789+ 2 Line Deep Meaning Shayari In Hindi | Deep Shayari on Life

Deep Shayari on Life, 2 Line Deep Meaning Shayari In Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: July 19, 2023 Post Updated at: November 5, 2023

2 Line Deep Meaning Shayari In Hindi: भाग रहे हो सब के पीछे -पीछे खुद के पास दिल है भूल बैठे क्या ? प्यार और दोस्ती में जगह मिली नहीं फिर अकेले खुश रहना सिख गए

वो देखता सबकुछ हैबस फैसला देर से करता है..!

मरना भी मुश्किल है जिस शख्श के वगैर,उस शख्स ने ख्वाबों में भी आना छोड़ दिया।😑

नहीं होते हो, तब भी होते हो तुम,हर वक़्त जाने क्यों, मेहसूस होते हो तुम..!!!

क्या तुमसे शिकायत करू जिंदगी तेरा हे सब कुछ जो चाहे वो छीन  ले

कितनी मोहब्बत है तुमसे, कोई सफाई नही देंगे,साए की तरह रहेंगे तेरे साथ, पर दिखाई नही देंगे..!!

दूसरों को कब तक मनाते रहोगेकभी खुद से भी पूछो हाल कैसा है.!

हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर, तुझपर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा, ना रोते हम यूँ तेरे लिये, अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता

फिर बारिश हो रही है, शायद बादल रोया है,लगता है जैसे उसने भी मेरी तरह कोई अपना खोया है.!

न जाने कौन सी शिकायतों का हम शिकार हो गए,जितना दिल साफ रखा उतना गुनहगार हो गए।

अकेला होना और अकेला रोना इंसानको बहुत मजबूत बना देता है. !

दुनियां की भीड़ में इस क़दर खो जाऊ की ख़ुद को अकेला मेहसूस करना ही भूल जाऊ।

हम अक्सर छूट जाते है उनसे जिनके हाथ हमने बड़ी मजबूती से थमा होता है

वक्त भी… कैसी पहेली दे गया….उलझने सौ… जां अकेली दे गया…..

ना कोई आया है और ना कोई आएगा,हम तुमसे कितना प्यार करते है ये गूगल भी नहीं बता पाएगा.!

जब जहां जो खयाल आया लिख दिया शायरी का कोई वक़्त नही होता प्यारे

जो हर बात पर वाह-वाह करते है,वही लोग अक्सर तबाह करते है.

इस कदर फासले मत बढ़ाओ तुम अपने दरमियाँ कही चलते चलते मैं तुम तक पहुँचूँ और मर जाऊ

वो जिंदगी भी मौत से कम नहीं हैं,अगर दिल में रहनेवाले जिंदगी मेंनही हैं !

दुसरो की नज़रो में अच्छा बनते-बनते, अक्सर लोग अपनी नज़रो मे गिर जाते हैं।

जरा पढ़कर देखो मेरी कहानीहर पन्ना दर्द से भरा पड़ा है।

ज़िन्दगी उस दौर से गुज़र रही हैदिल दुखता है, लेकिन चेहरा हँसता है.!

जला डालो मेरी आँखें,ये तेरे ख्वाब देखती हैं।

दुनिया को आग लगाने की ज़रूरत नहींतो मेरे साथ चसल आग खुद लग जाएगी

कैसे करूं मैं साबित तुम याद बहुत आते हो,एहसास तुम समझते नही और अदाएं हमें आती नहीं।

बहुत अच्छा इंसान थायह सुनने के लिए मरना पड़ता है.!

छोटी सी ज़िंदगी में रखा क्या हैअगर इश्क़ भी बुरा है तो अच्छा क्या है।

माही तुम आवारा ही रहते तो अच्छा था इश्क़ करके तुमने दिल बहोत दुखाया है

चल में नही तो तू सही तू नही तो कोई और करे किसीसे भी मगर वो वफ़ा तो करे

तुमको पाने के लिए सब कुछ छोड़ दिया,और तुम्हारी खुशी के लिए तुम्हें भी छोड़ दिया

वो बेख़ुदी की रातें, और दर्द बेहिसाब लिखता, होते अगर तुम मेरे, तुम पर मैं किताब लिखता।

जिसको देखो वो दुःखी है,आखिर ये खुशी जा किसके पास रही है..

