1171+ Positive God Quotes In Hindi | ईश्वर के अनमोल विचार

positive god quotes in hindi, भगवान पर अनमोल वचन, Beautiful God Quotes, ईश्वर के अनमोल विचार, भगवान पर ब्यूटीफुल कोट्स
Author: Quotes And Status Post Published at: June 27, 2023 Post Updated at: July 1, 2024

Positive God Quotes In Hindi: जिस इंसान का मन पहले से ही गन्दा हो भला उसकी प्राथना ईश्वर कैसे स्वीकार कर सकते है। कामियाबी के मार्ग पर चुनौतियां तो आएंगी ही इसलिए भगवान को दोष देने की बजाय उन चुनौतियों से निपटना सीखो।

“जो मन का गुलाम है, वह ईश्वर भक्त नहीं हो सकता । “

भगवान को मंदिर से ज्यादामनुष्य का हृदय पसंद है,क्योंकि मंदिर में इंसान की चलती है,हृदय में भगवान की।

एक भगवान आपके घर में भी होता है!!जिसे हम माँ-बाप के नाम से जानते है🙏!!

ईश्वर का दाहिना हाथ कोमल,परन्तु बायां बहुत कठोर है।रवीन्द्रनाथ टैगोर

दुनिया में सत्य और प्रेम सेबढ़कर कुछ नहीं है…सत्य और प्रेम के सहारे हीईश्वर को पाया जा सकता है…

जो लोग सुबह-सुबहभगवान की शरण में जाते हैं।उन्हें दिनभर किसी के आगेहाथ फैलाना नहीं पड़ता।

स्वर्ग और नर्क सिर्फहमारे दिमाग में हैं,मनुष्य अपने कर्मो काफल इसी पृथ्वी पर पाता हैं।

मैं किसी से बेहतर करूँ क्या फर्क पड़ता है,मैं किसी का बेहरतर करूँ बहुत फर्क पड़ता है…

जब हम गेहूँ का एक दाना बोते हैंतो कुछ समय पश्चात वो हमे हजारदाने के रूप में मिलता हैं उसी तरहहमारे अच्छे कर्मो का फल हमें ईश्वरभी देता हैं।

“ मत करना अभिमान खुद पर ऐ इन्सान,तेरे और मेरे जैसे कितनो कोईश्वर ने माटी से बनाकरमाटी में मिला दिया…!!

ईश्वर पाप से बहुत कुढ़ता हैं!!और हमारी चोकिदारी के लिए!!अद्रश्य रूप में हर घड़ी साथ रहता हैं!!

“ लोग भगवान कोमन की इच्छा पूरी करनेका जरिया समझते हैंलेकिन भगवान तो इच्छाओं कानाश करने का आदेश देते हैं…..!!!

प्राकृति से प्रेम करना परमात्मा से प्रेम करने के बराबर होता हैं, यही परमात्मा का सच्चा स्वरूप हैं।

“नेकी की राहों पे तू चल रब्बा रहेगा तेरे संग, वो तो है, तेरे दिल में हाँ ,तू क्यों उसे बाहर ढूंडता।

आप पायेंगे कि ईश्वर केवल उन लोगों की मदद करते हैं!!जो कड़ी मेहनत करते हैं!!यह सिद्धांत बहुत स्पष्ट है!!

तुझ में मुझ में सब मेंएक आत्मा समाई है।आत्मा है परमात्मा का अंशयह जीवन की सच्चाई है।

“ खूबसूरत रिश्ता हैमेरे और मेरे भगवान के बीच,ज्यादा मैं मांगता नहींऔर कम वह देता नहीं…!!

“भगवान की एक परम प्रिय के रूप में पूजा की जानी चाहिए, इस या अगले जीवन की सभी चीजों से बढ़कर।”

हर आदमी भटकाव में एक देवत्व है, एक भगवान मूर्ख खेल रहा है।

मत करना अभिमान खुद पर ऐ इन्सान!!तेरे और मेरे जैसे कितनो को!!ईश्वर ने माटी से बनाकर माटी में मिला दिया!!

“ जो मिला है वो भी अच्छा हैजो नहीं मिला वह भी अच्छा हैक्योंकि देने वाले को सब पता है किमेरे लिए क्या सही और क्या गलत है…!!!

