2150+ Kasam Shayari In Hindi | कसम पर शायरी

Kasam Shayari In Hindi , कसम पर शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: October 2, 2023 Post Updated at: October 25, 2023

Kasam Shayari In Hindi : कसम से बहुत सताते हो तुम,अक्सर बिना आवाज, बिना दस्तक, दबे पाँव,मेरे ख्यालों में चले आते हो तुम… हम तुम्हे कभी खोना नहीं चाहते,कसम खुदा की तुम्हारे सिवा,हम किसी और के होना नहीं चाहते…

में खुद ✊को तुझ 🤨से मिटा लुगा🤟 बड़ीऐतिहात 💫के साथ ✊तो🤨 बस निशाँ 😣लगा दे जहा😅 में बसा हुआ हवा है💥💥💥

दहशत 💥तर डोळ्यात 😀पाहिजेहत्यार 🔫तर हवलदार😯 कडे पण असतं👍👍👍

किसी रोज़ होगी रोशन मेरी भी ज़िंदगी…, इंतेज़ार मुझे सुबह का नही, किसी के लौट आने का है

दिल से खेलना कोईबच्चो का खेल नहीं की अपने झूठे वादों से इसे तुम तोड़कर कर दूर चले जाओ।

अब इत्र भी छिड़को तो ख़ुशबू-ए-मोहब्बत नहीं, वो दिन हवा हुये जब पसीना भी गुलाब था…

तू रख वो हौसला वो मंजर भी आएगा, प्यासे के पास चल कर समुन्दर भी आएगा, थक हार के ना रूकना- ए- मंजिल के मुसाफिर, मंजिल भी मिलेगी~ मिलने का मजा भी आएगा..

दिल दुखाया करो इजाज़त है, ~ भूल जाने की बात मत करना ..!!

तेरे जाने  से तो कुछ बदला नहीं, रात भी आयी थी और चाँद भी था , हाँ मगर नींद नहीं।

माँ की बची हुई मिल्कत के तोहिस्से हो जाते हैं लेकिनक्या कभी उनके दुखों के भी हिस्से कीए??

वो 😯खुद पर इतना 🤟गुरूर करते है तो 😏इसमें कोई हैरत😱 की बात नहीं,❌जिन्हे😯 हम चाहते है🤟 वो आम हो भी👍 नहीं सकते.❌❌

जब भी उदास हो जाओ,तो रो दिया करो,चेहरे पढ़ना अब भूल गए हैं लोग..Jab bhi udaas ho jao,Toh ro diya karo,Chehre padhna ab bhool gaye hain log..

मैं जिंदगी के हर फैसले खुद लेता हूं,जिन रिश्तों में इज्ज़त ना हो वो रिश्ता तोड़ देता हूं।

जिनका मिलना नहीं होता किस्मत में, उनकी यादें कसम से कमाल की होती हैं..!!

एक औरत माँ बनने के लिएअपना अस्तित्व दाव पर लगा देती हैलेकिन एक औलाद अपनी बीवी के लिएउसी माँ को दाव पर लगा देता है

तुम्हारा साथ तसल्ली से चाहिए मुझे ,जन्मों की थकान लम्हों में कहाँ उतरती है।।

मुहब्बत का इम्तिहान आसान नहीं! प्यार सिर्फ पाने का नाम नहीं! मुद्दतें बीत जाती हैं किसी के इंतज़ार में! ये सिर्फ पल-दो-पल का काम नही

पढ़ी लिखी हो या अनपढ़ होजिंदगी में आगे कैसे बढ़ना हैवो माँ ही सिखाती है

रोज़ रोते हुए कहती है ये ज़िंदगी मुझसे सिर्फ एक शख्स कि खातिर मुझे बर्बाद मत कर!!!

छोटी उड़ानों पर गुरूर नही करता मेंआसमान नापने वाला परिंदा हु में.!

