596+ Revenge Karma Quotes In Hindi | कर्म पर अनमोल वचन

revenge karma quotes in hindi, वक्त और कर्म शायरी, revenge quote, कर्म पर अनमोल वचन
Author: Quotes And Status Post Published at: June 30, 2023 Post Updated at: April 4, 2024

revenge karma quotes in hindi: कभी भी अन्य की भावनाओं के साथ न खेलें,क्योंकि आप नहीं जानते कि कर्म कैसे खेल खेलते हैं। दुनिया में प्रेम से बड़ा कोई धर्म नही,और दूसरों की भलाई से बड़ा कोई कर्म नही।

“💐💐 मन जैसा कर्म करे, वैसा ही फल पाए। समय की मझधार को, कर्म ही पार लगाए। 💐💐 ”

किसी को धोखा देकर खुश मत होना,कर्म है जो सब का हिसाब रखता है।

इंसान सब कुछ कापी कर सकता है,लेकिन क़िस्मत और नसीब नही।

कार्य #आरम्भ न करने से उद्देश्य सिद्ध# नहीं होता, परन्तु पुरूषार्थ करने से भी जिनके कार्य सिद्ध न हो, वे #भाग्य के मारे होते हैं.

Karma एक बूमरैंग जैसा ही है वापस उसव्यक्ति के पास लौटता है जो इसे फेंकता है।

◆. ” बलहीन व्यक्ति हर कार्य को असम्भव समझते हैं जबकि वीर उसी कार्य को साधारण समझते हैं। “

आपके कर्म ही आपकी पहचान है, क्योंकि हजारों लोगों के नाम एक जैसे ही होते है।

जो कर्म विद्या, #श्रद्धा ओर योग से युक्त होकर# किया जाता है, वही प्रबलतर# होता है.

किसी और के कर्म के साथ खुद को शामिलकरते समय आपको बहुत सावधान रहना होगा।

जैसे बछड़ा हजारों गायों की भीड़ में भी अपनी माँ को खोज लेता है, ठीक इसी तरह कर्म करोड़ों लोगों में अपना कर्ता पकड़ लेता है।

भाग्य के संयोग से कुछ नहीं होताआप अपने कर्मों से अपना भाग्य खुद बनाते हैं

यदि तुम जरूरतमंदों की मदद करते हैं, तो ईश्वर भी तुम्हारी मदद करता है।

◆. “अपने कार्य में सुंदरता तलाश कीजिए। यकीन मानिये इससे सुंदर कुछ हो नहीं सकता। “

कर्म का एक प्राकृतिक नियम है जो लोग दूसरों को चोटपहुंचाएंगे वो अंत में टूट जाएंगे और अकेले हो जाएंगे।

अच्छा हो या बुरा हो पर कर्मों का फल जरूर मिलता है,किसी को जल्दी मिलता है,तो किसी को थोड़े देर से मिलता है।

कर्म अपना समय बिताता है, आपको हमेशा ध्यान रखना होता है।

सफलता और शक्ति के इच्छुक व्यक्तिको निरंतर अच्छे कर्म करने चाहिए

दया का एक छोटा सा कार्य हमारी प्रार्थनाओं से कहीं अधिक मूल्यवान है।

जहां वास्तविक प्रेम होता है, वहां कर्म भी आनंददायक होते हैं। लेकिन झूठे प्यार में, कर्म तो नरकीय होते हैं।

जिसे पीठ दिखा के गया था वही तेरे सामने आयेगा, दुनिया गोल है प्यारे कहा भाग के जायेगा।

#अटल सत्य है की जैसे #बछड़ा  सौ गायो में अपनी #माँ को ढूंढ लेता है …. उसी प्रकार #कर्म अपने करता को ढूंढ ही लेता है …आज नहीं तो #कल ॥

जब तुम धोखा देते हो, तो तुम खुद ही अपनी आत्मा के साथ धोखा देते हो। अपने कर्मों से बचने का तरीका यही है कि आप निष्कपट रहो और सच्चाई से जुड़े रहो।

आप जो चाहे कर सकते हैं, वो आपके हाथ में हैं लेकिन कर्मों का फल आपके हाथ में नहीं।

कर्म करो, काण्ड नहीं 😛 आपका प्रेम 💕 अपने आप चलकर आयेगा !!

हर कर्म एक बीज की तरह है और जैसा बीज बोओगे वैसा ही काटोगे।

कोई मेरा #बुरा करे वह उसका# कर्म है । में किसी का बुरा न करुँ,  वो मेरा #धर्म है

“💐💐 ज़िन्दगी कर्म है या भ्रम, समझ में नहीं आती । औरों को देख कर्म, खुद को देख भ्रम लगती है ।। 💐💐 ”

कोई मेरा बुरा करे वो उसका कर्म है, में किसी का बुरा न करू वो मेरा धर्म है।

अपने कर्म को #सलाम करो, दुनियाॅं तुम्हे सलाम करेगी! यदि कर्म को दूषित रखोगे तो, हर किसी को #सलाम करना पड़ेगा!

