2903+ Bichadne Ki Shayari In Hindi | अपनों से बिछड़ने की शायरी

Bichadne Ki Shayari In Hindi , अपनों से बिछड़ने की शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 11, 2023 Post Updated at: April 7, 2024

Bichadne Ki Shayari In Hindi : बिखरी नहीं हु में हमेशा निखरी हूँ,जब भी किसी से बिछ्ड़ी हु. वो कहता था तुम्हारी कसम,कभी न छोडूंगा तुम्हे,आज देखे हम अभी तक ज़िंदा है वाह,यार क्या झूठी कसम खाई थी तूने.

दो दिन में हो गया है ये आलम कि जिस तरह तेरे ही इख़्तियार में हैं उम्र भर से हम -bismil-saeedi

जा देख लिया तेरा भी प्यार में हद से गुजरना,वादा करना ,मुकरना,वादा करना फिर मुकरना।

तुमसे मिलना बाते कर ना अच्छा लगता हैचुप चुप के हसना अच्छा लगता है,

भूल जाने की कोई तो वजह दे दोदूरिया ऐसे ही कबूल नहीं होती।

उसके कमरे में हर सुबह दिखती हैं ओस की बूंदें आँखों को नम किये बगैर रात गुजरने नहीं देता …

माफ़ी चाहता हूँ तेरा गुनहगार हू ऐ दिल, तुझे उसके हवाले किया जिसे तेरी क़दर नही थी

क्यों जुड़ता है तू इस जहाँ से एक दिन ये गुजर ही जायेगा चाहे कितना भी समेट ले जहाँ मुट्ठी से फिसल ही जायेगा!!

ये शराब भी एक अजब चीज़ बनायी है ऐ खुदा, पीते ही चेहरे धुंधले और किरदार साफ नज़र आते है…

लाख कोशिशें कर के देख चुका हु की तूझे याद ना करु, लेकिन इरादे अपनी जगह है और बेबसी अपनी जगह।

हम बेस्ट फ्रेंड्स हैं,इस बात को हमेशा ध्यान में रखना।तुम जब भी गिरोगे,मैं तुम्हें उठाने आऊंगा लेकिन तुम पर पूरी तरह से हंसने के बाद।

किसी ने क्या खूब लिखा हैमोहब्बत नहीं, यादें रुलाती हैं.!

किसे सुनाएँ अपने गम के चन्द पन्नों के किस्से, यहाँ तो हर शख्स भरी किताब लिए बैठा है…

मानों या ना मानो पागलपंती का असली मजा तो स्कूल वाले पुराने दोस्तों के साथ ही आता है..!!

आपकी नज़रो से दूर चले जाएंगेफिर वापस लौटकर ना आएंगेअब और गम हम नहीं सह सकतेकिसी और को दिल में नहीं बसायेंगे।

तुझ से रूठने का हक है मुझ को.. ~ पर मुझ से तुम रूठो यह अच्छा नहीं लगता|

तोड़े बग़ैर संग तराशे न जाएँगेवो दिल ही क्या जोटूट के पत्थर न हो सके

इश्क़ क्या कर लिया हमने जान पर बन आई है अब किसे ये ख़बर थी कि क़िस्मत में जुदाई है।

मुझे परहेज़ है, ज़ख्मों की नुमाइश से, ~ मेरे हमदर्द रहने दे, दिले-बीमार की बाते…

गुलाब की महक को चुराया नहीं जाता,सूरज की रोशनी को छुपाया नहीं जाता,दूरियां चाहे कितनी भी हो दोस्तों में,लेकिन चाहकर भी दोस्तों को भुलाया नहीं जाता ।

तू मेरी ज़िंदगी की वो खुशी हैं,जिसे मैंने अपने दुवाओ में मांगा हैं…Tu meri zindagi ki wo khusi hain,Jise maine apne duwao me manga hain..

