1258+ Jarurat Shayari In Hindi | तेरी जरुरत शायरी

Jarurat Shayari In Hindi , तेरी जरुरत शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 21, 2023 Post Updated at: March 16, 2024

Jarurat Shayari In Hindi : अब ज़रूरी हो गया है हर हाल में मुस्कुराते रहना, क्यूंकि बुरे हाल में लोग सवाल बहुत पूछते हैं। जिस्म नज़दीक आए रूह में दूरी रह गई, ज़रुरत पूरी हो गई मोहोब्बत अधूरी रह गई।

“ ज़रुरत-ज़रुरत की बात है,आज मेरे तो कल कसीऔर के साथ है…!!

मुझे गिरता देख खुशीयाँ मनाने वालों की,मुसलसल मेरे खिलाफ एक साज़िश जारी हैं।वो बाज़ी तुम भी ना जीत सके,जो जंग हम ने हारी हैं।

समन्दर की तरह है हमारी पहचान,ऊपर से खामोश और अंदर से तूफान।

बड़ी शिद्दत से तोड़ा है मेरे दिल का हर कोना,मै तो सच कहूँ उस के हुनर पे नाज़ होता है।

लोग तो जंगल के वो चीते है, मतलबी दुनिया में सब अपने लिए ही जीते है।

“ पहली मोहोब्बत लोगों कोएक बात सीखा देती है,की दूसरी अगर करना तो हद में रहकर…!!

मोहब्बत एक ऐसी बीमारी है।जिसका इलाज भी मोहब्बत ही है।

तेरी आदत सी हो गई थी हमें नहीं तो मालुम हमें भी था की तू नसीब मे नहीं।

“ चाहा जिसे ज़रुरत से ज्यादा,ज़रुरत से ज्यादा जिसका ख्याल किया,समझदार था वो भी ज़रुरत से ज्यादा,ज़रुरत से ज्यादा उसने मेरा इस्तेमाल किया…!!

तू हज़ार बार रूठे तोमना लू तुझे मागर देख मोहब्बत मेशामिल कोई दूसरा ना हो।

जितनी इज़्ज़त आप दूसरो को दोगे, उससे कई ज्यादा इज़्ज़त लोग आपको भी देंगे।

बिना तेरे मेरी हर ख़ुशी अधूरी हैं फिर सोच मेरे लिए तू कितनी ज़रूरी है। Bina tere meri har khushi adhuri hai fir soch mere liye tu kitni zaruri hai.

मोहब्बत के बाज़ार मेहुसन वालो कीजरुरत नहीं होती जिस पे दिल आ जाए वही ख़ास होता है।

दोस्ती का सफर इतना सुहाना होता है,जिंदगी बहुत से रंगों से भरी होती है,कोई सफ़र तो कोई मंज़िल होती है,लेकिन दोस्ती का सफ़रहमेशा यादगार होता है.

मोहब्बत में गलती तुम्हारी हो या मेरी…हम एक दूसरे को मना ही लेंगे!!!

तेरी मोहब्बत में ए जानकितने ख्वाब देखता जाता हूं…ऐसा लगता है अब तो… एक रात मेंमैं कई रातें जागता हूं और कई राते सोता हूं।

किसी को नजरों में न बसाओ क्योंकि नजरों में सिर्फ सपने बसते हैं बसाना ही हैं तो दिल में बसाओ क्योंकि दिल में सिर्फ अपने बसते हैं।

पापी चाहे कितने भी हमारे दुश्मन,उनके लिए हम अकेले ही काफी है।

ऐ दोस्त तेरी दोस्ती पर नाज़ हैं,हर वक्त मिलने की फरीयाद करते हैं,हमें नहीं पता घर वाले बताते हैं,हम निंद में भी आपसे बात करते हैं.

बोहोत तक़लीफ़ होती हैजब दानो तरफ सेप्यार हो लेकिनक़िस्मत में मिलना ना हो।

जरूरते पूरी हो जाएँ, सिर्फ इतनी पगार पाता है,घर संभाले या ईमान उसको समझ में नहीं आता है,

बहुत बोलने वाला इंसान… अगर चुप हो जाए तो…. तो समझ लेना चोट… बहुत गहरी लगी है…

“ बड़ी शिद्दत से तोड़ा हैमेरे दिल का हर कोना,मै तो सच कहूँउस के हुनर पे नाज़ होता है…!!

