519+ Best 2 Line Shayari On Life In Hindi | Top two line shayari in hindi on life

Best 2 Line Shayari On Life In Hindi , Top two line shayari in hindi on life
Author: Quotes And Status Post Published at: July 20, 2023 Post Updated at: July 20, 2023

Best 2 Line Shayari On Life In Hindi : भूखा पेट खाली जेब और झूठा प्रेम, इंसान को जीवन में बहुत कुछ सिखा जाता है ! कुछ तो तन्हाई की रातों में सहारा होता, तुम न होते न सही जिक्र तुम्हारा होता !

समझ रहे हैं मगर बोलने का यारा नहीजो हम से मिल के बिछड़ जाए वो हमारा नही

आज तक किसी के लिए नहीं तरसा, पर बात करने के लिए तरस रहा हूँ।

धूप में निकलो घटाओं मैं नहाकर देखो, जिंदगी क्या है किताबों को हटाकर देखो !

निगाहों की बात निगाहों से कर लिया करोमोहब्बत को नजर लगते देर नहीं लगती

उनको देखते ही नज़रों ने अपना फैसला ले लिया, फिर दिल ने भी नज़रों का साथ दिया उनके लिए धड़कने का फैसला के लिया!!

समंदर ना सही, पर एक नदी तो होनी चाहिए, आपके शहर में जीवन, कहीं तो होना चाहिए।

इंसान नीचे बैठा दौलत 🤑 गिनता है । कल इतनी थी आज इतनी बढ़ 💰 गयी . . ऊपर वाला हंसता है और इंसान की सांसे 😇 गिनता है, कल इतनी थीं आज इतनी कम हो गयीं .

सोचने से कहाँ मिलते हैं तमन्नाओं के शहर, चलना भी जरुरी है मंजिल को पाने के लिए !

कभी उसे पढ़ा तो कभी उसे याद कियाये जिंदगी तू देख कैसे इक प्यार की खातिर खुद को बर्बाद किया..

वो चंद लम्हे जो गुजरे तेरे साथ,न जाने कितने बरस मेरे काम आयेंगे..

आंसू भी आते हैं दर्द भी छुपाता है…!!ये जिंदगी है दोस्त यहां जबरदस्त मुस्कुराना पड़ता है

थक गए हैं ये दूरियों की मोहब्बत से कब आओगे मेरे सामने इस फोटो मैं से निकल के ..!!!

लग गया हूं ख़ुद को ख़ुद से मिलाने में,गुम हो गया था मैं मोहब्बत के किसी फसाने में

गहराई जख्म की किसी को दिखाता नही हूं,माफ़ तो कर देता हूं मगर मैं भुलाता नही हूं..

यूँ शक ना किया करो मेरी दोस्ती पेतुम्हारे बिना भी हम तुम्हारे ही रहते है

जिंदगी चल रही है बस,क्यों हो रहा है,क्यों होगा कुछ पता नहीं !!

जो आपकी किस्मत में लिखा है, वो भाग कर आयेगा और, जो किस्मत में नहीं लिखा है, वो आकर भी भाग जायेगा।

राह तकते जब थक गई आंखेफिर तुझे ढूंढने मेरी आंख के आसूं निकले..

कितनी मोहब्बत है तुमसे, कोई सफाई नही देंगे,साए की तरह रहेंगे तेरे साथ, पर दिखाई नही देंगे..!!

लफ्जों में क्या लिखूं उस रब की तारीफ में,जो मांगू तो नवाज़ देता है, न मांगे तो बेहिसाब देता है।

आजकल की मोहब्बत के कुछ यूं फसाने हैं,जो जितना झूठा उसके उतने दीवाने हैं..!!

मैंने कब कहा तुम मिल जाओ मुझे,गैर ना हो जाना बस इतनी सी हसरत है…

ज्यादा देने वाला हमेशा ठगा गया है, फिर चाहे प्रेम हो, साथ हो या विश्वास ।

दिल ना उम्मीद तो नही….नाकाम ही तो है,लंबी है गम की शाम मगर शाम ही तो है…

बिछड़ कर फिर मिलेंगे यकीन कितना थाख्वाब ही था मगर हसीन कितना था।।

मुझे जिंदगी का इतना तजुर्बा तो नही, पर सुना है सादगी में लोग जीने नही देते।

क्या बताएं तुझे हर पल तेरी ही बातें करते रहते हैं हर पल रहता है तेरा ही इंतज़ार, हम तो खुद को भी भूले बैठे हैं..!!

ख़यालातों के बदलने से भी निकलता है नया दिनसूरज के चमकने से ही सवेरा नहीं होता

शौक की उम्र मेंसब्र करना सिख गये !

कुछ ऐसा काम करो कि आपके माता-पिताअपनी प्रार्थना में कहेंहे प्रभु हमें हर जन्म में ऐसी ही संतान देना

इश्क की महाभारत में,झुमका किसी ब्रह्मास्त्र से कम नहीं…

कर के बेचैन मुझे फिर मेरा हाल ना पूछा,उसने नजरें फेर ली मैने भी सवाल ना पूछा !!

अब थोड़ा Galat भी बन जाना Sahi है,मुझे लोगो से दूर खुद में खोए रहना ही अच्छा लगता है !!

⇒⇒ जिनके करीब जाना चाहते थे वो दूर होते चले गए! और जो दूर थे हमसे वो करीब आ गए!!

चूड़ियाँ में मानो जान सी आजाती है जब ये तेरी कलाइयों पर जब ये सझती हैं !!!

