2527+ Do Line Shayari In Hindi | Two Line Shayari in Hindi

Do Line Shayari In Hindi , Two Line Shayari in Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: August 31, 2023 Post Updated at: May 9, 2024

Do Line Shayari In Hindi : मोहब्बत पहली दूसरी या तीसरी नहीं होती, मोहब्बत वही है जिसके बाद कोई मोहब्बत नहीं होती। ख़ुशी से किसी और के हो जाना, मगर उससे भी बेवफाई न करना।

“खुद के लिए इक सज़ा, मुकर्रर कर ली मैंने ! तेरी खुशियो की खातिर, तुझसे दूरियां चुन ली मैंने।”

करने लगे जब शिकवा उससे उसकी बेवफाई कारख कर होंट को होंट से खामोश कर दिया

खामोशियां बेवजह नहीं होती,कुछ दर्द आवाज छीन लिया करते हैं।

वक्त भी… कैसी पहेली दे गया….उलझने सौ… जां अकेली दे गया…..

बाँध कर रख ली है मैंने अपनी आँखों में ख़ुशबू तेरी !! अब महकी सी रहती हूं मैं भी किसी गुलशन की तरह !!

हकीकत कहो तो उनको ख्वाब लगता है, शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है, कितनी सिद्दत से उन्हें याद करते है हम, और एक वो है जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है।

ग़म-ए-दुनिया भी ग़म-ए-यार में शामिल कर लो नश्शा बढ़ता है शराबें जो शराबों में मिलें

वो इस अंदाज़ में मुझसे मोहब्बत चाहती हैं,मेरे ख्वाब में भी अपनी हुकूमत चाहती है.!!

⇒ बिना वजह हम तेवर नहीं दिखाते, मगर सही वजह पे तेवर के साथ वार भी करते हैं!!

हो के तुम मेरे मुझको मुकम्मल कर दो,अधूरे-अधूरे अब हम ख़ुद को भी अच्छे नहीं लगते।

शिद्दतों से चाहने वाले भी एक समय के बाद बदल जाते हैं, वक़्त हमारा भी आएगा जनाब, इतना क्यों इतराते हो ।

सबको वक़्त देना भीवक़्त की बेइज्जती है।

क्या कमाल का हैतेरा आहिस्ता बोलने का अंदाज़,कान सुनते कुछ नहींलेकिन दिल सब समझ जाता है।

तेरा वजूद मेरी दुआओं में होमेरी हाथों की लकीरों में तू ऐसे समायेमैं दुआ में अमीन कहूंऔर तू मेरी हो जाये

“कौन कहता है कि इंसान रंग नहीं बदलता है ! किसी के मुंह पर एक सच बोल कर तो देखिये।”

“हवाओं के भरोसे मत उड़, चट्टाने तूफानों का भी रुख मोड़ देती हैं, अपने पंखों पर भरोसा रख, हवाओं के भरोसे तो पतंगे उड़ा करती हैं।”

अब वही होगा जो दिल चाहेगाआगे जो होगा देखा जाएगा ।।

रख लो दिल में संभाल कर थोड़ी सी यादें हमारी रह जाओगे जब तन्हा बहुत काम आयेंगे हम…!!!

“छुपा लो मुझे अपने सासों के दरमियाँ, कोई पूछे तो कह देना जिंदगी है मेरी…!!!”

यूँ शक ना किया करो मेरी दोस्ती पे, तुम्हारे बिना भी हम तुम्हारे ही रहते है.

जागना कबूल हैं तेरी यादों में रात भर, तेरे एहसासों में जो सुकून है वो नींद में अब कहाँ!!

“मोहब्बत यूं ही किसी से हुआ नहीं करती। अपना वजूद भूलाना पड़ता है, किसी को अपना बनाने के लिए।”

हाल मीठे फलों का मत पूछिए साहब, रात दिन चाकू की नोंक पे रहते है !

कुछ बदल जाते हैं, कुछ मजबूर हो जाते हैं,बस यूं लोग एक-दूसरे से दूर हो जाते हैं।

प्रेम तब खुश होता है जब वो कुछ दे पाता हैअहंकार तब खुश होता है जब वो कुछ ले पाता है

काश तुम कभी जोर से गले लगा कर कहो,डरते क्यों हो पागल तुम्हारी ही तो हूँ !

कितनी फ़िक्र है कुदरत को मेरी तन्हाई की, जागते रहते हैं सितारे भी, रात भर हमारे लिए।

भूले-बिसरे हुए ग़म फिर उभर आते हैं कई आईना देखें तो चेहरे नज़र आते हैं कई

कहानी वही है बस किरदार बदल रहे है, लोग भी वही है, बस व्यवहार बदल रहे है।

मेरी ख्वाहिश है की मैं फिर से फरिश्ता हो जाऊँ, माँ से इस तरह लिपटूँ की बच्चा हो जाऊँ।

अजीब जुल्म करती हैं तेरी यादें मुझ परसो जाऊं तो उठा देती हैं जाग जाऊँ तो रुला देती है

⇒⇒ सकूं कहाँ ढूँढे इस जहान में! क्यूंकि लोग दिल से भी दिमाग का काम लेते हैं!!

एक तेरा दीदार मेरे सारे गमो को भुला देता है, जिंदगी मेरी जिंदगी बना देता है.

भूलूँगा अगर तुझे, तो जी ना पाउँगा!याद भी रखा अगर तो मर जाऊंगा.!!

