1727+ Jhoot Shayari In Hindi | झूठ शायरी हिंदी में

Jhoot Shayari In Hindi , झूठ शायरी हिंदी में
Author: Quotes And Status Post Published at: September 26, 2023 Post Updated at: January 23, 2024

Jhoot Shayari In Hindi : सच के बुनियाद पर अपने सपनो का महल खड़ा करना,सच कहता हूँ, झूठ की नींव बड़ी खोखली होती है। छोटी चीज को झूठ बोलकर बड़ा नही करते है,झूठ के दम पर सपनो का महल खड़ा नही करते है।

गिर पड़े उस पत्थर से टकरा कर ज़मीं पर हम, भरोसे की नीव कह जिसे कभी अपनों ने रखा था।

“अगर आप अच्छी जिंदगी चाहते हैं, तो सच का साथ दो, झूठ से दूर रहें।”

उन इंसान का कभी अपमान मत करना , जिन्होंने दिन रात काम करके तुम्हारे सपने पूरे किये।

दुनिया में राज करने के लिए दिमाग नहीं, एटीट्यूड और जिगरा चाहिए और ये दोनों ही चीज मुझमें ठुस-ठुस के भरा है ।

अक्सर देर लग ही जाया करती है,झूठे लोगों की पहचान करने में।

झूठी शान के परिंदे ही ज्यादा फड़फड़ते है ,बाज की उड़ान में कभी आवाज नहीं होती।

झूट पर उस के भरोसा कर लियाधूप इतनी थी कि साया कर लियाशारिक़ कैफ़ी

झूठ के नाव सच के समंदर में चलते नही, और झूठ बोलने वाले अपना स्वभाव कभी बदलते नही।

ਮੈਂ ਤੇਰੀਆਂ ਅੱਖਾਂ ਤੋਂ ਜਾਣਦਾ ਹਾਂ ਕਿ ਤੂੰ ਮੈਨੂੰ ਕੀ ਕਿਹਾ, ਪਰ ਫਿਰ ਵੀ ਮੈਂ ਤੁਹਾਡੇ ਝੂਠ ਨੂੰ ਸੱਚ ਮੰਨਦਾ ਹਾਂ।

जरूरत से ज़्यादा भगवान को याद मत किया करो, क्योंकि अगर किसी दिन भगवान ने याद कर लिया तो लेने के देने पड़ जाएंगे….

“जीवन में कोई भी काम जब तक कठिन लगता है, जब तक उसे करने के लिए आप अपना कदम नही बढ़ाते।”

घमंडी नहीं थोड़ी जिद्दी हूं में बस जो चाहती हूं उसे करके रहती हूं ।

Attitude अपना आग है, इसलिये Character पे अपने दाग है , हम तो दुश्मनो के भी बाप है, इसीलिए तो दुनिया पर अपनी धाक है !

हाथों में कुछ नहीं छाले ही छाले थे और फिर उसने हवा में कांटें उछाले थे वो तो चला गया अपने रंग दिखाकर मेरे दिल के तुकड़े भी उसके हवाले थे

सबको बोलता था कि गलतलोगों का साथ छोड़ दोBC सबने मेरा हीसाथ छोड़ दिया

दुश्मनी निभाने के लिए मिलना होगा,तुम्हें अपनी तकदीर को बदलना होगा,यूं दूर-दूर रहकर नहीं होता करार ये,मुझसे टकराने के लिए मुझसा बनना होगा।

हार कर जीवन भर पछताने से अच्छा है कोशिश करते रहना.

