674+ Ambedkar Shayari In Hindi | डॉ बाबासाहेब आंबेडकर शायरी

Ambedkar Shayari In Hindi , डॉ बाबासाहेब आंबेडकर शायरी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 22, 2023 Post Updated at: June 3, 2024

Ambedkar Shayari In Hindi : सच्चाई को कभी यारों छोडना नहीं अपने वादो से मुख कभी मोडना नहीं जो भूल गये भिम के एहसान को हमेशा ऐसे मक्कारो से रिशता भुलकर भी जोडना नहीं। जिसने सबको समझा इक समान ऐसे थे बाबा साहेब हमारे महान सबको आजादी और ख़ुशी से जीना सिखाया भीम ने स्वतंत्रता और समानता का नारा दिया भीम ने.

“जो इंसान झुक सकता है वह इंसान सारी दुनिया को झुका भी सकता है।” डॉ. भीमराव अंबेडकर

नजारों मे नजारा देखा एसा नजारा नही देखाआसमान मे जब भी देखामेरे भीम जैसा सितारा नही देखा

अगर मरने के बाद भी जीना चाहते हो !!तो एक काम जरूर करना !!पढ़ने लायक कुछ लिख जाना !!या लिखने लायक कुछ कर जाना !!

सच्चाई को कभी यारों छोडना नहीं अपने वादो से मुख कभी मोडना नहीं जो भूल गये भिम के एहसान को हमेशा ऐसे मक्कारो से रिशता भुलकर भी जोडना नहीं।

एक महान आदमी एक प्रतिष्ठित आदमी से इस तरह से !!अलग होता है वह समाज का नौकर बनने को तैयार रहता है !!

आओ मिलकर 6 दिसंबर का दिन मनायें, बाबा साहब का पैगाम लोगों तक पहुंचायें।

नज़ारे देखे हमने हजारों !!देखा न कभी ऐसा नजारा !!आसमां में देखे सितारे बहुत !!पर भीम जैसा सितारा न देखा !!

भीम जी ने हमे बलवान 👩‍✈️बना डाला हैहटा ना पाये वो चट्टान बना डाला हैनये युग की हमे पहचान बना डाला हैऔर हवा के ये झोके को तुफान बनाडाला है ! जय भीम !!🌷

आज का दिन है बड़ा महानबनकर सूरज चमका एक इंसानकर गये सबके भले का ऐसा कामबना गये हमारे देश का संविधान!💐भीम जयंती कीहार्दिक शुभकामनाएं!💐

फूलो 💮की कहानी बहारो ने लिखी!रातो की कहानी सितारों ने लिखीहम नहीं है किसी के गुलाम क्योंकिहमारी जिंदगी! बाबासाहब जी ने लिखी!जय भिम!!❤️

जिस पर चलता रहेगा ये भारत सदाऐसा इक रस्ता टीम बाबा बना गयेहिन्द की सरजमीं पर मेरे दोस्तोंभीम ने इक नया इतिहास लिख दिया.* जय भीम *

नजारों मे नजारा देखा एसा नजारा नही देखा, आसमान मे जब भी देखा मेरे भीम जैसा सितारा नही देखा।

अगर उच्च जाति का हु तो मिलता सम्मान हैऔर नीच जाती का हु तो होता तिरस्कार हैछुआछूत, भेदभाव जैसे कानूनतुम क्यों खुद ही बना लेते हो।

आज का दिन है बड़ा महान बनकर सूरज चमका इक इंसान कर गये सबके भले का ऐसा काम बना गये हमारे देश का संविधान

“भाग्य में विश्वास रखने के बजाय शक्ति और कर्म में विश्वास रखना चाहिए।” — डॉ. भीमराव अंबेडकर

••• अगर मुझे लगा कि मेरे द्वारा बनाये गए संविधान का दुरुपयोग किया जा रहा है, तो सबसे पहले मैं इसे जलाऊंगा।

भीम जी ने हमे बलवान बना डाला हैहटा ना पाये वो चट्टान बना डाला हैनये युग की हमे पहचान बना डाला हैऔर हवा के ये झोके को तुफान बना डाला है।

“जिंदगी की हकीकत बस इतनी सी है, की इंसान पल भर में याद बन जाता है।”

इतिहास बताता है कि जहां नैतिकता !!और अर्थशास्त्र के बीच संघर्ष होता है !!वहां जीत हमेशा अर्थशास्त्र की होती है !!बी आर अंबेडकर जयंती मुबारक !!

समानता एक कल्पना हो सकती है लेकिन फिर भी !!इसे एक गवर्निंग सिद्धांत रूप में स्वीकार करना होगा !!

