964+ Buddha Quotes In Hindi | Gautam Buddha Quotes in Hindi

Buddha Quotes In Hindi , Gautam Buddha Quotes in Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: October 5, 2023 Post Updated at: April 4, 2024

Buddha Quotes In Hindi : सत्य केवल उन लोगों के लिए कड़वा होता है , ज़ो लोग झूठ में रहने के आदि हो चुके हैं । जिसके पास यह तीन चीजें हैं उसे कोई हरा नहीं सकता ।

जो सामने है, वह तो दिखता ही नहीं और जो नहीं है उसका हम विचार करते है।

हर व्यक्ति अपने स्वास्थ्य और बीमारी का लेखक है।

शांतिप्रिय लोग आनंद का जीवन जीते हैं उन पर हार या जीत का कोई प्रभाव नहीं पड़ता हैं.

“आप अपने गुस्से के लिए दंडित नहीं होते, आप अपने गुस्से के द्वारा दंडित होते हो।”

जो करना है आज ही करे क्या पता कल हमारे पास जिंदगी ही नहीं रहे।

जो सबसे अधिक बोलते हैं, वे सबसे अधिक नीन्द में खोएँ होते हैं।

शांति अन्दर से आती है. इसे बाहर मत खोजो.

~ आकाश में पूरब और पश्चिम का कोई भेद नहीं है। लोग अपने मन में भेदभाव को जन्म देते हैं।

जैसे मोमबत्ती बिना आग के नहीं जल सकती, मनुष्य भी आध्यात्मिक जीवन के बिना नहीं जी सकता। – गौतम बुद्ध

“असल जीवन की सबसे बड़ी विफलता है, हमारा असत्यवादी होना.”

एक तेज धार चाकू की तरह जीभ, बिना खून बहाए मार है।

आपके पास जो कुछ भी है,उसे बढ़ा-चढ़ा कर मत बताइए, और ना ही दूसरों से इर्श्या कीजिये, जो दूसरों से इर्श्या करता है, उसे मन की शांति नहीं मिलती।

आज हम जो करते हैं जीवन में वहीँ सबसे अधिक मायने रखता हैं

हर चीज पर सन्देह करो. स्वयं अपना प्रकाश ढूंढो.

शांति अन्दर से आती है. इसे बाहर मत ढूंढो.

“पवित्रता और शुद्धता स्वयं पर निर्भर करती है। कोई दूसरे को शुद्ध नहीं कर सकता।”

आपका हर सपना Sach Ho Sakta है, अगर आप उसे Paane Ki Himmat रखते हैं।

जिसने अपनी इच्छाओं पर काबू पा लिया,उस मनुष्य ने जीवन के दुखों पर काबू पा लिया।

क्रोध को पाले रखना खुद ज़हर पीकर दूसरे के मरने की अपेक्षा करने के समान है।

चंद्रमा के जैसे बादलों के पीछे से निकलो और फिर चमक जाओ।

“अगर आप खुद से सच्चा प्यार करते है तो आप किसी दूसरों को कभी नुकसान नही पंहुचा सकते.”

“चंद्रमा के जैसे बादलों के पीछे से निकलो और फिर चमक जाओ.”

परमेश्वर प्रत्येक जीव के हृदय में स्थित है ।

एक तेज धार चाकू की तरह है जीभ, बिना खून बहाए मार देती हैं।

” स्वयं के मन पर विजय प्राप्त करना लाखों शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने से बेहतर है “

हर सुबह हम पुनः जन्म लेते हैं, हम आज क्या करते हैं, यही सबसे अधिक मायने रखता है। – गौतम बुद्ध

क्रोध में हजारों शब्दो को गलत बोलने से अच्छा, मौन वह एक शब्द है जो जीवन में शांति लाता है। – गौतम बुद्ध

झूठे व्यक्ति की ऊँची आवाज, सच्चे व्यक्ति को चुप करवा देती है। लेकिन सच्चे व्यक्ति का मौन, झूठे व्यक्ति की जड़े हिला देती है।

झूठ बोलने से बचना अनिवार्य रूप से पथ्य है.

“मार्ग आकाश में नहीं है, मार्ग अपने हृदय में है.”

जो हमारे आज की खूबसूरती को चुरा लेते हैं ।

हमारे जीवन में सुख के साथ दुख भी आते है। मगर हमें दुखों पर ध्यान ना देकर सिर्फ सुखों के खूबसूरत पल पर ध्यान देना चाहिए।

~ जैसे मोमबत्ती बिना आग के नहीं जल सकती, वैसे ही मनुष्य भी बिना आध्यात्मिक जीवन के नहीं जी सकता।

आर्थिक स्थिति कितनी भी अच्छी कर्मों ना हो , लेकिन जीवन का आनंद लेने के लिए , मानसिक स्थिति अच्छा होना आवश्यक है ।

सत्य के मार्ग पे चलते हुए कोई दो ही गलतियाँ कर सकता है, पूरा रास्ता ना तय करना, और इसकी शुरआत ही ना करना।

बुराइयों से दूर रहने के लिए अच्छाई का विकास कीजिए और अपने मन को अच्छे विचारों से भर लीजिए।