भोपाल-इंदौर से कम नहीं है छत्तीसगढ़ का ये शहर, खूबसूरती ऐसी कि दिल बैठेंगे आप, देखें PHOTOS

नहीं चाहिए मेरे चेहरे पर हसी जब तक तू गैर की बाहों में है आएगी तुझपर भी धुप वक़्त की अभी तू मीठी छाओं में है

सामने हर किसी को वो अपना भाई कहते हैं,झूठे लोग ही अक्सर एक दूसरे की बुराई करते हैं।

इस दुनिया ने सिर्फ हमें मतलब के,लिए ही आज़माया है।मतलब निकल जाने के बाद,हमें अजनबी बनकर ठुकराया है।

कद में जो बहुत छोटे हैं, वो दुश्मनी क्या निभाएंगे, औकात कर लो हमसे भिड़ने की, तब दुश्मनी हम भी निभाएंगे।

मोहब्बत की दुनिया में कभी ना सच्चे कहलाओगे,झूठे लोगों के साथ मिलकर तुम भी झूठे हो जाओगे।

सोच समझकर पंगा लेना मुझसे अगर सहन करने की हिम्मत रखता हूं तो तबाह करने का भी हौसला रखता हूं ।

“जो झूठ से तालमेल बना लेता है, वह अपनी कभी भी सच्चाई नहीं चमका पाता है।”

नादान समझने वाले, दुश्मन भी इस नादानी में है, हम भी देखते रहते हैं, कौन कितने पानी में है।

Attitude नहीं हैं मुझमें, पर किसी की बदतमीज़ी बर्दाशत करू इतनी सीधी भी नहीं हूँ ।

कहते है झूठ के पाँव नहीं होते,मगर फिर भी चलता बहुत है.

सच बोलने वाले कभी ना किसी को पसंद आते हैं,इस जमाने में झूठे लोग बड़े हुनर वाले होते हैं।

कुछ लोग हमारे जैसा बनने की कोशिश करते हैं अब उनको कौन समझाए कि शेर बनते नहीं पैदा हुआ करते हैं।

मिट जाए तो फिर मिटने दे सब ज़ख्म मेरे दिखने दे मैं एक टूटा शायर हूँ मुझे गम मेरे लिखने दे

बेशक सच्च बोलकर किसी का दिल तोड़ देना,लेकिन झूठ बोलकर किसी को दो पल को खुशी कभी मत देना।

मन की दुर्बलता से अधिक भयंकर और कोई पाप नहीं है -स्वामी विवेकानंद

जवाब तो हर बात का है हमारे पास, लेकिन हर किसी को देना हम जरूरी नहीं समझते ।

जिंदगी Football है Goal तक पहुंचने के लिए किक तो पड़ेगी

सादिक़ हूं अपने क़ौल का ‘ग़ालिब’ ख़ुदा गवाह कहता हूं सच कि झूट की आदत नहीं मुझे मिर्ज़ा ग़ालिब

भारत में सबसे बड़ा अंधविश्वास,लड़के की शादी करवा दो वो सुधर जाएगा..!!

तुम्हें लगता है तुम्हारी भावनाओं से अनजान हैं हम,ये जो दोस्ती की आड़ में मन दुखाते रहते हो सब पता है।

जिन्दगी में एक लड़की आई,जिसका नाम था- दीक्षा..उसने ऐसा धोखा दिया किअब मांग रहा हूं भिक्षा..

झूठी दुनिया के झूठी फसाने हैं,लोग भी झूठे और झूठे जमाने हैं,धोखे मिलते हैं हर कदम पर यहाँ,हर तड़फ भीड़ हैं लेकिन अफसोस सब बेगाने हैं,

तूफान में कश्तियां और घमंड में हस्तियां अक्सर डूब ही जाते है।

इंसान चाहे कितना भी झूठ बोल ले !!लेकिन अंत में उसका झूठ पकड़ा ही जाता हैं !!

आजकल के इंसान दिलों से नही जरूरतों से रिश्ता बनाते हैं।

झूट बोला है तो क़ाएम भी रहो उस पर ‘ज़फ़र’ आदमी को साहब-ए-किरदार होना चाहिए ज़फ़र इक़बाल

महबूब का दिल तोड़ कर क्या हासिल होगा,चाहत में झूठ बोलकर तुम्हें क्या हासिल होगा?

दुश्मनी तो कर ली तूने, तू अब किस ओर जाएगा, छुप न पाएगीं तेरी करतूतें, हमारा जब दौर आएगा।

झूठ के नाव सच के समंदर में चलते नही,झूठ बोलने वाले अपना स्वभाव बदलते नही..!!