एक दिन उजाला हमसे होगातुमने तो सिर्फ सूरज को देखा हैइतना गुरुर मत कर खुद परमैने अच्छे अच्छो को दुबते देखा है।

गलती करी है तो बता दे माफ कर दूँगाकिसी और से सुना तो साफ कर दूँगा

किसी के आने और जाने से,जीवन नही बदलता,बस जीने का अंदाज़ बदल जाता हैं..Kisi ke aane aur jane se,Jeevan nahi badalta,Bas jeene ka andaz badal jata hain…

रोडवर🛣️ स्पीड लिमिट,✊पेपर 😏मध्ये टाइम लिमिट,🕐प्रेमात ♥️एज लिमिट,😣पण 😏आमच्या दादागिरी✊ मध्ये नो लिमिट.😥😥

“सपने हर कोई देखता है, लेकिन सफल वही होता है जो उसे पाने की चाहत रखता है।”

“स्वर्ग वही होता है जहाँ प्यार का वास होता है।”Svarg Vahi Hota Hai Jahan Pyar Ka Vas Hota Hai.

अजब चराग हूँ दिन रात जल रहा हूँ मैं थक गया हूँ इन बेगानी हवाओं से कहो बुझाये मुझे!

मैं ख़ुद से किस क़दर घबरा रहा हूँ, तुम्हारा नाम लेता जा रहा हूँ.

जिस तरह मैंने दुआओ में तुझे माँगा है, ,,, ऐसे खुदा से ना,, किसी ने न तुझे माँगा होगा

जिनको मेरि कदर नहीं,अब मुझे उनकी फिकर नहीं ।

मिट जायगा गुनाहो का तसव्वुर इस जहाँ से, अगर हो जाये यक़ीन की खुदा देख रहा।

डॉक्टर को तबीयत देखने के लिएथर्मामीटर और स्टैथोस्कोप चाहिएलेकिन माँ बच्चे की आंखेंऔर सूरत देखकर ही बता देती हैकि मेरे बच्चे को क्या तकलीफ है

“किस्मत भी हमेशा बहादुर का ही साथ देती है।”

पता नहीं उसके हाथों में क्या जादू है?माँ के जैसी रोटियांकोई बना ही नहीं सकता।

उम्र जाया कर दी लोगो नेऔरों में नुक्स निकालते निकालतेइतना खुद को तराशा होतातो फरिश्ते बन जाते

गलतफहमी निकाल दो अपनीशरीफ़ सिर्फ चेहरा है हम नही

न जाने क्यों ये लहरे समंदर से टकराती है,और फिर समंदर में लौट जाती है,कुछ समझ नही पाते की किनारों से वेबफाई करती है,या समंदर से वफ़ा निभाती है.

वो 😂 महफ़िल में अपनी बफा का जिक्र 😱 कर रहे थे नजर जब हम पर पड़ी,, 😡 तो बात ही बदल दी….!!

एक 🤨दिन भी न निभा❌ सकेंगे वो🤨 मेरा किरदार,✊वो😣 जो लोग 🤨मुझे मशवरे 😯देतें हैं हजार💥💥💥

हमें उनकी इबादत से फुर्सत नहीं मिलती लोग ना जाने किसको खुदा कहते है ~ दिल में रखा हैं उनको फिर भी जाने क्यों लोग हमें जुदा कहते है!!!

ये तो सच है ये ज़िन्दगानी उसी को रुलाती है,जिसके आँसू पोछने बाला कोई नही होता है.

नाम 😏बदनाम होने🤟 की चिंता 😏छोड़ दी मैंनेअब 🤟जब गुनाह🤨 होगा तो 😏महशोर भी तो होगे.🔥🔥🔥

आज तकलीफ़ हो रही है हाल-ए-ज़िंदगी पर ~ काश उस से हद में रह कर मोहब्बत की होती

लोग कहते है….. दुआ कबुल होने का भी वक्त होता है ~ हैरान हु मै ,किस वक्त मैने तुझे नही माँगा

कल थी शहर में बद्दुआओं की महफ़िल जब हमारी बारी आई तो हमने कहा इसे भी इश्क हो इसे भी इश्क हो इसे भी इश्क हो!

कुछ कटी हिम्मते-सवाल में उम्र, ~ कुछ उम्मीदे-जवाब में गुज़री

जो ख्वाहिशें दिल से की जाती हैं ~ अक्सर उन्हीं की किस्मत में अधूरापन होता है..

दौलत नहीं, शोहरत नहीं, न वाह वाह चाहिए, कैसे हो..? बस दो लफ्ज़ों की परवाह चाहिए !

