1171+ Positive God Quotes In Hindi | ईश्वर के अनमोल विचार

positive god quotes in hindi, भगवान पर अनमोल वचन, Beautiful God Quotes, ईश्वर के अनमोल विचार, भगवान पर ब्यूटीफुल कोट्स
Author: Quotes And Status Post Published at: June 27, 2023 Post Updated at: July 1, 2024

Positive God Quotes In Hindi: जिस इंसान का मन पहले से ही गन्दा हो भला उसकी प्राथना ईश्वर कैसे स्वीकार कर सकते है। कामियाबी के मार्ग पर चुनौतियां तो आएंगी ही इसलिए भगवान को दोष देने की बजाय उन चुनौतियों से निपटना सीखो।

“ईश्वर को देखा नहीं जा सकता, इसीलिए तो वह हर जगह मौजूद है।”

“ ईश्वर को अपना मित्र बनालो फिर तुमको कामयाबहोने से कोई नही रोक सकता है…!!

“ यकीन करो जब ईश्वरदेगा तो बेहतरनही बेहतरीन देगा…!!

आप में एक ईश्वर अंश है। चेतना। शुद्ध स्व। उस पावर की आवाज़ सुनना सीखें।

जब सुखी होतो ईश्वर को मत भूलना,जब दुखी होतो ईश्वर पर विश्वास रखना।

आपकी मेहर पर शक नहीं है मुझे ऐ प्रमेश्वर शक तो ये है कि, मैं आपकी मेहर के लायक हूँ या नहीं।

प्रार्थना सदा कुछ मांगनेके लिए नहीं अपितु,ईश्वर ने जो कुछ दिया हैउसके प्रति आभारव्यक्त करने के लिएहोनी चाहिए।

“ अच्छे लोगों की कृष्णपरीक्षा बहुत लेता है,परंतु साथ नही छोड़ताऔर बुरे लोगों कोकृष्ण बहुत कुछ देता है,परंतु साथ नही देता…!!

ईश्वर पर आप तभी विश्वास कर सकते हैं,जब आपको खुद पर विश्वास हो,क्योंकि ईश्वर बाहर नहीं हमारे अंदर ही हैं।

ईश्वर अपनी संतानों का सच्चा साथी ही नहींबल्कि सारथी भी होता है,जो समय पर साथ भी देता है,और उसका मार्ग भी प्रशस्त करता है।

“ईश्वर सभी के दिलों में है, और वे चाहते हैं कि जब उन्हें उसकी सबसे ज्यादा जरूरत होगी तो वे उसे अवश्य पाएं। “

मुझेको कौन याद करेगा इस मतलब भरे संसार में हे ईश्वर, बिना मतलब के तो लोग आपको भी याद नहीं करते।

मैंने पूछा भगवान से कैसे करूं आपकी पूजा,भगवान बोले तू खुद भी मुस्कुरा,औरों को भी मुस्कुराने की वजह दे,बस हो गई पूजा।

“ परमात्मा सदा सदा से हीदयालु और कृपालु हैंअगर सच्चे मन सेउन्हें याद किया जाए तो,वह हमारे मन की बात अवश्य सुनते हैं…!!!

“तेरी ही रेहमत का है ये दीदार, मुझे भी कोयले से हीरा बनने का है इन्तेजार।”

मत करना अभिमान खुद पर ऐ माटी के प्राणीतेरे और मेरे जैसे कितनो को ईश्वर नेमाटी से बनाकर माटी में मिला दिया…

कभी-कभी तो हम कहते हैं की कोई हमारे साथ नहीं है,लेकिन सच तो यह है की हम ये बात भूल जाते है कीहमारे साथ कोई हो या नहीं,लेकिन ईश्वर हमारे साथ होते है।

भरोसा रखो जब भी परमात्मा देगा, बेहतर नहीं बेहतरीन देगा।

सच्चा प्यार और ईश्वरएक तरह होते हैंमिल जाने पर और कोईख्वाहिश नही रहती हैं।

कर दिया है बेफिक्र तूने ऐ प्रभु,अब फिक्र मैं कैसे करूँ,फिक्र तो ये है कि, तेरा शुक्र मैं कैसे करूँ…

जीवन ना तो भविष्य में है और ना ही अतीत में हैजीवन तो केवल इस पल में है इसी पल का अनुभव ही जीवन है !