नजारों मे नजारा देखा एसा नजारा नही देखा, आसमान मे जब भी देखा मेरे भीम जैसा सितारा नही देखा !!

जश्न की होती धूम! माहौल 🙏बड़ा प्यारा लगे!चारों ओर जब ‘जय भीम’का नारा लगे!!जय भीम!🌷

जब भीम थे चलते तो हजारों दिल मचलते,भीम जब रुकते तो तूफ़ान है रुक जातेइतने काबिल थे बाबा की कभी इरादा न बदला,बाबा भीम ने तो सारा इतिहास बदल डाला

“शिक्षा जितनी पुरूषों के लिए आवश्यक है, उतनी ही महिलाओं के लिए भी।” — डॉ. भीमराव अंबेडकर

अगर तुम सूरज की तरह चमकना चाहते हो तो पहले सूरज की तरह जलो।

अपने मिशन में कामयाब होने के लिए, आपको अपने लक्ष्य के प्रति एकचित्त निष्ठावान होना पड़ेगा।

ज्ञान सभी मनुष्यों के लिए भोजन के समान है। – डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर

आले किती गेले किती,उडून गेले भरारा,संपला नाही आणि संपणार नाही,माझ्या भिमाचा दरारा..!

हमारे देश के संविधान में मतदान !!का अधिकार एक ऐसी ताकत है !!जो किसी ब्रह्मास्त्र से कहीं अधिक ताकत रखता है !!

••• इतिहास गवाह है जब नैतिकता और अर्थशास्त्र के बीच संघर्ष हुआ है वहां जीत हमेशा अर्थशास्त्र की होती है।

आज का दिन है बड़ा महानबनकर सूरज चमका इक इंसानकर गये सबके भले का ऐसा कामबना गये हमारे देश का संविधान

इरादे मेरे हमेशा साफ होते है,इसीलिए कई लोग मेरे खिलाफ होते है।

जिस पर चलता रहेगा ये भारत सदा ऐसा इक रस्ता टीम बाबा बना गये हिन्द की सरजमीं पर मेरे दोस्तों भीम ने इक नया इतिहास लिख दिया. * जय भीम…

“गुलाम बनकर जिओगे तो ये दुनिया कुत्ता समझकर लात मारेगी और नवाब बनकर जिओगे तो ये दुनिया… शेर समझकर सलाम ठोकेगी।” B. R. Ambedkar

आइये हम अपने आज का बलिदान कर दें ताकि हमारे बच्चों का कल बेहतर हो सके।

जब तक भारत दुनिया के सामने खड़ा नहीं होता, कोई हमारी इज्जत नहीं करेगा। इस दुनिया में, डर की कोई जगह नहीं है। केवल ताकत ही ताकत का सम्मान करती हैं।

शिक्षाविदों को छात्रों के बीच जांच की भावना, रचनात्मकता, उद्यमशीलता और नैतिक नेतृत्व की क्षमता का निर्माण करना चाहिए और उनका रोल मॉडल बनना चाहिए।

सच्चाई को कभी यारों !👩‍✈️छोडना नहींअपने वादो से मुख !कभी मोडना नहींजो भूल गये भिम केएहसान को ऐसेमक्कारो से रिशता भुलकरभी जोडना नहीं!!💐

“शिक्षा प्राप्त करना एक शेरनी के दूध की तरह होती है जो जितना पिएगा वो उतना ही दहाड़ेगा।” डॉ. भीमराव अंबेडकर

शिक्षा ग्रहण करने की आग हृदय में पालिये,कोई नफरत पालकर महान नहीं बना है.

छीने हुए अधिकार भीख में नहीं मिलते !!अधिकार वसूल करना होता है !!

बाबासाहेब की तरह शिक्षा पर जोर हो,ना कोई पिछड़ा हो ना कोई कमजोर हो.

“महान प्रयासों को छोड़कर इस दुनिया में कुछ भी बहुमूल्‍य नहीं है।” — डॉ. भीमराव अंबेडकर

मंदिर जाने वाले लोगों की लंबी कतारें !!जिस दिन पुस्तकालय की ओर बढ़ेंगी !!उस दिन मेरे इस देश को महाशक्ति !!बनने से कोई रोक नही सकता है !!

“मेरे नाम की जय-जयकार करने से अच्‍छा है, मेरे बताए हुए रास्‍ते पर चलें।” — डॉ. भीमराव अंबेडकर

शिल्पकार तुम्ही घटनेचे,पंडित तुम्ही कायद्याचे !प्रचारक तुम्ही समतेचे,भारतरत्न तुम्ही देशाचे !!

