1713+ Adhura Pyar Shayari In Hindi | अधूरी मोहब्बत शायरी इन हिंदी

Adhura Pyar Shayari In Hindi , अधूरी मोहब्बत शायरी इन हिंदी
Author: Quotes And Status Post Published at: September 12, 2023 Post Updated at: March 22, 2024

Adhura Pyar Shayari In Hindi : तुम्हारा दिया हुआ इंतजार तुम्हें सौप जाएंगे,हम चले जाएंगे तुम्हें इंतजार में छोड़कर.. लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है

राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आएंगे,एक बार आ गए तो कभी नहीं जायेंगे।

कितनी खूबसूरत है राधा के ख्यालों की दुनिया,माखन चोर से शुरू होती है और कृष्ण पर खत्म।

उस से कहना तेरे भूल जाने सेकुछ भी तो नहीं बदलाबस पहले जहा दिल हुआ करता थाअब वहा दर्द होता है ।

इश्क़ करना तो था तेरे दिल की आदत, पर तेरी बेवफ़ाई ने तोड़ दिया हमारी इमारत।

आप हर रोज कहते हो मुझसे थोड़ीदेर में बात करेंगेथोड़ी देर में हमारी आँख ही न खुलीतो आप क्या करेंगे ।

जो बहुत कम में पीड़ित होते हैं वे बहुत सरल होते हैं, और ये वही हैं जो जीवन में सबसे अधिक पीड़ित होते हैं।

मोहब्बत की है तुमसे,बेफ़िकर रहो,नाराजगी हो सकती है,नफरत नही..Mohabbat ki hain tumse,Befikra raho,Narazgi ho sakti hain,Nafrat nahi…

उन्हें देखने की राह पर दिन-रात रहते हैं खड़े,फौजी के आने की खबर सुनाने के लिए दिल तरसते हैं बार-बार।

दुख होता है बहुत ज्यादा मुझको,जब अपनों का साथ अचानक छूट जाता है,कुछ कर नहीं पाता कुछ कह नहीं पाता,हर बार ये दिल अकेला रह जाता है.

दरअसल, अपने पार्टनर को जानते हुए भी कई बार पार्टनर अपने प्रेमी या फिर प्रेमिका से यह उम्मीद करता है कि वह उसके दिल की बात उससे शेयर करे।

जो बीत गया है वह दौर ना आएगाइस दिल में सिवा तेरे कोई और ना आएगाघर फूंक दिया हमने, अब राख उठानी हैजिंदगी कुछ और नहीं, तेरी मेरी कहानी है।

दिन रात बितते हैं इंतज़ार में,आपकी मुस्कान के बहाने हैं बेक़रार में,एक नज़र चाहिए तो हमें बस,जिंदगी ख़ुशी से गुज़रे हर इंतज़ार में।

बेवकूफ दिल को इश्क़ में खता होने से बचाया है, तू जरूर मेरी होगी ये कहकर उसे समझाया है।

“जब खामोश आँखों से बात होती है, तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है, तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं, न जाने कब दिन और कब रात होती है।”

कौन प्यार करेगा तुझे मुझ जैसा,कोई मिले तो मुझसे मिलवाना ज़रूर।

तुमने कभी पढ़ने की कोशिश नहीं करी हमे, कहानी हम भी दिलचस्प थे वरना।

खोये थे यादों में तेरी, क्यों खोये थे कुछ याद नहीं सब कुछ भूल गए तेरी याद में क्या याद था वो भी याद नहीं तुम ही याद हो बस क्यों याद हो कुछ याद नहीं।

जिस पर राधा को मान हैं,जिस पर राधा को गुमान हैं,यह वही कृष्ण हैं जो राधाके दिल हर जगह विराजमान हैं.

इतनी फिकर तो मेरी नही करता ये दिल जितनी फिकर आपकी करने लगा हैं।।

सच्ची मोहब्बत एक जेल के कैदी की तरह होती हैंजिसमे उम्र बीत भी जाए तो सजा पूरी नहीं होती

गुलशन की बहारों पे सर-ए-शाम लिखा है,फिर उस ने किताबों पे मेरा नाम लिखा है,ये दर्द इसी तरह मेरी दुनिया में रहेगा,कुछ सोच के उस ने मेरा अंजाम लिखा है.