मुझे नहीं पता कि भगवान मौजूद है, लेकिन अगर वह नहीं था तो यह उसकी प्रतिष्ठा के लिए बेहतर होगा।

“ दुनिया में ठोकर खाकरहम कह देते हैं किकोई किसी का नहीं है…!!लेकिन जो हमारा हैउसे हम भूले भी तो बैठे हैं….!!!

दुनिया के मतलबी लोगों कोवैसे तो भगवान याद नहीं आते लेकिनजब कोई मुश्किल आन पड़ती है तोउन्हें सिर्फ भगवान ही याद आते हैं।

मौन प्रार्थनाएँ जल्दी पहुँचती हैं भगवान् तक क्योकि शब्दों के बोझ से मुक्त होती हैं।

“गुनाह मेरे बड़े है, है तेरा दिल भी बड़ा, यकीन है माफ़ करेगा इसलिए दर पे हूँ खड़ा।”

विश्वास का उत्तम उदाहरण अर्थात, अर्जुन नेदस लाख सेना का त्याग करके श्री कृष्ण को चुना

जैसे पिता अपने #प्रिय पुत्र को #ताड़ना देता है,#वैसे ही प्रभु उस मनुष्य #को ताड़ना देता है#जिससे वह #प्रेम करता है?।

हे प्रभु :हमें सुख इतना देना किअहंकार न आ जाए।और दुःख इतना देनाजितना सहन कर पाएं।

“ जो कुछ है तेरे दिल में,सब उसको खबर है,बंदे तेरे हर हालपर भगवान की नज़र है…!!

भगवान हमेशा से दयालू है। जो विनम्र हृदय से भगवान से मदद मांगता है, भगवान उसकी मदद जरूर करते है।

“ ना मंदिर में छुपा है,ना मस्जिद में छुपा है,जिसके दिल में इंसानियत है,उस दिल में खुदा है…!;;

पूरी दुनिया में ढूढ़ने के बाद भी नही मिलता हैं वही माया हैं और जो एक जगह पर बैठे ही मिल जाए वही परमात्मा हैं।

“ संसार से उम्मीदें कभी मत करोभगवान से आशाएं कभी मत छोड़ो अगरतुम्हारी नियत और कर्म अच्छे हैं तोतुम्हारे साथ अच्छा ही होगा…!!

“ ईश्वर पर आप तभी विश्वास कर सकते हैं,जब आपको खुद पर विश्वास हो,क्योंकि ईश्वर बाहर नहीं हमारे अंदर ही हैं…!!

जो परमात्मा को पा लेता है, वो शांतचित्त हो जाता है।

मैं इसमें भाग लेकर विश्वास की किसी भी सभ्य प्रणाली को बोझ नहीं बनाऊंगा … मैं अज्ञेय नहीं हूं। बस नॉनपार्टीसन। धार्मिक स्विट्ज़रलैंड, यही मैं हूं।

यदि आपके पास सिर्फभगवान हैं तो आपकेपास वह सब हैं जोआपको चाहिए।

“ गीता में श्रीकृष्ण ने कहा है कियहां कौन अपना कौन पराया हैतू इसकी चिंता छोड़ औरतू अपने कर्तव्य पथ पर चलता चल…!!

फुर्सत नहीं इंसान को घर से मंदिर तक जाने की,और ख्वाहिशे रखता है श्मशान से सीधा स्वर्ग जाने की…

में अँधेरे में ईश्वर के साथ चलना पसंद करूंगी बजाय अकेले उजाले में चलने के –मैरी गार्डिनर ब्रैनार्ड

भगवान् भी उन्ही का साथ देता है,जिनके साथ उनके अच्छे कर्म होते हैं।

“ जिंदगी के सफर मेंजो केवल सत्य के मार्ग पर चलते हैंउनकी मंजिल ईश्वर के पासपहुंचकर ही समाप्त होती है…!!

