1752+ Izzat Shayari In Hindi | इज़्ज़त शायरी

Izzat Shayari In Hindi , इज़्ज़त शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 19, 2023 Post Updated at: June 13, 2024

Izzat Shayari In Hindi : हर चीज कमाना आसान हैं, लेकिन इज़्ज़त कमाना बहुत मुश्किल। मोहब्बत की पहली शर्त इज्जत है, जो इज्जत नही दे सकता, वो सच्चा प्यार भी नही दे सकता।

ज़मीर बेच कर जो ज़मीन खरीद लेते हैं,उस ज़मीन पर कोई फसल नहीं उगती।

जिसके पास इज़्ज़त हैं, उसके पास हर चीज हैं।

हाथ छूटें भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करतेवक्त की शाख से लम्हे नहीं तोड़ा करते

सम्मान सभी के लिए सामान होना चाहिए,फिर चाहे उसका कार्य कुछ भी हो।

“तुम्हें लगता है कि गलत हूँ मैं, तो सही हो तुम…क्योंकि थोड़ा अलग हूँ मै…”

पापा की परी में बनकरउनकी हर ख्वाहिश पूरी कर दूं…काम कुछ ऐसा कर जाऊंनाम उनका रोशन कर दूं…

बदल जाओ वक़्त के साथ या वक़्त बदलना सीखो,मजबूरियों को मत कोसो, हर हाल में चलना सीखो!

जंगल के सूखे पत्ते जैसे हैं हमजिस दिन जलेंगे पूरा ‘जंगल जला देंगे!

अपने हाथों की लकीरों को क्या देखते होकिस्मत तो उनकी भी होती है, जिनके हाथनहीं होते।

गर्व करना है तो अपनी पिता की इज्जत पर करो !!धन पर नहीं !!इज्जत कमाने मे उम्र बीत जाती हैं !!और धन कभी भी कमा सकते हैं !!

बाजार में सब कुछ मिलता है,बस माँ बाप का प्यार नहीं मिलता..!!

खुद में झांकने के लिए जिगर चाहिए, दुसरों की शिनाख्त में तो हर शख्स माहिर होता है।

“अगर आपको कुछ चीज़ें नही पसंद है तो आप इसे बदल दो, और अगर नहीं बदल सकते तो अपना ये घमंड बदल दो।”

अहंकार पालकर आप कभी भी इज्जत नहीं पा सकते है !!

किस्सा नही कहानी हूँ मैंशरीफ नही हरामी हुँ मैं.!

“ खैरात के साथ से इज़्ज़तका अकेलापन बेहतर है..!!

सेवा परोपकार प्रेम से जो निर्भय हो बढ़ते जाते हैं। जिंदगी को गले लगाकर वो स्नेह सुधा बरसाते हैं।

“ ज़िंदगी जीने का तरीका औरमायना अपनाअपना होना चाहिए..!!

जो इज़्ज़त को अपना मुख़्तसर नहीं समझते !!उन्हें समझाना हमारी दावत होती है !!

उम्र जाया कर दी लोगो नेऔरों में नुक्स निकालते निकालतेइतना खुद को तराशा होतातो फरिश्ते बन जाते

“ इस दुनियां में हर चीजसे समझौता कर सकते है,अपने आत्म सम्मान से नहीं..!!

“ आप किसी की ज़िन्दगी में अहमियत रखे न रखेपर अपनी ज़िन्दगी में अपनी अहमियतज़रूर रखना क्योंकि आप हैं तो आपकी ज़िन्दगी है…!!

उतनी देर तक ही खामोश रहो जबतक लोग तुम्हें कमजोर न समझें…!

जब कोई व्यक्ति अपना आत्मसम्मान ही खो देता है,तब वह कितना ही धन प्राप्त कर ले अपनी इज़्ज़त फिर से नहीं खरीद सकता।

ख़ुद को इस काबिल बनाओ किआपके नाम से ही काम हो जाए…khud ko iss kabil banao,ki aapke naam se hi kaam ho jaye…

आप मेरे सब से अच्छे दोस्त हैं पापा..!!

थोड़ा सा रफू करके देखिए नाफिर से नई सी लगेगीजिंदगी ही तो हैThoda sa rafu Karke dekhiye naphir se nahin si Lagegi Jindagi Hi To Hai

आज हम ऐसे समाज का हिस्सा हैं दोस्तो !!जहां बाप की इज्जत बेटी के हाथो मे होती है !!लेकिन बाप की जायदाद के कागज !!बेटों के हाथो के होते है !!

मैंने जिंदगी में दोस्त नहीं ढूँढे, मैंने एक दोस्त में जिंदगी ढूँढी है.

जिसके मन में लालच जन्म ले लेता हैं, उसको फिर इज़्ज़त गवाने में ज्यादा समय नहीं लगता हैं।

कभी कभी लोग मीठी मीठी बाते करके,आपको इज्जत नहीं बल्कि धोका दे रहे होते है।

मतलब की दुनिया और मतलब के दोस्त है साहब, क्योकि जब बात इज्जत की आ जाती है तो सब मूह फेर लिया करते है वक़्त आने पर।

दूसरों की बुराई करने वाले लोगों में,आत्म-सम्मान की कमी होती है।

सबसे खराब अकेलापन खुद के साथ सहज नहीं होना है।– मार्क ट्वेन

अगर किसी बेटी या बहन कोहमारी वजह से रास्ता बदलना पड़ेतो गली की कुत्ते और हम में कोईफर्क नहीं है Respect Girl

आप जितना कम बोलोगे,लोग आपको उतना ही,ज्यादा सुन्ना पसंद करेंगे।Aap jitna kam bologe,Log aapko utna hi,Jyada sunna pasand karenge.