ईश्वर न #काबा में है,#न काशी में वह तो#घर-घर में व्याप्त है?।

भगवान से निराश कभी मत होना,संसार से आशा कभी मत करना

ईश्वर के प्रति भक्ति भाव रखना और अच्छे कार्य को करना हमे मानसिक शांति देता हैं. शुभ रात्रि

ॐ-यही वास्तविक ब्रह्मा है,चरम सत्य है।उपनिषद

अगर तुम्हारे पास केवल भगवान हैं तो तुम्हारे पास वो सब कुछ हैं जो आपको चाहिए।

कल्पना साहस की आवाज़ है। अगर ईश्वर के बारे में कुछ भी भगवान जैसा है, तो वह यही है। उसने हर चीज़ की कल्पना करने की हिम्मत की

“ हे प्रभु तुझे पाकर मुझे स्वर्ग कीकोई चाहना नहीं क्योंकितेरे चरणों में ही मुझेस्वर्ग से अधिक सुख महसूस होता है…..!!!

ईश्वर कहते है,उदास मत हो मैं तेरे साथ हूँ,सामने तो नहीं आस – पास हूँ,पलकों को बंद करोऔर दिल से याद करोकोई और नहीं तेरा विश्वास ही तो हूँ।

“भगवान कहते है- तू करता वही है, जो तू चाहता है, पर होता वही है जो मैं चाहता हूँ, तू वो कर जो मैं चाहता हूँ, फिर देख होगा वही जो तू चाहता है..!!”

“ एक माटी का दियाअंधेरे से सारी रात लड़ता है,तू तो भगवान का दिया हैफिर किस बात से डरता है….!!

जैसे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम जरूरी है..उसी तरह आत्मा के सुख के लिए ध्यान जरुरी है..और परमात्मा को पाने के लिए समर्पण जरुरी है..

“मैंने पूछा भगवान से कैसे करूं आपकी पूजा, भगवान बोले तू खुद भी मुस्कुरा, औरों को भी मुस्कुराने की वजह दे, बस हो गई पूजा..!!”

ईश्वर भक्ति से मन के विकार समाप्त हो जाते हैं और हम भगवान की समीप पहुँच जाते हैं. शुभ रात्रि

“जब सबने साथ छोड़ा है, तूने ही अपनाया है, भटकती इन राहों को मेरी तूने रास्ता दिखाया है।”

किसी की सूरत बदल गई,किसी की नियत बदल गई,जब से तू ने पकड़ा मेरा हाथ भगवान,मेरी तो किस्मत ही बदल गई।

“हाथो में लकीर मेरी है, पर किस्मत की तक़दीर तेरी है।”

जो मुश्किल वक्त मेंदूसरों की सहायता करना जानते हैंभगवान उनकी स्सहायता के लिएस्वयं किसी भी रूप में आ जाते हैं।“जय श्री कृष्णा”

“भगवान को मंदिर से ज्यादा मनुष्य का हृदय पसंद है, क्योंकि मंदिर में इंसान की चलती है, हृदय में भगवान की..!!”

” प्रार्थना अपने आप को भगवान के हाथों में डाल रही है।”

ईश्वर का सार हैज्ञान और प्रेम।स्वेडन वर्ग

खुद पर घमंड मत कर ऐ बन्दे तेरे और मेरे जैसे कितनो को प्रमेश्वर ने मिट्टी से बनाकर मिट्टी में मिला दिया।

“कौन कहता है कि भगवान दिखाई नहीं देता। एक वो ही तो बस दिखाई देता है, जब और कोई दिखाई नहीं देता ।”

हे प्रभु:मेरा हाथ सदा थामें रखनाअपने चरण की शरण में मुझे सदा रखना…

“ जो लोग भगवानपर भरोसा करते हैं,वह कभी अकेलेहो ही नहीं सकते….!!!

“ तुजमे राम मुजमे रामसब में राम समाया हैकर लो प्यार जगत मेंसभी से कोई नहीं पराया है…!!