अगर निभाने की चाहत दोनों तरफ से हो तो कोई भी रिश्ता कभी ख़त्म नहीं होता।

औकात का पता तो वक्त आने पर चलता है,यारो रात को गिधड कितना भी चिल्ला ले,,सुबह को दबदबा तो शेर का ही होता है।

किसी के आगे भीख मांगने से अच्छा हैं की आप अपनी मेहनत का खाये और एक इज़्ज़तदार जिंदगी जिए।

दोबारा गर्म की गई चाय और समझौता किया हुआ रिश्ता दोनों में पहले जैसी मिठास कभी भी नहीं आतीी

छोड़ दो तुम ये ख्वाब देखना,की ज़माने में मैं गुमनाम हों जाऊँ।इतना भी नहीं गिरा अभी मेरा मेयार,कुत्तों के भोंकने से बदनाम हों जाऊँ।

बेसक लड़ाई किया करो नराज रहा करोज़िन्दगी है इसका भरोसा नहीं साथ रहा करो।

नम ही ठीक है आंखें मेरी क्योंकि जिंदगी के हालात कुछ ऐसे हैं अब मुस्कुराने से भी डर लगता है कि कहीं मुस्कुराहट को फिर से किसी की नजर ना लग जाए।

जो भी मिले खिलाड़ी ही निकले., कोई दिल से खेल गया तो कोई जिन्दगी से।

मै खुद में पूरा हूँ,मुझे किसी की जरुरत नहीं,मैं तुझपे मर जाऊ,तेरी ऐसी भी सूरत नहीं।

जब दोस्त तरकी करे तोफक्र से कहो वो मेरे दोस्त हैऔर जब दोस्त मुसीबत मे हो तोफक्र से कहो मैं उसका दोस्त हु।

तेरी दुनिया का ये दस्तूर भीअजीब है ऐ खुदामोहब्बत उनको मिलती हैजिन्हे करनी नहीं आती।

हाथ में खंजर ही नहीं आँखों में पानी भी चाहिए,हमे दुश्मन भी थोडा खानदानी चाहिए।

“ देख के रुसवाई तेरीदिल मेरा टूटा ऐसे कीअब मुझे किसी की जरूरत नहीं…!!

अब ज़रूरी हो गया है हर हाल में मुस्कुराते रहना, क्यूंकि बुरे हाल में लोग सवाल बहुत पूछते हैं।

ज़रुरत-ज़रुरत की बात है, आज मेरे तो कल कसी और के साथ है।

मेरे मुँह लगौगै तो जल जाओगे क्योकि,लोगों कि नज़र मैं बहुत बदनाम हुं मैं।

मोहब्बत में जिन्होंने अपनेदिल में हमें जगह दी है…उनसे कभी अपने दिल की बातें ना छुपाना!!!

जब जरुरत थी तो मै हर किसी का था,जब मुझे थी तो मेरा कोई ना था ।

तुझसे नाराज़ होकर तुझसे हीबात करने का मनये दिल का सिलसिला भीकभी ना समझ पाए हम।

खुशबू बनकर तेरी साँसों में शमा जायेंगे, सुकून बनकर तेरे दिल में उतर जायेंगे, महसूस करने की कोशिश तो कीजिये एक बार, दूर रहते हुए भी पास नजर आएंगे।

जिन लोगों को तन्हाई पसंद होती हैउन्हें समझना बहुत मुश्किल होता है

“ बदल जाते हैं वो भी वक़्तकी तरह, ज़रुरत से ज्यादाजिन्हे वक़्त दिया जाए…!!

वो साक़ी भी किसी ज़रूरत का मारा है,खोल दरवाज़े, आग पार नीर तलाश रहा है ।।

एक हसीं लम्हे की जरुरत है हमे,बीते हुए पल की जरुरत है हमें,जमाना सारा रूठ भी जाये तो क्या,जो कभी ना रूठे ऐसे दोस्त की,जरुरत है हमें।

जाती नहीं है इन आँखों से सूरत तेरी,ना जाती है दिल से मोहब्बत तेरी,तेरे जाने के बाद हुआ है महसूस हमें,और भी ज्यादा है हमें ज़रूरत तेरी।

सच्ची मोहब्बत कभी खत्म नहीं होती वक़्त के साथ खामोश हो जाती है Sachi Mohabbat Kbhi Khatam Nahi Hoti Waqt Ke Saath Khamosh Ho Jati Hai.