छोटे से दिल में गम बहुत है, जिंदगी में मिले जख्म बहुत हैं, मार ही डालती कब की ये दुनियाँ हमें, कम्बखत दोस्तों की दुआओं में दम बहुत है।

वो तो अपनी एक आदत भी ना बदल सका, पता नहीं क्यों मैंने उसके लिए, अपनी ज़िन्दगी बदल डाली।

⇒⇒ हमें पता है तुम हमारे नहीं हो ! किस्मत ने हम पर दया करके !

“ज़िंदगी में हर कोई भूल कर जाता है, न चाहते हुए भी अपने से किसी न किसी को दूर कर देता है!”

एक ही समानता है जिंदगी और पतंग में, ऊँचाई में हो तब तक ही वाह-वाह होती हैं।

खामोशियां भी देखी हैं हमने और गहरी उदासियां भीइन शामों के मुकद्दर में आजकल तन्हाईयां बहुत हैं।।

सिर्फ अश्क ही गवाही दे सकते है मेरीकी दिल कितनी शिद्दत से याद करता है तुझे

जो जख्म आप देख न पाएं ! समझना वो जख्म किसी अपने ने ही दिया है ।

रूठी जो जिदंगी तो मना लेंगे हम, मिले जो गम वो सह लेंगे हम, बस आप रहना हमेशा साथ हमारे तो, निकलते हुए आंसूओ में भी मुस्कुरा लेंगे हम।

एक दिन आपको अकेला ही होना है, महफिले तो बस दिखावा कर रही है।

किसी के लिए दर्द भरी तो किसी के लिए कमाल है, सही मायनों में जिंदगी का यही मायाजाल है।

गहरी सोच में डूबे हुए हो,लगता है किससे सताये हुए हो !!

जरा सा पैर क्या फिसला इल्जाम उसी चप्पल पर लगाया सबने,महीनों तपती जमीन और कांटो से बचाया था जिसने !!

माहौल गरम हो या हो बातों में चिंगारीमै मसरूफ हूं अपने काम में, मुझे भाती नही ये दुनियादारी।

⇒⇒ बार बार क्यू पूछते हो “मुकाम” अपना कह दिया ना जिदंगी हो तुम..!!

साथ मेरे बैठा था पर किसी और के करीब था,वो अपना सा लगने वाला किसी और का नसीब था.!

जिंदगी तेरे भी नखरे हैं एक दिन हँसा कर महीनों रुलाती हैं

⇒⇒ कुछ तो तन्हाई की रातों में सहारा होता, तुम न होते न सही… ज़िक्र तुम्हारा होता!!

हम तो रोज़ खुद को पढ़ते हैं और रोज़ छोड़ देते हैं। हमतो हर रोज़ जिंदगी का एक पन्ना मोड़ देते हैं।

माना की तुझे फुर्सत नहीं मुझसे बात करने कीपर मुझे कौन रोक सकता है तुझे याद करने से

गमों की मुझ पर कुछ ऐसी नजर हो गई,जब भी हम हंसे ये आँखें नम हो गई !!

बेर-सबब बात बढ़ाने की जरूरत क्या हैहम खफा कब थे मनाने की जरूरत क्या है।

हर कोई आपको नहीं समझेगा यही ज़िंदगी है. !!

हर किसी को जिंदगी दो तरीके से जीना चाहिये, पहला जो हासिल है उसे पसन्द करना सीख लो, और दूसरा पसन्द है उसे हासिल करना सीख लो।

⇒⇒ ऐसे भी खिलाड़ी बन कर क्या करना ! जब उसको ही न जीत पाएं !!

बढती उम्र में इश्क हो तो अचरज नहीं साहिब,ये जिंदगी फिर से मुस्कुराने की जिद में है।

उसके दिल पर भी क्या खूब गुज़री होगीजिसने इस दर्द का नाम मोहब्बत रखा होगा

मत सताओ हमे हम सताए हुए है, अकेला रहने का ग़म उठाये हुए है, खिलौना समज के ना खेलो हम से, हम भी उसी खुदा के बनाये हुए है।

मौका मिलने पर पलट जाती है बाज़ी, किसी का बुरा न करो वरना जिंदगी बहुत रंग दिखाती।

अंदर जब कुछ टूट जाता है,तो इंसान दूसरों से नहीं,खुद से ही रूठ जाता है !!

ये जिंदगी हे साहब,यहाँ दर्द सहकर भी मुस्कुराना पड़ता है !!

खुशियों का कोई रास्ता नहीं होता खुश रहना ही रास्ता है ..

किसान ही पेड़ लगाए , जल बचाए और बाकी लोग AC में बैठ मज़े से प्लास्टिकपॉलीथीन फैलाए फिर एक पौधा लगाकर , 15 लोग फ़ोटो खींचवाए

थकान भरी है जिंदगी, मंज़िल अभी दूर है, ज़िदगी का ‘सफ़र’ का खेल यही है सुहाना।

जिंदगी समझ में नहीं आई तो मेले में अकेला,और समझ आ गयी तो अकेले में मेला !!

ना किसी से ईर्ष्या, ना किसी से कोई होड़, मेरी अपनी मंजीले, मेरी अपनी दौड़।

बेजान चीज़ो को बदनाम करने के तरीके कितने आसान होते है। लोग सुनते है छुप छुप के बाते और कहते है के दीवारो को भी कान होते हैं।

Recent Posts