964+ Buddha Quotes In Hindi | Gautam Buddha Quotes in Hindi

Buddha Quotes In Hindi , Gautam Buddha Quotes in Hindi
Author: Quotes And Status Post Published at: October 5, 2023 Post Updated at: April 4, 2024

Buddha Quotes In Hindi : सत्य केवल उन लोगों के लिए कड़वा होता है , ज़ो लोग झूठ में रहने के आदि हो चुके हैं । जिसके पास यह तीन चीजें हैं उसे कोई हरा नहीं सकता ।

“जो क्रोधित विचारों से मुक्त हैं उन्हें निश्चय ही शांति प्राप्त होगी.”

“स्वास्थ्य सबसे बड़ा उपहार है, संतोष सबसे बड़ी संपत्ति और वफादारी सबसे अच्छा रिश्ता है.”

मन सभी मानसिक अवस्थाओं से ऊपर होता है।

बहुत बोलने वाला व्यक्ति विद्वान नहीं कहलाता है, धीरज रखने वाला, क्रोध न करने वाला, व निडर व्यक्ति ही विद्वान कहलाता है।

एक भिक्षुक जिस किसी भी चीज के पीछे अपने सोच-विचार से लगा रहता है, वही उसकी जागरूकता का झुकाव बन जाता है.

संदेह या शंका Karna Ek Aisi भयंकर बीमारी है जो सारे Rishton Ko Palbhar में तोड़ देती है।

ज्ञान ध्यान से पैदा होता है और ध्यान के बिना ज्ञान खो जाता है।

“सभी बुरे कार्य मन के कारण उत्पन्न होते हैं। अगर मन परिवर्तित हो जाए तो क्या अनैतिक कार्य रह सकते हैं।”

इच्छाओं का कभी अंत नहीं होता। आपकी एक इच्छा पूरी हुई नहीं कि दूसरी इच्छा जन्म ले लेती है। – गौतम बुद्ध

जीवन में आपका उद्देश्य अपना उद्देश्य पता करना है और उसमे पूरे दिल-आत्मा से जुट जाना है।

“अज्ञानी आदमी एक बैल के समान है जो ज्ञान में नहीं, आकार में बढ़ता है.”

सच्चा प्रेम बंधनों में बाँधता नहीं, बंधनों से आजाद करता है।

खुद को बुराइयों से दूर रखने के लिए अच्छाई का विकास कीजिये और अपने मन को अच्छे विचारों(good thought) से भर लीजिये.

“हम जो सोचते हैं, वो बन जाते हैं.”

एक कुत्ता इसलिए अच्छा नहीं समझा जाता, क्योंकि वह अच्छा भोंकता है। एक व्यक्ति इसलिए अच्छा नहीं समझा जाता, क्योंकि वह अच्छा बोलता है।

आप खुद अपने प्यार और स्नेह के उतने ही हकदार है। जितना इस दुनिया में कोई भी अन्य व्यक्ति है।

“आपके पास जो कुछ भी है उसे बढ़ा चढ़ा कर मत बताइए, और ना ही दूसरों से ईर्ष्या कीजिए। जो दूसरों से ईर्ष्या करता है उसे मन की शांति नहीं मिलती।”

“दर्द तो तय है, यह आपके हाथ में नहीं है। हां, दुखी होना या न होना आपके हाथ में अवश्य है.”

आप का बीता हुआ कल जितना भी बुरा हो, आप फिर से शुरुआत कर सकते हैं।

~ बुराई से बुराई कभी खत्म नहीं होती। घृणा को तो केवल प्रेम द्वारा ही समाप्त किया जा सकता है, यह एक अटूट सत्य है।

“परिवर्तन से डरे नहीं आप कुछ अच्छा खो सकते हैं, लेकिन आप कुछ बेहतर पा भी सकते हैं.”

बिना सेहत के जीवन जीवन नहीं है; बस पीड़ा की एक स्थिति है- मौत की छवि है.