मनुष्य के लिए कठिनाइयाँ बहुत जरुरी हैं क्यूंकि उनके बिना सफलता का आनंद नहीं लिया जा सकता।

दुनिया में इस तरह कोई, विद्वान ना हुआ ईमानदार तो हुये, ईमान ना हुआ वैसे तो मसीहा हुये हैं, हिन्द में बहुत अंबेडकर सा कोई भी, महान ना हुआ।

मेंने तुम लोगों को मतदान का !!अधिकार राजा बनने के लिए दिया था !!तुम्हे किसी का दलाल या चमचा बनने के लिए नही !!

Moon: एक दिन हमेशा के लिए छिप जाएगा चांद! जानिए चंद्रमा से जुड़े हैरान कर देने वाले तथ्य

नज़ारे देखे हमने हजारों,देखा न कभी ऐसा नजारा,आसमां में देखे सितारे बहुत,पर भीम जैसा सितारा न देखा।🔷Happy bhim jayanti 2022!🔷

गरज उठे गगन सारा,समुन्दर छोडें आपना की नाराहिल जाए जहान सारा,जब गूंजे “जय भीम” का नारा।

जीवन लंबा होने के बजाए महान होना चाहिए। – डाॅ. भीमराव अंबेडकर

सच्चाई को कभी यारों छोडना नहींअपने वादो से मुख कभी मोडना नहींजो भूल गये भिम के एहसान कोऐसे मक्कारो से रिशता भुलकर भी जोडना नहीं।

ना ‘जिंदगी’ की खुशी ना ‘मौत’ का गमजब तक है दम ”जय भीम” कहेंगे हम🙏Happy Ambedkar Jayanti.🙏

इंसान को कठिनाइयों की आवश्यकता होती है, क्योंकि सफलता का आनंद उठाने के लिए ये ज़रूरी हैं।

फूलो की कहानी बहारो ने लिखी…रातो की कहानी सितारों ने लिखी…हम नहीं है किसी के गुलाम…क्योंकि हमारी जिंदगी,बाबासाहब जी नेलिखी!!जय भिम !

कर गुजर गये वो भीम थे, दुनिया को जगाने वाले भीम थे, हमने तो सिर्फ इतिहास पढा है यारो, इतिहास बनाने वाले मेरे भीम थे !!

••• संवैधानिक स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं हैं जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता प्राप्त नहीं कर लेते।

“जो झुक सकता है वो झुका भी सकता है।” — डॉ. भीमराव अंबेडकर

“अगर मुझे लगा की मेरे द्वारा बनाये संविधान का दुरुपयोग किया जा रहा है, तो सबसे पहले मैं इसे जलाऊंगा।” डॉ भीमराव अंबेडकर

नज़ारे देखे हमने हजारों देखा न कभी ऐसा नजारा आसमां में देखे सितारे बहुत पर भीम जैसा सितारा न देखा

जिस व्यक्ति को भारत में बुकपढ़ने की अनुमति नहीं थीउसी व्यक्तिने एक बुक (भारतीय संविधान)लिखा कि भारत देश उस पर चला रहा है।🙏हैप्पी भीम जयंती.🙏

भूलेंगे वो भूलना जिनका काम हैमेरी तो अम्बेडकर के बिना गुजरती बही शाम हैकैसे भूलूं में बाबा साहब कोजो मेरी जिंदगी का दूसरा नाम हैJai Bhim – जय भीम

किसी व्यक्ति या समूह को शिक्षा से वंचित करना एक इंसान के रूप में उसके अस्तित्व को नकारना और उसकी क्षमता को मारना है। – डॉ बाबासाहेब आंबेडकर

मैं ऐसे धर्म को मानता हूं, जो स्वतंत्रता !!समानता और भाईचारा सिखाए !!

शिक्षा वो शेरनी है !!जो इसका दूध पिएगा वो दहाड़ेगा !!

शिक्षा बााघिन का दूध है और जो उसे पिएगा वह बाघ की तरह गुर्राएगा जरूर। – डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर

“अगर मरने के बाद भी जीना चाहते हो तो एक काम जरूर करना… पढ़ने लायक कुछ लिख जाना या लिखने लायक कुछ कर जाना।” डॉ. भीमराव अंबेडकर

“जो इंसान अपनी मौत को हमेशा याद रखता है, वही इंसान हमेशा अच्छे कार्य करने में लगा रहता है।” डॉ. भीमराव अंबेडकर

••• जो कौम अपना इतिहास नही जानती है, वह कौम कभी अपना इतिहास नही बना सकती है।

“हमारे देश के संविधान में मतदान का अधिकार एक ऐसी ताकत है, जो किसी ब्रह्मास्त्र से कहीं अधिक ताकत रखता है।” डॉ. भीमराव अंबेडकर

Recent Posts