772+ Farewell Shayari In Hindi For Teachers | फेयरवेल शायरी

Farewell Shayari In Hindi For Teachers , फेयरवेल शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: August 3, 2023 Post Updated at: February 13, 2024

Farewell Shayari In Hindi For Teachers : फिक्र करूं या जिक्र करूंआपके बिना ये सफर कैसे पूरा करूं। दिमाग को समझाऊं तो मन नहीं समझतादिल को समझाऊं तो आंखें रो पड़ती है।

आप थे तो सफल हो गये, आप थे तो हवा सारे गम हो गये, हम अकेले चले तो बहुत खार थे, आप के साथ राहों में गुल हो गये.,

“ आपको जाने की जल्दी थी तो लो मैं आंखों ही आंखों में,जहां तक छोड़ सकता था वहां तक छोड़ आया हूं। ”

श्रेय इनका बड़ा, कुछ जो हम कर सके बेफिकर हो के अध्यन, गहन कर सके यूँ कदम दर कदम, मार्गदर्शन मिला मुश्किलें ढेर थीं, पर सहन कर सके।

उस गली ने यह सोचकर सब्र किया, जाने वाले यहाँ के थे ही नहीं..

आप का साथ धूप में छांव है ,आपका साथ समंदर में नाव है ,आपका साथ अन्धकार में प्रकाश हैकर रहे हैं आज आपको विदापर दिल में आपका ही नाम है

”आपके साथ.. कुछ लम्हे… कई यादें बतौर ईनाम मिले, एक सफर पर निकले और तजुर्बे तमाम मिले।”

गुरू की कृपा शब्दों में नहीं बता पाऊंगा,रोम-रोम मेरा कर्जदार है यही जताऊँगा

जाने वाले को कहाँ रोक सका है कोईतुम चले हो तो कोई रोकने वाला भी नहींअसलम अंसारी

विदा तो होना ही था आपको आज हो या कलपर जुदा कभी मत होना ये वादा करो अब।

एक अद्भुत कॉलेज खोजना मुश्किल है, इसके साथ भाग लेना मुश्किल है और भूलना असंभव है।

और कोई गम नहीं एक तेरी जुदाई के सिवा, मेरे हिस्से में क्या आया तन्हाई के सिवा, यूं तो मिलन की रातें मिली बेशुमार प्यार में सब कुछ मिला शहनाई के सिवा.

अबके बिछड़े तो शायद हम किताबों में मिलेसूखे हुए फ़ूल जैसे किताबों में मिले।

” आपके साथ ये सारे मौसम फरिश्ते जैसे महसूस होते थे, आपके बाद ये मौसम हमें बहुत सतायेंगे। ”

बहुत याद आयेंगे ये कॉलेज के दिन,कैसे दिन गुजरेगें यारा तेरे बिन..!!

आपने हमारें विद्यालय के शिक्षण एवं रचनात्मक क्षेत्र में भी काफ़ी अधिक योगदान दिया है। हमें आज बहुत दुःख भी है, लेकिन ख़ुशी भी है।

दिल पर पत्थर रख आपको विदा कर रहे हैं, ना चाहकर भी खुद से जुदा कर रहे हैं।

आप काफ़ी समय से हमारे विद्यालय के सबसे जिम्मेदार शिक्षकों मे से एक रहे है। आपके अंदर शिक्षक होने के सभी गुण मौजूद है।

था आपका साथ तो बिंदास चल पड़े हमगिर भी पड़े हम तो साथ खड़े नजर आए हो आपजिन से सीखा है जिंदगी जीना कैसे कर दें विदाक्या बड़ी बात है, हम गर रो पड़े।

उसको रूख्सत तो किया था, मुझे मालूम न था, सारा घर ले गया घर छोड़ कर जाने वाला. निंदा फाजली

“ जाने वाले को कहां रोक सका है कोई,तुम चले हो तो कोई रोकने वाला भी नहीं। ”

आप से जी भरकर दिल की बात न हो पाई, जो कभी न भूले ऐसी मुलाकात न हो पाई.

याद है अब तक तुझ से बिछड़ने की वो अँधेरी शाम मुझेतू ख़ामोश खड़ा था लेकिन बातें करता था काजल।

”एक ऐसे बॉस को विदाई, जिसने अपने अधिकार का प्रयोग हमें सफलता की ओर आकर्षित करने के लिए किया, न कि हमारी पोस्ट पर हुकूमत चलाने के लिए।”

विदा होकर आप जहां भी जायेंगे, खुशियाँ ही खुशियाँ ही पायेंगे.