अपने आप को मौलिक रूप से भगवान द्वारा प्रिय के रूप में परिभाषित करें। यही सच्चा स्व है। हर दूसरी पहचान भ्रम है।

इस जगत में जिसे छूटना है, उसे कोी बांधनेवाला नहीं हैऔर जिसे जगत से बंधना है, उसे भगवान भी नहीं छुड़ा सकते

ईश्वर से रुष्ठ कभी मत होना, दुनिया से आशा कभी मत किजिए, कर्म क्षेत्र पर फल के लिए परिश्रम तो सभी को करना ही पड़ता है।

“ब्रह्मांड न तो पृथ्वी और न ही सूर्य पर केंद्रित है। यह भगवान पर केंद्रित है।”

हे ईश्वर ! और भी खूबसूरत हो गई ये राहें, जबसे तुम हमराह बने हो।

भगवान भी केवल उसी व्यक्ति का साथ देते है जो किस्मत के भरोशे नहीं बल्कि अपनी मेहनत के बलबूते पर कुछ कर दिखाना चाहते है।

“ हे प्रभु मेरा हाथ सदा थामें रखनाअपने चरण की शरणमें मुझे सदा रखना…!!!

कठिन परिस्थितियों मेंभी धैर्य रखना ईश्वर परअटूट विश्वास का प्रतीक है।

जो संकट में दूसरों की सहायता करता है,उनकी सहायता से स्वयं करता हूँ।“जय श्री कृष्णा”

आप वह नहीं हैं जो दूसरे सोचते हैं कि आप हैं। आप वही हैं जो ईश्वर जानता है कि आप हैं।

किस से सीखू मैं खुदा की बंदगी,सब लोग खुदा के बँटवारे किये बैठे है,जो लोग कहते है परमात्मा कण कण मैं हैवहीं मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारे लिये बैठे है…

“ बड़ा ही खुबसूरत रिश्ता है,मेरा और मेरे प्रभु के बीच,ज्यादा मैं कभी मांगता नहींऔर कम वो कभी देता नहीं…!!

“ ईश्वर करुणा के सागर हैतू मोह माया को छोड़और उनके सागर में डुबकी लगा….!!!

मैं किसी से बेहतर करूँ क्या फर्क पड़ता है,मैं किसी का बेहरतर करूँ बहुत फर्क पड़ता है…

“ दुनिया में सत्य और प्रेम सेबढ़कर कुछ नहीं हैसत्य और प्रेम के सहारे हीईश्वर को पाया जा सकता है…!!

एक सत्यस्वरूप परमेश्वरको विद्वान अनेक नामों सेपुकारते हैं।ऋग्वेद

कभी-कभी मैं बस तब पहुंचता हूं जब भगवान किसी को शटर क्लिक करने के लिए तैयार होते हैं।

ईश्वर पर भरोसा रख अपने गमों की नुमाइश न कर,जो तेरा है वो तेरे दर पे चल के आयेगारोज-रोज उसे पानी की ख्वाहिश न कर…

“मंदिर में ढूंढा, मस्जिद में ढूंढा पर तू मिला वही जब खुद में ढूंढा।”

“ भगवान पर वही विश्वास कर सकते हैंजिन्हें अपने आप पर विश्वास होक्योंकि भगवानहमारे अंतर्मन में ही बसे होते हैं…!!

परमात्मा से कुछ मागने पर अगर न मिले तो नाराज न होनाक्योंकि, परमात्मा वह नहीं देतें जो आपको अच्छा लगता हैकिंतु वह देते है जो आपके लिये अच्छा है…

“ हे भगवान मुझ परइतनी कृपा बनाए रखना किइस संसार में मेरे मन,कर्म, वचन से कोई दु:खी न हो…!!

व्‍यक्ति जो चाहे बन सकता है!!यदि विश्‍वास के साथ!!इच्छित वस्‍तु पर लगातार चिंतन करें!!

ईश्वर करुणा के सागर हैतू मोह माया को छोड़और उनके सागर में डुबकी लगा..

हे परमात्मा…चाह नहीं मेरी कि, पूरा पथ जान सकूं,दे प्रकाश इतना कि, अगला हर कदम पहचान सकूं…

ईश्वर हमें कभी सजा नहीं देते!!हमारे कर्म ही हमें सजा देते हैं!!

मेरे और भगवान के बीच मेंबहुत ही ख़ूबसूरत रिश्ता हैं,मैं ज्यादा माँगता नही औरवे कम देते नही हैं।

धर्म के उन व्यापारियों से तो वो दूकानदार अच्छे है!!जो गीता, कुरान और बाइबल को एक साथ सजा कर रखते है!!

“ प्रार्थना तब होती हैजब आप परमात्मा से बात करते हैं,ध्यान तब होता हैजब आप ईश्वर को सुनते हैं…!!!

Recent Posts