” जो व्यक्ति अपने जीवन को ईमानदारी से जीता है उसे मृत्यु से भय नहीं लगता यही जीवन का सत्य है “

शक की आदत सबसे खतरनाक है। शक लोगों को अलग कर देता है। यह दो अच्छे दोस्तों को और किसी भी अच्छे रिश्ते को बरबाद कर देता है। – गौतम बुद्ध

~ झरना बहुत शोर मचाता है, लेकिन सागर गहरा और शांत होता है। इसलिए अपने आपको सागर की तरह बनाएं।

अपने दिमाग को इस तरह तैयार करे कि वो हर स्थिति में शांत रहे।

बीता हुआ कल बदला नहीं जा सकता। लेकिन आने वाला कल हमेशा आपके हाथ में होता है।

“इंसान के अंदर ही शांति का वास होता है,उसे बाहर ना तलाशें.”

” हमारी इच्छाएं हमारे सभी दुखों का कारण है इसलिए अगर इच्छाओं को मार दिया जाए तो सभी दुखों का अंत हो जाएगा “

जो आप सोचते हैं वह आप बन जाते हैं, जो आप महसूस करते हैं, उसे आकर्षित करते हैं, जिसकी आप कल्पना करते हैं, उसका आप निर्माण करते हैं।

जब तक आपके मन में नाराजगी है। तब तक आप अपने क्रोध को नहीं मिटा सकते।

ताकत की जरुरत Tabhi Hoti Hai, जब कुछ बुरा करना हो; वरना दुनियां Me Sab Kuch Paane Ke Liye प्रेम ही काफी है।

अकेलापन ऐसे व्यक्ति को खुशी देता है, जो की संतोषी है। जिसने धर्म के बारे में सुना है और उसे साफ तौर पर देखा है।

“हमेशा याद रखें कि बुरा कार्य अपने मन में बोझ रखने के समान है.”

सच्चा प्यार समझदारी से ही पैदा होता हैं.

“हजार योद्धाओं पर विजय पाना आसान है। लेकिन जो अपने ऊपर विजय पाता है वही सच्चा विजयी है.”

मन सभी मानसिक अवस्थाओं के ऊपर होता हैं.

जो पुरुष अपने जीवन को शांति से जीता है, उसे मृत्यु से भी डर नहीं लगता है। – गौतम बुद्ध

” अपने शरीर को स्वस्थ रखना आपका कर्तव्य हैं क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही शांत मन का वास होता है “

जिस दिन आपको पता चल गया कि आपके विचार कितने शक्तिशाली हैं,

“खुद के अलावा, किसी और की शरण में मत जाओ.”

हमें अपने शब्दो का चुनाव बहुत Soch Samjh Kar Karna चाहिए , शब्द दोस्त Bhi Bna Dete Hain Aur दुश्मन भी।

जब आपको पता चलेगा कि सबकुछ कितना सही है तब आप अपना सर पीछे झुकायेंगे और आकाश की और देखकर मुस्कुराएंगे। – गौतम बुद्ध

“वास्तविक खुशी सब कुछ प्राप्त कर लेने में नहीं बल्कि सब कुछ दे देने में है. —

इन्सान को एक बंधन मुक्त मन का निर्माण करना चाहिए जो ऊपर और नीचे और चारों और फैला हुआ हो वह भी बिना बाधा के, बिना दुश्मन के, बिना किसी बदले की भावना के

मैं इंसानियत में बसता हूँ  और लोग मुझे मजहबो में ढूंढते हैं।

यदि आपका मुख सही दिशा की ओर है, तो आपको बस कदम बढ़ाते रहना है.

कोई भी पुरुष अपने कर्मों से महान बनता है, अपने जन्म से नहीं।

कभी किसी गरीब की सहायता करके देखिए। उसके लिए आपसे बड़ा भगवान और कोई नहीं होगा।

प्रसन्नता का कोई मार्ग नहीं हाँ, प्रसन्नता ही मार्ग हैं

हर दिन नया दिन होता हैं, इससे को फर्क नहीं पड़ता हैं कि बिता हुआ दिन कितना मुश्किल थाआप हमेशा एक नै शुरुआत कर सकते हैं

जो व्यक्ति स्वयं से प्रेम करता है। वो किसी और को दुखी नहीं देख सकता और नाही किसी को दुखी कर सकता है।

हमें अपने द्वारा की गयी गलतियों की सजा तुरंत भले न मिले लेकिन समय के साथ कभी न कभी अवश्य मिलती है।

“शक एक लाइलाज बीमारी है, जो दोस्ती और रिश्ते को दीमक की तरह ख़तम कर देती हैं.”

“जिसने अपनी इच्छाओं पर काबू पा लिया, उस मनुष्य ने जीवन के दुखों पर काबू पा लिया.”

हमारा दिमाग ही हमारा दोस्त और हमारा दुश्मन है।

“स्वास्थ्य सबसे बड़ा उपहार है, संतोष सबसे बड़ा धन है, वफ़ादारी सबसे बड़ी संबंध है.”

संसार में कोई भी चीज कभी भी अकेले मौजूद नहीं होती, हर एक चीज का सम्बन्ध तमाम दूसरी चीजों से होता हैं.

Recent Posts