इक शुरुआत सी, ख़ुशनुमा हो गई मिल के चलने की रुत सी, यहाँ हो गई जीत जाने की लौं, आपसे जो मिली वो धुवाँ बन उठी, आसमाँ हो गई।

मिली-जुली खुशी-गम के भावनाओं के साथ, शुभकामना है आज विदाई के इस मौके में ये,कि हो तुम्हारे जीवन की शुभ शुरुआत…

जीवन साकार हो जाता है, जब जीवन में अच्छा गुरु मिल जाता है, ऐसे गुरु की विदाई पर हर कोई दुखी हो जाता है।

उदास क्या होना बदहवास क्या होनाफ़ूल का तो मुकद्दर है डाली से जुदा होना।

पता नही एक अहसास है ऐसे, आप हमसे दूर जा रहे हो पर भी पास हो जैसे, आपके विदाई की हमारे लिए बड़ी ही दुखद पल है कैसे।

अब तो जाते हैं बुत-कदे से ‘मीर’फिर मिलेंगे अगर ख़ुदा लायामीर तक़ी मीर

आप हमसे दूर नहीं जा रहे हैं, आप हमारे दिल के पास आ रहे हैं, आप जहाँ में जहाँ भी रहे, मुस्कुराते और खिलखिलाते रहे।

यादों की झड़ी सी है आंखों में छाईहो रही है आज आपकी विदाईहम करते है ईश्वर से प्रार्थनापूरी हो जीवन की हर कामना।

कहने को तो दूर हो जाएंगे, पर दिल से दूर नही जाएंगे, गुरु के साथ बिताया हुआ हर एक पल हमें बहुत ही याद आएंगे।

नहीं मिला देने को कुछ ख़ास, जो हमेशा रहे तुम्हारे साथ, हमारे आशीर्वाद को ले जाओ, जीवन में सफलता ही सफलता पाओ.

”है विदाई की यह बेला, लगा है आंसुओं का रेला, पर है खुशी का साथ… है आगे दुनिया बड़ी जहां मिलेगी आपको जीवन की नई सौगात।”

भीगा भीगा सा क्यों है यह संमाआज तो आसमान में बादल भी नहीं हैसुना है आज आपकी है विदाईइसलिए सबकी आंखें भर आई।

आपका आज जितना खूबसूरत था उस से कई ज्यादा खूबसूरत आपका कल होगा, यकीन है मुझे हमारे स्कूल का एक एक बच्चा सफल होगा।

बॉस काम ज्यादा ले तो परेशान मत होना, इससे आपका हुनर बढ़ता हैं..

आज हमने आपकी विदाई पर एक छोटा सा समारोह का आयोजन किया है। आशा करता हूँ कि आपको हमारा यह छोटा सा प्रयास अवश्य पसंद आएगा।

कल न हम होंगे, और ना कोई गिला होगा, सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिलसिला होगा, ,जो लम्हे हैं चलो हँस कर बितालें ,जाने जिन्दगी का कल क्या फैसला होगा ।

जीवन की कश्ती डगमग थी किनारे लगा दियाजमीं से उठाकर सिरमौर बना दियाऔर क्या तारीफ करूं तेरी आपने तोखुद को मिटा कर हमें बना दिया।

अगला पल बाहें फैलाए आपका इंतज़ार कर रहा है, ये पल भी खूबसूरत था वो भी होगा इसका आप से इज़हार कर रहा है।

आखिरी अलविदा कहते हैंहो सके तो स्वीकार कर लेनाजब भी मिले वक्त आपको तो हमें याद कर लेना

आप जा रहे है,इधर उदासी छाएगीआप की याद खूब आएगी,जहाँ भी रहे मुस्कुराते रहें.

कॉलेज का वक़्त कब बीत गया पता ही नहीं चला, कब खेल खेल में मैं इतने दोस्तों को जीत गया पता ही नहीं चला।

आप के जाने की उदासी इस दिल से हटायें कैसे, आप तो दिल में ही रहते है पर दिल को समझाये कैसे.

दिमाग को समझाऊं तो मन नहीं समझता दिल को समझाऊं तो आंखें रो पड़ती है

मेरे सीनियर ने थोडा सताया भी पर बड़ेभाई की तरह प्यार जताया भी थोडापरेशान भी किया रास्तों पर,पर सही रास्ता बताया भी।

आपने इस विद्यालय को अपने जीवन का बहुमूल्य समय दिया है। आपने हमेशा इस विद्यालय को अपने परिवार की भांति रखा है।

गूँजते रहते हैं अल्फ़ाज़ मिरे कानों मेंतू तो आराम से कह देता है अल्लाह-हाफ़िज़

होंगे जुदा ऐसी कोई खबर आई है,दिन भी है बेचैन, साँसे थम आई है,देंगे हम आपको फेयरवेल की पार्टी,लेकिन होने लगी है बेचैनी और आँखे भर आई है..!!

