982+ Shree Krishna Quotes In Hindi | Krishna Quotes In Hindi

Shree Krishna Quotes In Hindi , Krishna Quotes In Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: October 6, 2023 Post Updated at: April 4, 2024

Shree Krishna Quotes In Hindi : अहंकार तब उत्पन्न होता है,जब हम भूल जाते हैकि प्रसंशा हमारी नही हमारे गुणों की हो रही है… श्री कृष्ण ने कहा है,अगर तुम्हें किसी ने दुखी किया हैतो बुरा मत मानना,लोग उसी पेड़ पर पत्थर मारते हैजिस पेड़ पर ज्यादा मीठे फल होते है।

बुरे कर्म करने नहीं पड़ते हो जाते है, और अच्‍छे कर्म होते नहीं करने पड़ते हैं।Krishna Quotes in Hindi

किसी की सहायता करने से सदा ही शक्ति बढ़ जाती है।

~ मान, अपमान, लाभ-हानि, खुश हो जाना या दुखी हो जाना यह सब मन की शरारत है।

प्रेम की भाषा बड़ी आसान होती हैं, राधा-कृष्ण की प्रेम कहानी ये पैगाम देती हैं।।

दुष्ट लोग अगर समझाने मात्र से समझ जाते तो यकीन मानो महाभारत कभी ना होता।।

जब तुम अन्याय के खिलाफ लड़ते हो, तो तुम्हारे पास सुप्रभात होता है।

चिंतन हो सदा इस मन में तेराचरणों में तेरे मेरा ध्यान रहेचाहे दुःख में रहूँ, चाहे सुख में रहू,होठो पे सदा तेरा नाम रहे।

गीता में लिखा हैंनिराश मत होना, कमजोर तेरा वक़्त हैं तू नहीं।

हरे कृष्णा, हरे कृष्णा, कृष्णा कृष्णा, हरे हरे। हरे रामा, हरे रामा, रामा रामा, हरे हरे।

दुनिया में केवल माता और पिता ही ऐसे इंसान है, जो चाहते है की हमारे बच्चे हमसे भी ज्यादा कामयाब हो।

“आपके हर कर्म का फल,आपको किसी ना किसी रूप में,अवश्य प्राप्त होता है”

कोई सराहना करे या निंदा लाभ तुम्हारा ही है। प्रशंसा प्रेरणा देती है और निंदा सुधरने का अवसर।

अहंकार तब उत्पन्न होता है,जब हम भूल जाते हैकि प्रसंशा हमारी नही हमारे गुणों की हो रही है…

~ जब वे अपने कार्य में आनंद खोज लेते हैं, तब वे पूर्णता प्राप्त करते हैं।

जब आप प्रभु से जुड़ जाओगे, तो आपकी परीक्षा प्रारंभ हो जाएगी, कुछ लोग इसे दुख समझते हैं. पर इसे आप प्रभु की कृपा सुने कि वह आपके साथ हैं।

हमेशा धर्म और सत्य के साथ खड़े रहे, भले ही आपको अकेले रहना पड़े।

अद्भुत बांसुरीवाला, जय श्री कृष्णा आला रे।

तेरे साथ को तरसे , तेरी बात को तरसेतेरे होकर भी , एक मिलन को तरसे। ।

“प्रेम और आस्था दोनों पर किसी का जोर नहीं,ये ‘मन’ जहां लग जाए वही ‘ईश्वर’ नजर आता है॥”

अगर तुम अपना कल्याण करना चाहते हो, तो सभी तरह के उपदेशों, सभी धर्मों को छोड़ कर मेरी शरण में आ जाओ, मैं तुम्हें मुक्ति प्रदान करुंगा।

“जहां अपनों के सामने सच्चाई,साबित करनी पड़े,वहां बुरे बन जाना ही ठीक है”

जिंदगी आपको वो नहीं देगी जो तुम्हे चाहिए। जिंदगी आपको वो देगी जिसके तुम काबिल हो।

मंज़िलें मुझे छोड़ गई रास्तों ने संभाल लिया,जा जिंदगी तेरी जरूरत नहीं कृष्ण ने मुझे संभाल लिया..!!