हमें मिलती है तुम्हारी स्माइल से राहत, क्योंकि तुमसे ही बहुत है हमें चाहत।

न रुकी वक़्त की गर्दिश न ज़माना बदला,पेड़ सूखा तो परिंदों ने ठिकाना बदला।

मैं एक शाम जो रोशन दीया उठा लाया, तमाम शहर कहीं से हवा उठा लाया।

दुश्मनो की अब किसे जरूरत है अपने ही काफी है दर्द देने के लिए..

मेरे दिल की जिद है कि प्यार करुँ तो सिर्फ तुमसे करूँ, वरना तुम्हारी जो फितरत है वो नफरत के भी काबिल नहीं है।

आप दिल से दूर हैं धडकन से नही आप हमसे दूर हैं हमारी यादों से नही…!!!

दोस्तो को हर बात बतानी पड़ती है, उन्हें दोस्ती की याद दिलानी पड़ती है। Dosto ko har baat batani padti hai, unhe dosti ki yaad dilani padti hai.

भाई-भाई के प्यार को जो समझ जाता हैं, वो जीवन में ख़ुशी और तरक्की पाता हैं।

ਜੇ ਕੋਈ ਤੈਨੂੰ ਰਾਹ ਪੁਛੇ ਤਾਂ ਦੱਸ,ਇੱਕ ਜਾਨ ਸਾਡੇ ਦੋ ਦਿਲਾਂ ਵਿੱਚ ਵੱਸਦੀ ਹੈ।

तेरी तो फितरत थी सबसे मोहब्बत करने की, हम तो बेवजह खुद को खुशनसीब समझने लगे..

दर्द से भरा है तू ? एक दिन सब ठीक होगा रुलाने वाला तेरा भी हैं तेरे सारे घाव भर देगा

सूखे हुए शजर को पानी मिला नहीं,आज सब्ज़ हुआ आँगन तो बारिश होने लगी।

अगर खोजूँ तो कोई मुझे मिल ही जाएगा,लेकिन तुम्हारी तरह मुझे कौन चाहेगा।

“सपने और लक्ष्य में एक ही अंतर है सपने के लिए बिना मेहनत की नींद चाहिए और लक्ष्य के लिए बिना नींद की मेहनत।”

मेरा सफर बहुत अच्छा है लेकिन, मेरा हमसफ़र उससे भी अच्छा है।

⇒⇒ वो पूछते हैं क्या हाल है, उन्हें क्या बताएं आपके बिना क्या हाल हो सकता है!!

रोज ढलता हुआ सूरज कहता है मुझसे,आज उसको बेवफा हुए एक दिन और बीत गया.!

तेरी बेवफाई ने हमारा ये हाल कर दिया है,हम नहीं रोते, लोग रोते हैं हम देखकर ।

तुम पूछ लेना सुबह से, न यकीन हो तोशाम से,ये दिल धड़कता है तेरे ही नाम से।

हम दुश्मनों 🇨🇳 को भी बड़ी जानदार सजा 🤕 देते हैं ,आवाज़ 🔇 नहीं उठाते बस नजरो 😔 से गिरा देते हैं .. ।। 😁

तुमने पूछा था न कैसा हूँ मैं, कभी भूल न पाओगे ऐसा हूं मैं.

कुछ ऐसा काम करो कि आपके माता-पिताअपनी प्रार्थना में कहेंहे प्रभु हमें हर जन्म में ऐसी ही संतान देना

जिंदगी के हालातोंने अब तक इतना सीखा दिया है की यहां अपना और पराया कोई नहीं होता ♥♥♥

रोज रात को सुलझाकर सिरहाने रखते है जिंदगी को,रोज सुबह ना जाने कैसे उलझी मिलती हैं जिंदगी….

क़ैद-ए-हयात ओ बंद-ए-ग़म अस्ल में दोनों एक हैं मौत से पहले आदमी ग़म से नजात पाए क्यूँ

बनाई उन्होंने जबसे मुझसे दूरी है ,हंस के जीना तो बसमेरी एक मजबूरी है।

“झूठा लव और वफ़ा की कसमें, साथ देने का वादा, कितना झूठ बोलती है दुनिया, सिर्फ समय बिताने के लिए।”

शेर-ओ-सुखन क्या कोई बच्चों का खेल है?जल जातीं हैं जवानियाँ लफ़्ज़ों की आग में।

अगर बिकने पे आ जाओतो घट जाते हैं दाम अक्सर,न बिकने का इरादा होतो क़ीमत और बढ़ती है।

शिकवा करू भी तो करू किस से।दर्द भी मेरा, दर्द देने वाला भी मेरा ।।

भूले हैं रफ्ता-रफ्ता उन्हें मुद्दतों में हम,किश्तों में खुदकुशी का मज़ा हम से पूछिए।

यहाँ लिबास की कीमत हैआदमी की नहीं,मुझे गिलास बड़े देशराब कम कर दे।

तुमसे मिले हैं जबसे, जी चाहता है,की अब बिछड़ जाएं सबसे।

छोटा सा तू मेरा एक काम कर दे,तेरा ‘सरनेम’ मेरे नाम कर दे.

जल के आशियाँ अपनाख़ाक हो चुका कब का,आज तक ये आलम हैरोशनी से डरते हैं।

ऐ ग़म-ए-ज़िंदगी न हो नाराज़ मुझ को आदत है मुस्कुराने की

एक शख्स की खातिर हंसना छोड़ देते हैं इश्क़ में ठुकराए हुए अक्सर जीना छोड़ देते हैं 😓😓😓

समझता ही नहीं वो मेरे अलफ़ाज़ की गहराईमैंने हर लफ्ज़ कह दिया जिसे मोहब्बत कहते है

Recent Posts