मुझे बस इतना बता दो, इंतजार करू या बदल जाऊं, तुम्हारी तरह.

माना की तुम जीते हो जमाने के लिये, एक बार जी के तो देखो हमारे लिये, दिल की क्या औकात आपके सामने, हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये !

दर्द इतना है कि रूह तक जख्मी है, तेरी बेवफ़ाई का असर अभी तक नमी है।

बिना मतलब के कोई आंसू नहीं पोछता, इसलिए अश्क छुपा कर रखते हैं.

रौशनी की किरणों में छुपी है उनकी अदा,इंतज़ार में हम ज़िंदगी की ज़िंदगी बन गए।

हमने हमारे इश्क़ का इज़हार यूँ किया फूलों से तेरा नाम पत्थरो पे लिख दिया.

बड़ी बरकत है तेरे इश्क़ में कान्हा, जब से हुआ है कोई और दूसरा दर्द ही नहीं भाता!

तूने जो मुझसे की थी क्याउसी को मोहब्बत कहते है,आज भी इस सवालका जवाब ढूड्‍ता हू मैं

अचानक कुछ करामात हो गयी उससे मिले और कुछ बात हो गयी, बहोत दिनों से जिसे कुछ बोल ना सका आज उसकी मुस्कराहट में सारी बात हो गयी।

ये तो तुमसे मेरा पहला प्यार था सनमइतना काफी था ये मेरा आखिरी बार था सनम

पाने को ही प्रेम कहे जग की ये है रीत,प्रेम का अर्थ समझायेगी राधा-कृष्णा की प्रीत।

होंगी लाखों महफिलें दुनिया में,मग़र तेरे दीदार जैसा सुकून कहीं और नहीं..

हां मैं लफ़्ज़ों से खेल लेता हूं.हां तुम्हारी तरह दिलों से नहीं..!!

जब से तेरे इंतज़ार में रह गए हैं हम,हर पल बीतता है लगातार अधूरा।तेरे आने की आस में जलते हैं रात-दिन,तेरे बिना जीना लगता है बेहद अदूरा।

सच्ची मोहब्बत वादों से नहीं,परवाह से जाहिर होता हैं..Sacchi mohabbat wado se nahi,Parwah se jahir hota hain…

वो प्रेम को कैसे जान पाएगा,जिसने राधा को ही नहीं जाना।

जान से बढ़कर है मुझको,ये मुस्कान तेरी है,है जो बाक़ीब सही,बस तू बहन एक मेरी है।

हमारा प्यार था.. तो दो तरफा, लेकिन तुम्हारी बेवफाई ने उस प्यार को एक तरफा बना दिया ।

मै उसको छोड़ न पाया बुरी लतों की तरह, वो मेरे साथ है बचपन की आदतों की तरह

रात बिताते हैं उम्मीद की चादर में,दिल धड़कता है तेरे आने के इंतज़ार में।

कोई ध्यान में ऐसे अपने भी है मेरे जो बस नज़रों के आगे दिखने को मेरे हैं।

यह तो नसीब का खेल है, कोई नफरत करके भी प्यार पाता है, और कोई बेशुमार प्यार करके भी धोखा पाता है ।

तुम मिल गए लगता है अब, खुशी की तलाश खत्म हो गयी !

यूँ ना आया करो बिना ताल्लुक के तुम ख़्वाबों में, घरवाले देख लेंगे तो क्या जवाब दूँगा मैं !!

“ज़िंदगी” नहीं “रूलाती” है रुलाते तो वह,“लोग” हैं जिन्हें हम अपनी …ज़िन्दगी “समझ” बैठते हैं ..!!

