1573+ Bahu Shayari In Hindi | Saas bahu ki shayari in hindi

Bahu Shayari In Hindi , Saas bahu ki shayari in hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: October 2, 2023 Post Updated at: November 16, 2023

Bahu Shayari In Hindi : तुम ईश्वर द्वारा हमें दिए गए बेहतरीन तोहफों में से एक हो। लंबी उम्र पाओ बहू। बहू के रूप में तुम्हें पाना हमारा सौभाग्य है। हमेशा खुश रहना हमारी प्यारी बहू।

तुम स्वयं बीमार होने पर भी हम सब की सेवा करती हो। तुम हमारी बहू नहीं मां समान हो।

दर्द में भी ये लब मुस्कुरा जाते हैं, बीते लम्हे हमें जब भी याद आते है..!!

जिंदगी देने वाले , मरता छोड़ गये,अपनापन जताने वाले तन्हा छोड़ गये।जब पड़ी जरूरत हमें अपने हमसफर की,वो जो साथ चलने वाले, रास्ता मोड़ गये।

कभी-कभी अकेले में रोने से ज्यादा Hurt सभी के सामने मुस्कुराने में होता है।

जन्नत इस घर की बहू में बसती है, बहू जब मेरी बेखौफ हंसती है।

सब चले जाते हैं महफिल सेपर तेरी खुशबू नहीं जातीजिंदगी गुजरी चली जाती हैपर तेरी यादें नहीं जाती ।

बिन बताये उसने ना जाने क्यों ये दूरी कर दी,बिछड़ के उसने मोहब्बत ही अधूरी कर दी,मेरे मुकद्दर में ग़म आये तो क्या हुआ,खुदा ने उसकी ख्वाहिश तो पूरी कर दी.

दिन में बिछड़ गए अब रात आएगी मेरे बाद उन्हें मेरी याद आएगी

ऑंखें तो प्यार में दिल की जुबान होती हैं,सच्ची चाहत तो सदा बे जुबान होती है,प्यार में दर्द भी मिले तो मत घबराना,सुना है दर्द से चाहत और जवान होती है.

मर तो जाना है वैसे भी एक दिन तुम मिल जाते तो जरा और जी लेते।

अजीब लगा यूं उनका मुझको छोड़ के जाना,ना सुना कुछ और कहा भी कुछ नहीं,आसान नहीं था यूं उनसे जुदा होकर रहना,फिर जुदा होकर अब कुछ रहा भी नहीं.

अरमान था तेरे साथ जिंदगी बिताने का,शिकवा है खुद के खामोश रह जाने का।दीवानगी इस से बढकर और क्या होगी,आज भी इंतजार है तेरे आने का।

जोगी की प्रीत क्या. जोगी से दिल लगाना ठीक नहीं (क्योंकि वह आज यहाँ तो कल और कहीं).

भरी जवानी मांझा ढीला. मांझा – शरीर में कमर और नितम्बों का भाग. युवावस्था में यौनेच्छा की कमी या अशक्ति.

हमारे परिवार का हर एक सदस्य तुम्हें पाकर भाग्यशाली महसूस करता है। सदा खुश रहो मेरी बहू।

बड़ी प्यारी है आपकभी ना लगे नजर,आपके आने से स्वर्ग बन गया है हमारा घर।Happy Birthday Bahu Rani 🎂🕯️

पहाड़ो जैसे सदमे झेलती है उम्र भर लेकिन, बस इक औलाद के सितम से माँ टूट जाती है।

उसकी दर्द भरी आँखों ने जिस जगह कहा था,अलविदा” आज भी वही खड़ा है,,दिल उसके आने के इंतज़ार में।

मेरी ख्वाहिश है की मै फिर से फरिश्ता हो जाऊ,माँ से इस तरह लिपटु की बच्चा हो जाऊ।

कभी मुस्कुरा दे तो लगता है ज़िंदगी मिल गयी मुझको, माँ दुखी हो तो दिल मेरा भी दुखी हो जाता है।

मूंग और मोठ में कौन बड़ा कौन छोटा. व्यर्थ की बहस.

