2591+ Insan Ki Pehchan Shayari In Hindi | इंसान की पहचान शायरी

Insan Ki Pehchan Shayari In Hindi , इंसान की पहचान शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: August 9, 2023 Post Updated at: June 27, 2024

Insan Ki Pehchan Shayari In Hindi : आशिक इश्क में सब कुर्बान कर देते है, आँखों से आँसू ने निकले तो भी दर्द को पहचान लेते है. पहचान पाने के खातिर पूरा जीवन लगा दिया, चंद रूपयों के लालच में ईमान को दांव पर लगा दिया.

घटिया होते है वो लोग जो खुद ,का समय गुजारने के लिए,,दूसरों के सच्चे जज्बात से खेलते है।

मेरे ठोकरे खाने से भी कुछ लोगो को जलन है, कहते है यूँ तो ये शख्स तुजर्बे में आगे निकल गया।

मेरी ताकत, मेरी हिम्मत, मेरी शान हैं मेरे पापा।

कांटों में भी फूल खिलाएंइस धरती को स्वर्ग बनाएंआओ, सब को गले लगाएंहम स्वतंत्रता का पर्व मनाएंहैप्पी इंडिपेंडेंस डे!!

आजकल ज़माने के साथ चलना है तो,आपको चेहरे बदलने का हुनर ज़रूर आना चाहिए.

यार बेकार बेज़ार हम हुए बर्बाद इश्क़ में बर्बाद हम हुए

सुन्दर है जग में सबसे नाम भी न्यारा हैजहां जाति – भाषा से बढ़कर, देश – प्रेम की धारा हैनिश्चल, पावन, प्रेम पुराना, वो भारत देश हमारा है !!

हर ख़ामोश चेहरे के पीछेएक खतरनाक सोच छिपी होती है.

कोई कहता हैं दुनिया प्यार से चलती है,कोई-कहता हैं दुनिया दोस्ती से चलती है,लेकिन जब अजमाया तो पता,दुनिया तो बस मतलब से चलती है,

नफ़रत की एक बूंद ही सारा,माहौल बदनुमा कर गई।जहाँ से आया है जहरीला जहर,वह दरिया कैसा होगा।

यहाँ लिबास की क़ीमत है आदमी की नहीं, मुझे गिलास बड़े दे शराब कम कर दे.,

गलत इंसान शायरी में चमकते हैं, उनकी हर गलती से हमेशा सीख लेते हैं।

कभी-कभी रिश्तों की कीमत वो लोग समझादेते हैं जिनसे हमारा कोई रिश्ता नहीं होता।

जंगलों में सर पटकता जो मुसाफिर मर गया, अब उसे आवाज देता कारवां आया तो क्या.,

पिता के लिए बेटी होती है परी, घर के खुशियों की होती है कली।

सामने बैठे रहो, दिल को करार आएगाजितना देखेंगे तुम्हें, उतना ही प्यार आएगा.

जिन्दगी अपनी है तोअंदाज भी अपना ही होगा.

मुझसे भी ज्यादा मुझे पहचाने वाले शख्स हैं, मेरे पापा।

इश्क़ किया है तो दर्द सहना सिख…नहीं तो औकात में रहना सीख..Isq kiya hain toh dard sahna sikh….Nhi toh aukaat mein rahna sikh…

अगर लोग आपको नीचे गिराना चाहते हैं, तो इसका मतलब आप उनसे ऊपर हैं।

अगर मतलबी कहती दुनिया तो हूं,डर लगता है कहीं खो तुम्हें ना दूं।

मुझे मत देखो हजारो में, हम बिका नहीं करते बजारो में !

बेटी की जिंदगी में पिता की जगह कोई नहीं ले सकता।

जो पैसे से भी हासिल ना हो सके, कुछ ऐसा शौख रखता हूँ, ज़िंदगी के हर उलझों के लिए आपने आप को तैयार रखता हूँ

लहजे में बत्तमीजी और चेहरे पर नक़ाब लिएफिरते है; जिनके ख़ुद के खाते ख़राब है वोमेरा हिसाब लिए फिरते है.!

सीधी सीधी बात करो बहाने बनाने से क्या मतलब आने वालों की बात करो जाने वालों से क्या मतलब

लहरो को खामोश देखकरये ना समझना की समंदर मे लहरें नहीं हैहम जब भी उठेगे तूफान बनकर उठेगे.बस उठने की अभी ठानी नही है.

बिन सहारे नहीं हासिल किया ये मुकाम मैंने,वो पिताजी का कंधा थाजिसने कभी गिरने नहीं दिया।

फ़र्क दिल और जान का , जो , कर सके यहाँ , वो ही बस , पत्थर नहीं , एक इंसान है !

घटिया पने की अगर दुनिया होती,तो घटिया लोगों की अपनी अलग ही दुनिया होती।

जो इज़्ज़त देगा उसी को इज़्ज़तमिलेगी; हम हैसियत देखकर सरनहीं झुकाते ।

मेहनत पर भरोसा रखो खुद की,बात हमेशा तुम सच्ची कुबूल जाओ..लेकिन इतनी ऊंचाई पर भी ना जानायारों, के इंसानियत भी भूल जाओ..