दुश्मन हो कितने भी पापी उसके लिए सिर्फ हम दो भाई ही काफी

अल्फाज तो जमाने के लिये हैं,तुम्हें तो हम अपने दिल की धडकनें सुनायेंगे..Alfaz toh jamane ke liye hain,Tumhe toh hum apne dil ki dhadkane sunayenge..

कितने अजीब होते है ये मोहब्बत के रिवाज़ भी लोग आप से तुम , तुम से जान और जान से अनजान बन जा

वक़्त तेज़ी से बदल गया ~ और तुम…वक़्त से ज़्यादा तेज़ निकली

एक दिन शिकायत तुम्हें वक्त से नहीं खुद से होगी, कि जिंदगी सामने थी और तुम दुनिया में उलझे रहे

मेरी छोड़ ये बता बिछड़ने का गम क्या तुझे भी हुआ, क्या कभी ठीक ना होने वाला ज़ख़्म तुझे भी हुआ।

इब्न-ए-मरयम हुआ करे कोई ~ मेरे दुख की दवा करे कोई

कहीं गिर ना जाउ मैंआपको याद करते करते हैंआज मेरे शहर मेंजोरो से बारिश हो रही है।

कुल मिला के साथ तुमको छोड़ना ही है, मन बना चुके हो दिल तोड़ना ही है

किसी के दूर चले जाने सेमोहब्बत कुम नहीं होतीदिल में भी वही रहता है औरमोहब्बत में भी वही।

तेरी यादों में खोए रहते हैं,इस दुनिया से एक दूरी सी लगती है।हो सके तो लौट आ ए दोस्त,तेरे बिना जिंदगी अधूरी सी लगती है।

वो दरिया है यादों का मैं उसमे डूबा पंछी किनारा भी नहीं मिलना सहारा भी नहीं मिलना

जब भी सुकून की बात आती है यार कुछ दोस्तों की बहुत याद आती है ।

टूटेंगे मालूम था, मगर इस तरह बिखरेंगे पता ना था, अलग हो जाएंगे मालूम था मगर इस क़दर बिछड़ेंगे पता नहीं था।

सैकड़ों ख़ाब पाले हैं, ~ आँखों की औक़ात तो देखो…

हम आपसे सच्ची दोस्ती रखते है,मन करे तो कभी आजमा के देख लेना।हम तो है 22 कैरेट खरा सोना,चाहों तो कभी भट्टी में जला के देखना।

सोचा नहीं था जिंदगी में ऐसे भी फसाने होंगे, रोना भी जरूरी  होगा और आंसू भी छिपाने होंगे।

सच्ची मोहब्बत को वही समझ सकता है…,जीस ने अपनी सच्ची मोहब्बत खो दी हों….

आपके तर्के-ताल्लुक के बावजूद, ~ आप ही हो मेरे ख्यालो-ख्वाब में.. ****************************************

तूने रस्ता बदल लिया वरना ~ मैं तो साथ ही था तेरे…

मैंने भी बदल दिए वसूल ए जिंदगी, अगर वो प्यार करे तभी याद रहेगा।

हस्ते चेहरे को रुला देती है खुशियों में ज़हर मिला देती है यादें ना हो तो ही अच्छा है यादें बन्दे को क्या से क्या बना देती है

अफ़सोस होता है उस पल जब  अपनी पसन्द और कोई चुरा लेता है  ख्वाब हम देखते हैं और हकीकत  कोई और बना लेता है।

लोग सर फोड़ कर भी देख चुके ग़म की दीवार टूटती ही नहीं

ठहर के पाँव के काँटे निकालने वाले ~ ये होश है तो जुनूँ कामयाब क्या होगा

चलते चलते अचानक पीछे मुङकर देखा तो… कुछ यादें हँस रहीं थी और कुछ रिश्ते दम तोङ रहे थे…

दोस्त एग्ज़ैम में फेल हो जाए तो दुख होता है,लेकिन फर्स्ट आ जाए तो उससे भी ज्यादा दुख होता है।

चले भी आओ अब…हकीकत में मेहरबाँ बनकर…आज इंतज़ार “तुम्हारा”…दिल ❤️ को हद से ज्यादा है…

सच्चा यार आपकों कभी गिरते हुए नही देखेगा,चाहे वों किन्ही के कदमों में या फिर किन्ही कि नजरों में।

मैंने तो समझा थाके मिल कर दास्तान पूरी हुई,वो बिछड़ कर औरभी लम्बी कहानी कर गए.