प्यार से अपना कह कर मतलब के लिए आती हैअपनों के लिबाज़ में ये दुनिया जख्म दे जाती है।

इन्सान जब दिल के हाथों मजबूर होता है,तो झूठे प्यार पर भी बड़ा गूरूर होता है..!!

में जीती हूं अपने अंदाज में किसी के बाप से डरती नहीं और जिस काम से घर वालों का सिर झुक जाये ऐसी हरकतें में करती नही.!!

ਇਸ ਮਤਲਬੀ ਸੰਸਾਰ ਵਿੱਚ ਲੋਕ ਦੀ ਭਾਵਨਾ ਬਣਾਉਣ ਲਈ ਝੂਠ ਦਾ ਸਹਾਰਾ ਲੈਣਾ ਪੈਂਦਾ ਹੈ।

काश जान जाता तुम्हारे प्यार के इरादों को,याद करता हूं मैं तुम्हारे उन झूठे वादों को..!!

बुरा वक्त हैं बदल जाएगा ,लेकिन बदले हुए लोग याद रहेंगे

हमें बदनाम करते हो बेवफाई हमारे नाम करते हो क्या करें तुमसे शिकायत तुम्हारी अजी आप तो कमाल करते हो

ज़्यादा नहीं पर इतने सफ़ल हो जाओ की, अपने माँ बाप की हर ख्वाहिश पूरी कर सको…

जिसकी नियत और जुबान सच्ची होती हैं, उसकी जिंदगी में हमेशा तरक्की होती हैं।

पागल तेरे पीछे कितने मौसम ख़राब किये किसे पता था तू एक दिन मौसम बन जाएगा

झूठ की तारीफ़, सच का मजाक, कुछ ऐसा है आजकल दुनिया का मिजाज।

शराफत से बात करो तो, दुश्मन कमजोर समझ लेते हैं, दिखा देते हैं जब औकात अपनी, तब कोई और समझ लेते हैं।

निगाहों में ले कर घूमा हूं तो सिर्फ तरक्की की चमक, दुश्मनों की निगाहों में अब वो खटकने लगी है।

तारीफ भी करते है तो झूठ ही बोलते है,ये मतलबी लोग बस मतलब से बात करते है

जिससे आप प्यार करते हैं और जो आपसे प्यार करता है वो कभी भी एक ही इंसान नहीं होता है.

रात को रात कह दिया मैंने सुनते ही बौखला गई दुनिया हफ़ीज़ मेरठी

ये झूठ है की इश्क में दिल टूट जाते हैं,लोग खुद टूट जाते हैं इश्क करते करते।

दुआ करों की मेरी जिंदगी में भी ये मुकाम आयेवो मतलबी दुआ करे मगरउस दुआ में भी मेरा नाम आये। – अज्ञात

नकली लोगों से बेहतर वो अजनबी होते हैं,को थोड़ी देर के लिए ही सही असली मुस्कान छोड़ जाते हैं।

मेरे प्यार को बेवफाई का इनाम दे गई,मेरे दिल को अपनी यादों का पैगाम दे गई,मैंने कहा मेरे दिल में दर्द है तेरे बिना,तो वो जाते-जाते “झंडूबाम” दे गई।

आज खुद को मैं देख कर हैरान हो गया मैं रिश्ते बचाकर भी बदनाम हो गया मेरे अपने छीन लिए अब खुश होगा खुदा मैं खुद ज़ख्म औरों का इलाज हो गया

क्या खूब कहते है झूठ वोउनका झूठ – झूठ से ज्यादा सच्च लगता है

“असली बात तो सच की होती है, झूठ सिर्फ स्थान बनाता है।”

हम सबकी जिंदगी में झूठे लोगों की कमी नहीं है,जो भी केवल झूठ है बातें किया करते हैं,,झूठे वादे किया करते हैं धोखे पर धोखा देते हैं।

जिस से हर दोस्त अनजान हैआज वही मतलब …….हर दोस्ती की पहचान है

Recent Posts