हुकुमत वही करता है जिसका दिलों पे राज होता है, वरना युं तो गली के मुर्गो के सर पर भी ताज होता है..

किसी भी मौसम में खरीद लीजिये जनाब, मोहब्बत के ज़ख़्म हर मौसम में ताज़ा मिलेंगे

सबसे बड़ा हथियार तो दिल हैअगर ये ना कापा तो दुनिया कापेगी ।

तुम मिले तो यूँ लगा, हर दुआ कबूल हो गयी, कांच सी टूटी क़िस्मत मेरी हीरों का नूर हो गयी।

खुदा अपने होने का कुछ यू भी पता देता है ~ बस थोड़ी सी ज़मीन को हिला देता है

बन्दुक की 🔫गोली और😯 मेरी बोली✊ जब 🤟चलती है तो… ✊लड़कियां हमारी 👍बातों में नहीं हमारी✊ बाहों में आ👍 जाती है…💥💥💥

कुछ तो शायद हमने पलटने मे देर की ~ कुछ उसने इन्तज़ार ज़्यादा नहीं किया…

हाथ छूटें भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करतेवक्त की शाख से लम्हे नहीं तोड़ा करते

अक्सर जिंदगी के उन हालातों से भी गुजरे ~ जहां लगता था मरना अब जरूरी हो गया है.

मेरे ✊आगे ज्यादा✊ अकड़ मत ❌दिखा,जिस 😥रास्ते पे तू😏 चल रहा हे,उसपे😱 मैंने धूल😯 उड़ा रखी हे.🔥🔥🔥

इरादा जो कुछ भी हो इशारों में बता भी देना, हाथ जब मिलाना तो दबा भी देना, राहत से अगर सुनना हो शेर तो थोड़ी पिला भी देना…

दोस्ती और मोहब्बत में फर्क सिर्फ इतना है बरसों बाद मिलने पर मोहब्बत नजर चुरा लेती और दोस्ती सीने से लगा लेती है

तुम्हें वादा तोड़ने कीपूरी इजाज़त हैबस इतना जानलो अगरहमें कुछ हो गयातो फिर रोने का नाटकमत करने लगना।

मुझे घमंड😎 नहीं ❌अपनी ताक़त💪 है बस खुद में गुरुर है😎😎😎

जो शख़्स मेरे दिल से उतर गया,वो जिंदा रहकर भी मेरे लिए मर गया।

“मैं वो खामोश पटाखा हूँ कि मेरा काम जब शोर मचाए तो आतिशबाजी कर दे।”

क्या मालूम था कीदिल यूँही बिखर जाएगा,टूट जाएगा आईना,और दिल बिखर जाएगा…Kya maloom tha ki,Dil yuhi bikhar jaega,Tut jaega aaina,Aur dil bikhar jaega…

ग़ुरूर ना आ जाये तुझे किसी की शर्मिन्दा आँखें देख कर ~ किसी की मदद कर तो नज़रें झुका के कर…

ज़िंदगी यूँ हुई बसर तन्हा, क़ाफ़िला साथ और सफ़र तन्हा।

इक आग ग़म-ए-तन्हाई की जो सारे बदन में फैल गई, ~ जब जिस्म ही सारा जलता हो फिर दामन-ए-दिल को बचाएँ क्या.

शरीफ✊ तो हम बचपन🤨 से थे पर 👍क्या करें,दिल 💔तोड़ना😎 लड़कियों ने 🔥सिखाया,तो 🤨हड्डिया तोड़ना 😏यारों ने सिखाया.✊✊

ज़िन्दगी सूखी हुई नहीं बस थोड़ी सी प्यासी है, इसमें रस लाना है तो दरियादिल बन कर तो देखो।

वह कुछ मुस्कुराना, वह कुछ झेंप जाना जवानी अदाएं सिखाती है क्या-क्या

हाथ का मज़हब नहीं देखते परिंदे… जो भी दाना दे, ख़ुशी से खा लेते हैं…

ताक़त ✊ अपने लफ़्ज़ों 😯में डालो 🤟आवाज़ में नहीं,❌क्यूंकि 😱फ़सल बारिश🌧️ से होती है बाढ़ से🌊 नहीं.😣😣

Recent Posts