किसी को छोड़कर कोई कहीं नहीं जाताकोई शख्स हमारे दिल में जब बस जाता

यादों की लड़ी सी है छाई, आज विदाई की घड़ी है आई, हम हृदय से दे रहे है तुमको शुभकामनाओं के साथ शुभ विदाई.

बेफिक्र था मैं सर पर जो आपका हाथ था बे हिसाब था मैं आपके हाथों में जो हिसाब था विदा तो कर दूंगा आज आपको लेकिन यह बहते आंसू ना रोक पाऊंगा

मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि मुझे आपके बारे में दो शब्द कहने का अवसर प्राप्त हुआ, यह मेरा सौभाग्य है कि मैं आपके सामने कुछ शब्द कहने जा रहा हूँ।

आपने खूब काम कर लिया। अब आपके पास हमारे साथ समय बिताने और जीवन का आनंद लेने के लिए पर्याप्त समय होगा। सेवानिवृत्ति की बहुत-बहुत बधाई हो पापा जी! 💐💐

आप बहुत ही अनुशासन मे रहते है व विद्यालय को भी अनुशासन मे रखते है। जब-जब विद्यालय की मीटिंग होती थी, तब-तब आपने विद्यालय के लिए काफी अच्छे सुझाव दिए।

वो अलविदा’अ का मंज़र वो भीगती पलकेंपस-ए-ग़ुबार भी क्या क्या दिखाई देता हैशकेब जलाली

यादों की झड़ी सी है आंखों में छाई, हो रही है आज आपकी विदाई, हम करते है ईश्वर से प्रार्थना, पूरी हो जीवन की हर कामना.,

आपकी विदाई से आँखों से आँसू आ रहे हैं,इस हाल में आप हमें छोड़कर जा रहे है

विदा होकर आज चली जाओगेपर आशा है कि जहां भी जाओगेखुशियां ही खुशियां पाओगे।

आपके साथ हमने काफी अच्छा समय बिताया है। आज हमारे विद्यालय ने आपकी विदाई के उपलक्ष में एक छोटे से समारोह का आयोजन किया है।

“ आप जैसे बॉस किस्मत से मिलते हैं,रौशनी भर गई, नूर से खिल उठे.. जीत जायेंगे हम,हमको है यह यकीन क्योंकि आपके मार्गदर्शन पर जो हम चल पड़े हैं। ”

आप थे तो, सफल हो गयेआप थे तो, हवा सारे गम हो गयेहम अकेले चले तो, बहुत खार थेआप के साथ राहों में, गुल हो गये।

” थे कदम के निशां, बेहिचक चल पड़े, थामते आये हैं, हम अगर गिर पड़े जिनसे सीखा उन्हें, कैसे कर दें विदा क्या बड़ी बात है, हम अगर रो पड़े। ”

विदाई की घड़ी है, हर आंख नम पड़ी है हर कामना हो पूरी आपकी यही शुभकामना है तहे दिल से हमारी।

जिंदगी में लोग आते रहेंगे जाते रहेंगे, आप जैसे अच्छे गुरु को हम नही भुल पायेंगे।

अब जाने पर उदास क्या होना, अब बिछड़ने पर बदहवास क्या होना,यही तो दस्तूर है इस दुनिया का कि, एक बार मिलना और मिलकर जुदा होना।

” बस रुंधे कंठ हैं, यूं विकल कर दिया, दिल हुआ तरबतर, मन तरल कर दिया … आपकी यह जुदाई बहुत मुश्किल हो गई, इस विदाई ने हमको, सजल कर दिया। ”

अगर तालाश करूँ तो कोई मिल जायेगा, मगर आपकी तरह कौन हमें चाहेगा, आपके साथ से ये मंजर फरिश्तों जैसा है, आपके बाद में मौसम बहुत सतायेगा.,

बिना बताए ही सही, लेकिन तुम चले तो गए होतबसे ये जाना कि दर्द को संभलके नहींबल्कि सजा के रखना मुमकिन है।

आपने हमेशा परिवार के जैसा रखा है, आपको कैसे भूल जायेंगे, कल आपके जाने के बाद, बस आपकी यादे रह जायेंग||

Recent Posts