तुम्हारी फिक्र है मुझे इसमे कोई शक नही,तुम्हे कोई और देखे किसी को ये हक नही।

शिकायतें बहुत हैं तुमसे पर अब वो बात नही,मिलना चाहता हूं तुमसे पर अब वो जज़्बात नही।।

तरस गये है हम तेरे मुंह से कुछ सुनने को हमप्यार की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे

तेरे गली में एक उम्र बिता चुके है हम सारी दौलते दिल यही लुटा चुके है हम

इश्क़ कहाँ देखता है सही ग़लत के पैमानेजिससे होता है वही शख़्स सही लगता है।

मरना भी मुश्किल है जिस शख्श के वगैर, उस शख्स ने ख्वाबों में भी आना छोड़ दिया।😑

बिछड़ कर फिर से मिलेंगे यकीन कितना थाख्वाब ही था मगर हसीन कितना था

रास्ते कभी खत्म नहीं होतेबस लोग हिम्मत हार जाते हैं..

आँखों में उसके था नशा इतना की हर दारु चढ़ने से इंकार कर बैठी,मै उस पगली से करता था प्यार वो किसी और से इज़हार कर बैठी.

एक शाम और ढल गई,एक दिन और जी लिए हम तेरे बगैर !!

बेशुमार मोहब्बत है आपसेफ़िक्र करना तो हक है मेरा…!

सिर्फ़ दो लाइन ही तो लिखता हूँ..कहाँ असर करती होंगी तुम पर..!!

इतनी फुर्सत से बनाया है खुदा ने तुमको की,उस दिन उसने और किसी को नहीं बनाया..!

इश्क-ऐ-दरिया में हम डूब कर भी देख आये,वो लोग मुनाफे में रहे जो किनारे से लौट आये

कितनी ख़ास होती होगी वो स्त्री,जिसकी खातिर कोई पुरुष रोता होगा !!

शायरी उसी के लबों पर सजती है साहिब !जिसकी आँखों में इश्क़ रोता हो!!

मुद्दतों बैठे रहे हम तेरे एहसास के साथदूर के दूर रहे और पास के पास…

मोहब्बत में उस शख़्स से हारे हैजो कहता था कि हम सिर्फ तुम्हारे है.!

जिंदगी में अगर खुश रहना है तो,अपना दर्द छुपाना सीख़ालो।

तेरे प्यार का रंग चढ़ा है दिल में,जब भी याद आती है, मुस्कान सजाती है

दुआ करना दम भी उसी तरह निकले,जिस तरह तेरे दिल से हम निकले.

ऐसा नही की आपकी याद आती नही,ख़ता सिर्फ़ इतनी है के हम बताते नही !

बेर-सबब बात बढ़ाने की जरूरत क्या हैहम खफा कब थे मनाने की जरूरत क्या है।

बेगुनाह कोई नहीं सबके राज़ होते हैं,किसी के छप जाते हैं किसी के छिप जाते हैं..!!

कई दिन से तुझे देखा नहीं है,ये आँखों के लिए अच्छा नहीं है.

कुछ रिश्ते जिंदगी बदल देते है,मिले तब भी और ना मिले तब भी

इस उदास चेहरे को छुपाने की कोशिश करता रहता हूं,प्यार तुमसे अब भी है ये बताने की कोशिश करता रहता हूं..

बिछड़ने की इतनी जल्दी थी उसे,खुद को आधा छोड़ गया मुझमे..!!

कुछ दिन बहुत खुश थे हमअब उसी खुशी का कर्ज उतार रहे हैं।

वक्त भी…कैसी पहेली दे गया…उलझने सौ… जां अकेली दे गया…

जिसे सोचकर ही दिल खुश हो जाए,वो प्यारा सा एहसास हो तुम..!🥰❤️

क्या खूब रंग दिखाती है जिंदगी क्या इक्तेफ़ाक होता है,प्यार में ऊम्र नही होती पर…. हर ऊम्र में प्यार होता है |

शायद इश्क अब उतर रहा है सर से,मुझे अलफ़ाज़ नहीं मिलते शायरी के लिए..

तुम बस हाथ थामे रखना..साथ निभाने की जिम्मेदारी मेरी.!

हज़ारों से बातें नही करनी,हजार बातें करनी है सिर्फ तुमसे !

गिरा दे जितना पानी है तेरे पास ऐ बादल.ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी तेरे बरसने से नही।

उदास दिलो को हमदर्द मिलते हैहमसफर नही.!

गहराई जख्म की किसी को दिखाता नही हूं,माफ़ तो कर देता हूं मगर मैं भुलाता नही हूं..

किसीने जो पूछा सबसे नाज़ुक फूल कोनसे सो मुजे आ गया तेरे होंठो का खयाल ऐसे है

बिन सोये गुजर रहीं हैं,ये राते तुम पर कर्ज होंगी।

तेरी आंखे भी नम होगी, अगर हवाए यादो की मिट्टी उड़ाकर आयी होगी

Recent Posts