तुम्हारी बातों की खुशबू से महका रहता हूं,जब भी सोचता हूं तुम्हें, बहका-सा रहता हूं।

कमबख्त आईने को भी तुझसे, इश्क हो गया है, देखो उसे भी हर पल तेरे, दीदार का ही इन्तजार रहता है

तेरे एकतरफा इश्क में कोई किताब लिख दू, अगर तू साथ दे तो फिर, पूरा इतिहास ही लिख दू।

हम तुम्हारे नही साथ है, बल्कि हम तुम्हारे पास है, तु जैसा छोटा भाई पाना जिंदगी में खास है।

प्रेम से कृष्णा का नाम जपोदिल की हर इच्छा पूरी होगीकृष्ण आराधना में इतना लीन हो जाओउनकी महिमा, जीवन खुशहाल कर देगी

जब प्रेम का सुरूर मेरे दिल पर छाता है, मेरा हृदय चारों तरफ राधा-कृष्ण को ही पाता है.

उसे नही होना तुम्हारा तो क्यो ख़ुद को सता रहे हो, लोगों के सामने क्यो खुद को नीचा दिखा रहे हो।

कौन कहता है कि नेचर और सिग्नेचरबदलता नहीं, चोट अगर हाथ पर लगेतो सिग्नेचर बदल जाता है औरअगर दिल पर लगे तो नेचर।

चाँद से चाँदनी होती है सितारों से नही, और प्यार सिर्फ एक से होता है हजारो से नही ! ❣️😘🌹

“राधा” के सच्चे प्रेम का यह ईनाम हैं,कान्हा से पहले लोग लेते “राधा” का नाम हैं.

इश्क़ में कोई बात नही अब गम में भी कोई साथ नही है अब, क्यो याद आती हो हर दफा जब तुझसे मिलने की कोई आश नही है अब।

किताबों से निकल कर तितलियाँ ग़ज़लें सुनाती हैं टिफ़िन रखती है मेरी माँ तो बस्ता मुस्कुराता है - सिराज फ़ैसल ख़ान

दुनिया का यही दस्तूर है साथ वह तक मतलब जहा तक.

मन की आँखों को जब तेरा दीदार हो जाता है,मेरा तो हर दिन प्रिय मोहन त्यौहार हो जाता है.

प्यार एक तरह की भावनात्मक सच्चाई है जिसे हर कोई स्वीकार नहीं कर सकता।

मैं बादल तो पहली बारिश हो तुम,मैं ठंडी हवा तो खुशबू हो तुम,मेरी प्यारी बहना,जिंदगी नहीं तुम जान हो मेरी।

वक्त का एहसास होता है इंतज़ार मेरा,तुम्हारी हर सांस पे हो तेरा इज़हार मेरा।

आंखे जो देखी उसकी प्यार हो गयापहली नजर के पहले प्यार का ऐतबार हो गया।

तेरी यादों के चरचे हमारे दिल में हैं, दिल के दरिया के पानी में तेरी बेवफाई बहती है।

अपनी मुलाकात कुछ अधूरी सी लगी, पास होकर भी दुरी सी लगी, होठों पे हंसी,आँखों में मज़बूरी सी लगी, जिंदगी में पहली बार किसी की दोस्ती जरुरी सी लगी.

मैंने रंग दिया है हर पन्ना तेरी यादों से, मेरी किताबों से पूछ इश्क किसे कहते हैं

चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे, राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे, आप जो हमें इतना चाहेंगे, हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे !!

आंखे भी डूब जाती है आँसुओ के पानी मेंक्योंकि इतने दर्द छिपे है हमारी कहानी में |

बारिश का मौसम तेरी याद दिलाता है,फिर दिल पर दुख का समा छा जाता है,याद कर के ही तुझे ये दिन गुजरता है,तेरे ही ख्याल में ये दिल सारी रात जागता है.

तेरे जाने के बाद कुछ ऐसी हैंकहानी मेरी हर कोई पूछता रहता है,कहाँ गयी तेरी वो दीवानी

“तेरी हर बातों को मैने दिल से जोडा हैं अपना जीना मरना तुझपर छोडा हैं क्या हुआ तुम मुझे छोडकर चले गये तुम्हारी यादों ने मेरा साथ नही छोडा हैं।”

Recent Posts