“हम आज भी शतरंज़ का खेल अकेले ही खेलते हैं क्यूंकि दोस्तों के खिलाफ चाल चलना हमे आता नही!!”

मैं तुम्हारे प्यार के लिए अपने सम्मान से समझौता नहीं कर सकता,आप अपना प्यार रख सकते हैं, मैं अपना सम्मान बनाए रखूंगा।–अमित कलंत्री

“बहुत गौर से देखने पर जिंदगी को जाना मैंने…दिल से बड़ा दुश्मन पूरे जमाने में नहीं है।”

“कुछ लोगों को बहुत शौक था अखबारों की सुर्खियां बनने का, वक़्त ऐसा बीता की सब रद्दी के भाव बिक गए।”

मेरी ख्वाहिश है की मैं फिर से फरिश्ता हो जाऊँ, माँ से इस तरह लिपटूँ की बच्चा हो जाऊँ।

अपनी होकर भी पराई मानी जाती है, तभी तो बेटी माँ की परछाईं कहलाती है !!

“ बेज्जती का जवाब बड़ीइज्जत से देकर देखो,सामने वाला खुद शर्मिंदा हो जाएगा…!!

सपने तो मेरे थे पर उन्हें पूरा करने का रास्ता कोई, और बताये जा रहा था वो थे पापा

“ खुद को पसन्द करना,खुद की पहलीपसन्द होनी चाहिए..!!

लोग दौलत देखते है !!हम इज्जत देखते है !!लोग मंजिल देखते है !!हम सफर देखते है !!लोग दोस्ती बनाते है !!और हम उसे निभाते है !!

कोई साथ हो या ना हो पर अपनी इज़्ज़त अपने साथ होनी बहुत ज़रूरी हैं।

सारी रौनक देख ली दुनिया की, मगर जो सकून तेरे पहलू में है माँ वो और कहीं नहीं है।

जब तक आपकी ईज़्ज़त है आपके साथ !!तब तक आपका अस्तित्व और बढ़ाता ही जाएगा जहां-तहां !!

एक बार जब आप अपने मूल्य, प्रतिभा और ताकत को गले लगाते हैं,तो यह तब बेअसर हो जाता है जब दूसरे आपके बारे में कम सोचते हैं।– रोब लियानो

अपनी हार से सीख लेने वाला,कभी भी हारता नही हैं..Apni haar se sikh lene wala,Kabhi bhi haarta nhi hain..

हम को मिटा सके ये ज़माने में दम नहीं, हमसे ज़माना खुद है..ज़माने से हम नहीं- जिगर मुरादाबादी

खैरात के साथ से इज़्ज़त का अकेलापन बेहतर है।

जो शख़्स मेरे दिल से उतर गया,वो जिंदा रहकर भी मेरे लिए मर गया।

फन कुचलने का हुनर भी सीखिए,सांप के ख़ौफ़ से जंगल नहीं छोड़ाकरते।।

हमने तुफानो से घबरानानहीं टकराना सीखा है !

दोस्ती और मोहब्बत में फर्क सिर्फ इतना है बरसों बाद मिलने पर मोहब्बत नजर चुरा लेती और दोस्ती सीने से लगा लेती है

आदर और सम्मान जितना आप दूसरों को अपनी तरफ से देंगे,उतना ही दूसरों की तरफ से आपको मिलेगा।

जिनके शब्द शब्द वाणी से झरती अमृतधारा है। प्यार के मोती लुटाते जिनको अपनापन प्यारा है।

वक़्त का खास होना ज़रुरी नहीं, खास लोगों के लिये वक़्त होना ज़रुरी हैं!

जिनको मेरि कदर नहीं,अब मुझे उनकी फिकर नहीं ।

दुनिया में सब के नसीब मेंबेटियाँ कहां होती हैं?खुदा को जो घर पसंद आ जाएबेटियाँ वहां होती हैं।

जिस तरह के आप कर्म करेंगे, उसी तरह की आप इज़्ज़त भी पाएंगे।

सोच रहे है सीख ले हम भी बेरुखी करना !!अपनी कदर खो दी है हमने सबको इज्जत देते देते !!

कोई पुछ रहा हैं मुझसे मेरी जिंदगी की कीमत,मुझे याद आ रहा है तेरा हल्के से मुस्कुराना।

“इज़्ज़त वह सौगात है जिसे कोई छीन नहीं सकता, मिलती है बल्क सीखी जाती है।”

जितनी इज़्ज़त आप दूसरो को दोगे, उससे कई ज्यादा इज़्ज़त लोग आपको भी देंगे।

जिंदगी में आये हो तो हर चीज करना, पर भूलकर भी कभी अपनी इज़्ज़त मत गवाना।

“ जब बात स्वाभिमान की हो तो,दोस्त भी छोड़ देनाकोई बड़ी बात नहीं…..!!

“नफरत भी हम हैसियत देख कर करते है.. प्यार तो बहुत दूर की बात है”

तुम क्या जानों कितना प्यार है तुमसे, खुशियों का संसार है तुमसे, इस जीवन का आधार है तुमसे.

इज्जत महंगी चीज है इसकी उम्मीद सस्ते लोगों से ना रखेंइज्जत महंगी चीज है,इसकी उम्मीद सस्ते लोगों से ना रखें।

Recent Posts