2525+ Dukhi Shayari In Hindi | दुखी शायरी

Dukhi Shayari In Hindi , दुखी शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 19, 2023 Post Updated at: January 17, 2024

Dukhi Shayari In Hindi : टूट कर चाहना और फिर टूट जाना, बात छोटी है मगर जान निकल जाती है। हर दर्द का इलाज़ मिलता था जिस बाज़ार में, मोहब्बत का नाम लिया तो दवाख़ाने बन्द हो गये!!

अपनी तरक्की का रोबकभी अपनी माँ को मत दिखानाक्योंकि जिंदगी में किस किस मोड़ पर हार करउसने तुम्हें जिताया हैयह तुम्हें पता नहीं

हमारे घर की दीवारों पे नासिर,उदासी बाल खोले सो रही है।“नासिर काज़मी”

कुछ चीजें रोने से नहीं बल्कि सब्र करने से मिलती हैं. Kuch cheezein rone se nahi balki sabr karne se milti hai.

जिस्म से रूह तक जाए तो हकीकत है इश्क़,और रूह से रूह तक जाए तो इबादत है इश्क़।

❤दिल मे ना जाने कैसे 🙂तेरे लिए इतनी जगह बन गई,💕💕 तेरे मन की हर छोटी सी 💖चाह मेरे जीने की वजह बन गई🌹

वादे झूठ से भी ज्यादा बदतर होते हैं क्योंकि आप सिर्फ उन्हें विश्वास ही नहीं कराते, आप उन्हें भी खोखला बना देते हैं।

धडकनों को कुछ तो काबू में कर ए दिल,अभी तो पलकें झुकाई है मुस्कुराना अभी बाकी है उनका।

जीवन का वो ख़ूबसूरत रंग है प्यार, जब बदलते हैं मौसम, वो ख़ुदा का दुलार।

अब तो वफ़ा करने से मुकर जाता है दिल,अब तो इश्क के नाम से डर जाता है दिल,अब किसी दिलासे की जरूरत नही है,क्योंकि अब हर दिलासे से भर गया है दिल।

जब दुख हद से आगे निकल जाता है, तब लोग रोते नहीं हैं और चुप हो जाते हैं ।

यही हकीकत है के अब हम तनहा हैं कोई सहारा कोई हमारा है नहीं

किसी को भूल कर सो जाना इतना असान नहीं होता, ये दिल के दर्द हैं जनाब ये दिखाई नहीं देता।

अगर किसी की पूजा करनी ही हैतो इतना याद रखनाकि घर से बड़ा कोई मंदिर नहींऔर माँ से बड़ा कोई भगवान नहीं

दिल तोड़ के वो चला गया खुद को उसने रोका ही नहीं उसके बाद मेरा होगा क्या उस बेगैरत ने ये सोचा ही नहीं

जो 9 महीने तक पेट में रखती है,3 साल तक हाथों में रखती है,और उम्र भर दिल में रखती है,वह एक माँ ही तो होती है।

कुछ अजीब है ये दुनिया, यहाँ पर झूठ नहीं, सच बोलने से रिश्ते टूट जाते है।

“माँ” के प्यार की जगह कोई नहीं ले सकताLove you MAA😘😚

खफा भी रहते हो और वफ़ा भी करते हो , पाना भी नहीं चाहते और खोने से भी डरते हो ।।

फायदा बहुत गिरी हुई चीज है,लोग उठाते ही रहते हैं।

घोल कर पिए हम दोनों ने ज़हर मैंने हिज्र का, तूने इश्क़ का

शिकायत तों मुझे खुद से है, तुझसे तो आज भी इश्क है !

तुमे लाख छुपाओ दिल में ख्वाइस हमरे चाहत की दिल जब भी तुमारा धडकता है आवाज यहाँ तक आई है।।

छुप के तेरी तस्वीरें देखता हूँ, बेशक तू ख़ूबसूरत आज भी है,पर चेहरे पर वो मुस्कान नहीं, जो मैं लाया करता था।

ऐसा नही की आपकी याद आती नही, खता सिर्फ इतनी है के हम बताते नही !

