोता है,जिसे हम अपनी मंजिल समझे हैं,उसका हमसफ़र कोई और ही होता है.

बहुत भीड़ हो गई तेरे दिल में ~ अच्छा हुआ हम वक्त पर निकल गए!

थोड़ा सब्र कर मेरे भाईउड़ेंगे मगर अपने दम पर…!

“हर कोई जन्म से ही किसी ना किसी काम में चैम्पियन होता है, बस पता चलने की देर होती है I”

“मेहनत की चाबी से ही सफलता का ताला खुलता है।”

हम वो हैं जो तुमकभी बन नही सकते।

सुकून ऐ दिल के लिए कभी हाल तो पूँछ ही लिया करो, मालूम ~ तो हमें भी है कि हम आपके कुछ नहीं लगते…

बस इक ख़ता की मुसलसल सज़ा अभी तक है, ~ मेरे ख़िलाफ़ मिरा आईना अभी तक है…

कहाँ क़िस्मत में इस की फूल होना ~ वही दिल की कली है और हम हैं

अपना कोई मिल जाये तो हम फूट के रो लें ~ सब गैर हैं तो हंस के गुजर जायेगी…

कभी भूल से भी मत जाना मुहब्बत के रास्तों से ~ यहाँ साँप नहीँ हम सफर डसा करते हैँ!

तू चेहरे की बढ़ती सलवटों की परवाह ना कर, हम लिखेंगे अपनी शायरी में हमेशा जवाँ तुझको..! *************************************

वक्त तो आने दो, हम तुम्हेबताएंगे तूफान कैसे आता है!

कोई ❌नहीं दे सकेगा 😥तुम्हें चाहत हमारी♥️ तरहहमारे 😱बाद कहती 😣फिरोगी हमे चाहो♥️ उसकी तरह😇😇😇

मंजिल भी उसी की थी रास्ता भी उसका था,एक हम अकेले थे काफ़िला भी उसका था,साथ-साथ चलने की कसम भी उसी की थी,और रास्ता बदलने का फ़ैसला भी उसका था…

बड़े🤨 मतलबी निकले 😬सभी😅जिनको 😯यार बना 👍के रखा था😌 कभी

उन्होंने छोड़ जाने काइरादा कर लिया थामेरे दिल को तोड़ने काइरादा कर लिया थाअब लगाकर किसी और की हाथो में मेहंदीउसने मुझसे दूर जाने काइरादा कर लिया था।

माँगा था थोड़ा सा उजाला जिंदगी में,पर चाहने वालो ने तो आग ही लगा दी.

कुछ रिश्तो में मुनाफा नहीं होता पर ज़िन्दगी को अमीर बना देते है

अपनी नजर मे अच्छे रहोदुनिया का नजरिया ही खराब है !

ना कर जिद अपनी हद मे रह ए दिल, वो बड़े लोग है मर्जी से याद करते है…।

अपना गम हर किसी से बहुत सोच समझ क्र बाटना चाहिये,क्योंकि आज कल लोग हम दर्द कम सिरदर्द ज्यादा होते हैं.

तेरी याद से शुरू होती है मेरी हर सुबह फिर ये कैसे कह दूँ कि मेरा दिन खराब है…!!!

जानता हूँ मैं 👍कहाँ 😜तक है उड़ान😇 इनकी,😱आखिर 😅😥मेरे ही हाथ🤟 से निकले परिंदें🦅 है ये💥💥💥

हमको 👦 इतना बुरा भी ना ❌ समझो तुम, दर्द लिखने 🖊 की आदत है 👉 देने की नहीं !!

अब कहां दुआओं में वो बरक्कतें…वो नसीहतें…वो हिदायतें, अब तो बस जरूरतों का जुलूस हैं… मतलबों के सलाम हैं..

कोई बेसबब है, कोई बेताब, कोई चुप है तो कोई हैरान, ऐ जिंदगी, तेरी महफ़िल मे तमाशे ख़त्म नहीं होते…!!!

ज़रूरी तो नहीं के जो ‘शायरी’ करे उसे ‘इश्क’ हो, .. ज़िन्दगी भी कुछ ‘ज़ख़्म’ “बे-मिसाल ” देती है !!

“जिन्हें सफल होना होता है, वो किसी और चीजों में अपना वक्त बर्बाद नहीं करते, बल्कि अपने लक्ष्य को लेकर काम करते हैं।”

मुस्कराहट भी एक अजीब पहेली है, जितना बताती है उससे ज्यादा छुपाती है…!!!

आज मैं अकेला हूँ तो क्या हुआ… ~ एक दिन उसको भी मेरे बिना सब सूना सा लगेगा…

“चीजें खुद नहीं होतीं, उन्हें करना पड़ता है।”

फिर से मुझे मिटटी में खेलने दे ऐ ज़िन्दगी, ये साफ़ सुथरी ज़िन्दगी उस मिटटी से ज़्यादा गन्दी है *************************************

तेरा मेरा दिल का रिश्ता बड़ा अजीब है,मीलों की हैं दूरियां लेकिन फिर भी धड़कन करीब है.

हमारी सुबह शाम होती थी जिन के पहलू में वक़्त बदला तो दिखाई देते है ग़ैरों के दरीचे में!!!

Recent Posts