“जो दिखता है उसपर भरोसा मत करो, इश्तेहारों की दुनिया अक्सर झूठी होती है।”

सुन छोरी इतनी आसानी से में तुझे नहीं मिलने वाला,मेरी माँ कहती है बेटा लाखों में एक है तू.

सच्चे मित्र ढूंढिए मतलबी यारतो अपने आप आपको ढूंढ लेंगे।

जहाँन की फ़िक्र किये बिनातुम्हे अपना मान लिया हैमतलबी नहीं हूँ सोणियोये तूने झूठा जान लिया है।

धोखा देने की सदा, करते रहे तलाश।इस दुनिया में दोगले, करते नहीं निराश।

लोगों में अब पहले जैसी वफा नजर नहीं आती

“ जिसे खुद से नहीं प्यार है,उसका जीना ही बेकार है..!!!

कभी मतलब के लिए,तो कभी बस दिल्लगी के लिए।हर कोई मोहब्बत ढूंढ रहा है,यहाँ ज़िन्दगी के लिये।

अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,इसीलिए मेरा भारत महान है

तुम क्या कर सकते हो ये किसी और को नहीं तुम्हे खुद को बताना है।

बेईमान व्यक्ति को यह समाज कभी भी इज़्ज़त नहीं देता बस मौका मिलते ही उसको बेइज़्ज़त करता हैं।

परख न सकोगे ऐसी शक्शियत है मेरीमैं उन्ही के लिए हूँ जो समजे हैसियत मेरी.

एक दिन वो बात भी होगी मोहब्बत वाली बरसात भी होगी प्यार में तुझे भी प्यार मिलेगा उससे वो वाली मुलाकात भी होगी

परख है मुझे भी घटिया लोगों की मैं,उनसे नहीं मिलता जो मुझसे मतलब से मिलते हैं।

खुद को इतना मज़बूत कर लिए है हमने वो क्या उसकी याद भी आना मुश्किल है

पसंद नहीं वो काम जो हमारे किरदार के खिलाफ हैं

घटिया लोगों की एक खासियत होती है,वो आपके मुँह के आगे आपकी जी हुजूरी करते हैं,,और आपके पीठ पीछे आपकी बुराई करते हैं।

दिल तोडा मेरा कोई बात नहीं गलती तुम्हारीनहीं मेरी थी भरोसा मेने किया था यार तुमने नहीं।

एक अच्छा इंसान बुरा तब बनता हैजब उसकी अच्छाई का मजाक बनता है !

जिंदगी में आये हो तो हर चीज करना, पर भूलकर भी कभी अपनी इज़्ज़त मत गवाना।

जब जेब में Money हो, तो कुंडली में शनि होने से भी कोई फर्क नहीं पड़ता।

ज़िंदगी में इंसान दो लोगों से हार जाता है, पहला परिवार से दूसरा अपने प्यार से.,

छोड़ गए वो साथ हमारा जो दोगले थे, जो कभी कहा करते थे हम हैं साथ।

“सबर कर बंदे मुसीबत के दिन जुजर जायेंगे हसी उड़ने वालों के भी चेहरे उतर जायेंगे। ”

“काम करो ऐसा कि एक पहचान बन जाये, हर कदम ऐसा चलो कि निशान बन जाये। ”

ज्ञान का अहंकार सबसे घटिया क़िस्म का अहंकार है ।

“ काली रात के अँधेरे मेंभी रास्ते बन जाते हैं,बस हमें खुद पर भरोसारखना होता है…!!

वो साथ होते तो शायद सुधर भी जाते हम, पर छोड़ कर साथ उसने हमारा, हमें आवारा बना दिया !

जो इंसान जीवन के मुश्किल रास्ते से गुज़रता है वही एक दिन मंजिल के पास पहुँचता है।

बहुत से आए थे हमें गिराने, कुछ ना कर पाए बीत गए जमाने !

हाँ झूठे होते हैं सब वादे, कोई किसी का साथ उम्र भर नहीं देता

ये मत सोचना की भूल गया होगानाम, चेहरे और औकात सबकी याद है.

रास्ते हजार हैं, चलना तो पड़ेगा सूरज साबनना हैं, जलना तो पड़ेगा।

जानता हूँ मै कहाँ तक है उड़ान इनकी,आखिर मेरे ही हाथ से निकले परिंदे है ये.

आपका प्यार ही हमारी जान है, आप इस बात से आज तक अंजान है, हम तो ये तक नही जानते कि हम कौन है क्योंकि आपका प्यार ही हमारी पहचान है.

मास्क तो बस एक बहाना है असल में, इंसान कुदरत को मुंह दिखाने के लायक नहीं रहा.,

तो तब वो नहीं रहता बिल्कुल भी बेईमान

हम अपनी नजर में अच्छे हैंसभी की नजर का ठेका नही ले रखा है.

नाम और पहचान चाहे छोटी हो, पर अपने दम पर होनी चाहिए !

“अपनी सोच को पानी के कतरो से भी ज्यादा साफ रखो, क्योंकि जिस तरह कतरो से दरिया बनता है, उसी तरह सोचो से अपना अन्दर का इमान बनता है।”

Recent Posts