” सच्चाई को अपनी जमीन बनाएं, सच्चाई को अपना घर बनाएं क्योंकि दुनिया में इससे बड़ा कोई घर नहीं है “

” जिस प्रकार बूंद – बूंद पानी से घड़ा भरता है उसी प्रकार एक बुद्धिमान और अच्छा व्यक्ति थोड़ा-थोड़ा इकट्ठा करके स्वयं को अच्छाई से भर देता है “

आप अपने गुस्से के लिए दण्डित नहीं हुए आप अपने गुस्से के द्वारा दण्डित हुए हो

~ क्रोध को प्यार से, बुराई को अच्छाई से, स्वार्थी को उदारता से और झूठे व्यक्ति को सच्चाई से जीता जा सकता है।

मोह बंधन ही सभी दुखो की जड़ है।

सज्जन और ज्ञानी व्यक्ति कभी नहीं मरते और जो ना-समझ हैं, वे तो पहले से ही मरे हुए हैं.

मदद करने के लिए धन की नहीं, बल्कि अच्छे मन की जरूरत होती है।

“संसार में कोई भी चीज कभी भी अकेले मौजूद नहीं होती, हर एक चीज का संबंध तमाम दूसरी चीजों से होता है.”

~ संदेह और शक की आदत सबसे ज्यादा भयानक होती है क्योंकि यह किसी भी रिश्ते को बर्बाद कर सकता है।

“बुराई अवश्य रहना चाहिए, तभी तो अच्छाई इसके ऊपर अपनी पवित्रता साबित कर सकती है.”

अपने तन को स्वस्थ रखना भी एक कर्तव्य है, अन्यथा आप अपनी मन और सोच को  अच्छा और साफ नही रख पाएंगे। – गौतम बुद्ध

हर सुबह हम पुनः जन्म लेते है। हम आज क्या करते है वह सबसे अधिक महत्वपूर्ण है।

यदि एक पवित्र मन के साथ कोई व्यक्ति बोलता या काम करता है। तो कभी न जाने वाली परछाई की तरह खुशी उसका पीछा करती है।

~ जीवन में हजारों लड़ाइयां जीतने से अच्छा है कि तुम स्वयं पर विजय प्राप्त कर लो। फिर जीत हमेशा तुम्हारी होगी, इसे तुमसे कोई नहीं छीन सकता।

“सबसे अंधेरी रात अज्ञानता है.”

“जिस तरह तूफान एक मजबूत पत्थर को हिला नहीं पाता उसी तरह से महान व्यक्ति, तारीफ या आलोचना से प्रभावित नहीं होता।”

हमारा मन ही हमारा दोस्त और हमारा दुश्मन है।

जैसे ही एक मोमबत्ती आग के बिना जल नहीं सकती है, पुरुष आध्यात्मिक जीवन के बिना जी नहीं सकते हैं।

अपने मोक्ष के लिए खुद ही प्रयत्न करें. दूसरों पर निर्भर ना रहे.

“जो लोग क्रोधी विचारों से मुक्त होते हैं वे निश्चित रूप से शांति पाते हैं।”

“यदि आपको आध्यात्मिक पथ पर आपका साथ देने वाला कोई न मिले, तो अकेले चलिए। अपरिपक्व के साथ कोई साथी नहीं है।”

झरना बहुत शोर मचाता है, सागर गहरा और शांत होता है।

“एक पल एक दिन को बदल सकता है एक दिन एक जीवन को बदल सकता है और एक जीवन इस दुनिया को बदल सकता है.”