अपना सीधा सा उसूल है जो जलता है उसे और जलाओ,ओर जो अकाड़ता है उसे उसकी ओकात दिखाओ।

मोहब्बत की यह सुहानी रात औरइस रात के ना जाने कितने सपनेऔर हर सपने की सिर्फएक ही ख्वाहिश “तुम और सिर्फ तुम”

किसी अजनबी से मिलने के पहले, दिल कुछ दस्तक देता है, उसे सुन लेना चाहिए, किसी अजनबी से हाथ सोच समझकर ही मिलाना चाहिए।

हम जो पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है, अगर ये गुनाह है तो इसे हम बार बार करते है।

मोहब्बत की है तुमसे,बेफ़िकर रहो,नाराजगी हो सकती है,नफरत नही..Mohabbat ki hain tumse,Befikra raho,Narazgi ho sakti hain,Nafrat nahi…

रेत की जरूरत रेगिस्तान को होती है,सितारों की जरूरत आसमान को होती है,आप हमें भूल न जाना, क्योंकीदोस्त की जरूरत हर इंसान को होती है.

सौ बात की एक बात मुझे चाहिए बस तेरा साथ। So bat ki ek bat mujhe chahiye bas tera sath.

चले तो गए तुम मुझे गैर ज़रूरी मान कर,मगर ज़रुरत पड़े कभी तो लौट आना सनम।

ये शिकायत नहीं तजुर्बा हैकदर करने वालो की कोई कदर नहीं करता।

सितारों के बीच से चुराया है आपको,दिल से अपना दोस्त बनाया है आपको,इस दिल का ख्याल रखना,क्योंकि इस दिल के कोने में बसाया है आपको.

कोई गलती हो जाये तो डाट लिया करो,मगर यू रूठा न करो हमसे..Koi galti ho jaye toh daat liya karo,Magar yu rutha na karo humse…

“ अब किसी की जरुरत नहीं है हमेंक्योंकि जिसकी थीवो छोड़ चुका है हमे…!!!

भीड़ काफ़ी हुआ करती थीमेरी जिन्दगी मे भी फिर मैं सच बोलता गयाऔर लोग उठते चले गए।

बेहद ख्याल रखा करो तुम अपना मेरी आम सी ज़िन्दगी में बहुत ख़ास हो तुम। Behad khyal rkha karo tum apna meri Aam si zindagi me bahut khas ho tum.

ज़िन्दगी से एक सबक मिल गया है,अकड़ में रहोगे तो लोग औक़ात में रहते है।

“ कहते नहीं थकते थे जोकी मेरे होते हुए तुम्हेकिसी की जरूरत नहीं…!!

कहते है लोग यारों की अब मुझेइस जहाँन में किसी की जरूरत नहीं ,और हसरते रखते है जहाँ से अपनेपन की |

दुनिया चाहे हमें मिलने का मौका दे या ना दे…अगर हमारी मोहब्बत सच्ची है तोकुदरत भी हमारी मोहब्बत के सामने झुक जाएगी।

हम नहीं मांगेंगे जिंदगीया रबये गुनाह हमने एक बार किया है।

“ पहले इंसान जरूरतों के लिए कमाता था,इसलिए वो बड़ा ही खुश रहता था,अब इंसान ख्वाहिशों के लिए कमाता है,इसलिए बड़ा ही दुखी और उदास रहता है….!!

खुशी आपके Attitude पर निर्भर करती है,आपके पास क्या है उसपर नहीं।

“ मुझे तुम्हारी जरूरत है ऐसेजैसे धरती को बारिश कीऔर इस काया को सासों की…!!

“ जरुरत नहीं किसी ऐसे इन्सान की जोमतलब के लिए साथ हो मै तो खुश हूँअपने उस रब के साथ जोबिना मतलब के मेरे साथ है…!!

Recent Posts