फुर्सत नहीं इंसान को घर से मंदिर तक जाने की,और ख्वाहिशे रखता है श्मशान से सीधा स्वर्ग जाने की…

अगर तेरी बंदगी ना होती हे ईश्वर ये जिंदगी, जिंदगी ना होती…

“ कर्मभूमि पर फल के लिए,श्रम तो करना ही पड़ता है,भगवान सिर्फ लकीरें देता है,रंग तो हमें ही भरना पड़ता है…!!

“ जिंदगी में जब भी अकेलापनमहसूस किया करोईश्वर के पास जाकर बैठ जाया करोआपको एक सच्चा साथी मिल जाएगाऔर अकेलापन दूर हो जाएगा…!!!

“आस्था का मतलब यह मानना नहीं है कि ईश्वर आपके लिए सही करेंगे, बल्कि यह है की ईश्वर जो करेंगे वह सही होगा।”

ईश्वर हमेशा आपको वह देता हैजो आपके लिए अच्छा होता है,इसीलिए हमेशा रब की रजा मेंराज़ी रहा करो…

“ ईश्वर से कुछ मांगने पर न मिलेतो उससे नाराज ना होना,क्योकि ईश्वर वह नहींदेता जो आपको अच्छा लगता है,बल्कि वह देता हैजो आपके लिए अच्छा होता है…!!

“ जब दुनिया का हर रिश्तासाथ छोड़ देता है तो,एक भगवान का साथ ही,हमारे पास होता है….!!!

“ बड़े नादान हैं,वो लोग जो इस दौर मैं भी,वफा की उम्मीद करते हैयहाँ तो दुआ कबूल ना होने पर लोग,भगवान तक बदल दिया करते है…!!

“जिंदगी छोटी है। कड़ी प्रार्थना करो।”

परमात्मा को समझना आसान है लेकिन जैसे ही हम परमात्मा व्याख्या करते हैं परमात्मा हमारी समझ से बाहर हो जाते हैं।

भगवान के बारे में बातें तोसभी कर लेते हैं लेकिन…उन्हें महसूस वही कर सकते हैंजिन्हें अंतर्मन से भगवान पर विश्वास हो

गुरूर तुझे किस बात का ऐ बंदे,आज तू मिट्टी के ऊपर तोकल मिट्टी के नीचे…

ईश्वर पर आप तभी विश्वास कर सकते हैं जब आपको खुद पर विश्वास हो क्योकि ईश्वर बाहर नही हमारे अंदर ही हैं. शुभ रात्रि

यदि आपके पास सिर्फ भगवान हैं तो आपके पास वह सब हैं जो आपको चाहिए. शुभ रात्रि

मिटाने से नहीं मिटते ये तकदीर के लेख, अच्छे कर्म करते चल, फिर उसकी महिमा देख।

“ईश्वर के अस्तित्व के लिए बुद्धि से प्रमाण नहीं मिल सकता, क्योंकि ईश्वर बुद्धि से परे है।”

प्रेम ही ईश्वर है..इसलिए वो मंदिर और मस्जिद में नहीं बल्किहमारे अंतर्मन और ह्रदय में मिलते है।

ईश्वर ही हमार आश्रयप्राता हैऔर शक्तिदाता। वही आपत्कालकी सबसे बड़ी सहायता है।सामवेद

कर्म भूमि पर फल के लिए श्रम!!तो सभी को करना ही पड़ता है!!भगवान सिर्फ लकीरें देता है!!रंग तो हमें ही भरना पड़ता है!!

अगर आपकी समस्या एक जहाज जितनी बड़ी है तो यह नही भूलना चाहिए कि भगवान की कृपा सागर जितनी विशाल हैं।

श्वर के राह पर#जब कोई एक क़दम# बढ़ाता हैतो ईश्वर उसे थामने #के लिए सौ# क़दम बढ़ते है?।

एक भगवान आपके घर में भी होता है,जिसे हम “माँ-बाप” के नाम से जानते है।

“ अपनी तरफ से पूरी कोशिश करोऔर बाकी भगवान को करने दो…!!

मैंने कहा : अपराधी हूं मैं !! महाकाल ने कहा : माफ कर दूंगा।मैंने कहा परेशान हूं मैं । महाकाल ने कहा : संभाल लूंगा!!

चाहे जितना भी# जतन करो भरने का #दामन तारों से,#झोली में वो ही आएँगे जो #तेरे नाम के दाने है?।

Recent Posts