इस तरह मेरे गुनाहों को वो धो देती है, माँ बहुत ग़ुस्से में होती है तो रो देती है।

पुराने ज़ख्मों से उभरा नहीं था दिल मेरा , की उन्होंने नए ज़ख्म देने की तैयारी भी करली ।।

“हम तो खुशियाँ उधार देने का कारोबार करते हैं, साहब कोई वक़्त पे लौटाता नहीं है इसलिए घाटे में हैं।”

कभी दोस्त, तो कभी बहन वो अपनी ननद को मानती है, हर रिश्ते का मान रखना बहू मेरी जानती है।

किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता, शायद अब घर से कोई मां के पैर छूकर नहीं निकलता।

आप फूल की कलियों की भाँति पूरे घर को महकाती है,खुशनसीब होती है वो सास जो आप जैसी पुत्रवधू को पाती है।जन्मदिन की बधाई हो पुत्र वधू! 🎂🕯️

पता है तकलीफ क्या है,किसी को चाहना।फिर उसे खो देना,और खामूश हो जाना।

मेरे माथे को चुम करजब मेरी मां मुझे प्यार करती हैतब सारी मुश्किले होने पर भीअपनी ममता का फर्ज अदा करती है..

मेरी मौत की खबर उसे न देनामेरे दोस्तों घबराहट होती हैकही पागल न हो जायेवो इस खुशी में ।

अब हर चेहरे में कमी नजर आती है मैनेअपनी माँ को कुछ ज्यादा ही देख लिया !!

आप इस बात का सबूत है कि धरती पर भी परिया हो सकती है। आपको जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं!

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,रोता है दिल जब वो पास नहीं होता,बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता.

जहां तुम्हें लगे कि तुम्हारी जरूरत नहीं है वहां खामोशी के साथ खुद को अलग कर देना चाहिए।

उछल-कूद करने वाली कभी, आज वो शांत-शालीन रहने लगी है, अल्हड़ लड़की न जाने कब अपना प्यारा सा घर संवारने लगी है।

“मैं आपको या किसी को भी हर्ट नहीं करना चाहता, इसलिए कृपया मेरे बारे में भूलने की कोशिश करो। और अपने लिए अच्छा साथी तलाश करलो”।।Nina LaCour, Hold Still

एक नया दर्द मेरे दिल में जगा कर चला गया,कल फिर वो मेरे शहर में आकर चला गया।जिसे ढूंढते रहे हम लोगों की भीड़ में,मुझसे वो अपने आप को छुपा कर चला गया।

गुस्सा उन बादलों की तरह है,जो बरसने से पहले बहुत गर्मी करते है,और आंसू उस बारिश की तरह है,जो बरसने के बाद बहुत ठंडक देते है।

हर सितम सह कर कितने ग़म छिपाये हमने,तेरी खातिर हर दिन आँसू बहाये हमने।तू छोड़ गया जहाँ हमें राहों में अकेला,बस तेरे दिए ज़ख्म हर एक से छिपाए हमने।

इश्क़ खुदकुशी का धंधा है,“अपनी ही लाश अपना ही कंधा है”

स्कूल का वो बस्ता मुझे फिर से थमा दे माँ,जिंदगी का सफ़र मुझे बड़ा मुश्किल लगता है।

• लोग मंदिर ,मस्जिद में खुदा ढूंढते हैं हमें अपने दिल में खुदा रखती हूं...!!

तेरे ही आँचल में निकला बचपन, तुझ से ही तो जुड़ी हर धड़कन, कहने को तो माँ सब कहते पर,मेरे लिए तो है तू भगवान..

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है,हर एक आँसूं समंदर नज़र आता है,कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना,हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता है.