दिल तो चाहता है तुमसे मिलनालेकिन फासलों की मजबूरी हैहम तो सदा तेरे साथ हैसिर्फ़ नज़रों की दूरी है.

प्यार, एहसास, हँसी और शरारत बनाए रखनाखुद में जरा सा बच्चा हर हाल में बचाए रखना ।

सोचा था के वो बोहत टूट कर चाहेगी मुझे..लेकिन चाहा भी हमने और टूटे भी हम।

मैं बचपन में ही रहती तो अच्छा था,हज़ारों हसरतें बर्बाद की मैंने जवान होकर.!!!……………….. 💔…………………

खुदा जाने आपसे कितने दूर हैं हमबस अकेले रहने को मजबूर है हमसजा ऐसी की मिल नहीं सकते आपसेबस इतना जान लो बेकसूर है हम।

ना-कामी-ए-इश्क़ या कामयाबी ~ दोनों का हासिल ख़ाना-ख़राबी

जो बांध कर कलाई पर धागा,मौत को रोक देती है,वो बहन बड़े नसीबो से मिलती है।

मोहब्बत में उस शख़्स से हारे हैजो कहता था कि हम सिर्फ तुम्हारे है.!

राज़ खोल देते हैं नाजुक से इशारे अक्सर, कितनी खामोश मोहब्बत की जुबान होती है।।

मेरा ज़मीर बहुत है मुझे सज़ा के लिए,तू दोस्त है तो नसीहत न कर ख़ुदा के लिए।

सुनो तुम अपना ख्याल रखा करो,क्योंकि मेरे पास तुम जैसा और कोई नही..Suno tum apna khyaal rakha karo,Kyuki mere paas tum jaisa aur koi nahi..

मुझे अब भूख कहाँ लगेगी भला तेरे बिछड़ने का गम मुझे खता रहता है।

कसूर है मेरा दिल लगाया तुमसे, तबाह होने को रास्ते और भी थे

दिल का दयार-ए-ख़्वाब में दूर तलक गुज़र रहा ~ पाँव नहीं थे दरमियाँ आज बड़ा सफ़र रहा!

एक मैं Cute… एक मेरा भाई Cute… बाकी पूरी दुनिया डरावनी भूत…!!!

इश्क़ से लोग मना करते हैं जैसे कुछ इख़्तियार है अपना

गीत की जरुरत महफ़िल में होती है,प्यार की जरुरत हर दिल में होती है,बिना दोस्त के अधूरी है जिंदगी,क्योंकि दोस्त की जरुरत हर पल में होती है।

दोस्त होते हैं जिंदगी में,तो हर कमी पूरी हो जाती है।बिना दोस्तों के तो,ये जिंदगी अधूरी हो जाती।

अपने दिल में हमें भी बसाए रखना , हमारी यादों के चिराग को हमेशा जलाएं रखना , बहुत लंबा है जिंदगी का सफ़र मेरे दोस्त , इसका हिस्सा हमें भी बनाए रखना ।

चाहे अब तुम रोज़ झगड़ना मुझसे, पर फिर से बिछड़ने की बात ना करना।

अंदाज ऐ प्यार तुम्हारी एक अदा। दुर हो हमसे तुम्हारी खता हैं। दिल में बसी हैं एक प्यारी सी तस्वीर तुम्हारी। जिसके नीचे जुदाई दर्द लिखा हैं..!

कौन इस दिल की देख-भाल करे, ~ रोज़ थोड़ा-थोड़ा टूट जाता है…

Recent Posts