~ धर्म केवल कर्म से होता है कर्म के बिना धर्म की कोई परिभाषा ही नहीं है।

~ जीवन में कभी भी किसी से अपनी तुलना मत कीजिये, आप जैसे हैं सर्वश्रेष्ठ हैं।

बुराई तो तुम्हें हजारों की भीड़ में भी तुम्हे ढूंढ लेगीठीक उसी प्रकारजैसे गायों की झुंड में बछिया अपने मां को ढूंढ लेती है।

चुप रहने से बड़ा कोई जवाब नहीं और माफ कर देने से बड़ी कोई सजा नहीं

“जो दूसरों की तकलीफों को समझते हैं, जिनमें दया है, दिल से अच्छे हैं,उन्हें दोबारा जन्म लेना नहीं पड़ता।।”

रिश्तो को निभाने के लिए वक़्त निकालिये,कही ऐसा न हो जब आपके पास वक़्त हो तो रिश्ता ही न बचे।।

बुरे कर्म करने नहीं पड़ते हो जाते है, और अच्छे कर्म होते नहीं करने पड़ते है।

बुद्धिमान व्यक्ति को समाज कल्याण के लिए बिना आसक्ति के काम करना चाहिए।।

संसार के संयोग में जो सुख प्रतीत होता हैउसमें दुख भी मिला रहता हैपरंतु संसार के वियोग सेसुख-दुख से अखंड आनंद प्राप्त होता है।

“प्रत्येक दिन आपके जीवन की कहानी को फिर से लिखने का एक अवसर है; इरादे की कलम को उद्देश्य के साथ उपयोग करें।”

हमारी आस्था की परीक्षा तब होती है,जब हम जो चाहे वो न मिले औरफिर भी हमारे दिल से प्रभु के लिए शुक्रिया ही निकले

“जीवन में आधे दुख इस कारण जन्म लेते हैं,क्योंकि हमारी ‘आशाएं’ बड़ी होती है,इन आशाओं का ‘त्याग’ करके देखो,जीवन में ‘सुख’ ही ‘सुख’ है॥”

भाग्यवान वह होते हैं,जो राधा कृष्ण के दरबार में शीश झुकाते हैं..!!

जीवन में आधे दु:ख इस वजह से आते है, क्यूंकि हमने उनसे आशाऐं रखी जिन से हमें नहीं रखनी चाहिए थी।

अपने सबसे खास से धोखा खाने के बादलोग चाह कर भी किसी पर सम्पूर्ण भरोसानहीं कर पाते, यही सत्य है ।

मनुष्य का जीवन केवल उसके कर्मों पर चलता है, जैसा कर्म होता है, वैसा उसका जीवन होता है।

रिश्तो में नियमित दूरियां रिश्तो को जोड़ती हैऔर अनियमित दूरियां रिश्तो को तोड़ती है..!

“दया को अपना दिशा सूचक यंत्र और करुणा को अपना मानचित्र बनने दें, सहानुभूति से भरे हृदय के साथ जीवन के समुद्र में यात्रा करें।”

जिस इंसान के चारों तरफ नकारात्मक लोग रहते हैं, उस इंसान का मंजिल से भटक जाना तय है।

जिंदगी के इस रण में खुद ही कृष्ण खुद ही अर्जुन बनना पड़ता है,रोज अपना ही सारथी बनकर जीवन के महाभारत से लड़ना पड़ता है..!!

जो किसी दुसरो पर शक करता हैं,उसे किसी भी जगह पर खुशी नहीं मिल सकती।

आपका मूल्य इससे तय नहीं होता कि आप क्या है। यह इससे तय होता है कि आप खुद को क्या बनाने की क्षमता रखते है।

अहंकार करने पर इंसान की प्रतिष्ठा, वंश, वैभव तीनों ही चले जाते हैं।विश्वास ना हो तो रावण, कौरव और कंस का अंत देख लो।

हां, मिलती है ख़ुशी अब अकेले में;रहना सीख लिया सबके बिना मैंने।अज़ीब सी ख़ुशी है अकले जीने में,राधा नाम मन में बसा लिया मैंने।

“मुश्किलें केवल बेहतरीन लोगों के हिस्से में आती है,क्योंकि वही लोग उसे बेहतरीन तरीके से अंजाम देने की ताकत रखते हैं”

विश्वास का उत्तम उदाहरणअर्थात, अर्जुन ने दस लाख सेना कात्याग करके श्री कृष्ण को चुना !