ये जरूरी तो नहीं कि इंसान हर रोज मंदिर जाए,बल्कि कर्म ऐसे होने चाहिए,की इंसान जहाँ भी जाए,मंदिर वहीं बन जाए।

कर्म के बिना जीवन फिका है, कर्म न हो तो इंसान होना बेकार है। कर्म ही मानव को इंसान होने का बोध कराते हैं, और कर्म ही मानवता का वास्तविक धर्म है।

मुसीबतें चाहे जितनी मर्ज़ी हो हर कदम पर,तू घबरा कर मत बैठ तू बस अपना कर्म कर।

अपने कर्मों को सुधारकर हम अपने आत्म-विश्वास और आत्म-संयम को बढ़ा सकते हैं, जो हमें जीवन में सफलता की ओर ले जाने में सहायक होते हैं।

इससे पहले कि आप किसी से बदला लेना शुरू करें, एक कब्र अपने लिए भी खोदें।

जिन ज़ख्मों से हम अंजान थे , वो ज़ख्म दे गए ना जो दर्द हमने सहा था , वो तुम भी सह गए ना ? #कर्मा

अच्छे बुरे कर्मो का हिसाब है ज़िंदगीहररोज जिसमे एक नया पन्ना जुड़ता है,वो हसीन किताब है ज़िन्दगी।

Karma क्या है? सीधे शब्दों में कहें तो ये क्रिया की प्रतिक्रिया है.. चाहे वो अच्छी है या बुरी।

कर्मभूमि की क्षेत्र में मेहनत तो सबको करनी है, ईश्वर केवल रेखाएँ देते है, उसमें रंग तो हमें ही भरना है। पुण्य कर्म करते रहो।

जब तक जिंदगी चल रही है, सत्कर्म कर्म करते रहो।

सोच-समझ कर ही कर्म करें क्योंकिकर्म अच्छा हो या बुरा कभी खाली नहीं जाता

यदि आप सभी के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखेंगे तो आपको वैसा ही प्रतिफल मिलने वाला है।

उन्हीं की किस्मत अच्छी होती हैं, जो कर्म अच्छे करते हैं।

हमारे कर्म का हिसाब ना पूछो साहब, हमनें तो उन्हें भी गले लगाया, जिन्होंने हमारा बुरा चाहा।

फिक्र मत करना,तुम्हारे गुनाह को तुम्हारे कर्म ढूंढ ही लेंगे।

अगर आपके कर्म अच्छे हैं तो आपका भाग्य भी आपके साथ है।

किसी को धोखा देकर खुश मत होना, कर्म है जो सब का हिसाब रखता है। kisi Ko Dhokha dekar Khush mat hona karm hai jo sab ka hisab rakhta hai.

कर्म पर विश्वास करो, अगर अच्छा बोया है तो अच्छा ही काटोगे।

इंसानियत दिल में होती है, हैसियत में नहीं, ऊपर वाला कर्म देखता है, वसीयत नहीं।

आदमी का एक अच्छा कर्म सब बुरे कर्मो को नष्ट कर सकता है। वैसे ही एक बुरा कर्म सारे अच्छे कर्मों को नष्ट कर देता है।

यह कभी मत भूलना कि आप जो कुछ भी कर रहे हैं उसका परिणाम आपका इंतजार कर रहा है।

जन्म से कोई भाग्यशाली नहीं होता अगर कोई भाग्यशाली बन सकता है तो वह कर्म से।

“💐💐 कर्म का फल व्यक्ति को उसी तरह ढूंढ लेता हैं, जेसे कोई बछड़ा सेकड़ों गायों के बीच अपनी मां को ढूंढ लेता है। 💐💐 ”

ईश्वर भी उसी का साथ देते है जिसके साथ उसके अच्छे कर्म होते हैं।

केवल सत्कर्म करना ही निराशा से बचने का एकमात्र उपाय है।

वह कर्म गलती नहीं गुनाह है जो माफी के लायक नहीं है।

कर्म जैसा बोएगा, वैसा ही काटेगा। इसलिए अच्छे कर्म करो।

आप किसी से छुप सकते हो या किसी से छुपा सकते हो लेकिन कर्म आपको देख रहा होता है।

मत करो बात मजहब या धर्म कीमैं कर्मा का फैन हूं बात करूंगा कर्म की

कर्म का कोई मेनू नहीं है। काबिलियत के अनुसार ही फल मिलता है।

अपने कर्म से दोस्ती कर लीजिये, आप बहुत फायदे में रहेंगे।

ईमानदारी और बुद्धिमानीसे किया गया काम कभी व्यर्थ नहीं जाता।

जिम्मेदारियों# को निभाना कष्टकारक हो सकता है, लेकिन #जिम्मेदारियों से बचना स्थिति को और ज्यादा दुखदायी बना देता है.

जिंदगी का एक ही उसूल है, करो यहां और सहों यहां।

हमेशा याद रखिये आप आपने बुरेकर्मों के फल से नहीं भाग पाएंगे

जीवन की ना अच्छाई में उलझ जाना और ना बुराई में, केवल अपने कर्म करते जाना।

किसी दिन यह महसूस करना कि क्या सत्कर्म वही है जो तुम्हारे लिए अच्छा है या दुसरो के भी अच्छा।

कर्म से ही पहचान होती है,इंसानों की दुनिया में,अच्छे कपड़े तो बेजुबान पुतलो को भी पहनाया जाता है,दुकानों में।

◆. ” अभाग्य से हमारा धन, नीचता से हमारा यश, मुसीबत से हमारा जोश, रोग से स्वास्थ्य, मृत्यु से हमारे मित्र छीने जा सकते हैं, परन्तु हमारे कर्म नहीं।”

कोई भी जो अच्छा काम करता है उसका कभीभी बुरा अंत नहीं होगा,यहाँ या आने वाले दुनिया में

कर्म एक ऐसा ढाबा है, जहाँ हमें ऑर्डर करने की जरूरत नहीं पड़ती। हमने जो पकाया होता है, हमें वही मिलता है।

प्यार से बड़ा कोई धर्म नहीं होता । परोपकार से बड़ा कोई कर्म नहीं होता ।।

इंसान भाग्यशाली नहीं होता कभी भी जन्म से, उसका भाग्य बनता है कर्म से।

Recent Posts