जब तुम मुस्कुराती हो, तो सारा घर मुस्कुराता है। हमेशा मुस्कुराती रहना मेरी प्यारी बहू।

वो नही आती पर अपनी निशानी भेज देती है,ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देती है।उसकी यादों के पल कितने भी मीठे हैं,मगर कभी कभी आँखों में पानी भेज देती है।

“अकेले ही गुज़रती है ज़िन्दगी, लोग तसल्लियाँ तो देते है पर साथ नहीं।”

दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता,रोता है दिल जब वो पास नहीं होता।बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में,और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता।

दिन भर करती सेवा हमारी यूं पसीने में तनकर, बन गयी है बेटी हमारी जो आई थी कभी बहू बनकर।

दुआएँ माँ की पहुँचाने को मीलों मील जाती हैं, कि जब परदेस जाने के लिए बेटा निकलता है।

“बहुत अंदर तक तबाह कर देते हैं, वो अश्क़ जो आँखों से गिर नहीं पाते।”

बहुत सी कथनी से थोड़ी सी करनी भली. बहुत अधिक हांकने के मुकाबले थोड़ा सा काम कर के दिखाना अधिक अच्छा है.

तुम्हें क्या पता किस दौर से गुज़र रहा हूँ मैं, तन्हा तेरी याद में पल पल मर रहा हूँ मैं..!!

गुस्सा आने पर चिल्लाने केलिए ताकत नही चाहिए ,परन्तु गुस्से में शांत रहने केलिए बहुत ताकत चाहिए ।

कब्र के सन्नाटे में से एक आवाज़ आयी,किसी ने फूल रखके आंसूं की दो बूंद बहायी।जब तक था जिंदा तब तक ठोकर खायी,अब सो रहा हूं तो उसको मेरी याद आयी।

“सोचा था प्यार में बस खुशियाँ ही खुशियाँ मिलेंगी, नहीं पता था कि दर्द और गम से रिश्ता हो जायेगा।”

रूह के रिश्तो की यह गहराइयां तो देखिए, चोट लगती है हमें और दर्द मां को होता है।

अपने दिल को अगर दुखाना हैं,बहारों में अगर घर जलाना हैं।प्यार करो एक बेवफा से,अगर मोहब्बत को आजमाना हैं।

तुमने जो कुछ भी इस परिवार के लिए किया है, कोई और यह कभी न कर पाता। तुम्हारा दिल से शुक्रिया बहू।

न कोई शिकवा तुझसे है, न ही गिला कोई खुद से है, संवर गई ये मेरी दुनिया, जब से मिला हूँ मुझसे है ।

प्यार सभी को जीना सिखा देता है,वफ़ा के नाम पे मरना सिखा देता है,प्यार नहीं किया तो करके देख लो यार,ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है.

बरसात तो थम जाती हैं पर यादें नहीं, रोज-रोज मौसम का बदलना अच्छा नहीं..!!

अरे जिंदगी जीने का औकात बता रहे हैं वो मुझे जिनकी औकात मेरे एटीट्यूड के बराबर भी नहीं ।

राहे मुश्किल थी रोकने की कोशिश बहुत की, लेकिन रोक न पाए क्योंकि मैं घर से मां के पैर छू निकला था।

सब ने पूछा बहु दहेज़ में क्या-क्या ले आई,किसी ने ना पूछा बेटी क्या-क्या छोड़ आई.

ज़हर या दवा दीजिये मोहब्बत की सज़ा दीजिये इतने नज़दीक तुम आये क्यों हिज्र की आग को हवा दीजिये

गाँठ का देय और बैरी होय. किसी को उधार दे कर आप उससे दुश्मनी पाल लेते हैं.

जिनके दिल परचोट लगती है ना…वो लोग आँखों से कम और दिल सेज्यादा रोते है…।

कोई ऐसा शीशा भी बना दो भगवान जिसमें इंसान का चेहरा नहीं उसका किरदार दिखे।

मेरी निगाहो मे देखके कह देकी हम तेरे काबिल नहीक़सम है तेरी चलती साँसों कीतेरी दुनिया ही छोड़ देंगे ।

क्यों बनाया मुझको आए बनाने वाले,बहुत गम देते हैं ये जमाने वाले।मैंने आग के उजालों में कुछ चेहरों को देखा,मेरे अपने ही थे मेरे घर जलाने वाले।

बिगड़ी लड़ाई सिपाहियों के सिर. हारी हुई लड़ाई का ठीकरा सिपाहियों के सर फोड़ा जाता है. कोई पार्टी चुनाव हारती है तो कार्यकर्ताओं पर दोष डालती है.

Recent Posts