लम्हों की खुली किताब हैं ज़िंदगी,ख्यालों और सांसों का हिसाब हैं ज़िंदगी,कुछ ज़रूरतें पूरी, कुछ ख्वाहिशें अधूरी,इन्ही सवालों के जवाब हैं ज़िंदगी।

तुम्हें #शिकायत है, कि मुझे #बदल दीया वक्त ने #खुद से पूछो क्या #तुम वही हो.!!

हमने तो देखा है खुद को कई बार आजमा कर,अक्सर लोग धोखा देते है करीब आकर,इस जमाने ने समझाया था लेकिन दिल नही माना,छोड़ जाओगे एक दिन हमे अपना बना कर.

“भूलने वाली बातें याद हैं, इसलिए ज़िन्दगी में विवाद है।”

तेरी नफरत में वो दम कहा,जो मेरी चाहत को कम करदे..Teri Nafrat mein wo dum kaha,Jo meri chahat ko kam karde..

दर्द हमेशा आंसुओं में नहीं होता,कभी-कभी मुस्कान में भी छुपा होता है।

🤷English की Book बन गई हो तुम 🤔 👉पसंद तो आती हो पर #समझ में Nahi❌ 🙂

वक़्त वक़्त पे जिसका मिला था सहारा न रहा,कटती थी ज़िन्दगी जिसके साथ अब वो गंवारा न रहा !!

प्यार कभी झूठा नहीं होता, झूठे तो कसमें वादे होते हैं। Pyar kabhi jhutha nahi hota jhuthe to kasme wade hote ha.

बनके अजनबी मिले है ज़िंदगी के सफर में,इन यादों को हम मिटायेंगे नहीं।अगर याद करना फितरत है आपकी,तो वादा है हम भी आपको भुलायेंगे नहीं।

खुशियाँ तो कब की रूठ गयी हैं काश कि,इस ज़िन्दगी को भी किसी की नज़र लग जाये।

.लिखना.था कि.खुश है तेरे बगैर भी.यहाँ हम .मगर.कमबख्त.आँसू है.कि कलम से.पहले.ही.चल दिये

किसी की असलियत जाननी है तो उस वक्त उस से बात करो जब वो गुस्से में हो

बादल दुखों के छटते ही नहीं, यूँ ही नहीं आँखों के आसमान से बारिश गिरती है।

कभी गम तो कभी वेबफाई मार गई,कभी उनकी याद आई तो जुदाई मार गई,जिसको हमने बेइन्तहा मोहब्बत की,आखिर में हमे उसी की वेबफाई मार गई.

दर्द को दर्द अब होने लगा है,दर्द अपने गम पे खुद रोने लगा है।अब हमें दर्द से दर्द नही लगेगा,क्योंकि दर्द हमको छू कर खुद सोने लगा है।

ज़िंदगी में हर मौके का फायदा उठाओ,मगर किसी के भरोसे का नहीं…Zindagi me har mauke ka fayda uthao,Magar kisi ke bharose ka nhi…

ना तुम्हे #होश रहे और ना मुझे #होश रहे इस कदर टूट के चाहो.!!

उलझने में समय नहीं लगता और टूटने में भी समय नहीं लगता, उलझे हुए मन को ठीक करने और टूटे हुए मन को ठीक करने में बस समय लगता है।

निखरि हैं मेरी मोहब्बत तेरी हर आजमाइश के बाद,सवरता जा रहा है इश्क तेरी हर फरमाइश के बाद।

अपने खालीपन को भरना छोड़ दियातन्हाई से बिलकुल डरना छोड़ दियाअब तो मुझको मेरे हल में छोड़ तोअब तो मैंने तुम पर मरना छोड़ दिया

“एक उम्र बित चली है तुझे चाहते हुए, तू आज भी बे खबर है कल की तरह।”

दुआ करो जो जिसे मोहब्बत करे वो उसे मिल जाये,क्योंकि बहुत रुलाती है ये अधूरी मोहब्बत।