ख़ुशी उन तक कभी नहीं आएँगी जो उसकी सराहना नहीं करते जो उनके पास पहले से ही मौजूद हैं

चाहे आप कितने पवित्र शब्द पढ़ लें या बोल लें, वह आपका क्या भला करेंगे जब तक आप उन्हें उपयोग में नहीं लाते। – गौतम बुद्ध

” मनुष्य कितना ही गोरा क्यों ना हो परंतु उसकी परछाई हमेशा काली होती है इसलिए यह अहंकार मत कीजिए कि सिर्फ में ही श्रेष्ठ हूं “

” अज्ञानी व्यक्ति एक बैल के समान है वह ज्ञान में नहीं बल्कि आकार में बढ़ता है “

अनुशासन मन से अधिक उद्दंड और कुछ नहीं हैं, और अनुशासित मन अधिक आज्ञाकारी कुछ भी नहीं हैं.

पहुँचने से अधिक ज़रूरी ठीक से यात्रा करना है.

क्रोध को पाले रखना,गर्म कोयले को किसी और पर फेंकनेकी नियत से पकड़े जाने के समान है,इसमें आप भी जलते हैं।

“इस पूरी दुनिया में इतना अंधकार नहीं है कि वह एक छोटे से दीपक के प्रकाश को मिटा सके.”

कोई मेरा बुरा करे वो कर्म उसका,मैं किसी का बुरा ना करूँ यह धर्म मेरा।

हमें कोई हरा नहीं सकता। जब तक हम स्वयं हार न मान लें।

” आपका अतीत कितना ही कठीन क्यो न हो आप हमेशा एक नई शुरुआत कर सकते है “

माता पिता बनना अत्यंत सुखद अनुभव हैं. उत्साह से जीवन जीना और स्यवं पर महारत हासिल करना ख़ुशी देता हैं.

इस तिहरे सत्य को सभी को सिखाओ: एक उदार दिल, दयालु भाषण, तथा सेवा और करुणा का जीवन, ये वो चीजें हैं जो मानवता को नवीनीकृत करती हैं.

“अकेलेपन ऐसे व्यक्ति को खुशी देता है जो कि संतोषी है, जिसने धर्म के बारे में सुना है और उसे साफ तौर पर देखा है।”

~ निश्चित रूप से जो नाराजगी युक्त विचारों से मुक्त रहते हैं, वही जीवन में शांति पाते हैं।

हमें हमारे सिवा कोई और नहीं बचाता. न कोई बचा सकता है और न कोई ऐसा करने का प्रयास करे. हमें खुद ही इस मार्ग पर चलना होगा.

एक व्यक्ति की मदद करने से दुनिया नहीं बदल सकती है। लेकिन यह एक व्यक्ति के लिए दुनिया बदल सकती है।

“आपका काम है आपकी पसंद के काम को खोजना, उसे खोजे और फिर उस काम में खुद को पूरी तरह लगा दे यही सफलता का मार्ग है.”

शांतिप्रिय लोग आनंद का जीवन जीते है। उन पर हार या जीत का कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

अगर मनुष्य शुद्ध-सात्विक जीवन जीता हैं, तो कोई चीज उसे नष्ट(destroy) नहीं कर सकती हैं.

शांति अंदर से आती है। इसे बाहर मत खोजो।

“नफरत किसी भी समय घृणा से नहीं मिटती है। प्रेम से नफरत समाप्त हो जाती है। यह अटल नियम है।”

स्वास्थ्य सबसे बड़ा उपहार है,संतोष सबसे बड़ा धन है,वफ़ादारी सबसे बड़ी संबंध है।

“वह व्यक्ति महान नहीं कहलाता जो जीवों को हानि पहुंचाता है। जीवों को हानि न पहुंचाने से मनुष्य श्रेष्ठ कहलाता है।”

दुनिया में ऐसा कुछ भी नहीं जो अपने विचारों को खुद से अलग कर सके।

कुछ पाना है तो खुद पर भरोसा कीजिए,सहारे कितने भी अच्छे और अच्छे क्यों ना होएक दिन साथ छोड़ ही जाते हैं।

“किसी बात पर हम जैसे ही क्रोधित होते हैं, हम सत्य का मार्ग छोड़कर अपने लिए प्रयास करने लग जाते हैं।”

Recent Posts