वो तो बनके रहेना चहता था राधा का कान्हापर समाज की जिम्मेदारी ने बना दिया उसे परमात्मा।

एक बेहतरीन जिंदगी जीने के लिए यह स्वीकार करना जरूरी है कि सब कुछ सबको नहीं मिल सकता।

गति के लिए चरण जरूरी है और प्रगति के लिए आचरण जरूरी है।

“आत्मनिरीक्षण के दर्पण में, अपने कर्मों का प्रतिबिंब देखें और इसे अपने परिवर्तन का मार्गदर्शन करने दें।”

“भक्ति की सुगंध धूप की तरह हृदय में बनी रहती है। इसे परमात्मा को अर्पित करें, और आपकी आत्मा को इसका माधुर्य मिल जाएगा।”

जब कोई स्नान करके उठता है, तो हरे कृष्णा उसे शुभकामनाएं देते हैं। श्री कृष्णा करते हैं क्रीड़ा, गोपियों के संग नाचते हैं।

वह जो सभी इच्छाएं त्याग देता है‘मैं’ और ‘मेरा’ की लालसा तथा‘भावना’ से मुक्त हो जाता हैउसे शांति प्राप्त होती है।

छू गया जब कभी ख्याल कृष्ण का, दिल मेरा देर तक धड़कता रहाकल कृष्ण का जिक्र छिड़ गया घर में, और घर देर तक महकता रहा।

अर्जुन, इंसान शरीर को त्याग देता है परंतु आत्मा अमर है।

हद से ज्यादा सीधा-साधा होना भी ठीक नहींक्योंकि जंगल में सबसे पहलेसीधे पेड़ों को काटा जाता है।

एक तेरे ख्वाबो का शोक एक तेरी याद की आदत,तू ही बता साँवरे सो कर तेरा दीदार करूँ या जाग कर तुझे याद..!!

आपका कठिन समय ही आपको मजबूत बना देता है।

जब आप प्रभु के साथ जुड़ जाओगेतो आपकी परीक्षा आरंभ हो जाएगीकुछ लोग इसे दुख समझते हैंतो कुछ लोग प्रभु की कृपा।

बिना श्री कृष्ण के इस संसार में सब कुछ व्यर्थ है हमारा, हम शब्द हैं श्री कृष्ण के और वे स्वयं हमारे शब्दों के अर्थ हैं।

किसी की संगत से आपके विचार शुद्ध होने लगे। तो समझ लेना वह कोई साधारण व्यक्ति नहीं है।

“विनम्रता की खुशबू विपरीत परिस्थितियों में भी दूर-दूर तक फैलती है।”

जैसे तेल समाप्त हो जाने पर दीपक बुझ जाता है ,उसी प्रकार कर्म के क्षीण हो जाने पर भाग्य भी नष्ट हो जाता है..!!

कान्हा जी लो आज हम आपसे निकाह-ए-इश्क करते हैं. हाँ हमें आपसे मोहब्बत है मोहब्बत है , मोहब्बत है।।

जो धर्म का पालन करता है, उसे आध्यात्मिक ऊर्जा का आनंद प्राप्त होता है।

क्या तुम इस पद पर रहते हुए, सहज ही मर सकोगे।क्या तुम भी मेरे प्रिय सामान, मेरे कान्हा बन सकोगे।।

“अपने कार्यों की मिट्टी में दयालुता के बीज बोएं, और सद्भावना के बगीचे को फलते-फूलते देखें।”

बुरा वक़्त आपको जिंदगी के उन सच से सामना करवाता है। जिनका आपने अपने अच्छे वक़्त में कभी ख्याल भी नहीं किया होता है।

“फल की अभिलाषा छोड़कर,कर्म करने वाला पुरुष ही,अपने जीवन को सफल बनाता है॥”

Recent Posts