हमने तुम्हें उस दिन से और भी ज़्यादा चाहा है,जबसे मालूम हुआ तुम हमारे होना नही चाहते।

जब आप मेरे हो ही नहीं तो मैं आपको खोने से क्यों डर रही हूँ।

मिजाज को बस तल्खियाँ ही रास आईं,हम ने कई बार मुस्कुरा कर देख लिया।

कभी कभी बहुत सताता है यह सवाल मुझे कि , हम मिले ही क्यों थे जब हमे मिलना ही नहीं था ।।

बड़े दिल से बनाया था आशियाना दिल का एक शख्स ने आकर सब तबाह कर दिया

अपनी ख़राब आदतों पर जीत हासिलकरने के समान जीवन में कोई औरआनन्द नहीं होता है।

छोटी सी जिंदगी है अरमान बहुत है, हमदर्द नहीं कोई इंसान बहुत है, दिल का दर्द सुनाए तो किसको, जो दिल के करीब है, वो अनजान बहुत है।

“दर्द की दास्तान अभी बाकी हैमोहब्बत का इम्तिहान अभी बाकी हैदिल करे तो फिर से वफा करने आ जानादिल ही तो टूटा है जान अभी बाकी है”

अकेला हूँ पर मुस्कुराता बहुत हूँ, ख़ुद का साथ बड़ी शिद्दत से दे रहा हूँ। Akela hun par muskurata bahut hun khud ka sath badi shiddat se de rha hun.

हमने उनसे प्यार किया, ये मेरे प्यार की हद थी,हमने उन पर एतवार किया, ये मेरे एतवार की हद थी,मर कर भी खुली रही मेरी आँखे, ये मेरे इंतज़ार की हद थी.

वो मर गई किसी अमीर ज़ादे पर,यहां एक ग़रीब मां का लाल उजड़ गया।

देख लेते हो मोहब्बत से यही काफी है,दिल धड़कता है सहूलियत से यही काफी है।हाल दुनिया के सताए हुए कुछ लोगों का,जो पूछ लेते हो शरारत से यही काफी है।

के अब रहा नहीं जाता के अब सहा नहीं जाता शिकायत है बहुत उनसे मगर कुछ कहा नहीं जाता

प्यार के बदले तो प्यार ना मिला,,मगर मेरे आंसुओ के साथ,2 आंसू ही बहा लेते।

हमारी कहानी हमको ही पता हैबर्बाद जिन्दगी हमको ही पता हैसबको पता है हम जिन्दा हैमगर कैसे जिन्दा है हमको ही पता है😔😔

कुछ हार गई तकदीर कुछ टूट गये सपने,कुछ गैरों ने किया बरबाद कुछ भूल गये अपने।

एक सूखे पत्ते को देखकर इतना तो समझ गया जरूरत पूरी होने पर अपने भी साथ छोड़ देते हैं

जिंदगी की सबसे बड़ी हार, किसी की आँखो में आँसू आपकी वजह से और जिंदगी की सबसे बड़ी जीत, किसी की आँखो में आँसू आपके लिए।

जानता पहले से था मैं, लेकिन एहसास अब हो रहा है, अकेला तो बहुत समय से हूं मैं, पर महसूस अब हो रहा है।

न कर तू इतनी कोशिशे मेरे दर्द की.पहले इश्क कर फिर चोट खा.फिर लिख दावा मेरे हर एक दर्द की.

मेरे नसीब में अच्छे दिन लिखे ही नहीं मेरी क़िस्मत में जो लोग बुरे लिखे हैं

बहुत अंदर तक बसा था वो शख़्स मेरे,उसे भूलने के लिए बड़ा वक़्त चाहिए।

ज़िन्दगी का खेल भी निराला है यहाँ कुछ पाने के लिया बहुत कुछ खोना पड़ता है

इस भरी दुनिया में कोई भी हमारा न हुआ,ग़ैर तो ग़ैर हैं अपनों का सहारा न हुआ।“राजेन्द्र कृष्ण”

सिर्फ चेहरे पर मरते हो तुम क्या ख़ाक मोहब्बत करते हो

Recent Posts